राष्ट्रगान के लेखक कौन है? ...

भारत का राष्ट्रगान 'जन गण मन' है, जो मूलतः बांग्ला भाषा में गुरुदेव रवीन्द्रनाथ ठाकुर द्वारा लिखा गया था, जिसे भारत सरकार द्वारा 24 जनवरी 1950 को राष्ट्रगान के रूप में अंगीकृत किया गया। इसके गायन की अवधि लगभग 52 सेकेण्ड निर्धारित है। गुरुदेव रवीन्द्रनाथ ठाकुर विश्व के एकमात्र व्यक्ति हैं, जिनकी रचना को एक से अधिक देशों में राष्ट्रगान का दर्जा प्राप्त है। उनकी एक दूसरी कविता 'आमार सोनार बाँग्ला' को आज भी बांग्लादेश में राष्ट्रगान का दर्जा प्राप्त है।
Romanized Version
भारत का राष्ट्रगान 'जन गण मन' है, जो मूलतः बांग्ला भाषा में गुरुदेव रवीन्द्रनाथ ठाकुर द्वारा लिखा गया था, जिसे भारत सरकार द्वारा 24 जनवरी 1950 को राष्ट्रगान के रूप में अंगीकृत किया गया। इसके गायन की अवधि लगभग 52 सेकेण्ड निर्धारित है। गुरुदेव रवीन्द्रनाथ ठाकुर विश्व के एकमात्र व्यक्ति हैं, जिनकी रचना को एक से अधिक देशों में राष्ट्रगान का दर्जा प्राप्त है। उनकी एक दूसरी कविता 'आमार सोनार बाँग्ला' को आज भी बांग्लादेश में राष्ट्रगान का दर्जा प्राप्त है।Bharat Ka Rashtragan Jan Gan Man Hai Jo Mooltah Bangla Bhasha Mein Gurudev Ravindranath Thakur Dwara Likha Gaya Tha Jise Bharat Sarkar Dwara 24 January 1950 Ko Rashtragan Ke Roop Mein Angikrit Kiya Gaya Iske Gaayan Ki Avadhi Lagbhag 52 Second Nirdharit Hai Gurudev Ravindranath Thakur Vishwa Ke Ekmatra Vyakti Hain Jinaki Rachna Ko Ek Se Adhik Deshon Mein Rashtragan Ka Darja Prapt Hai Unki Ek Dusri Kavita Amar Sonar Bangla Ko Aaj Bhi Bangladesh Mein Rashtragan Ka Darja Prapt Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Rashtragan Ke Lekhak Kaun Hai , राष्ट्रगान के रचयिता कौन है, राष्ट्रगान के लेखक कौन है

vokalandroid