आयुर्वेद के बारे में सबसे बड़ी गलतफहमी क्या हैं?

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पीरियड के बारे में उपयोग में है वह सबसे बढ़िया जो जानकारी नहीं दे रहा है
Romanized Version
पीरियड के बारे में उपयोग में है वह सबसे बढ़िया जो जानकारी नहीं दे रहा हैPeriod Ke Bare Mein Upyog Mein Hai Wah Sabse Badhiya Jo Jankari Nahi De Raha Hai
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतवर्ष अनुपम बनी हुई मटकी होटल के काम नहीं करती हो जल्दी से चला दो इतना अच्छा काम करेगी अगर उसको भी ठीक हो जाता है और शरीर का कोई नहीं है
Romanized Version
भारतवर्ष अनुपम बनी हुई मटकी होटल के काम नहीं करती हो जल्दी से चला दो इतना अच्छा काम करेगी अगर उसको भी ठीक हो जाता है और शरीर का कोई नहीं हैBharatvarsh Anupam Bani Hui Mataki Hotel Ke Kaam Nahi Karti Ho Jaldi Se Chala Do Itna Accha Kaam Karegi Agar Usko Bhi Theek Ho Jata Hai Aur Sharir Ka Koi Nahi Hai
Likes  18  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं 2 साल का हूं और अंबिकापुर में बिकने वाला गुजरात कितनी बार में कितने की है हेलो और जनरल पिक्चर वीडियो आयुर्वेद का मूल सिंह का यही है कि जो कुत्ते की होती है वह आयुर्वेद में
Romanized Version
मैं 2 साल का हूं और अंबिकापुर में बिकने वाला गुजरात कितनी बार में कितने की है हेलो और जनरल पिक्चर वीडियो आयुर्वेद का मूल सिंह का यही है कि जो कुत्ते की होती है वह आयुर्वेद मेंMain 2 Saal Ka Hoon Aur Ambikapur Mein Bikne Vala Gujarat Kitni Baar Mein Kitne Ki Hai Hello Aur General Picture Video Ayurveda Ka Mul Singh Ka Yahi Hai Ki Jo Kutte Ki Hoti Hai Wah Ayurveda Mein
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत सारी गलत धारणा है लेकिन सबसे पहले आपको बताता हूं कि आयुर्वेदिक दवा शुगर है डिपेंड करता है कि नॉलेज देते लेकिन यहां पर लोग जब तक आपकी बीमारी है तब तक दवा चलेगी और कब तक करें तो समझने का थोड़ा सा था ना तो एक मिस कॉल कर दूसरा गलत धारणा मैया के आंगन में सर्जरी होती है ठीक है और जो पूरे विश्व में फादर ऑफ सर्जरी है वह दिखाइए यूनानी चाइना सिद्ध होने पर मेडिटेशन के पूरे वर्ल्ड वाइड होती है जो आयुर्वेद आयुर्वेद में बिकने लगे उनके अनजान उनके कर्वेचर पूरी की पूरी कॉपी की जाती है मैं आ जाओ आकर साइकोलॉजी का कितना हुआ और आंगन में खेले खूब सस्ते में जहां तक जारी की गई संसाधन उपलब्ध है वहां पर क्रिटिकल और सोने के पेशेंट भी ठीक हो सकते हैं
Romanized Version
बहुत सारी गलत धारणा है लेकिन सबसे पहले आपको बताता हूं कि आयुर्वेदिक दवा शुगर है डिपेंड करता है कि नॉलेज देते लेकिन यहां पर लोग जब तक आपकी बीमारी है तब तक दवा चलेगी और कब तक करें तो समझने का थोड़ा सा था ना तो एक मिस कॉल कर दूसरा गलत धारणा मैया के आंगन में सर्जरी होती है ठीक है और जो पूरे विश्व में फादर ऑफ सर्जरी है वह दिखाइए यूनानी चाइना सिद्ध होने पर मेडिटेशन के पूरे वर्ल्ड वाइड होती है जो आयुर्वेद आयुर्वेद में बिकने लगे उनके अनजान उनके