search_iconmic
leaderboard
notify
हिंदी
leaderboard
notify
हिंदी
जवाब दें

ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित प्रथम साहित्यकार कौन थे? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो गाइस माय नेम इज प्रवीण भारती और आपके प्रश्न का उत्तर दे रहे हैं आप उसे ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित प्रथम साहित्यकार कौन थे तो थोड़ा सा उसके बारे में इसका बैकग्राउंड जानते हैं कि जो ज्ञानपीठ पुरस्कार को लिटरेचर में दिया जाता है लिटरेचर मतलब साहित्य में दिया जाता है इसकी स्टार्टिंग होती 1961 में 1961 से स्टार्टिंग हुई थी यह दिया जाता है जो भारतीय लेखक हैं उनको दिया जाता है जो इंडियन लैंग्वेज में लिखते हैं जो आठवीं अनुसूची में जो 22 भाषाओं के बारे में जिक्र किया गया उन 22 भाषाओं में जो इंडियन राइटर लिखता है उनको दिया जाता है ज्ञानपीठ पुरस्कार साहित्य के क्षेत्र में अब सबसे पहले स्टार्टिंग कबसे हुई 1961 में लेकिन जो सबसे पहला जो पुरस्कार दिया गया था ज्ञानपीठ पुरस्कार वह दिया गया था 1965 में 1965 में 4 साल बाद शंकर कुरुप को दिया गया तक इन को दिया गया था 1965 में शंकर कुरुप को और अभी रिसेंटली 2017 में कृष्णा सोबती को दिया गया है अब तक 58 लोग हैं जिनको ज्ञानपीठ पुरस्कार दिया जा चुका है फिर से मैं एक बारी आपका डिवाइस करो ज्ञान पीठ पुरुस्कार मतलब लिटरेचर में दिया जाता है स्टार्टिंग हुई थी 1951 में जो 22 भाषाओं में लिखता है जो इंडियन लैंग्वेज है उसमें जो अच्छा काम करता है उन writers को ज्ञानपीठ पुरस्कार दिया जाता है 22 भाषाएं कौन सी है जो आठवीं अनुसूची में लिखी गई है सबसे पहले कौन से शंकर कुरुप जून को 1965 में मिला जो रिसेंटली अभी 2017 में जो भी मिले हुए हैं कृष्णा सोबती अब तक 18 लोगों को ज्ञानपीठ पुरस्कार दिया जा चुका है धन्यवाद
Romanized Version
हेलो गाइस माय नेम इज प्रवीण भारती और आपके प्रश्न का उत्तर दे रहे हैं आप उसे ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित प्रथम साहित्यकार कौन थे तो थोड़ा सा उसके बारे में इसका बैकग्राउंड जानते हैं कि जो ज्ञानपीठ पुरस्कार को लिटरेचर में दिया जाता है लिटरेचर मतलब साहित्य में दिया जाता है इसकी स्टार्टिंग होती 1961 में 1961 से स्टार्टिंग हुई थी यह दिया जाता है जो भारतीय लेखक हैं उनको दिया जाता है जो इंडियन लैंग्वेज में लिखते हैं जो आठवीं अनुसूची में जो 22 भाषाओं के बारे में जिक्र किया गया उन 22 भाषाओं में जो इंडियन राइटर लिखता है उनको दिया जाता है ज्ञानपीठ पुरस्कार साहित्य के क्षेत्र में अब सबसे पहले स्टार्टिंग कबसे हुई 1961 में लेकिन जो सबसे पहला जो पुरस्कार दिया गया था ज्ञानपीठ पुरस्कार वह दिया गया था 1965 में 1965 में 4 साल बाद शंकर कुरुप को दिया गया तक इन को दिया गया था 1965 में शंकर कुरुप को और अभी रिसेंटली 2017 में कृष्णा सोबती को दिया गया है अब तक 58 लोग हैं जिनको ज्ञानपीठ पुरस्कार दिया जा चुका है फिर से मैं एक बारी आपका डिवाइस करो ज्ञान पीठ पुरुस्कार मतलब लिटरेचर में दिया जाता है स्टार्टिंग हुई थी 1951 में जो 22 भाषाओं में लिखता है जो इंडियन लैंग्वेज है उसमें जो अच्छा काम करता है उन writers को ज्ञानपीठ पुरस्कार दिया जाता है 22 भाषाएं कौन सी है जो आठवीं अनुसूची में लिखी गई है सबसे पहले कौन से शंकर कुरुप जून को 1965 में मिला जो रिसेंटली अभी 2017 में जो भी मिले हुए हैं कृष्णा सोबती अब तक 18 लोगों को ज्ञानपीठ पुरस्कार दिया जा चुका है धन्यवादHello Guise My Name Is Praveen Bharati Aur Aapke Prashna Ka Uttar De Rahe Hain Aap Use Gyanapith Puraskar Se Sammanit Pratham Sahityakaar Kaon The To Thoda Sa Uske Bare Mein Iska Background Jante Hain Ki Jo Gyanapith Puraskar Ko Literature Mein Diya Jata Hai Literature Matlab Sahitya Mein Diya Jata Hai Iski Starting Hoti 1961 Mein 1961 Se Starting Hui Thi Yeh Diya Jata Hai Jo Bharatiya Lekhak Hain Unko Diya Jata Hai Jo Indian Language Mein Likhte Hain Jo Aatthvi Anusuchi Mein Jo 22 Bhashaon Ke Bare Mein Jikarr Kiya Gaya Un 22 Bhashaon Mein Jo Indian Writer Likhta Hai Unko Diya Jata Hai Gyanapith Puraskar Sahitya Ke Shetra Mein Ab Sabse Pehle Starting Kabse Hui 1961 Mein Lekin Jo Sabse Pehla Jo Puraskar Diya Gaya Tha Gyanapith Puraskar Wah Diya Gaya Tha 1965 Mein 1965 Mein 4 Saal Baad Shankar Kuroop Ko Diya Gaya Tak In Ko Diya Gaya Tha 1965 Mein Shankar Kuroop Ko Aur Abhi Recently 2017 Mein Krishna Sobati Ko Diya Gaya Hai Ab Tak 58 Log Hain Jinako Gyanapith Puraskar Diya Ja Chuka Hai Phir Se Main Ek Baari Aapka Device Karo Gyaan Peeth Purashkar Matlab Literature Mein Diya Jata Hai Starting Hui Thi 1951 Mein Jo 22 Bhashaon Mein Likhta Hai Jo Indian Language Hai Usamen Jo Accha Kaam Karta Hai Un Writers Ko Gyanapith Puraskar Diya Jata Hai 22 Bhashayen Kaon Si Hai Jo Aatthvi Anusuchi Mein Likhi Gayi Hai Sabse Pehle Kaon Se Shankar Kuroop June Ko 1965 Mein Mila Jo Recently Abhi 2017 Mein Jo Bhi Mile Huye Hain Krishna Sobati Ab Tak 18 Logon Ko Gyanapith Puraskar Diya Ja Chuka Hai Dhanyavad
Likes  13  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिए😊

