पुरुष अपनी फ़ीलिंग्स क्यूँ नहीं दिखाते? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पुरुष अपनी फीलिंग शायद इसलिए नहीं दिखा पाते क्योंकि बचपन से ही लड़कों को यह बताया जाता है कि क्या तुम लड़की हो जो रोने लग गए लड़कियों की तरह डरते रहते हो लड़की इस तरीके से बात नहीं करते बचपन से ही उनक...जवाब पढ़िये
पुरुष अपनी फीलिंग शायद इसलिए नहीं दिखा पाते क्योंकि बचपन से ही लड़कों को यह बताया जाता है कि क्या तुम लड़की हो जो रोने लग गए लड़कियों की तरह डरते रहते हो लड़की इस तरीके से बात नहीं करते बचपन से ही उनकी कंडीशनिंग इस तरह से की गई है कि पुरुष स्ट्रांग होता है उसे हर हालत में अपने आप को बांध के रखना पड़ता है वह चाहकर भी रो नहीं पाता क्योंकि वह इस चीज के लिए नहीं बना उसे मजबूत बनकर खड़े रहना है चाहे सिचुएशन कुछ भी हो कितनी भी तकलीफ हो कितना भी दर्द हो लेकिन उससे अपना पुरुषत्व दिखाने के लिए समाज में अपने आप को स्ट्रांग दिखाने के लिए एक नकाब ओढ़ के रखना पड़ता है क्योंकि हमारा समाज ऐसे लोगों को ऐसे आदमियों को एक्सेप्ट नहीं करता जो बहुत जल्दी पढ़ते हैं यहां जल्दी प्यार दिखाने लगते हैं हमारी सोसाइटी ने बहुत सारी चीजों के लिए हमारी कंडीशनिंग खड़ी हुई है उस कंडीशनिंग के चलते हुए हम चाह कर भी अपना असली रूप अपना असली व्यक्तित्व सामने नहीं ला पाते इसीलिए शायद चाहे आप अंदर से टूट चुके हो लेकिन आपको मजबूत बनकर खुद को खड़े रखना पड़ता है दिखावा करना पड़ता है कि नहीं मैं सब कुछ संभाल लूंगा चाहे कंधे आपकी टूटने पर आ जाए लेकिन आपको लोगों को दिखाने के लिए उस रूप को बनाए रखना पड़ता है कि मैं मजबूत हूं शायद इसीलिए पुरुष जाकर भी अपनी फीलिंग स्कोर एक्सप्रेस नहीं कर पातेPurush Apni Feeling Shayad Isliye Nahi Dikha Paate Kyonki Bachpan Se Hi Ladko Ko Yeh Bataya Jata Hai Ki Kya Tum Ladki Ho Jo Rone Lag Gaye Ladkiyon Ki Tarah Darte Rehte Ho Ladki Is Tarike Se Baat Nahi Karte Bachpan Se Hi Unki Conditioning Is Tarah Se Ki Gayi Hai Ki Purush Strong Hota Hai Use Har Halat Mein Apne Aap Ko Bandh Ke Rakhna Padata Hai Wah Chahkar Bhi Ro Nahi Pata Kyonki Wah Is Cheez Ke Liye Nahi Bana Use Mazboot Bankar Khade Rehna Hai Chahe Situation Kuch Bhi Ho Kitni Bhi Takleef Ho Kitna Bhi Dard Ho Lekin Usse Apna Purushatwa Dikhane Ke Liye Samaaj Mein Apne Aap Ko Strong Dikhane Ke Liye Ek Nakaab Odh Ke Rakhna Padata Hai Kyonki Hamara Samaaj Aise Logon Ko Aise Adamiyo Ko Except Nahi Karta Jo Bahut Jaldi Padhte Hain Yahan Jaldi Pyar Dikhane Lagte Hain Hamari Society Ne Bahut Saree Chijon Ke Liye Hamari Conditioning Khadi Hui Hai Us Conditioning Ke Chalte Huye Hum Chah Kar Bhi Apna Asli Roop Apna Asli Vyaktitva Samane Nahi La Paate Isliye Shayad Chahe Aap Andar Se Toot Chuke Ho Lekin Aapko Mazboot Bankar Khud Ko Khade Rakhna Padata Hai Dikhawa Karna Padata Hai Ki Nahi Main Sab Kuch Sambhaal Lunga Chahe Kandhe Aapki Tutane Par Aa Jaye Lekin Aapko Logon Ko Dikhane Ke Liye Us Roop Ko Banaye Rakhna Padata Hai Ki Main Mazboot Hoon Shayad Isliye Purush Jaakar Bhi Apni Feeling Score Express Nahi Kar Paate