कर्वेचर पूरी की पूरी कॉपी की जाती है मैं आ जाओ आकर साइकोलॉजी का कितना हुआ और आंगन में खेले खूब सस्ते में जहां तक जारी की गई संसाधन उपलब्ध है वहां पर क्रिटिकल और सोने के पेशेंट भी ठीक हो सकते हैंBahut Saree Galat Dharana Hai Lekin Sabse Pehle Aapko Batata Hoon Ki Ayurvedic Dawa Sugar Hai Depend Karta Hai Ki Knowledge Dete Lekin Yahan Par Log Jab Tak Aapki Bimari Hai Tab Tak Dawa Chalegi Aur Kab Tak Karein Toh Samjhne Ka Thoda Sa Tha Na Toh Ek Miss Call Kar Doosra Galat Dharana Maiya Ke Angan Mein Surgery Hoti Hai Theek Hai Aur Jo Poore Vishwa Mein Father Of Surgery Hai Wah Dikhaaiye Unani China Siddh Hone Par Meditation Ke Poore World Wide Hoti Hai Jo Ayurveda Ayurveda Mein Bikne Lage Unke Anjaan Unke Curvature Puri Ki Puri Copy Ki Jati Hai Main Aa Jao Aakar Psychology Ka Kitna Hua Aur Angan Mein Khele Khoob Saste Mein Jahan Tak Jaari Ki Gayi Sansadhan Uplabdh Hai Wahan Par Critical Aur Sone Ke Patient Bhi Theek Ho Sakte Hain
Likes  13  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिल है कि मानता नहीं बनाया होता है कि नहीं है
Romanized Version
दिल है कि मानता नहीं बनाया होता है कि नहीं हैDil Hai Ki Manata Nahi Banaya Hota Hai Ki Nahi Hai
Likes  19  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या गलतफहमी हो जाने के बाद बोल सकते हैं गलत तमीटू पर है यह है दुनिया भर का है इसमें कोई शक नहीं है अब आधा अधूरा बात सुनता है उसी प्रकार कर लेता है कि पहाड़ी बाबरी पारा तुहर पारा का 18 बार संस्कार करने के बाद ही होता है
Romanized Version
क्या गलतफहमी हो जाने के बाद बोल सकते हैं गलत तमीटू पर है यह है दुनिया भर का है इसमें कोई शक नहीं है अब आधा अधूरा बात सुनता है उसी प्रकार कर लेता है कि पहाड़ी बाबरी पारा तुहर पारा का 18 बार संस्कार करने के बाद ही होता हैKya Galatfahamee Ho Jaane Ke Baad Bol Sakte Hain Galat Tamitu Par Hai Yeh Hai Duniya Bhar Ka Hai Ismein Koi Shak Nahi Hai Ab Aadha Adhura Baat Sunta Hai Usi Prakar Kar Leta Hai Ki Pahadi Babari Para Tuhar Para Ka 18 Baar Sanskar Karne Ke Baad Hi Hota Hai
Likes  19  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहला चीज तो है आयुर्वेद में लोग सोचते हैं साइड इफेक्ट है कोई कोई दवाई में अभी जो मॉडर्न साइंस में मतलब निकाला हुआ था बीच में कंट्रोवर्सी का तो वह कंट्रोवर्सी जनरल क्या है अगर ताकि सारे कंपनी से हमारे इतिहास दवाई को अच्छी तरह से 100 दिन करके बनाया गया वह अटल वहीम इटानगर आयुर्वेदिक कि जैसे पुस्तक में बताया हुआ है कि हमारे शास्त्रों में बताए गए उसी से आकर्षित किया जाए और उसे अगर दवाई बनाया जाए तो वह हंड्रेड परसेंट non-toxic तो लोग अभी वह पक्षी के पीछे लगे हुए हैं कि आयुर्वेद में टॉक्सिक चीज मिलता है तो चलता है लेकिन वह गलत सरासर गलत है वह भी हो चुका है अच्छी तरह से बनाना जरूरी है अच्छी तरह से बनाया छोटी दवाई हो अच्छी कंपनी की दवाई हो तो आपको कोई साइड इफेक्ट नहीं रहे
