वेदानुसार प्रेम विवाह को निंदनीय विवाह की श्रेणी में क्यों रखा गया है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दीजिए मुझे नहीं पता कि वेद अनुसार में प्रेमिका को कौनसी श्रेणी में रखा गया ना ही मैंने आज तक इतना पढ़ा है लेकिन मुझे लगता है कि उसे एक गलत विवाह या गलत शिरडी में तो नहीं रखा गया होगा यह बिल्कुल गलत है...जवाब पढ़िये
दीजिए मुझे नहीं पता कि वेद अनुसार में प्रेमिका को कौनसी श्रेणी में रखा गया ना ही मैंने आज तक इतना पढ़ा है लेकिन मुझे लगता है कि उसे एक गलत विवाह या गलत शिरडी में तो नहीं रखा गया होगा यह बिल्कुल गलत है क्या है कि कुछ लोग ऐसे होते हैं जो अपनी थिंकिंग को पूरी समाज में अप्लाई करने की सोच है आपको मैं सारे धर्म में गिरा सकता हूं अगर मैं मुस्लिम धर्म की बात करूं तो भारत में ट्रिपल तलाक सॉल्व किया जाता है जिसमें पति अपनी पत्नी को तलाक देकर बोलकर तलाक ले सकता है बाकी अदर कंट्री इस क्या बात करेंगे तो वहां पर ऐसे रूम की सलोनी किया गया किया जाता और ना ही उनके कहीं कुरान में आए ऐसा नहीं लिखा हुआ है कुछ और लिखा है लोगों ने समय के साथ अपने मेटरनिटी की कोडिंग इन सब चीजों को रूट किए और बदल दिया तू यही बोला था ऐसे ही मैं हिंदू धर्म की बात करूं तो कुछ ना कुछ उन्होंने चीजों में हेरफेर की है और अपनी सोच कर कोड इन चीजों की जो एक्चुअल वैल्यू है उसको बदल का मतलब कुछ और तो यही बोला था कि ऐसा बिल्कुल नहीं है कि प्रेम विवाह गलत चीज है या वह एक निंदनीय है बिल्कुल भी नहीं है लोगों की सोच खराब है लोगों की सोच एक नीत श्रेणी में आती है जो लोग ऐसा सोचते हैं जहां सब जगह यह लिखा होता है कि प्रेम बहुत जरूरी है हर व्यक्ति के जीवन में वही दूसरी तरफ वही लोग यह बोलते हैं कि प्रेम विवाह गलत है क्यों गलत है बिल्कुल भी गलत नहीं है तुम लोगों की सोच में बदलाव आना चाहिए और कुछ नहीं है प्रेम विवाह अगर कोई करता है तो वह बिल्कुल भी गलत नहीं है वह अपना हक मांग रहा है जो उसको चाहिए क्योंकि हर किसी को अधिकार होता है कि वह अपने पार्टनर को चूस कर सकेDijiye Mujhe Nahi Pata Ki Ved Anusar Mein Premika Ko Kaunsi Shrenee Mein Rakha Gaya Na Hi Maine Aaj Tak Itna Padha Hai Lekin Mujhe Lagta Hai Ki Use Ek Galat Vivah Ya Galat Sirdi Mein To Nahi Rakha Gaya Hoga Yeh Bilkul Galat Hai Kya Hai Ki Kuch Log Aise Hote Hain Jo Apni Thinking Ko Puri Samaaj Mein Apply Karne Ki Soch Hai Aapko Main Sare Dharm Mein Gira Sakta Hoon Agar Main Muslim Dharm Ki Baat Karun To Bharat Mein Triple Talak Solve Kiya Jata Hai Jisme Pati Apni Patni Ko Talak Dekar Bolkar Talak Le Sakta Hai Baki Other Country Is Kya Baat Karenge To Wahan Par Aise Room Ki Saloni Kiya Gaya Kiya Jata Aur Na Hi Unke Kahin Quraan Mein Aaye Aisa Nahi Likha Hua Hai Kuch Aur Likha Hai Logon