काले धन पर लगाम कसने में मोदी सरकार कितनी सफल रही ? ...

Likes  1  Dislikes

3 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
काले धन पर अगर लगाम लगाने की बात की जाए तो उसमें मोदी सरकार बिल्कुल और सफल साबित हुई है क्योंकि जिस प्रकार से 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान मोदी जी ने तमाम चुनावी रैलियों में देश की आम जनता से वादा किया था कि स्विस बैंक में जितना भी कालाधन है उसे वापस लाया जाएगा लेकिन 4 वर्ष बीत जाने के बाद भी ऐसा देखने को नहीं मिला है इसके अलावा उन्होंने कहा था कि देश में कालेधन पर लगाम लगाई जाएगी भ्रष्टाचार में कमी होगी लेकिन अंतर्राष्ट्रीय मंच पर भारत की जो रैंकिंग है भ्रष्टाचार के मामले में वह पहले से भी ज्यादा खराब हो चुकी है तो यह साफ दर्शाता है कि जब से मोदी सरकार आई है तब से हमारे देश में भ्रष्टाचार के मामले और भी अधिक पढ़े हैं और इसका साफ उदाहरण है कि किस प्रकार से नीरव मोदी विजय माल्या जैसे लोग बैंकों से हजारों करोड़ रुपए लेकर विदेशी फरार हो चुके हैं और उन पर भी कोई कार्यवाही नहीं हो पाई है इसी वजह से मुझे लगता है कि नरेंद्र मोदी की सरकार काले धन के मामले में कुछ कर पानी में असफल साबित हुई है अभी हाल में ही रिपोर्ट आई है कि स्विस बैंक में भारतीयों के द्वारा जो पैसे जमा हैं उसमें ₹50 की बढ़ोतरी हुई है तो इस पर भी मोदी सरकार कुछ नहीं कर पाई कर पा रही है उन्होंने कहा था कि स्विस बैंक से इतना पैसा भारत आएगा कि हर एक भारतीय के अकाउंट में लगभग 1500000 रुपए जमा हो सकते हैं तो यह तमाम बातें ऐसी हैं जिस पर देश की आम जनता ने भरोसा किया और मोदी जी को वोट दिया लेकिन 4 वर्ष बीत जाने के बाद भी मोदी सरकार भ्रष्टाचार और कालेधन के मामले पर कुछ भी नहीं कर पाई है इसी वजह से मुझे लगता है कि मोदी सरकार विफल साबित हुई है अपने वादों को पूरा कर पाने मेंKaale Dhan Par Agar Lagaam Lagane Ki Baat Ki Jaye To Usamen Modi Sarkar Bilkul Aur Safal Saabit Hui Hai Kyonki Jis Prakar Se 2014 Ke Lok Sabha Chunav Ke Dauran Modi Ji Ne Tamam Chunavi Railiyo Mein Desh Ki Aam Janta Se Vada Kiya Tha Ki Swiss Bank Mein Jitna Bhi Kaladhan Hai Use Wapas Laya Jayega Lekin 4 Varsh Beet Jaane Ke Baad Bhi Aisa Dekhne Ko Nahi Mila Hai Iske Alava Unhone Kaha Tha Ki Desh Mein Kaaledhan Par Lagaam Lagai Jayegi Bhrashtachar Mein Kami Hogi Lekin Antar Rashtriya Manch Par Bharat Ki Jo Ranking Hai Bhrashtachar Ke Mamle Mein Wah Pehle Se Bhi Jyada Kharab Ho Chuki Hai To Yeh Saaf Darshaata Hai Ki Jab Se Modi Sarkar Eye Hai Tab Se Hamare Desh Mein Bhrashtachar Ke Mamle Aur Bhi Adhik Padhe Hain Aur Iska Saaf Udaharan Hai Ki Kis Prakar Se Neerav Modi Vijay Malya Jaise Log Bankon Se Hajaron Crore Rupaiye Lekar Videshi Farar Ho Chuke Hain Aur Un Par Bhi Koi Karyavahi Nahi Ho Payi Hai Isi Wajah Se Mujhe Lagta Hai Ki Narendra Modi Ki Sarkar Kaale