Romanized Version
पहला चीज तो है आयुर्वेद में लोग सोचते हैं साइड इफेक्ट है कोई कोई दवाई में अभी जो मॉडर्न साइंस में मतलब निकाला हुआ था बीच में कंट्रोवर्सी का तो वह कंट्रोवर्सी जनरल क्या है अगर ताकि सारे कंपनी से हमारे इतिहास दवाई को अच्छी तरह से 100 दिन करके बनाया गया वह अटल वहीम इटानगर आयुर्वेदिक कि जैसे पुस्तक में बताया हुआ है कि हमारे शास्त्रों में बताए गए उसी से आकर्षित किया जाए और उसे अगर दवाई बनाया जाए तो वह हंड्रेड परसेंट non-toxic तो लोग अभी वह पक्षी के पीछे लगे हुए हैं कि आयुर्वेद में टॉक्सिक चीज मिलता है तो चलता है लेकिन वह गलत सरासर गलत है वह भी हो चुका है अच्छी तरह से बनाना जरूरी है अच्छी तरह से बनाया छोटी दवाई हो अच्छी कंपनी की दवाई हो तो आपको कोई साइड इफेक्ट नहीं रहेPehla Cheez Toh Hai Ayurveda Mein Log Sochte Hain Side Effect Hai Koi Koi Dawai Mein Abhi Jo Modern Science Mein Matlab Nikaala Hua Tha Beech Mein Controversy Ka Toh Wah Controversy General Kya Hai Agar Taki Saare Company Se Hamare Itihas Dawai Ko Acchi Tarah Se 100 Din Karke Banaya Gaya Wah Atal Vahim Itanagar Ayurvedic Ki Jaise Pustak Mein Bataya Hua Hai Ki Hamare Shashtro Mein Batayen Gaye Usi Se Aakarshit Kiya Jaye Aur Use Agar Dawai Banaya Jaye Toh Wah Hundred Percent Non-toxic Toh Log Abhi Wah Pakshi Ke Peeche Lage Hue Hain Ki Ayurveda Mein Toxic Cheez Milta Hai Toh Chalta Hai Lekin Wah Galat Sarasar Galat Hai Wah Bhi Ho Chuka Hai Acchi Tarah Se Banana Zaroori Hai Acchi Tarah Se Banaya Choti Dawai Ho Acchi Company Ki Dawai Ho Toh Aapko Koi Side Effect Nahi Rahe
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए वो आदमी गलत धारणा ऐसा कुछ नहीं है जब तक उसमें थोड़ी बहुत जानकारी नहीं होता है तो गलत धारणा तो रहेगा ना बहुत सारा यह बुक लोग जानते नहीं हम वेट करो मीटिंग का होता है नगर मार्केट में जो विधि से मीटिंग बनाने के लिए बताया गया उस विधि से कोई कंपनी नहीं बना रहा है उसका तो फिर भी गलत परिणाम तो आएगा ना बोलता है और गलत धारणा हमको जानकारी नहीं है तो रहेगा
Romanized Version
देखिए वो आदमी गलत धारणा ऐसा कुछ नहीं है जब तक उसमें थोड़ी बहुत जानकारी नहीं होता है तो गलत धारणा तो रहेगा ना बहुत सारा यह बुक लोग जानते नहीं हम वेट करो मीटिंग का होता है नगर मार्केट में जो विधि से मीटिंग बनाने के लिए बताया गया उस विधि से कोई कंपनी नहीं बना रहा है उसका तो फिर भी गलत परिणाम तो आएगा ना बोलता है और गलत धारणा हमको जानकारी नहीं है तो रहेगाDekhie Vo Aadmi Galat Dharana Aisa Kuch Nahi Hai Jab Tak Usmein Thodi Bahut Jankari Nahi Hota Hai Toh Galat Dharana Toh Rahega Na Bahut Saara Yeh Book Log Jante Nahi Hum Wait Karo Meeting Ka Hota Hai Nagar Market Mein Jo Vidhi Se Meeting Banane Ke Liye Bataya Gaya Us Vidhi Se Koi Company Nahi Bana Raha Hai Uska Toh Phir Bhi Galat Parinam Toh Aaega Na Bolta Hai Aur Galat Dharana Hamko Jankari Nahi Hai Toh Rahega
