रेप पर बोले भाजपा नेता कि सरकार सब को सुरक्षा नहीं दे सकती। क्या इनके खिलाफ कारवाई होनी चाहिए? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह पहली बार नहीं है भारत में नेता लोग ऐसे इंग्लिश ट्रांसलेट स्टेटमेंट देते हैं अगर कोई नेता जब यह नेता ऐसे स्टेटमेंट दिया पहले उनको बोलना चाहिए कि कॉन्स्टिट्यूशन पड़े क्योंकि कॉन्स्टिट्यूशन मतलब बहुत साफ तरीके से कहता कि सोशल सिक्योरिटी सेक्टर 10 भारत के वासियों को देना एक राइट है एक प्राइस रेट कर रिस्पॉन्सिबिलिटी है कि सब को सोशल सिक्योरिटी दे इस नेता पर साथ जरूर कार्रवाई करनी चाहिए अगर आप देखा जाए तो कितनी बार कितनी नेताओं ने इसे सरस्वती स्टेटमेंट दिया है उन सबका कार्यवाही होना चाहिए देखें जब हम लोग कहीं पर भी जब काम करते अगर जब हमने जब हम लोग गलत करते डोंट यू थिंक हमको मतलब मतलब वार्निंग दिया जाता है और यह भी कहा जाता है क्या अभी बार किया तो हम रिमोट करेंगे कुछ ना कुछ मतलब तो इन लोगों को इन लोगों को भी ऐसा होना चाहिए इसीलिए यह इतना इज रिस्पॉन्सिबल बिहेव करते हैं उनको पता है मैं जो कुछ भी कहूं तो एक-दो दिन मतलब ताजा रहता है मीडियम उसके बाद मैं सब भूल जाते उसके ऊपर जरूर कार्रवाई करनी चाहिए इसके ऊपर ही नहीं सभी नेताओं को करना चाहिए जो इस फोन पर स्टेटमेंट देते हैं
Romanized Version
यह पहली बार नहीं है भारत में नेता लोग ऐसे इंग्लिश ट्रांसलेट स्टेटमेंट देते हैं अगर कोई नेता जब यह नेता ऐसे स्टेटमेंट दिया पहले उनको बोलना चाहिए कि कॉन्स्टिट्यूशन पड़े क्योंकि कॉन्स्टिट्यूशन मतलब बहुत साफ तरीके से कहता कि सोशल सिक्योरिटी सेक्टर 10 भारत के वासियों को देना एक राइट है एक प्राइस रेट कर रिस्पॉन्सिबिलिटी है कि सब को सोशल सिक्योरिटी दे इस नेता पर साथ जरूर कार्रवाई करनी चाहिए अगर आप देखा जाए तो कितनी बार कितनी नेताओं ने इसे सरस्वती स्टेटमेंट दिया है उन सबका कार्यवाही होना चाहिए देखें जब हम लोग कहीं पर भी जब काम करते अगर जब हमने जब हम लोग गलत करते डोंट यू थिंक हमको मतलब मतलब वार्निंग दिया जाता है और यह भी कहा जाता है क्या अभी बार किया तो हम रिमोट करेंगे कुछ ना कुछ मतलब तो इन लोगों को इन लोगों को भी ऐसा होना चाहिए इसीलिए यह इतना इज रिस्पॉन्सिबल बिहेव करते हैं उनको पता है मैं जो कुछ भी कहूं तो एक-दो दिन मतलब ताजा रहता है मीडियम उसके बाद मैं सब भूल जाते उसके ऊपर जरूर कार्रवाई करनी चाहिए इसके ऊपर ही नहीं सभी नेताओं को करना चाहिए जो इस फोन पर स्टेटमेंट देते हैंYeh Pehli Baar Nahi Hai Bharat Mein Neta Log Aise English Translate Statement Dete Hain Agar Koi Neta Jab Yeh Neta Aise Statement Diya Pehle Unko Bolna Chahiye Ki Constitution Pade Kyonki Constitution Matlab Bahut Saaf Tarike Se Kahata Ki Social Security Sector 10 Bharat Ke Vasiyo Ko Dena Ek Right Hai Ek Price Rate Kar Rispansibiliti Hai Ki Sab Ko Social Security De Is Neta Par Saath Jarur Karyawahi Karni Chahiye Agar Aap Dekha Jaye To Kitni Baar Kitni Netaon Ne Ise Saraswati Statement Diya Hai Un Sabka Karyavahi Hona Chahiye Dekhen Jab Hum Log Kahin Par Bhi Jab Kaam Karte Agar Jab Humne Jab Hum Log Galat Karte Don't You Think Hamko Matlab Matlab Warning Diya Jata Hai Aur Yeh Bhi Kaha Jata Hai Kya Abhi Baar Kiya To Hum Remote Karenge Kuch Na Kuch Matlab To In Logon Ko In Logon Ko Bhi Aisa Hona Chahiye Isliye Yeh Itna Is Responsible Behave Karte Hain Unko Pata Hai Main Jo Kuch Bhi Kahun To Ek Do Din Matlab Taaza Rehta Hai Medium Uske Baad Main Sab Bhul Jaate Uske Upar Jarur Karyawahi Karni Chahiye Iske Upar Hi Nahi Sabhi Netaon Ko Karna Chahiye Jo Is Phone Par Statement Dete Hain
Likes  13  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

यूपी में रेप इतना हो रहा है कोई कुछ नहीं कर रहा है भाजपा को जिताना चाहते हैं क्या किया है भाजपा ने आज तक धर्म धर्म में बच्चे हैं क्या भाई सब को क्या हो गया है ? ...