Likes  100  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पुरुष अपनी फीलिंग्स इसलिए नहीं दिखाते कुछ पुरुष में के राजाओं के सारे एक जैसे नहीं होते काशीपुर काफी हद तक पुरुष अपनी फीलिंग्स को नहीं दिखा पाते क्योंकि बचपन से भेजो कंडीशनिंग मिलती है कि लड़के रोते न...जवाब पढ़िये
पुरुष अपनी फीलिंग्स इसलिए नहीं दिखाते कुछ पुरुष में के राजाओं के सारे एक जैसे नहीं होते काशीपुर काफी हद तक पुरुष अपनी फीलिंग्स को नहीं दिखा पाते क्योंकि बचपन से भेजो कंडीशनिंग मिलती है कि लड़के रोते नहीं है मुश्किल नहीं होते और बातों को छुपाना चाहिए थोड़ा सा सॉन्ग लेना चाहिए मर्दों वाली बात वगैरा-वगैरा दिखाया जाता है कंडीशन जिसे कहते हैं उसकी वजह से वह अच्छा बन जाते हैं लेकिन थोड़े बड़े होने के बाद जब हमको समझ में आता है स्पेशली आज के जमाने में ऐसा कुछ कंडीशनिंग काम नहीं करता है आज के समय में मैं यह कहना चाहोगे पुरुष अपनी फीलिंग्स इसलिए नहीं दिखाते क्योंकि वह सच नहीं होते कि उनकी असली फीलिंग्स क्या है अगर वह पुरुष और है वह पक्का जानता है कि वह उस लड़की से प्यार करता है तो उसको छुपाने की कोई वजह ही नहीं है लेकिन यह नहीं बता रहा कि वह उस लड़की से प्यार करता है इसका मतलब हमें यह मानकर नहीं चलना चाहिए कि वह प्यार करता है पर भेजो लड़की को प्यार ही नहीं करता यह समझना है बहुत ही बटन दबाना है जहां पर कम्युनिकेशन जो है एकदम टॉप फॉर 7th सोशल मीडिया हो या फिर इन प्रश्नों कुछ भी हो कम्युनिकेशन एकदम टॉप लेवल पर यहां पर छुपा नहीं बनी बात जो है पुराने जमाने वाली बातचीत बिल्कुल भी नहीं है तो अगर पुरुष छुपा रहा है मतलब ही नॉट इंटरव्यू वह आपसे प्यार नहीं करता है हां शर्मा रहा है डर लग रहा है कि जैकसन होगा यह तो हम मान के चल सकते हैं जो पहले से जो कंडीशनिंग मिलती आई है वह भी पॉसिबल है लेकिन यह भी पॉसिबल है कि शायद वह आपसे प्यार ही नहीं करता शायद वो एक टाइम पास के लिए है या फिर देखने के लिए कि आगे क्या हो सकता है यह सर पर एक एक्सपीरियंस के लिए वह आपके साथ है कुछ भी हो सकता है इसलिए मैं कहना चाहूंगी कि अगर आप किसी रिश्ते में है जहां पर पुरुष आपसे कह नहीं रहा है कि वह क्या फील करता है तो थोड़ा टाइम देखिए फिर पूछिए अगर बात नहीं समझती है तो गिफ्ट समटाइम और उसके बाद डिसाइड कीजिएPurush Apni Feelings Isliye Nahi Dikhate Kuch Purush Mein Ke Rajao Ke Sare Ek Jaise Nahi Hote Kashipur Kafi Had Tak Purush Apni Feelings Ko Nahi Dikha Paate Kyonki Bachpan Se Bhejo Conditioning Milti Hai Ki Ladke Rothe Nahi Hai Mushkil Nahi Hote Aur Baaton Ko Chupana Chahiye Thoda Sa Song Lena Chahiye Mardon Wali Baat Vagaira Vagaira Dikhaya Jata Hai Condition Jise Kehte Hain Uski Wajah Se Wah Accha Ban Jaate Hain Lekin Thode Bade Hone Ke Baad Jab Hamko Samajh Mein Aata Hai Speshli Aaj Ke Jamaane