Ne Samay Ke Saath Apne Metaraniti Ki Coding In Sab Chijon Ko Root Kiye Aur Badal Diya Tu Yahi Bola Tha Aise Hi Main Hindu Dharm Ki Baat Karun To Kuch Na Kuch Unhone Chijon Mein Herpher Ki Hai Aur Apni Soch Kar Code In Chijon Ki Jo Actual Value Hai Usko Badal Ka Matlab Kuch Aur To Yahi Bola Tha Ki Aisa Bilkul Nahi Hai Ki Prem Vivah Galat Cheez Hai Ya Wah Ek Nindniye Hai Bilkul Bhi Nahi Hai Logon Ki Soch Kharab Hai Logon Ki Soch Ek Nit Shrenee Mein Aati Hai Jo Log Aisa Sochte Hain Jahan Sab Jagah Yeh Likha Hota Hai Ki Prem Bahut Zaroori Hai Har Vyakti Ke Jeevan Mein Wahi Dusri Taraf Wahi Log Yeh Bolte Hain Ki Prem Vivah Galat Hai Kyon Galat Hai Bilkul Bhi Galat Nahi Hai Tum Logon Ki Soch Mein Badlav Aana Chahiye Aur Kuch Nahi Hai Prem Vivah Agar Koi Karta Hai To Wah Bilkul Bhi Galat Nahi Hai Wah Apna Haq Maang Raha Hai Jo Usko Chahiye Kyonki Har Kisi Ko Adhikaar Hota Hai Ki Wah Apne Partner Ko Chus Kar Sake
Likes  15  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे लगता है कि यह एक फैलाया गया है उन लोगों के द्वारा आपको पशु प्रेमी को बढ़ावा देते हैं खराब माना गया था नींद आ गया था राजा को चुनौती और गंधर्व विवाह मिस है झूठ फैलाया गया है समाज के लोगों के द्वारा...जवाब पढ़िये
मुझे लगता है कि यह एक फैलाया गया है उन लोगों के द्वारा आपको पशु प्रेमी को बढ़ावा देते हैं खराब माना गया था नींद आ गया था राजा को चुनौती और गंधर्व विवाह मिस है झूठ फैलाया गया है समाज के लोगों के द्वारा जो सांप्रदायिकता को बढ़ावा देना चाहते हैं जो जातिवाद फैलाना चाहते हैं तो सबसे ज्यादा विरोध करते हैं चाहते हैं कि प्रेम विवाह दो अलग-अलग जातियों के बरे इन बातों पर आज का वातावरण पर यह क्लेश भारी पड़ जाए ऐसी बातों में मुझे नहीं लगता है कि आज के पढ़े लिखे समाज को आना चाहिए आज हमारे देश की एक परसेंट जलता हुआ है समझदार है और मुझे लगता है कि हमारी पीढ़ी को ही उनका साथ देना चाहिए उनके विचारों में योगदान करना चाहिएMujhe Lagta Hai Ki Yeh Ek Faelaya Gaya Hai Un Logon Ke Dwara Aapko Pashu Premi Ko Badhawa Dete Hain Kharab Mana Gaya Tha Neend Aa Gaya Tha Raja Ko Chunauti Aur Gandharv Vivah Miss Hai Jhuth Faelaya Gaya Hai Samaaj Ke Logon Ke Dwara Jo Saampradayikta Ko Badhawa Dena Chahte Hain Jo Jaatiwad Faillana Chahte Hain To Sabse Zyada Virodh Karte Hain Chahte Hain Ki Prem Vivah Do Alag Alag Jaatiyo Ke Bare In Baaton Par Aaj Ka Vatavaran Par Yeh Kalesh Bhari Padh Jaye Aisi Baaton Mein Mujhe Nahi Lagta Hai Ki Aaj Ke Padhe Likhe Samaaj Ko Aana Chahiye Aaj Hamare Desh Ki Ek Percent Jalta Hua Hai Samajhdar Hai Aur Mujhe Lagta Hai Ki Hamari Pidhi Ko Hi Unka Saath Dena Chahiye Unke Vicharon Mein Yogdan Karna Chahiye