बिल्कुल बहुत ज्यादा रीप जब हमारे देश में बढ़ रहे हैं और खासकर अचूक यूपी नोएडा दिल्ली किला के हैं वहां पर तो इसके लिए ऐसा ही कुछ नहीं हो रहा है लोग जो है वह बहुत सारे जो है पकड़ी जा रहे हैं लोग के यहांजवाब पढ़िये
ques_icon

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हाल ही में बीजेपी के विधायक में ऐसे स्टेटमेंट दिया है कि सरकार सब को सुरक्षा नहीं दे सकती हां यह बात सही है सरकार सब को सुरक्षा नहीं दे सकती क्योंकि बहुत सारे लोग हैं इंडिया में तो सब को प्राप्त प्रोवाइड नहीं करवा सकते यहां सब को एक एक पुलिस वाला घर घर में रखे तो ऐसा पॉसिबल नहीं है बल्कि जो मानसिकता है वह से दृष्टिगत होती है क्योंकि मानसिकता क्या है जो उन्होंने बेहूदा स्टेटमेंट दिया यह गलत है
Romanized Version
हाल ही में बीजेपी के विधायक में ऐसे स्टेटमेंट दिया है कि सरकार सब को सुरक्षा नहीं दे सकती हां यह बात सही है सरकार सब को सुरक्षा नहीं दे सकती क्योंकि बहुत सारे लोग हैं इंडिया में तो सब को प्राप्त प्रोवाइड नहीं करवा सकते यहां सब को एक एक पुलिस वाला घर घर में रखे तो ऐसा पॉसिबल नहीं है बल्कि जो मानसिकता है वह से दृष्टिगत होती है क्योंकि मानसिकता क्या है जो उन्होंने बेहूदा स्टेटमेंट दिया यह गलत हैHaal Hi Mein Bjp Ke Vidhayak Mein Aise Statement Diya Hai Ki Sarkar Sab Ko Suraksha Nahi De Sakti Haan Yeh Baat Sahi Hai Sarkar Sab Ko Suraksha Nahi De Sakti Kyonki Bahut Sare Log Hain India Mein To Sab Ko Prapt Provide Nahi Karava Sakte Yahan Sab Ko Ek Ek Police Wala Ghar Ghar Mein Rakhe To Aisa Possible Nahi Hai Balki Jo Mansikta Hai Wah Se Dristigat Hoti Hai Kyonki Mansikta Kya Hai Jo Unhone Behuda Statement Diya Yeh Galat Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तेरे को लेकर बीजेपी के नेता ने जो कमेंट किया है वह भेजो भाषा क्या है तो मुझे लगता है कि इसमें कोई गलत बात नहीं सरकार जो बिल्कुल हर इंसान को अपनी सुरक्षा नहीं दे सकती है इंसान को भी अपना खुद का ख्याल रखना है क्योंकि हमारे भारत की जनसंख्या कितनी एक ही सरकार को देखा जाए तो सरकार में इतने आदमी नहीं है कि हमारे जनसंख्या में से हर आदमी को सुरक्षा मिल सके मुझे लगता कि कहीं ना कहीं लोगों में भी इतनी जागरुकता होनी चाहिए कि वह जो है खुद का ख्याल रख सके फिर खुद की जो है सुरक्षा रख सके
Romanized Version
तेरे को लेकर बीजेपी के नेता ने जो कमेंट किया है वह भेजो भाषा क्या है तो मुझे लगता है कि इसमें कोई गलत बात नहीं सरकार जो बिल्कुल हर इंसान को अपनी सुरक्षा नहीं दे सकती है इंसान को भी अपना खुद का ख्याल रखना है क्योंकि हमारे भारत की जनसंख्या कितनी एक ही सरकार को देखा जाए तो सरकार में इतने आदमी नहीं है कि हमारे जनसंख्या में से हर आदमी को सुरक्षा मिल सके मुझे लगता कि कहीं ना कहीं लोगों में भी इतनी जागरुकता होनी चाहिए कि वह जो है खुद का ख्याल रख सके फिर खुद की जो है सुरक्षा रख सकेTere Ko Lekar Bjp Ke Neta Ne Jo Comment Kiya