Mein Aisa Kuch Conditioning Kaam Nahi Karta Hai Aaj Ke Samay Mein Main Yeh Kehna Chahoge Purush Apni Feelings Isliye Nahi Dikhate Kyonki Wah Sach Nahi Hote Ki Unki Asli Feelings Kya Hai Agar Wah Purush Aur Hai Wah Pakka Jaanta Hai Ki Wah Us Ladki Se Pyar Karta Hai To Usko Chhupaane Ki Koi Wajah Hi Nahi Hai Lekin Yeh Nahi Bata Raha Ki Wah Us Ladki Se Pyar Karta Hai Iska Matlab Hume Yeh Manakar Nahi Chalna Chahiye Ki Wah Pyar Karta Hai Par Bhejo Ladki Ko Pyar Hi Nahi Karta Yeh Samajhna Hai Bahut Hi Button Dabana Hai Jahan Par Communication Jo Hai Ekdam Top For 7th Social Media Ho Ya Phir In Prashnon Kuch Bhi Ho Communication Ekdam Top Level Par Yahan Par Chhupa Nahi Bani Baat Jo Hai Purane Jamaane Wali Batchit Bilkul Bhi Nahi Hai To Agar Purush Chhupa Raha Hai Matlab Hi Not Interview Wah Aapse Pyar Nahi Karta Hai Haan Sharma Raha Hai Dar Lag Raha Hai Ki Jaksahn Hoga Yeh To Hum Maan Ke Chal Sakte Hain Jo Pehle Se Jo Conditioning Milti I Hai Wah Bhi Possible Hai Lekin Yeh Bhi Possible Hai Ki Shayad Wah Aapse Pyar Hi Nahi Karta Shayad Vo Ek Time Paas Ke Liye Hai Ya Phir Dekhne Ke Liye Ki Aage Kya Ho Sakta Hai Yeh Sar Par Ek Experience Ke Liye Wah Aapke Saath Hai Kuch Bhi Ho Sakta Hai Isliye Main Kehna Chahungi Ki Agar Aap Kisi Rishte Mein Hai Jahan Par Purush Aapse Keh Nahi Raha Hai Ki Wah Kya Feel Karta Hai To Thoda Time Dekhie Phir Poochhie Agar Baat Nahi Samajhti Hai To Gift Camotim Aur Uske Baad Decide Kijiye
Likes  68  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मूवी विच शब्द रूप लगता है कि पुरुष अपनी सेल्फी दिखा दे यार क्यों नहीं दिखा दे लेकिन से नहीं हर बार कई बार पुरुष 14 महिला कैसे होते हैं सीधे-साधे करने का तरीका था लेकिन उसमें भी गलती नहीं है जितना महिल...जवाब पढ़िये
मूवी विच शब्द रूप लगता है कि पुरुष अपनी सेल्फी दिखा दे यार क्यों नहीं दिखा दे लेकिन से नहीं हर बार कई बार पुरुष 14 महिला कैसे होते हैं सीधे-साधे करने का तरीका था लेकिन उसमें भी गलती नहीं है जितना महिलाओं को पसंद करती लोगों के विचार पर डिपेंड करता है लोगों का तरीका अलग अलग होता है तो कई बार ऐसा होता है कि खाना पसंद करते हैं 55 होती है जो दिल में रखते हैं वह सब आप आसानी से ले आते हैं लेकिन कुछ बातें ही बातें महिलाओं और पुरुषों को हम ना छोड़े तो ज्यादा बेहतर होगाMovie Which Shabdh Roop Lagta Hai Ki Purush Apni Selfie Dikha De Yaar Kyon Nahi Dikha De Lekin Se Nahi Har Baar Kai Baar Purush 14 Mahila Kaise Hote Hain Seedhe Saadhe Karne Ka Tarika Tha Lekin Usamen Bhi Galti Nahi Hai Jitna Mahilaon Ko Pasand Karti Logon Ke Vichar Par Depend Karta Hai Logon Ka Tarika Alag Alag Hota Hai To Kai Baar Aisa Hota Hai Ki Khana Pasand Karte Hain 55 Hoti Hai Jo Dil Mein Rakhate Hain Wah Sab Aap Aasani Se Le Aate Hain Lekin Kuch Batein Hi Batein Mahilaon Aur Purushon Ko Hum Na Chodde To Zyada Behtar Hoga
