सिर्फ महिलाओं के पश्चिमी परिधान को देखकर ही संस्कृति का हवाला क्यों दिया जाता है जब अधिकतर पुरुष भारतीय सांस्कृतिक वेशभूषा दैनिक रूप से नहीं पहनते? ...

इस सवाल पर अभी किसी ने जवाब नहीं दिया है। सवाल को फ़ॉलो करना हो या इसका जवाब देना हो तो Vokal डाउनलोड करे।


Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Sirf Mahilaon Ke Pashchimi Paridhan Ko Dekhkar Hi Sanskriti Ka Hawala Kyon Diya Jata Hai Jab Adhiktar Purush Bharatiya Sanskritik Veshbhoosha Dainik Roop Se Nahi Pehente

vokalandroid