Likes  13  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे तो नहीं लगता कि प्रेम विवाह को निंदनीय बताया गया वेदों के अनुसार और अभी तक मैंने शायद ऐसी कोई घटना भी नहीं सुनी जहां प्रेम विवाह को नंदिनी बताया गया है कि समाज अब बहुत चेंज हो ऐसा कुछ बता दिया भी...जवाब पढ़िये
मुझे तो नहीं लगता कि प्रेम विवाह को निंदनीय बताया गया वेदों के अनुसार और अभी तक मैंने शायद ऐसी कोई घटना भी नहीं सुनी जहां प्रेम विवाह को नंदिनी बताया गया है कि समाज अब बहुत चेंज हो ऐसा कुछ बता दिया भी तो अभी की कोई भी भेजूंगा तो फॉलो नहीं करता आजकल वे दम है तो बहुत सारी बातें बताइए आप देखिए आप खुद देखिए अपने जीवन में क्या कितनी पर्सेंट चीज हैं आप वेदों की फॉलो करते हो हाल डी एक परसेंट भी नहीं करते होगे तो वह 1 साल पहले देखा जाए तो कोई बात नहीं करना चाहता था लेकिन अब समाज चेंज हो चुका है अब देखिए आजकल लंबे रेशे रिलिजन में भी हो रही है इंटेलीजेंट भी ओरियंट अकाश भी हो रही है तो अच्छी बातें कहीं ना कहीं दो परिवारों के बीच में दो कमिटीज के बीच में सौहार्द्र पड़ेगा और अच्छी बात है होना चाहिए लेकिन वेदों की अगर बात की है तो मुझे नहीं रहता कि ऐसा कोई बात क्या हुआ कि जहां प्रेम विवाह को नींद नहीं बताया क्याMujhe To Nahi Lagta Ki Prem Vivah Ko Nindniye Bataya Gaya Vedon Ke Anusar Aur Abhi Tak Maine Shayad Aisi Koi Ghatna Bhi Nahi Suni Jahan Prem Vivah Ko Nandinee Bataya Gaya Hai Ki Samaaj Ab Bahut Change Ho Aisa Kuch Bata Diya Bhi To Abhi Ki Koi Bhi Bhejunga To Follow Nahi Karta Aajkal Ve Dum Hai To Bahut Saree Batein Bataiye Aap Dekhie Aap Khud Dekhie Apne Jeevan Mein Kya Kitni Percent Cheez Hain Aap Vedon Ki Follow Karte Ho Haal D Ek Percent Bhi Nahi Karte Hoge To Wah 1 Saal Pehle Dekha Jaye To Koi Baat Nahi Karna Chahta Tha Lekin Ab Samaaj Change Ho Chuka Hai Ab Dekhie Aajkal Lambe Reshe Religion Mein Bhi Ho Rahi Hai Intelligent Bhi Orient Akash Bhi Ho Rahi Hai To Acchi Batein Kahin Na Kahin Do Parivaro Ke Bich Mein Do Committees Ke Bich Mein Sauhardra Padega Aur Acchi Baat Hai Hona Chahiye Lekin Vedon Ki Agar Baat Ki Hai To Mujhe Nahi Rehta Ki Aisa Koi Baat Kya Hua Ki Jahan Prem Vivah Ko Neend Nahi Bataya Kya
Likes  18  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वेद अनुसार क्या लिखा गया है वह एक अलग विषय हो सकता है क्योंकि यह बात बिल्कुल सच है कि जो प्रेम विवाह है वह पहले के समय में इतना एक्सेप्टेबल नहीं था हालांकि आज भी बहुत ज्यादा एक्सेप्टेबल नहीं है लेकिन ...जवाब पढ़िये