Likes  91  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पुरुष अपनी फीलिंग क्यों नहीं दिखाते मुझे लगता है कि शुरू से ही नारियों का दिल कोमल माना गया है नारियों की तुलना में पुरुष थोड़े खड़े होते हैं ऐसा नहीं है कि पुरुष के अंदर भावनाएं नहीं होती लेकिन पुरु...जवाब पढ़िये
पुरुष अपनी फीलिंग क्यों नहीं दिखाते मुझे लगता है कि शुरू से ही नारियों का दिल कोमल माना गया है नारियों की तुलना में पुरुष थोड़े खड़े होते हैं ऐसा नहीं है कि पुरुष के अंदर भावनाएं नहीं होती लेकिन पुरुष के अंदर सहने की क्षमता बहुत अधिक होती है महिलाओं की तुलना में पहले हो सकता है कि पुरुष नहीं दिखाते हो लेकिन आज समय बदला है आज दोनों को ही एक दूसरे की फीलिंग को समझना पड़ता है कई बार होता है जब महिलाएं पुरुषों का अपमान करती हैं तो पुरुष पहले ही अपने आप को अच्छा दिखाने के लिए महिलाओं के सामने अपनी भावनाओं का प्रदर्शन ना करें लेकिन अलग जाकर पुरुष भी रोते हैं पुरुषों को भी दर्द होता है एक अलग पहलू यह है जिसके कारण पुलिस अपनी फिल्म नहीं दिखाते हैं वह यह है कि उनका स्वाभिमान आड़े आ जाता है आज भी पुरुषों को यह लगता है कि वह महिलाओं से शक्तिशाली हैं या सिर्फ और सिर्फ हमारे समाज की पुत्र सत्ता नमक भागीदारी के कारण होता है आज भी हमारा पुरुष समाज या मानने को तैयार नहीं है कि महिलाएं उनसे अधिक शक्तिशाली है यह सब कारण हैं जिनके कारण पुरुष अपनी फीलिंग महिलाओं के सामने नहीं दिखाते हैं नमस्कार उड़ीसा पॉर्न फिल्मPurush Apni Feeling Kyon Nahi Dikhate Mujhe Lagta Hai Ki Shuru Se Hi Nariyon Ka Dil Komal Mana Gaya Hai Nariyon Ki Tulna Mein Purush Thode Khade Hote Hain Aisa Nahi Hai Ki Purush Ke Andar Bhavanae Nahi Hoti Lekin Purush Ke Andar Sahane Ki Kshamta Bahut Adhik Hoti Hai Mahilaon Ki Tulna Mein Pehle Ho Sakta Hai Ki Purush Nahi Dikhate Ho Lekin Aaj Samay Badla Hai Aaj Dono Ko Hi Ek Dusre Ki Feeling Ko Samajhna Padata Hai Kai Baar Hota Hai Jab Mahilaen Purushon Ka Apman Karti Hain To Purush Pehle Hi Apne Aap Ko Accha Dikhane Ke Liye Mahilaon Ke Samane Apni Bhavnao Ka Pradarshan Na Karen Lekin Alag Jaakar Purush Bhi Rothe Hain Purushon Ko Bhi Dard Hota Hai Ek Alag Pahaloo Yeh Hai Jiske Kaaran Police Apni Film Nahi Dikhate Hain Wah Yeh Hai Ki Unka Swabhiman Ade Aa Jata Hai Aaj Bhi Purushon Ko Yeh Lagta Hai Ki Wah Mahilaon Se Shaktishaali Hain Ya Sirf Aur Sirf Hamare Samaaj Ki Putr Satta Namak Bhagidari Ke Kaaran Hota Hai Aaj Bhi Hamara Purush Samaaj Ya Manane Ko Taiyaar Nahi Hai Ki Mahilaen Unse Adhik Shaktishaali Hai Yeh Sab Kaaran Hain Jinke Kaaran Purush Apni Feeling Mahilaon Ke Samane Nahi Dikhate Hain Namaskar Orissa Porn Film
Likes  18  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Purush Apni Feelings Kyun Nahi Dikhate

vokalandroid