गणतंत्र दिवस और स्वतंत्र दिवस में क्या अंतर है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

15 अगस्त 1947 को भारत को पूर्ण आजादी मिली थी ब्रिटिश आस थे इसलिए हर साल 15 अगस्त को इंडिपेंडेंस डे यानी स्वतंत्रता दिवस के रूप में हर साल मनाया जाता है सत्य है कि ब्रिटेन का कोई भी इंडिपेंडेंस डे नहीं...जवाब पढ़िये
15 अगस्त 1947 को भारत को पूर्ण आजादी मिली थी ब्रिटिश आस थे इसलिए हर साल 15 अगस्त को इंडिपेंडेंस डे यानी स्वतंत्रता दिवस के रूप में हर साल मनाया जाता है सत्य है कि ब्रिटेन का कोई भी इंडिपेंडेंस डे नहीं है क्योंकि आधी दुनिया इनसे स्वतंत्रता की जश्न मनाती है यह छोटा सा देश ऐसा है जो कभी किसी के भी याद नहीं रहा अब 26 जनवरी 1950 को भारत ने कॉन्स्टिट्यूशन को इन ने किया अपनी कॉन्स्टिट्यूशन को लागू किया तो करीब-करीब 2 साल लगे स्वतंत्रता के बाद कॉन्स्टिट्यूशन को लिखने में सही मायने में भारत को गणतंत्र रिपब्लिक ऑफ स्टेट्स के लाया गया इस रिपब्लिक इस कांस्टिट्यूशन को इलाज करने के बाद अलग से 26 जनवरी के कई महीने के पहले ही कॉन्स्टिट्यूशन तैयार थी लेकिन इसी डेट को चुना गया क्योंकि 26 जनवरी 1930 को रवि नदी के तट पर लाहौर में कांग्रेस पार्टी ऑफ इंडिया ने पूर्ण स्वराज की घोषणा की तत्पश्चात गांधी ने गांधी जी ने दांडी मार्च भी शुरू किया तो हम यह कह सकते हैं कि इंडिपेंडेंस तैयारी स्वतंत्रता दिवस देश की आजादी का जन्म दिवस है इस दिन प्रधानमंत्री भाषण देते हैं रिपब्लिक डे है जो कि गणतंत्र दिवस से हमारी गणतंत्र के बनने का दिवस है यहां प्रेसिडेंट भाषण देते हैं जो कि हमारी रिपब्लिक के हेड गणतंत्र के हेड हैं और वह देश के शक्ति का प्रदर्शन भी करते हैं उस दिन तो आपकी यह टेक्स आपको क्लियर कर दी खिलाडी फाइट करें गणतंत्र और स्वतंत्रता दिवस के बीच का जो अंतर है15 August 1947 Ko Bharat Ko Poorn Azadi Mili Thi British Aas The Isliye Har Saal 15 August Ko Independence Day Yani Svatantrata Divas Ke Roop Mein Har Saal Manaya Jata Hai Satya Hai Ki Britain Ka Koi Bhi Independence Day Nahi Hai Kyonki Aadhi Duniya Inse Svatantrata Ki Jashn Manati Hai Yeh Chota Sa Desh Aisa Hai Jo Kabhi Kisi Ke Bhi Yaad Nahi Raha Ab 26 January 1950 Ko Bharat Ne Constitution Ko In Ne Kiya Apni Constitution Ko Laagu Kiya To Karib Karib 2 Saal Lage Svatantrata Ke Baad Constitution Ko Likhne Mein Sahi Maayne Mein Bharat Ko Gantantra Republic Of States Ke Laya Gaya Is Republic Is Constitution Ko Ilaj Karne Ke Baad Alag Se 26 January Ke Kai Mahine Ke Pehle Hi Constitution Taiyaar Thi Lekin Isi Date Ko Chuna Gaya Kyonki 26 January 1930 Ko Ravi Nadi Ke Tat Par Lahore Mein Congress Party Of India Ne Poorn Swaraj Ki Ghoshana Ki Tatpashchat Gandhi Ne Gandhi G Ne Daandi March Bhi Shuru Kiya To Hum Yeh Keh Sakte Hain Ki Independence Taiyari Svatantrata Divas Desh Ki Azadi Ka Janm Divas Hai Is Din Pradhanmantri Bhashan Dete Hain Republic Day Hai Jo Ki Gantantra Divas Se Hamari Gantantra Ke Banne Ka Divas Hai Yahan President Bhashan Dete Hain Jo Ki Hamari Republic Ke Head Gantantra Ke Head Hain Aur Wah Desh Ke Shakti Ka Pradarshan Bhi Karte Hain Us Din To Aapki Yeh Tax Aapko Clear Kar Di Khiladi Fight Karen Gantantra Aur Svatantrata Divas Ke Bich Ka Jo Antar Hai
Likes  78  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

15 अगस्त 1947 को भारत देश आजाद हुआ था इसलिए 15 अगस्त को हम स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते हैं तथा 26 जनवरी सन 1950 को भारत में भारत का संविधान लागू किया गया था इसीलिए 26 जनवरी को हम गणतंत्र दिवस के ...जवाब पढ़िये