Hai Wah Bhejo Bhasha Kya Hai To Mujhe Lagta Hai Ki Isme Koi Galat Baat Nahi Sarkar Jo Bilkul Har Insaan Ko Apni Suraksha Nahi De Sakti Hai Insaan Ko Bhi Apna Khud Ka Khayal Rakhna Hai Kyonki Hamare Bharat Ki Jansankhya Kitni Ek Hi Sarkar Ko Dekha Jaye To Sarkar Mein Itne Aadmi Nahi Hai Ki Hamare Jansankhya Mein Se Har Aadmi Ko Suraksha Mil Sake Mujhe Lagta Ki Kahin Na Kahin Logon Mein Bhi Itni Jagrukta Honi Chahiye Ki Wah Jo Hai Khud Ka Khayal Rakh Sake Phir Khud Ki Jo Hai Suraksha Rakh Sake
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए बीजेपी नेता हो चाहे किसी भी पार्टी के नेताओं इस तरीके की बेबुनियाद बातें उठ पटांग बातें कुछ भी बयान बाजी करना यह एक आम चीज रही है राजनीति के इतिहास में ऐसा होता रहता है कभी किसी नेता ने कुछ उटपटांग बयान दे दिया जरूरत होती है ऐसे बयानबाजियों को ज्यादा तूल ना देने की सब जानते हैं उठ पटांग बयान बाजी दे रहे हैं जिसका कोई मतलब नहीं है सर नहीं है प्यार नहीं तुमको देने का मतलब क्या उस को बोलने का मतलब करो उस को बोलने का मतलब के बजे से है सुर्खियों में न्यूज़ बनी रहे और वह व्यक्ति पब्लिक पब्लिक सिटी हुए उसकी चर्चा में है सुर्खियों में ऐसा व्यक्ति जाने कि वह नेता कौन है जैसे आप ने सवाल किया पर चर्चा हो रही है उसी की बात करनी भी चाहिए होनी भी चाहिए लेकिन देखें जब कोई पार्टी अपने बलात्कारी नेता का बचाव कर सकता है उसे सजा दिलाने के लिए भरपूर कोशिश कर सकता है तो केवल इतनी सी बयान बाजी के लिए मुझे नहीं लगता कोई पार्टी कार्रवाई नियम कायदे कानून किस प्रकार की ऊंट पटांग बयान बयान बाजी मजाक उड़ाने में सब कार्रवाई लगाने की अन्यथा बेशक हमारा डेमोक्रेटिक देश है उसी को भी बोलने की आजादी है लेकिन आजादी लिमिटेड दायरे तक होनी चाहिए
Romanized Version
देखिए बीजेपी नेता हो चाहे किसी भी पार्टी के नेताओं इस तरीके की बेबुनियाद बातें उठ पटांग बातें कुछ भी बयान बाजी करना यह एक आम चीज रही है राजनीति के इतिहास में ऐसा होता रहता है कभी किसी नेता ने कुछ उटपटांग बयान दे दिया जरूरत होती है ऐसे बयानबाजियों को ज्यादा तूल ना देने की सब जानते हैं उठ पटांग बयान बाजी दे रहे हैं जिसका कोई मतलब नहीं है सर नहीं है प्यार नहीं तुमको देने का मतलब क्या उस को बोलने का मतलब करो उस को बोलने का मतलब के बजे से है सुर्खियों में न्यूज़ बनी रहे और वह व्यक्ति पब्लिक पब्लिक सिटी हुए उसकी चर्चा में है सुर्खियों में ऐसा व्यक्ति जाने कि वह नेता कौन है जैसे आप ने सवाल किया पर चर्चा हो रही है उसी की बात करनी भी चाहिए होनी भी चाहिए लेकिन देखें जब कोई पार्टी अपने बलात्कारी नेता का बचाव कर सकता है उसे सजा दिलाने के लिए भरपूर कोशिश कर सकता है तो केवल इतनी सी बयान बाजी के लिए मुझे नहीं लगता कोई पार्टी कार्रवाई नियम कायदे कानून किस प्रकार की ऊंट पटांग बयान बयान बाजी मजाक उड़ाने में सब कार्रवाई लगाने की अन्यथा बेशक हमारा डेमोक्रेटिक देश है उसी को भी बोलने की आजादी है लेकिन