Dhan Ke Mamle Mein Kuch Kar Pani Mein Asafal Saabit Hui Hai Abhi Haal Mein Hi Report Eye Hai Ki Swiss Bank Mein Bharatiyon Ke Dwara Jo Paise Jama Hain Usamen ₹50 Ki Badhotari Hui Hai To Is Par Bhi Modi Sarkar Kuch Nahi Kar Payi Kar Pa Rahi Hai Unhone Kaha Tha Ki Swiss Bank Se Itna Paisa Bharat Aaega Ki Har Ek Bhartiya Ke Account Mein Lagbhag 1500000 Rupaiye Jama Ho Sakte Hain To Yeh Tamam Batein Aisi Hain Jis Par Desh Ki Aam Janta Ne Bharosa Kiya Aur Modi Ji Ko Vote Diya Lekin 4 Varsh Beet Jaane Ke Baad Bhi Modi Sarkar Bhrashtachar Aur Kaaledhan Ke Mamle Par Kuch Bhi Nahi Kar Payi Hai Isi Wajah Se Mujhe Lagta Hai Ki Modi Sarkar Vifal Saabit Hui Hai Apne Vaado Ko Pura Kar Pane Mein
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

अतिरिक्त विकल्प यहां दिखाई देते हैं!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
काले धन में लगाम लगाने में मोदी सरकार कितनी सफल रही कालेधन पर लगाम लगाना कि मैं पूरी तरह सफल तो नहीं रही है लेकिन हां जो पहली चीज तो यह जो करें डिसीजन है ठीक है वह नरेंद्र मोदी ने लिया जो कि पिछले कई दशकों पर जो प्रधानमंत्री हैं वह नहीं ले पाए थे लेकिन मतलब कालेधन पर लगाम लगाने के लिए नोटबंदी की गई थी उसमें पूरी तरह से सफलता नहीं मिली हो ना ठीक है जो नोट उन्होंने वादा किया था कि 15 लाख करोड़ नोट जो है मैं तो काला धन जाए वापस आएगा जब किया जाएगा वह पूजा से जप्त नहीं किया गया बेहतर हो पाया तभी तो अगर बात करते हैं मतलब जोक नोटबंदी हुई नोटबंदी के बाद भारत की इकोनॉमी जो है तेजी से बढ़ रही है तो आए दिन पेनिस से इफेक्टिव तो हुआ है लेकिन पूरी तरह से सफल नहीं हो पाएKaale Dhan Mein Lagaam Lagane Mein Modi Sarkar Kitni Safal Rahi Kaaledhan Par Lagaam Lagana Ki Main Puri Tarah Safal To Nahi Rahi Hai Lekin Haan Jo Pehli Cheez To Yeh Jo Karen Decision Hai Theek Hai Wah Narendra Modi Ne Liya Jo Ki Pichhle Kai Dashakon Par Jo Pradhanmantri Hain Wah Nahi Le Paye The Lekin Matlab Kaaledhan Par Lagaam Lagane Ke Liye Notebandi Ki Gayi Thi Usamen Puri Tarah Se Safalta Nahi Mili Ho Na Theek Hai Jo Note Unhone Vada Kiya Tha Ki 15 Lakh Crore Note Jo Hai Main To Kala Dhan Jaye Wapas Aaega Jab Kiya Jayega Wah Puja Se Japt Nahi Kiya Gaya Behtar Ho Paya Tabhi To Agar Baat Karte Hain Matlab Joke Notebandi Hui Notebandi Ke Baad Bharat Ki Economy Jo Hai Teji Se Badh Rahi Hai To Aaye Din Penis Se Effective To Hua Hai Lekin Puri Tarah Se Safal Nahi Ho Paye
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
