भारतीय सिनेमा का कैसा इतिहास रहा? ...

भारतीय सिनेमा के अन्तर्गत भारत के विभिन्न भागों और भाषाओं में बनने वाली फिल्में आती हैं जिनमें आंध्र प्रदेश और तेलंगाना, असम, बिहार, उत्तर प्रदेश, गुजरात, हरियाणा, जम्मू एवं कश्मीर, झारखंड, कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र, ओडिशा, पंजाब, राजस्थान, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और बॉलीवुड शामिल हैं।[5] भारतीय सिनेमा ने २०वीं सदी की शुरुआत से ही विश्व के चलचित्र जगत पर गहरा प्रभाव छोड़ा है।। भारतीय फिल्मों का अनुकरण पूरे दक्षिणी एशिया, ग्रेटर मध्य पूर्व, दक्षिण पूर्व एशिया और पूर्व सोवियत संघ में भी होता है। भारतीय प्रवासियों की बढ़ती संख्या की वजह से अब संयुक्त राज्य अमरीका और यूनाइटेड किंगडम भी भारतीय फिल्मों के लिए एक महत्वपूर्ण बाजार बन गए हैं। एक माध्यम(परिवर्तन) के रूप में सिनेमा ने देश में अभूतपूर्व लोकप्रियता हासिल की और सिनेमा की लोकप्रियता का इसी से अन्दाजा लगाया जा सकता है कि यहाँ सभी भाषाओं में मिलाकर प्रति वर्ष 1,600 तक फिल्में बनी हैं। [2][6]
Romanized Version
भारतीय सिनेमा के अन्तर्गत भारत के विभिन्न भागों और भाषाओं में बनने वाली फिल्में आती हैं जिनमें आंध्र प्रदेश और तेलंगाना, असम, बिहार, उत्तर प्रदेश, गुजरात, हरियाणा, जम्मू एवं कश्मीर, झारखंड, कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र, ओडिशा, पंजाब, राजस्थान, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और बॉलीवुड शामिल हैं।[5] भारतीय सिनेमा ने २०वीं सदी की शुरुआत से ही विश्व के चलचित्र जगत पर गहरा प्रभाव छोड़ा है।। भारतीय फिल्मों का अनुकरण पूरे दक्षिणी एशिया, ग्रेटर मध्य पूर्व, दक्षिण पूर्व एशिया और पूर्व सोवियत संघ में भी होता है। भारतीय प्रवासियों की बढ़ती संख्या की वजह से अब संयुक्त राज्य अमरीका और यूनाइटेड किंगडम भी भारतीय फिल्मों के लिए एक महत्वपूर्ण बाजार बन गए हैं। एक माध्यम(परिवर्तन) के रूप में सिनेमा ने देश में अभूतपूर्व लोकप्रियता हासिल की और सिनेमा की लोकप्रियता का इसी से अन्दाजा लगाया जा सकता है कि यहाँ सभी भाषाओं में मिलाकर प्रति वर्ष 1,600 तक फिल्में बनी हैं। [2][6]Bhartiya Cinema Ke Antargat Bharat Ke Vibhinn Bhaagon Aur Bhashaon Mein Banane Wali Filme Aati Hain Jinmein Andhra Pradesh Aur Telangana Asam Bihar Uttar Pradesh Gujarat Haryana Jammu Evam Kashmir Jharkhand Karnataka Kerala Maharashtra Odisha Punjab Rajasthan Tamil Nadu Paschim Bengal Aur Bollywood Shamil Hain Bhartiya Cinema Ne 20vin Sadi Ki Shuruvat Se Hi Vishwa Ke Chalchitra Jagat Par Gehra Prabhav Choda Hai Bhartiya Filmo Ka Anukaran Poore Dakshini Asia Greater Madhya Purv Dakshin Purv Asia Aur Purv Soviet Sangh Mein Bhi Hota Hai Bhartiya Pravaasiyon Ki Badhti Sankhya Ki Wajah Se Ab Sanyukt Rajya America Aur United Kingdom Bhi Bhartiya Filmo Ke Liye Ek Mahatvapurna Bazar Ban Gaye Hain Ek Maadhyam Pariwartan Ke Roop Mein Cinema Ne Desh Mein Abhutpurva Lokpriyata Hasil Ki Aur Cinema Ki Lokpriyata Ka Isi Se Andaja Lagaya Ja Sakta Hai Ki Yahan Sabhi Bhashaon Mein Milakar Prati Varsh 1,600 Tak Filme Bani Hain [2][6]
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Bharatiya Cinema Ka Kaisa Itihas Raha

vokalandroid