आजादी लिमिटेड दायरे तक होनी चाहिएDekhie Bjp Neta Ho Chahe Kisi Bhi Party Ke Netaon Is Tarike Ki Bebuniyad Batein Uth Patang Batein Kuch Bhi Bayan Busy Karna Yeh Ek Aam Cheez Rahi Hai Rajneeti Ke Itihas Mein Aisa Hota Rehta Hai Kabhi Kisi Neta Ne Kuch Utapatang Bayan De Diya Zaroorat Hoti Hai Aise Bayanbajiyon Ko Jyada Tool Na Dene Ki Sab Jante Hain Uth Patang Bayan Busy De Rahe Hain Jiska Koi Matlab Nahi Hai Sar Nahi Hai Pyar Nahi Tumko Dene Ka Matlab Kya Us Ko Bolne Ka Matlab Karo Us Ko Bolne Ka Matlab Ke Baje Se Hai Surkhiyon Mein News Bani Rahe Aur Wah Vyakti Public Public City Hue Uski Charcha Mein Hai Surkhiyon Mein Aisa Vyakti Jaane Ki Wah Neta Kaun Hai Jaise Aap Ne Sawal Kiya Par Charcha Ho Rahi Hai Ussi Ki Baat Karni Bhi Chahiye Honi Bhi Chahiye Lekin Dekhen Jab Koi Party Apne Balatkari Neta Ka Bachav Kar Sakta Hai Use Saja Dilaane Ke Liye Bharpur Koshish Kar Sakta Hai To Kewal Itni Si Bayan Busy Ke Liye Mujhe Nahi Lagta Koi Party Karyawahi Niyam Kayade Kanoon Kis Prakar Ki Unt Patang Bayan Bayan Busy Mazak Udane Mein Sab Karyawahi Lagane Ki Anyatha Beshak Hamara Democratic Desh Hai Ussi Ko Bhi Bolne Ki Azadi Hai Lekin Azadi Limited Daayre Tak Honi Chahiye
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हाल ही में बीजेपी के विधायक ने इस बात को कहा है कि रेप के बारे में कहते हुए उन्होंने कहा कि सरकार सब को सुरक्षा नहीं दे सकती है जिसमें उनका कहने का मतलब है कि देखिए हमारे देश में इतने सारे लोग हैं और सरकार सब को सुरक्षा नहीं दे सकती है कुछ लोगों को देती है और कुछ को नहीं देती है तो मुझे लगता है कि उनके खिलाफ हो कार्रवाई इसके ऊपर नहीं की जा सकती है क्योंकि उन्होंने कोई भी ऐसा बयान नहीं दिया जो कि किसी और के अगेंस्ट हो लेकिन हां उनके बयान से यह जरूर जाहिर होता है कि उनकी क्या मानसिकता है क्योंकि अगर आप सरकार में हैं और आप फिर भी लोगों को सुरक्षित नहीं रख सकते पूरे देश को सुरक्षा नहीं दे सकते तो आपको सरकार में रहने का कोई हक नहीं बनता है उसके अलावा अधिक की सरकार के काम ही यही होता है कि वह पूरे देश के हित के बारे में सोचें देश के लोगों को सुरक्षा प्रदान करें लेकिन अगर कोई सरकार में रह रहा है इंसान भी यह बात बोलेंगे कि सरकार सभी को सुरक्षा नहीं दे सकती तो मुझे नहीं लगता कि उनको सरकार में रहने का कोई भी हक है और उनको जल्द तुरंत हटा देना चाहिए
Romanized Version
