दस साल में भी एक अस्पताल नहीं बना पाई झारखंड सरकार ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बहुत ही शर्मसार कर देने वाली घटना है कि पिछले 10 साल में एक पर अस्पताल नहीं बनाया झारखंड में जिससे कि झारखंड की बदहाली का साफ तौर पर नमूना देखने को मिलता है मुझे ऐसा लगता है कि झारखंड जो है बहुत ही पिछड़ा हुआ प्रदेश है तथा इसका पिछड़ा होने में वहां की जनता का कोई योगदान नहीं है वहां की सरकारें बहुत अधिक निकम्मी रही है बहुत ही समय से हम देखते हैं कि ना केवल नक्सली समस्या वहां पर बड़ी है बल्कि गरीबी भी बहुत अधिक बड़े स्तर पर पाई जाती है जातिवाद तथा जो है क्षेत्रवाद के आधार पर वहां पर वोट दिए जाते हैं कच्चे माल का आनंद तो बहुत होता है परंतु आम जनता को उसका जो है फिर सही मुआवजा नहीं मिल पाता आम जनता से तथा आदिवासियों से उनकी कमी नहीं जाती है और इन सबके बदले में छोटी-छोटी सुविधाएं जो की मूलभूत आवश्यकता है मानव जीवन की चाहे वह विद्यालय हो यानी शिक्षा की सुविधा हो जाए स्वास्थ्य सुविधाओं यानी क्या इस प्रकार की जो मूलभूत सुविधाएं हैं सरकार वह भी उपलब्ध नहीं करा पाती तथा जनता तथा उनके जो संसाधन है उनकी जो जमीन है उस का हनन करती आई है उनकी अधिकारों का जो है शोषण कर दिया यह तो मुझे ऐसा लगता है कि झारखंड से झारखंड में राष्ट्रपति शासन लगाना ही उत्तम रहेगा क्योंकि वह सरकार जो आम जनता को एंबुलेंस अस्पताल शिक्षा विद्यालय कॉलेज पॉलिटेक्निक ऐसी जो मूलभूत आवश्यकताएं हैं आम जनता की जो सुविधाएं हैं वह भी नहीं दे सकती तो इससे अच्छा है कि वहां पर कोई सरकार को ही ना वहां पर घर जंगलराज है तू जंगल रांची चलने दीजिए अगली सरकार इस प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध नहीं करा पा रही है वैसे सरकार की आवश्यकता ही क्या है धन्यवाद
Romanized Version
यह बहुत ही शर्मसार कर देने वाली घटना है कि पिछले 10 साल में एक पर अस्पताल नहीं बनाया झारखंड में जिससे कि झारखंड की बदहाली का साफ तौर पर नमूना देखने को मिलता है मुझे ऐसा लगता है कि झारखंड जो है बहुत ही पिछड़ा हुआ प्रदेश है तथा इसका पिछड़ा होने में वहां की जनता का कोई योगदान नहीं है वहां की सरकारें बहुत अधिक निकम्मी रही है बहुत ही समय से हम देखते हैं कि ना केवल नक्सली समस्या वहां पर बड़ी है बल्कि गरीबी भी बहुत अधिक बड़े स्तर पर पाई जाती है जातिवाद तथा जो है क्षेत्रवाद के आधार पर वहां पर वोट दिए जाते हैं कच्चे माल का आनंद तो बहुत होता है परंतु आम जनता को उसका जो है फिर सही मुआवजा नहीं मिल पाता आम जनता से तथा आदिवासियों से उनकी कमी नहीं जाती है और इन सबके बदले में छोटी-छोटी सुविधाएं जो की मूलभूत आवश्यकता है मानव जीवन की चाहे वह विद्यालय हो यानी शिक्षा की सुविधा हो जाए स्वास्थ्य सुविधाओं यानी क्या इस प्रकार की जो मूलभूत सुविधाएं हैं सरकार वह भी उपलब्ध नहीं करा पाती तथा जनता तथा उनके जो संसाधन है उनकी जो जमीन है उस का हनन करती आई है उनकी अधिकारों का जो है शोषण कर दिया यह तो मुझे ऐसा लगता है कि झारखंड से झारखंड में राष्ट्रपति शासन लगाना ही उत्तम रहेगा क्योंकि वह सरकार जो आम जनता को एंबुलेंस अस्पताल शिक्षा विद्यालय कॉलेज पॉलिटेक्निक ऐसी जो मूलभूत आवश्यकताएं हैं आम जनता की जो सुविधाएं हैं वह भी नहीं दे सकती तो इससे अच्छा है कि वहां पर कोई सरकार को ही ना वहां पर घर जंगलराज है तू जंगल रांची चलने दीजिए अगली सरकार इस प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध नहीं करा पा रही है वैसे सरकार की आवश्यकता ही क्या है धन्यवादYeh Bahut Hea Sharmasar Car Dane Wali Ghatna Hai Qi Pichle 10 Saul Mein Ek Per Aspatal Nahin Banaya Jharkhand Mein Jisase Qi Jharkhand Ki Badhali Ka Saf Taur Per Namoona Dakhane Co Milta Hai Mujhe Aisa Lagta Hai Qi Jharkhand Joe Hai Bahut Hea Pichda Hua Pradesh Hai Tatha Iska Pichda Hone Mein Vahan Ki Janta Ka Koi Yogdan Nahin Hai Vahan Ki Sarkaren Bahut Adhik Nikammi Rahi Hai Bahut Hea Samay Se Hum Dekhte Hain Qi Na Keval Naksali Samasya Vahan Per Badi Hai Walkie Garibi Bhi Bahut Adhik Bade Stra Per Pai Jaati Hai Jatiwad Tatha Joe Hai Kshetravad K Aadhaar Per Vahan Per Voot Die Jaate Hain Kacche Maal Ka Anand To Bahut Hota Hai Parantu Am Janta Co Uska Joe Hai Phir Sahi Muaavaja Nahin Mill Pauta Am Janta Se Tatha Aadivaasiyo Se Unki Kami Nahin Jaati Hai Aur In Sabake Badle Mein Choti Choti Suvidhaen Joe Ki Mulbhut Aavshyakata Hai Manav Jeevan Ki Chahe Wah Vidyalaya Ho Yaanee Shiksha Ki Suvidha Ho Jae Swasthya Suvidhaon Yaanee Kya Is Prakar Ki Joe Mulbhut Suvidhaen Hain Sarkar Wah Bhi Uplabdha Nahin Korra Paati Tatha Janta Tatha Unke Joe Sansadhan Hai Unki Joe Jamin Hai Oosh Ka Hanon Karti I Hai Unki Adhikaaro Ka Joe Hai Shoshan Car Diya Yeh To Mujhe Aisa Lagta Hai Qi Jharkhand Se Jharkhand Mein Rastrapati Shasan Lagaana Hea Uttam Rahega Kyonki Wah Sarkar Joe Am Janta Co Embulens Aspatal Shiksha Vidyalaya College Politechnic Aisi Joe Mulbhut Avashyakataen Hain Am Janta Ki Joe Suvidhaen Hain Wah Bhi Nahin They Sakti To Issase Accha Hai Qi Vahan Per Koi Sarkar Co Hea Na Vahan Per Ghar Jangalraj Hai Tu Jungle RANCHI Chalane Dijiye Agli Sarkar Is Prakar Ki Suvidhaen Uplabdha Nahin Korra PA Rahi Hai Vaise Sarkar Ki Aavshyakata Hea Kya Hai Dhanyvaad
Likes  38  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Das Saal Mein Bhi Ek Aspatal Nahi Bana Payi Jharkhand Sarkar,


vokalandroid