भारत से एमबीबीएस के बाद विदेश में मेडिकल पीजी डिग्री करने के लिए मेरे पास क्या विकल्प हैं? ...

डॉक्टरी पढ़ने के लिए विदेश जाने वाले छात्रों को भी अब नेशनल एलिजिबलिटी कम इंट्रेंस टेस्ट (नीट) पास करना अनिवार्य होगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अगले साल से इसे अनिवार्य करने का फैसला किया है। नीट को लेकर अगले कुछ दिनों में जारी होने वाली अधिसूचना में यह प्रावधान जोड़कर आ रहा है।बता दें कि विदेश जाने वाले छात्रों के लिए नीट अनिवार्य किए जाने संबंधी खबर आपके अखबार ‘हिन्दुस्तान’ ने सबसे पहले 24 मई को प्रकाशित की थी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के उच्चपदस्थ सूत्रों के अनुसार, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद केंद्र सरकार ने एमबीबीएस में एडमिशन के लिए चिकित्सा शिक्षा नियमन कानून में संशोधन किया था। इसके बाद भारत में डॉक्टर बनने के लिए नीट अनिवार्य हो गया है। इसी कानून के दायरे में यह बात भी आती है कि कोई भी भारतीय डॉक्टरी की डिग्री कहीं से भी लेता है तो पहले उसे नीट पास करना होगा। यदि कोई विदेशी नागरिक भारत में मेडिकल की पढ़ाई करना चाहता है तो भी उसे नीट पास करना होगा। डिग्री लेने के बाद स्क्रींनिग टेस्ट भी देना होगामंत्रालय ने कहा कि 2018-19 के सत्र से जो भी छात्र विदेशों में मेडिकल पढ़ाई के इच्छुक हों, वे पहले नीट पास कर लें। विदेश जाने के लिए एमसीआई से अहर्ता प्रमाण पत्र लेना होता है। यह प्रमाण पत्र उन्हीं को मिलेगा जो नीट पास कर पाएंगे। यदि कोई बिना नीट पास किए विदेशों से मेडिकल की डिग्री लेते हैं तो वह देश में मान्य नहीं होगी। विदेशों से मेडिकल की डिग्री लेने के बाद स्क्रींनिग टेस्ट भी देना होता है। वह व्यवस्था पूर्ववत जारी रहेगी। केंद्र सरकार के अधिकारी ने कहा कि इस फैसले से विदेशों से डॉक्टरी पढ़कर आने वाले छात्रों की गुणवत्ता सुधरेगी। विदेशों से डॉक्टरी की डिग्री लेकर आने वाले 80 फीसदी नौजवान स्क्रीनिंग टेस्ट के पहले प्रयास में फेल हो जाते हैं
Romanized Version
डॉक्टरी पढ़ने के लिए विदेश जाने वाले छात्रों को भी अब नेशनल एलिजिबलिटी कम इंट्रेंस टेस्ट (नीट) पास करना अनिवार्य होगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अगले साल से इसे अनिवार्य करने का फैसला किया है। नीट को लेकर अगले कुछ दिनों में जारी होने वाली अधिसूचना में यह प्रावधान जोड़कर आ रहा है।बता दें कि विदेश जाने वाले छात्रों के लिए नीट अनिवार्य किए जाने संबंधी खबर आपके अखबार ‘हिन्दुस्तान’ ने सबसे पहले 24 मई को प्रकाशित की थी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के उच्चपदस्थ सूत्रों के अनुसार, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद केंद्र सरकार ने एमबीबीएस में एडमिशन के लिए चिकित्सा शिक्षा नियमन कानून में संशोधन किया था। इसके बाद भारत में डॉक्टर बनने के लिए नीट अनिवार्य हो गया है। इसी कानून के दायरे में यह बात भी आती है कि कोई भी भारतीय डॉक्टरी की डिग्री कहीं से भी लेता है तो पहले उसे नीट पास करना होगा। यदि कोई विदेशी नागरिक भारत