हाल ही में बीजेपी के विधायक ने इस बात को कहा है कि रेप के बारे में कहते हुए उन्होंने कहा कि सरकार सब को सुरक्षा नहीं दे सकती है जिसमें उनका कहने का मतलब है कि देखिए हमारे देश में इतने सारे लोग हैं और सरकार सब को सुरक्षा नहीं दे सकती है कुछ लोगों को देती है और कुछ को नहीं देती है तो मुझे लगता है कि उनके खिलाफ हो कार्रवाई इसके ऊपर नहीं की जा सकती है क्योंकि उन्होंने कोई भी ऐसा बयान नहीं दिया जो कि किसी और के अगेंस्ट हो लेकिन हां उनके बयान से यह जरूर जाहिर होता है कि उनकी क्या मानसिकता है क्योंकि अगर आप सरकार में हैं और आप फिर भी लोगों को सुरक्षित नहीं रख सकते पूरे देश को सुरक्षा नहीं दे सकते तो आपको सरकार में रहने का कोई हक नहीं बनता है उसके अलावा अधिक की सरकार के काम ही यही होता है कि वह पूरे देश के हित के बारे में सोचें देश के लोगों को सुरक्षा प्रदान करें लेकिन अगर कोई सरकार में रह रहा है इंसान भी यह बात बोलेंगे कि सरकार सभी को सुरक्षा नहीं दे सकती तो मुझे नहीं लगता कि उनको सरकार में रहने का कोई भी हक है और उनको जल्द तुरंत हटा देना चाहिएHaal Hi Mein Bjp Ke Vidhayak Ne Is Baat Ko Kaha Hai Ki Rape Ke Baare Mein Kehte Hue Unhone Kaha Ki Sarkar Sab Ko Suraksha Nahi De Sakti Hai Jisme Unka Kehne Ka Matlab Hai Ki Dekhie Hamare Desh Mein Itne Sare Log Hain Aur Sarkar Sab Ko Suraksha Nahi De Sakti Hai Kuch Logon Ko Deti Hai Aur Kuch Ko Nahi Deti Hai To Mujhe Lagta Hai Ki Unke Khilaf Ho Karyawahi Iske Upar Nahi Ki Ja Sakti Hai Kyonki Unhone Koi Bhi Aisa Bayan Nahi Diya Jo Ki Kisi Aur Ke Against Ho Lekin Haan Unke Bayan Se Yeh Jarur Jaahir Hota Hai Ki Unki Kya Mansikta Hai Kyonki Agar Aap Sarkar Mein Hain Aur Aap Phir Bhi Logon Ko Surakshit Nahi Rakh Sakte Poore Desh Ko Suraksha Nahi De Sakte To Aapko Sarkar Mein Rehne Ka Koi Haq Nahi Banta Hai Uske Alava Adhik Ki Sarkar Ke Kaam Hi Yahi Hota Hai Ki Wah Poore Desh Ke Hit Ke Baare Mein Sochen Desh Ke Logon Ko Suraksha Pradan Karen Lekin Agar Koi Sarkar Mein Rah Raha Hai Insaan Bhi Yeh Baat Bolenge Ki Sarkar Sabhi Ko Suraksha Nahi De Sakti To Mujhe Nahi Lagta Ki Unko Sarkar Mein Rehne Ka Koi Bhi Haq Hai Aur Unko Jald Turant Hata Dena Chahiye
Likes  4  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे लगता है हमारे देश में जो अभिव्यक्ति की आजादी है जो अपने विचार लोगों के समक्ष रखने की स्वतंत्रता है उसका सबसे ज्यादा उपयोग नेता लोग कर रहे हैं लेकिन नेता लोग बोलने से पहले यह नहीं सोच रहे हैं कि वह क्या बोल रहे हैं क्यों बोल रहे हैं किसके बारे में बोल रहे हैं नेता समाज का आईना होते हैं वह समाज को रिप्रेजेंट करते हैं इसलिए उन्हें बहुत ही सोच समझकर बयान देनी चाहिए लेकिन आज के समय में हर दूसरे दिन किसी न किसी नेता का बेतुका बयान आता है और जनता उन बयानों के बारे में सोचती है बात करती है चर्चा करती है क्योंकि मीडिया के द्वारा वह चीजें इतनी ज्यादा फैला दी जाती है कि वह जनता तक पहुंचती है लेकिन मुझे लगता है कि जनता को समझना चाहिए कि यह नेताओं के बयान बयान जो है बेबुनियाद है इनका कोई मतलब किसी भी समस्या से कोई समस्या है समाज में तो उसे समाज के लोग ही खत्म कर सकते हैं और रेप जैसी समस्या को मुझे लगता है कि हमारे समाज में जागरूकता अगर होती है और समाज के लोग अगर एकजुट हो जाते हैं तो इस समस्या से