Likes  14  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो लोग चाहते हैं कि साथी के साथ मिलाकर कितने लोगों के पास में आकर टाइम नहीं है जो इसे अपनी बेटी को चेंज करके
Romanized Version
जो लोग चाहते हैं कि साथी के साथ मिलाकर कितने लोगों के पास में आकर टाइम नहीं है जो इसे अपनी बेटी को चेंज करकेJo Log Chahte Hain Ki Sathi Ke Saath Milakar Kitne Logon Ke Paas Mein Aakar Time Nahi Hai Jo Ise Apni Beti Ko Change Karke
Likes  10  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पति के बारे में उपयोग में है वह सबसे बढ़िया कैमरा की जानकारी नहीं दे रहा है
Romanized Version
पति के बारे में उपयोग में है वह सबसे बढ़िया कैमरा की जानकारी नहीं दे रहा हैPati Ke Bare Mein Upyog Mein Hai Wah Sabse Badhiya Camera Ki Jankari Nahi De Raha Hai
Likes  21  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आयुर्वेद में जो एडमिशन कब से एक तो उसमें कोई साइंटिफिक डाटा नहीं है जो गलत है दूसरा यूज किया जाता है जो अब तक चल के नाम से जो लोग डरते हैं लेकिन अगर शोधन किया बराबर की गई रहेगी तो वह मैं कल से बस में एक्सीडेंट फॉर्म में रहने की वजह से उल्टा हो जाता है लेकिन लोगों का करें ताकि वह पक्षी को सेंड कर दो
Romanized Version
आयुर्वेद में जो एडमिशन कब से एक तो उसमें कोई साइंटिफिक डाटा नहीं है जो गलत है दूसरा यूज किया जाता है जो अब तक चल के नाम से जो लोग डरते हैं लेकिन अगर शोधन किया बराबर की गई रहेगी तो वह मैं कल से बस में एक्सीडेंट फॉर्म में रहने की वजह से उल्टा हो जाता है लेकिन लोगों का करें ताकि वह पक्षी को सेंड कर दोAyurveda Mein Jo Admission Kab Se Ek Toh Usmein Koi Scientific Data Nahi Hai Jo Galat Hai Doosra Use Kiya Jata Hai Jo Ab Tak Chal Ke Naam Se Jo Log Darte Hain Lekin Agar Sodhan Kiya Barabar Ki Gayi Rahegi Toh Wah Main Kal Se Bus Mein Accident Form Mein Rehne Ki Wajah Se Ulta Ho Jata Hai Lekin Logon Ka Karein Taki Wah Pakshi Ko Send Kar Do
Likes  19  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आजकल पब्लिक के की आयुर्वेदिक दवाई में गिरावट रेट तय करके बोल देता है पेशेंट को की आयुर्वेदिक दवाई में इलाज होता है करके लेकिन हमारे पास को एकदम इस प्रकार का होता है की आयुर्वेदिक दवा लेने के बाद खराब होगा ओके
Romanized Version
आजकल पब्लिक के की आयुर्वेदिक दवाई में गिरावट रेट तय करके बोल देता है पेशेंट को की आयुर्वेदिक दवाई में इलाज होता है करके लेकिन हमारे पास को एकदम इस प्रकार का होता है की आयुर्वेदिक दवा लेने के बाद खराब होगा ओकेAajkal Public Ke Ki Ayurvedic Dawai Mein Giraavat Rate Tay Karke Bol Deta Hai Patient Ko Ki Ayurvedic Dawai Mein Ilaj Hota Hai Karke Lekin Hamare Paas Ko Ekdam Is Prakar Ka Hota Hai Ki Ayurvedic Dawa Lene Ke Baad Kharaab Hoga Ok
Likes  20  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:


vokalandroid