15 अगस्त 1947 को भारत देश आजाद हुआ था इसलिए 15 अगस्त को हम स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते हैं तथा 26 जनवरी सन 1950 को भारत में भारत का संविधान लागू किया गया था इसीलिए 26 जनवरी को हम गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं15 August 1947 Ko Bharat Desh Azad Hua Tha Isliye 15 August Ko Hum Svatantrata Divas Ke Roop Mein Manate Hain Tatha 26 January Sun 1950 Ko Bharat Mein Bharat Ka Samvidhan Laagu Kiya Gaya Tha Isliye 26 January Ko Hum Gantantra Divas Ke Roop Mein Manate Hain
Likes  16  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों वोकल पर सुन रहे मेरे सभी उन श्रोताओं को मेरा प्यार भरा नमस्कार दिखी जो भी सवाल मेरे सामने आज आया है मुझे इंडिकेट करता है कि हम सही मायने में भारतीय नहीं है क्योंकि हमारी अज्ञानता का स्...जवाब पढ़िये
नमस्कार दोस्तों वोकल पर सुन रहे मेरे सभी उन श्रोताओं को मेरा प्यार भरा नमस्कार दिखी जो भी सवाल मेरे सामने आज आया है मुझे इंडिकेट करता है कि हम सही मायने में भारतीय नहीं है क्योंकि हमारी अज्ञानता का स्तर इतना भी कमजोर नहीं होना चाहिए कि हमें गणतंत्र दिवस और स्वतंत्र दिवस में अंतर ही नहीं पता अगर यह किसी विदेशी पुरुष या महिला द्वारा पूछा गया है तो मैं स्वागत करता हूं लेकिन मेरे अपनी बहन भाई अगर इस तरह के सवाल पूछेंगे तो फिर देखिए देश का जो भविष्य है मैं खतरे में महसूस कर रहा हूं लेकिन चलिए फिर भी किसी बच्चे ने या किसी बच्चे ने सवाल पूछा है तुम्हें यह अंतर क्लियर करना चाहूंगा तो देखिए गणतंत्र दिवस वह दिन है जिस दिन हमारे देश का संविधान लागू हुआ था 26 जनवरी 1950 को तब से लेकर तो आज तक इन 70 वर्षों में हम हर साल इस पर्व को मनाते आए हैं सभी शैक्षणिक संस्थाओं में विभिन्न तरह के रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाते हैं परेड की सलामी होती है प्रतिभावान छात्र सम्मानित होते हैं कलाकार सम्मानित होते हैं और ऐसा ही जो मंदिर है वह स्वतंत्रता दिवस को भी होता है मेरे दोस्तों क्योंकि 15 अगस्त 1947 को हमारा देश आजाद हुआ था गुलामी की जंजीरों से जी हां जब हम लोगों ने खुली हवा में सांस ली थी तो स्वतंत्रता दिवस वह दिवस है जब हम लोग आजाद हुए थे और गणतंत्र दिवस मेरे मित्रों वह दिवस है जब हमारे देश में संविधान लागू हुआ था कानून व्यवस्था लागू हुई थी धन्यवादNamaskar Doston Vocal Par Sun Rahe Mere Sabhi Un Shrotaon Ko Mera Pyar Bhara Namaskar Dikhi Jo Bhi Sawal Mere Samane Aaj Aaya Hai Mujhe Indicate Karta Hai Ki Hum Sahi Maayne Mein Bharatiya Nahi Hai Kyonki Hamari Agyanata Ka Sthar Itna Bhi Kamjor Nahi Hona Chahiye Ki Hume Gantantra Divas Aur Swatantra Divas Mein Antar Hi Nahi Pata Agar Yeh Kisi Videshi Purush Ya Mahila Dwara Poocha Gaya Hai To Main Swaagat Karta Hoon Lekin Mere Apni Behen Bhai Agar Is Tarah Ke Sawal Puchhenge To Phir Dekhie Desh Ka Jo Bhavishya Hai Main Khatre Mein Mahsus Kar Raha Hoon Lekin Chaliye Phir Bhi Kisi Bacche Ne Ya Kisi Bacche Ne Sawal Poocha Hai Tumhein Yeh Antar Clear Karna Chahunga To Dekhie Gantantra Divas Wah Din Hai Jis Din Hamare Desh Ka Samvidhan Laagu Hua Tha 26 January 1950 Ko Tab Se Lekar To Aaj Tak In 70 Varshon Mein Hum Har Saal Is Parv Ko Manate Aaye Hain Sabhi Shaikshnik Sasthaon Mein Vibhinn Tarah Ke Rangarang Karyakram Prastut Kiye Jaate Hain Parade Ki Salaami Hoti Hai Pratibhavan Chatra Sammanit Hote Hain Kalakar Sammanit Hote Hain Aur Aisa Hi Jo Mandir Hai Wah Svatantrata Divas Ko Bhi Hota Hai Mere Doston Kyonki 15 August 1947 Ko Hamara Desh Azad Hua Tha Gulami Ki Janjiron Se G Haan Jab Hum Logon Ne Khuli Hawa Mein Saans Lee Thi To Svatantrata Divas Wah Divas Hai Jab Hum Log Azad Huye The Aur Gantantra Divas Mere Mitron Wah Divas Hai Jab Hamare Desh Mein Samvidhan Laagu Hua Tha Kanoon Vyavastha Laagu Hui Thi Dhanyavad
Likes  14  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Gantantra Divas Aur Swatantra Divas Mein Kya Antar Hai