जरूर लड़ सकते हैं क्योंकि पहले के मुकाबले आज इस समस्या के बारे में जागरूकता आई है और ज्यादा कैसे सामने आ रहे हैं पहले लोग ऐसी बातों को छुपा लेते थे लेकिन जब से निर्भया कांड हुआ है ऐसे कैसे ज्यादा सामने आ रहे हैं इसलिए ऐसा लग रहा है कि ज्यादा रेप कैसे हो रहे हैं रेप केसेस पहले भी होते सी रेप केसेस अभी भी हो रहे हैं लेकिन अभी जागरूकता आने की वजह से मीडिया के थ्रू हमें ज्यादा पता चलता है और हमें इसके लिए जरूर कोई कड़े कदम उठाने चाहिए सरकार सजा दे सकती है लेकिन इसके लिए जागरूकता और जागना जनता को पड़ेगा
Romanized Version
मुझे लगता है हमारे देश में जो अभिव्यक्ति की आजादी है जो अपने विचार लोगों के समक्ष रखने की स्वतंत्रता है उसका सबसे ज्यादा उपयोग नेता लोग कर रहे हैं लेकिन नेता लोग बोलने से पहले यह नहीं सोच रहे हैं कि वह क्या बोल रहे हैं क्यों बोल रहे हैं किसके बारे में बोल रहे हैं नेता समाज का आईना होते हैं वह समाज को रिप्रेजेंट करते हैं इसलिए उन्हें बहुत ही सोच समझकर बयान देनी चाहिए लेकिन आज के समय में हर दूसरे दिन किसी न किसी नेता का बेतुका बयान आता है और जनता उन बयानों के बारे में सोचती है बात करती है चर्चा करती है क्योंकि मीडिया के द्वारा वह चीजें इतनी ज्यादा फैला दी जाती है कि वह जनता तक पहुंचती है लेकिन मुझे लगता है कि जनता को समझना चाहिए कि यह नेताओं के बयान बयान जो है बेबुनियाद है इनका कोई मतलब किसी भी समस्या से कोई समस्या है समाज में तो उसे समाज के लोग ही खत्म कर सकते हैं और रेप जैसी समस्या को मुझे लगता है कि हमारे समाज में जागरूकता अगर होती है और समाज के लोग अगर एकजुट हो जाते हैं तो इस समस्या से जरूर लड़ सकते हैं क्योंकि पहले के मुकाबले आज इस समस्या के बारे में जागरूकता आई है और ज्यादा कैसे सामने आ रहे हैं पहले लोग ऐसी बातों को छुपा लेते थे लेकिन जब से निर्भया कांड हुआ है ऐसे कैसे ज्यादा सामने आ रहे हैं इसलिए ऐसा लग रहा है कि ज्यादा रेप कैसे हो रहे हैं रेप केसेस पहले भी होते सी रेप केसेस अभी भी हो रहे हैं लेकिन अभी जागरूकता आने की वजह से मीडिया के थ्रू हमें ज्यादा पता चलता है और हमें इसके लिए जरूर कोई कड़े कदम उठाने चाहिए सरकार सजा दे सकती है लेकिन इसके लिए जागरूकता और जागना जनता को पड़ेगाMujhe Lagta Hai Hamare Desh Mein Jo Abhivyakti Ki Azadi Hai Jo Apne Vichar Logon Ke Samaksh Rakhne Ki Swatantrata Hai Uska Sabse Jyada Upyog Neta Log Kar Rahe Hain Lekin Neta Log Bolne Se Pehle Yeh Nahi Soch Rahe Hain Ki Wah Kya Bol Rahe Hain Kyun Bol Rahe Hain Kiske Baare Mein Bol Rahe Hain Neta Samaaj Ka Aaina Hote Hain Wah Samaaj Ko Represent Karte Hain Isliye Unhen Bahut Hi Soch Samajhkar Bayan Deni Chahiye Lekin Aaj Ke Samay Mein Har Dusre Din Kisi N Kisi Neta Ka Betukaa Bayan Aata Hai Aur Janta Un Bayanon Ke Baare Mein Sochti Hai Baat Karti Hai Charcha Karti Hai Kyonki Media Ke Dwara Wah Cheezen Itni Jyada Faila Di Jati Hai Ki Wah Janta Tak Pahunchati