ऐसे और सवाल

अधिक जवाब


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित प्रथम साहित्यकार गोविंद शंकर कुरुप थे गोविंद शंकर कुरुप या जी शंकर कुरुप मलयालम भाषा के प्रसिद्ध कवि थे उनकी प्रसिद्ध रचना और तू कुशाल अर्थात बांसुरी भारत सरकार द्वारा दिए जाने वाले साहित्य के सर्वोच्च सम्मान ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित हुई थी महाकवि गोविंद शंकर कुरुप की 40 से अधिक मौलिक और अनूदित कृतियां प्रकाशित हो चुकी है
Romanized Version
ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित प्रथम साहित्यकार गोविंद शंकर कुरुप थे गोविंद शंकर कुरुप या जी शंकर कुरुप मलयालम भाषा के प्रसिद्ध कवि थे उनकी प्रसिद्ध रचना और तू कुशाल अर्थात बांसुरी भारत सरकार द्वारा दिए जाने वाले साहित्य के सर्वोच्च सम्मान ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित हुई थी महाकवि गोविंद शंकर कुरुप की 40 से अधिक मौलिक और अनूदित कृतियां प्रकाशित हो चुकी हैGyanapith Puraskar Se Sammanit Pratham Sahityakaar Govind Shankar Kuroop The Govind Shankar Kuroop Ya G Shankar Kuroop Malyalam Bhasha Ke Prasiddh Kavi The Unki Prasiddh Rachna Aur Tu Kushal Arthat Bansuri Bharat Sarkar Dwara Diye Jaane Wali Sahitya Ke Sarvoch Samman Gyanapith Puraskar Se Sammanit Hui Thi Mahakavi Govind Shankar Kuroop Ki 40 Se Adhik Maulik Aur Anudit Kritiyan Prakashit Ho Chuki Hai
Likes  2  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Gyanapith Puraskar Se Sammanit Pratham Sahityakaar Kaun The ?,Gyanpeeth Puraskar In Hindi,


vokalandroid