में मेडिकल की पढ़ाई करना चाहता है तो भी उसे नीट पास करना होगा। डिग्री लेने के बाद स्क्रींनिग टेस्ट भी देना होगामंत्रालय ने कहा कि 2018-19 के सत्र से जो भी छात्र विदेशों में मेडिकल पढ़ाई के इच्छुक हों, वे पहले नीट पास कर लें। विदेश जाने के लिए एमसीआई से अहर्ता प्रमाण पत्र लेना होता है। यह प्रमाण पत्र उन्हीं को मिलेगा जो नीट पास कर पाएंगे। यदि कोई बिना नीट पास किए विदेशों से मेडिकल की डिग्री लेते हैं तो वह देश में मान्य नहीं होगी। विदेशों से मेडिकल की डिग्री लेने के बाद स्क्रींनिग टेस्ट भी देना होता है। वह व्यवस्था पूर्ववत जारी रहेगी। केंद्र सरकार के अधिकारी ने कहा कि इस फैसले से विदेशों से डॉक्टरी पढ़कर आने वाले छात्रों की गुणवत्ता सुधरेगी। विदेशों से डॉक्टरी की डिग्री लेकर आने वाले 80 फीसदी नौजवान स्क्रीनिंग टेस्ट के पहले प्रयास में फेल हो जाते हैंDoktaree Padhne Ke Liye Videsh Jaane Wale Chhatro Ko Bhi Ab National Elijibliti Kam Intrens Test Neet Paas Karna Anivarya Hoga Kendriya Swasthya Mantralay Ne Agle Saal Se Ise Anivarya Karne Ka Faisla Kiya Hai Neet Ko Lekar Agle Kuch Dinon Mein Jaari Hone Wali Adhisuchana Mein Yeh Pravadhan Jodkar Aa Raha Hai Bata Dein Ki Videsh Jaane Wale Chhatro Ke Liye Neet Anivarya Kiye Jaane Sambandhi Khabar Aapke Akbar Hindustan Ne Sabse Pehle 24 May Ko Prakashit Ki Thi Kendriya Swasthya Mantralay Ke Uchchapadasth Sootron Ke Anusar Supreme Court Ke Aadesh Ke Baad Kendra Sarkar Ne MBBS Mein Admission Ke Liye Chikitsa Shiksha Niyaman Kanoon Mein Sanshodhan Kiya Tha Iske Baad Bharat Mein Doctor Banane Ke Liye Neet Anivarya Ho Gaya Hai Isi Kanoon Ke Daayre Mein Yeh Baat Bhi Aati Hai Ki Koi Bhi Bhartiya Doktaree Ki Degree Kahin Se Bhi Leta Hai To Pehle Use Neet Paas Karna Hoga Yadi Koi Videshi Nagarik Bharat Mein Medical Ki Padhai Karna Chahta Hai To Bhi Use Neet Paas Karna Hoga Degree Lene Ke Baad Skrinnig Test Bhi Dena Hogamantralay Ne Kaha Ki 2018-19 Ke Satra Se Jo Bhi Chatra Videshon Mein Medical Padhai Ke Icchuk Hon Ve Pehle Neet Paas Kar Lein Videsh Jaane Ke Liye Mci Se Aharta Pramaan Patra Lena Hota Hai Yeh Pramaan Patra Unhin Ko Milega Jo Neet Paas Kar Paenge Yadi Koi Bina Neet Paas Kiye Videshon Se Medical Ki Degree Lete Hain To Wah Desh Mein Manya Nahi Hogi Videshon Se Medical Ki Degree Lene Ke Baad Skrinnig Test Bhi Dena Hota Hai Wah Vyavastha Purvavat Jaari Rahegi Kendra Sarkar Ke Adhikari Ne Kaha Ki Is Faisle Se Videshon Se Doktaree Padhkar Aane Wale Chhatro Ki Gunavatta Sudharegi Videshon Se Doktaree Ki Degree Lekar Aane Wale 80 Fisadi Naujawan Screening Test Ke Pehle Prayas Mein Fail Ho Jaate Hain
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Bharat Se MBBS Ke Baad Videsh Mein Medical PG Degree Karne Ke Liye Mere Paas Kya Vikalp Hain

vokalandroid