Hai Lekin Mujhe Lagta Hai Ki Janta Ko Samajhna Chahiye Ki Yeh Netaon Ke Bayan Bayan Jo Hai Bebuniyad Hai Inka Koi Matlab Kisi Bhi Samasya Se Koi Samasya Hai Samaaj Mein To Use Samaaj Ke Log Hi Khatam Kar Sakte Hain Aur Rape Jaisi Samasya Ko Mujhe Lagta Hai Ki Hamare Samaaj Mein Jagrukta Agar Hoti Hai Aur Samaaj Ke Log Agar Ekjoot Ho Jaate Hain To Is Samasya Se Jarur Lad Sakte Hain Kyonki Pehle Ke Muqable Aaj Is Samasya Ke Baare Mein Jagrukta Eye Hai Aur Jyada Kaise Samane Aa Rahe Hain Pehle Log Aisi Baaton Ko Chhupa Lete The Lekin Jab Se Nirbhaya Kaand Hua Hai Aise Kaise Jyada Samane Aa Rahe Hain Isliye Aisa Lag Raha Hai Ki Jyada Rape Kaise Ho Rahe Hain Rape Cases Pehle Bhi Hote Si Rape Cases Abhi Bhi Ho Rahe Hain Lekin Abhi Jagrukta Aane Ki Wajah Se Media Ke Through Hume Jyada Pata Chalta Hai Aur Hume Iske Liye Jarur Koi Kade Kadam Uthane Chahiye Sarkar Saja De Sakti Hai Lekin Iske Liye Jagrukta Aur Jagana Janta Ko Padega
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रेप को लेकर समाज को आगे आना पड़ेगा सरकार चाहे किसी की भी हो अगर समाज का साथ नहीं मिला तो वह रेप पर ज्यादा कुछ नहीं कर पाएगी सरकार की जिम्मेदारी है कि वह रेप के आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाई लेकिन अगर हमें रेप रोकने हैं तो हमें तो समाज को आगे आना पड़ेगा ज्यादातर देव परिवार के ही किसी सदस्य या परिचित के द्वारा किया जाता है इसलिए हमें अपने आसपास के माहौल को कैसा बनाना पड़ेगा कि देखना हो
Romanized Version
रेप को लेकर समाज को आगे आना पड़ेगा सरकार चाहे किसी की भी हो अगर समाज का साथ नहीं मिला तो वह रेप पर ज्यादा कुछ नहीं कर पाएगी सरकार की जिम्मेदारी है कि वह रेप के आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाई लेकिन अगर हमें रेप रोकने हैं तो हमें तो समाज को आगे आना पड़ेगा ज्यादातर देव परिवार के ही किसी सदस्य या परिचित के द्वारा किया जाता है इसलिए हमें अपने आसपास के माहौल को कैसा बनाना पड़ेगा कि देखना होRape Ko Lekar Samaaj Ko Aage Aana Padega Sarkar Chahe Kisi Ki Bhi Ho Agar Samaaj Ka Saath Nahi Mila To Wah Rape Par Jyada Kuch Nahi Kar Payegi Sarkar Ki Jimmedari Hai Ki Wah Rape Ke Aaropiyon Ko Kadi Se Kadi Saja Dilai Lekin Agar Hume Rape Rokne Hain To Hume To Samaaj Ko Aage Aana Padega Jyadatar Dev Parivar Ke Hi Kisi Sadasya Ya Parichit Ke Dwara Kiya Jata Hai Isliye Hume Apne Aaspass Ke Maahaul Ko Kaisa Banana Padega Ki Dekhna Ho
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Rape Par Bole Bhajpa Neta Ki Sarkar Sab Ko Suraksha Nahi De Sakti Kya Inke Khilaf Karwai Honi Chahiye,The BJP Leader Who Spoke On The Rape Said That The Government Can Not Protect Everyone. Should There Be Action Against Them?,Karyawahi In English,


vokalandroid