वेद अनुसार क्या लिखा गया है वह एक अलग विषय हो सकता है क्योंकि यह बात बिल्कुल सच है कि जो प्रेम विवाह है वह पहले के समय में इतना एक्सेप्टेबल नहीं था हालांकि आज भी बहुत ज्यादा एक्सेप्टेबल नहीं है लेकिन उसके पहले जो लव मैरिज उस दिन बहुत ज्यादा असर फुल रहती थी इसी डर से लोग उस पर ज्यादा कदर नहीं रखते तो दूसरी चीज़ों बड़े बुजुर्ग लोग हैं जो पहले के टाइम से जीते आ रहे हैं उनकी मानसिकता उस दौर की है तो वह इन चीजों के सख्त खिलाफ है कि इस तरीके का विवाह जो है वह योग्य नहीं है प्लीज अरेंज मैरेज था और आज भी जिनके दादा-दादी मेजर काफी हद तक जो है वो इन चीजों में विश्वास नहीं रखते अलाउ नहीं करते लेकिन एक ट्रेन चेंज हुआ है और लव मैरिज इन बात कर लो बहुत सक्सेसफुल है क्योंकि अरेंज मैरिज में आज के टाइम में पार्टिकुलरली बात करेंगे आज तेरे फ्रेंच में तो नहीं पता है सामने वाला व्यक्ति कैसे है क्योंकि 1 दिन 2 दिन 1 महीने के लिए कोई कैसे भी ब्रिटेन कर सकता है दिखावा कर सकता है अच्छा बनने का जरूरी नहीं अच्छा हो सकता है शराब पीता हो कोई गलत आदत सी लग रही हो कि कम से कम जानते तो है उसकी फैमिली इसी नाते लव मैरिज आज के टाइम में काफी हद तक चल रही है ट्रेन में आ रही है पहले के मुकाबलेVed Anusar Kya Likha Gaya Hai Wah Ek Alag Vishay Ho Sakta Hai Kyonki Yeh Baat Bilkul Sach Hai Ki Jo Prem Vivah Hai Wah Pehle Ke Samay Mein Itna Ekseptebal Nahi Tha Halanki Aaj Bhi Bahut Zyada Ekseptebal Nahi Hai Lekin Uske Pehle Jo Love Marriage Us Din Bahut Zyada Asar Full Rehti Thi Isi Dar Se Log Us Par Zyada Kadar Nahi Rakhate To Dusri Chizon Bade Bujurg Log Hain Jo Pehle Ke Time Se Jeete Aa Rahe Hain Unki Mansikta Us Daur Ki Hai To Wah In Chijon Ke Sakht Khilaf Hai Ki Is Tarike Ka Vivah Jo Hai Wah Yogya Nahi Hai Please Arrange Marriage Tha Aur Aaj Bhi Jinke Dada Dadi Major Kafi Had Tak Jo Hai Vo In Chijon Mein Vishwas Nahi Rakhate Alau Nahi Karte Lekin Ek Train Change Hua Hai Aur Love Marriage In Baat Kar Lo Bahut Successful Hai Kyonki Arrange Marriage Mein Aaj Ke Time Mein Partikularali Baat Karenge Aaj Tere French Mein To Nahi Pata Hai Samane Vala Vyakti Kaise Hai Kyonki 1 Din 2 Din 1 Mahine Ke Liye Koi Kaise Bhi Britain Kar Sakta Hai Dikhawa Kar Sakta Hai Accha Banne Ka Zaroori Nahi Accha Ho Sakta Hai Sharab Pita Ho Koi Galat Aadat Si Lag Rahi Ho Ki Kam Se Kam Jante To Hai Uski Family Isi Naate Love Marriage Aaj Ke Time Mein Kafi Had Tak Chal Rahi Hai Train Mein Aa Rahi Hai Pehle Ke Muqable
Likes  10  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी सूचना गलत है कि वेदों के अनुसार प्रेम विवाह कुंडली भाग्य श्रेणी में रखा गया है बल्कि हमारे वेद पुराणों में तो प्रेम विवाह हुए हैं और भगवान ने की प्रेम विवाह किए हैं पहले जरूर कर विभाग के नाम से जा...जवाब पढ़िये