शुभम जी मिठाई पर बात ना किताबों में व्रत पारण ज्यादा अच्छी लगती है पर रियलिटी में नहीं ऐसा ही कुछ मोदी सरकार के साथ हुआ हालांकि मुझे कि मोदी एंड मोदी जी काफी अच्छे नेता है और जो वह कह रहे हैं वह कुछ ना कुछ करेंगे इसकी करने के लिए होने डिमोनेटाइजेशन या जीएसटी जैसे यह जो लोग है यह बनाएं ताकि वह काले धन के ऊपर लगाम लगा सके रिपोर्ट के मुताबिक इस बार इन आंकड़ों के मुताबिक सूचकांक में ज्यादा रुपए जमा हुए हैं ज्यादा बड़े-बड़े घोटाले सामने आए हैं हालांकि मुझे लगता है कि कुछ उठा ले ऐसे हैं जो कांग्रेस राज के हैं पर सामने आया है जो Kick अच्छी बात है लेकिन मोदी सरकार भी उन्हीं 1 क्रिमिनल डॉन को पकड़ने में कामयाब तो नहीं हो पाई है वह अभी भी खुले में घूम रहे हैं और बहुत सारे नए घोटाले तो सामने आ रहे हैं Google कालेधन पर लगाम लगा दी गई होती तो शायद इस तरह कि यह जो क्राइम सेल हो सामने नहीं आते थोड़ी सी अगर सॉन्ग पनिशमेंट पनिशमेंट रखी होते तो शायद ऐसा नहीं होता दर्शन नहीं हो रहा है रोशनी से फिर सामने आ रही हैं और कहीं सुनने को नहीं मिल जाएगी कुछ पॉजिटिव हुआ एक नामी को लेकर थोड़ा बहुत जीडीपी कम ज्यादा हो रहा है वह सारा कुछ बहुत बड़ा डिफरेंस नहीं है तुम बातें करना तो आसान हो जाते पर उसको इंप्लीमेंट करना मुश्किल होता है फिर जरूरत इंप्लीमेंटेशन की ही है बड़े-बड़े वादे बड़े-बड़े जो यह बातें हैं यह तो हम लोग खुद भी कर सकते हैंSubham Ji Mithai Par Baat Na Kitabon Mein Vrat Pauran Jyada Acchi Lagti Hai Par Reality Mein Nahi Aisa Hi Kuch Modi Sarkar Ke Saath Hua Halanki Mujhe Ki Modi End Modi Ji Kafi Acche Neta Hai Aur Jo Wah Keh Rahe Hain Wah Kuch Na Kuch Karenge Iski Karne Ke Liye Hone Dimonetaijeshan Ya Gst Jaise Yeh Jo Log Hai Yeh Banaye Taki Wah Kaale Dhan Ke Upar Lagaam Laga Sake Report Ke Mutabik Is Bar In Aakado Ke Mutabik Suchakank Mein Jyada Rupaiye Jama Huye Hain Jyada Bade Bade Ghotale Samane Aaye Hain Halanki Mujhe Lagta Hai Ki Kuch Utha Le Aise Hain Jo Congress Raj Ke Hain Par Samane Aaya Hai Jo Kick Acchi Baat Hai Lekin Modi Sarkar Bhi Unhin 1 Criminal Don Ko Pakadane Mein Kamyab To Nahi Ho Payi Hai Wah Abhi Bhi Khule Mein Ghum Rahe Hain Aur Bahut Sare Naye Ghotale To Samane Aa Rahe Hain Google Kaaledhan Par Lagaam Laga Di Gayi Hoti To Shayad Is Tarah Ki Yeh Jo Crime Cell Ho Samane Nahi Aate Thodi Si Agar Song Punishment Punishment Rakhi Hote To Shayad Aisa Nahi Hota Darshan Nahi Ho Raha Hai Roshni Se Phir Samane Aa Rahi Hain Aur Kahin Sunane Ko Nahi Mil Jayegi Kuch Positive Hua Ek Naami Ko Lekar Thoda Bahut Gdp Kam Jyada Ho Raha Hai Wah Saara Kuch Bahut Bada Difference Nahi Hai Tum Batein Karna To Aasan Ho Jaate Par Usko Implement Karna Mushkil Hota Hai Phir Zaroorat Implementation Ki Hi Hai Bade Bade Waade Bade Bade Jo Yeh Batein Hain Yeh To Hum Log Khud Bhi Kar Sakte Hain
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kaale Dhan Par Lagaam Kasane Mein Modi Sarkar Kitni Safal Rahi ?, How Successful Was The Modi Government In Restricting Black Money?





मन में है सवाल?