अभी सूचना गलत है कि वेदों के अनुसार प्रेम विवाह कुंडली भाग्य श्रेणी में रखा गया है बल्कि हमारे वेद पुराणों में तो प्रेम विवाह हुए हैं और भगवान ने की प्रेम विवाह किए हैं पहले जरूर कर विभाग के नाम से जाना जाता था और यह बहुत पवित्र विवाह माना जाता था भगवान शिव ने पति से प्रेम विवाह किया था अर्जुन नई सुभद्रा से प्रेम विवाह किया था भगवान कृष्ण ने रुक्मणी से प्रेम विवाह किया था तो कैसे हमारे देश प्रेमियों को निंदनीय मान सकते हैं जरूर आपको कोई गलतफहमी हुई है और आपको गलत समझ में आया है कि हमारे वेदों में पियवा को नींद नहीं आ गया है और हमेशा से थी प्राचीन काल से आज बल्कि प्रेम विवाह का गलत रूप होता जा रहा है और अगर तू जाति के लोग एक दूसरे से प्रेम की बात कर लेते हैं तो यह हमारे समाज की कमी है कि वह जाति के नाम पर उन युवाओं को नहीं मानते हैं और कई जगह लड़का की लड़की की लड़की की हत्या तक कर दी जाती है तो यह हमारे समाज की संकीर्ण मानसिकता है जो आधुनिकता की देन है जबकि समय में तो लड़कियों को किस समय पर करने की आजादी कि उन्हें स्वतंत्रता की कि वह बहुत सारे पुरुषों में से अपने लिए योग्य वर चुनने और तभी गंधर्व विवाह होते थे वही अब प्रेम विवाह के नाम से जाने जाते हैं इसलिए ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि हमारे वेदों ने प्रेम विवाह को जिंदगी में रखा हैAbhi Soochna Galat Hai Ki Vedon Ke Anusar Prem Vivah Kundali Bhagya Shrenee Mein Rakha Gaya Hai Balki Hamare Ved Puraanon Mein To Prem Vivah Huye Hain Aur Bhagwan Ne Ki Prem Vivah Kiye Hain Pehle Jarur Kar Vibhag Ke Naam Se Jana Jata Tha Aur Yeh Bahut Pavitra Vivah Mana Jata Tha Bhagwan Shiv Ne Pati Se Prem Vivah Kiya Tha Arjun Nayi Subhadra Se Prem Vivah Kiya Tha Bhagwan Krishan Ne Rukmani Se Prem Vivah Kiya Tha To Kaise Hamare Desh Premiyon Ko Nindaniya Maan Sakte Hain Jarur Aapko Koi Galatfahamee Hui Hai Aur Aapko Galat Samajh Mein Aaya Hai Ki Hamare Vedon Mein Piyava Ko Neend Nahi Aa Gaya Hai Aur Hamesha Se Thi Prachin Kaal Se Aaj Balki Prem Vivah Ka Galat Roop Hota Ja Raha Hai Aur Agar Tu Jati Ke Log Ek Dusre Se Prem Ki Baat Kar Lete Hain To Yeh Hamare Samaaj Ki Kami Hai Ki Wah Jati Ke Naam Par Un Yuvaon Ko Nahi Manate Hain Aur Kai Jagah Ladka Ki Ladki Ki Ladki Ki Hatya Tak Kar Di Jati Hai To Yeh Hamare Samaaj Ki Sankirna Mansikta Hai Jo Adhunikata Ki Then Hai Jabki Samay Mein To Ladkiyon Ko Kis Samay Par Karne Ki Azadi Ki Unhen Svatantrata Ki Ki Wah Bahut Sare Purushon Mein Se Apne Liye Yogya War Chunane Aur Tabhi Gandharv Vivah Hote The Wahi Ab Prem Vivah Ke Naam Se Jaane Jaate Hain Isliye Aisa Bilkul Bhi Nahi Hai Ki Hamare Vedon Ne Prem Vivah Ko Zindagi Mein Rakha Hai
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Wikipedia अनुसार प्रेम विवाह को आपने बताया निंदनीय सेवा की श्रेणी में रखा गया है निश्चित तौर पर जो प्रेम व्यवस्था बनाए रखें कि आज से 5 साल पहले उसको बहुत मारा बहुत अच्छा नहीं माना जाता था बहुत बड़ी वज...जवाब पढ़िये
Wikipedia अनुसार प्रेम विवाह को आपने बताया निंदनीय सेवा की श्रेणी में रखा गया है निश्चित तौर पर जो प्रेम व्यवस्था बनाए रखें कि आज से 5 साल पहले उसको बहुत मारा बहुत अच्छा नहीं माना जाता था बहुत बड़ी वजह थी वह बहुत महंगी होती है बहुत समय से होती आई है अभी भी हो रहे हैं लेकिन पहले से ही कई दिक्कतें देखने को मिलती थी इसलिए पुराने खासतौर में जो लोग हैं वह इन चीजों को नहीं यकीन करते हो बाकि आज के टाइम में तो इतनी सक्सेसफुल की हकीकत में देखा जाए तो कोई भी अनजान व्यक्ति कुछ दिनों के लिए अच्छा साबित कर सकता है तो कोई कैसे किसी पर भरोसा करें आज के टाइम में कम से कम ऐसा तो होगा लव मैरिज में उसको आप जानते हो समझते हो सब बातों से बातें दूसरी जिंदगी बीत अनुसार यह हमारे जो धर्म अनुसार योग्य है यह सब चीजें इतनी सारी चीजें स्पष्ट है मतलब घर में आप कहां से फारक हो कहां यह को कहा वह सब चीजें भी होती है कि मानता को इतनी मानो बाकी अपने दिमाग से अपनी भलाई अपनी खुशी अपने परिवार की खुशी के हिसाब से फैसले लेने चाहिए अपनी सहूलियत के अनुसारWikipedia Anusar Prem Vivah Ko Aapne Bataya Nindaniya Seva Ki Shrenee Mein Rakha Gaya Hai Nishchit Taur Par Jo Prem Vyavastha Banaye Rakhen Ki Aaj Se 5 Saal Pehle Usko Bahut Mara Bahut Accha Nahi Mana Jata Tha Bahut Badi Wajah Thi Wah Bahut Mehengi Hoti Hai Bahut Samay Se Hoti Eye Hai Abhi Bhi Ho Rahe Hain Lekin Pehle Se Hi Kai Dikkaten Dekhne Ko Milti Thi Isliye Purane Khaasataur Mein Jo Log Hain Wah In Chijon Ko Nahi Yakin Karte Ho Baki Aaj Ke Time Mein To Itni Successful Ki Haqiqat Mein Dekha Jaye To Koi Bhi Anjaan Vyakti Kuch Dinon Ke Liye Accha Saabit Kar Sakta Hai To Koi Kaise Kisi Par Bharosa Karen Aaj Ke Time Mein Kam Se Kam Aisa To Hoga Love Marriage Mein Usko Aap Jante Ho Samajhte Ho Sab Baaton Se Batein Dusri Zindagi Beet Anusar Yeh Hamare Jo Dharm Anusar Yogya Hai Yeh Sab Cheezen Itni Saree Cheezen Spasht Hai Matlab Ghar Mein Aap Kahan Se Farak Ho Kahan Yeh Ko Kaha Wah Sab Cheezen Bhi Hoti Hai Ki Manata Ko Itni Maano Baki Apne Dimag Se Apni Bhalai Apni Khushi Apne Parivar Ki Khushi Ke Hisab Se Faisle Lene Chahiye Apni Sahuliyat Ke Anusar
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Vedanusar Prem Vivah Ko Nindaniya Vivah Ki Shreni Mein Kyon Rakha Gaya Hai

vokalandroid