क्या बिहार में बीजेपी की सत्ता आने से मॉब लिंचिंग की घटनाएँ बढ़ गयी है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिहार उत्तर प्रदेश छत्तीसगढ़ तथा झारखंड जैसे कुछ राज्य जहां पर सामाजिक संरचना इस प्रकार की है कि सार्वजनिक व सामाजिक असंतोष की भावना लगातार बढ़ती जा रही है जिसके कारण है रोजगार में कमी तथा एक प्रकार से अशिक्षा व सामाजिक असुरक्षा की भावना है जिसके कारण वर्ष मॉब लिंचिंग तथा समाज में होने वाली अन्य जिस प्रकार की हिंसात्मक गतिविधियां है उनकी संख्या नित्य प्रतिदिन बढ़ती जा रही है इसका सीधा संबंध किसी भी राजनीतिक दल से नहीं है चाहे वह बीजेपी हो चाहे वह कांग्रेस हो चाहे वह कोई भी पुलिस प्रशासन हो मुझे नहीं लगता कि इसका सीधा संबंध किसी भी पार्टी से है बल्कि इसका सीधा संबंध यहां के सामाजिक असुरक्षा का एक प्रकार से जो सामाजिक असंतोष है उससे इसका सीधा संबंध है जनता इस प्रकार से असंतोष से भरी पड़ी है कि उसे इस प्रकार के जो असंभव असंवैधानिक अवैधानिक जो गतिविधियां होती हैं सूरज इस प्रकार से कोई भी व्यक्ति अपराध करता हुआ पकड़ा जाता है तो उसका जनता खुद ही फैसला करना चाहती है क्योंकि वह पूरी तरह से नाराज है इस समाज से इस राजनीति से तथा प्रशासन से कि वह इस प्रकार की गतिविधियां करके अपनी असुरक्षा को सामाजिक तौर पर दर्शाती है साथ ही साथ मुझे लगता है कि बीजेपी की जब से सरकार आई है नीतीश कुमार जी के साथ तब से मॉब लिंचिंग की घटनाओं में मुझे नहीं लगता कि कोई बहुत ज्यादा कमी या जो कमी या फिर वृद्धि हुई है बल्कि वह जस की तस बनी हुई है जो कि अवश्य रूप से चिंताजनक विषय है तथा अनीति सरकार पर इस विषय में कुछ साहसी कदम उठाने चाहिए तथा इस विषय में कोई कानून प्रस्तावित करके उसे पास करना चाहिए धन्यवाद
Romanized Version
बिहार उत्तर प्रदेश छत्तीसगढ़ तथा झारखंड जैसे कुछ राज्य जहां पर सामाजिक संरचना इस प्रकार की है कि सार्वजनिक व सामाजिक असंतोष की भावना लगातार बढ़ती जा रही है जिसके कारण है रोजगार में कमी तथा एक प्रकार से अशिक्षा व सामाजिक असुरक्षा की भावना है जिसके कारण वर्ष मॉब लिंचिंग तथा समाज में होने वाली अन्य जिस प्रकार की हिंसात्मक गतिविधियां है उनकी संख्या नित्य प्रतिदिन बढ़ती जा रही है इसका सीधा संबंध किसी भी राजनीतिक दल से नहीं है चाहे वह बीजेपी हो चाहे वह कांग्रेस हो चाहे वह कोई भी पुलिस प्रशासन हो मुझे नहीं लगता कि इसका सीधा संबंध किसी भी पार्टी से है बल्कि इसका सीधा संबंध यहां के सामाजिक असुरक्षा का एक प्रकार से जो सामाजिक असंतोष है उससे इसका सीधा संबंध है जनता इस प्रकार से असंतोष से भरी पड़ी है कि उसे इस प्रकार के जो असंभव असंवैधानिक अवैधानिक जो गतिविधियां होती हैं सूरज इस प्रकार से कोई भी व्यक्ति अपराध करता हुआ पकड़ा जाता है तो उसका जनता खुद ही फैसला करना चाहती है क्योंकि वह पूरी तरह से नाराज है इस समाज से इस राजनीति से तथा प्रशासन से कि वह इस प्रकार की गतिविधियां करके अपनी असुरक्षा को सामाजिक तौर पर दर्शाती है साथ ही साथ मुझे लगता है कि बीजेपी की जब से सरकार आई है नीतीश कुमार जी के साथ तब से मॉब लिंचिंग की घटनाओं में मुझे नहीं लगता कि कोई बहुत ज्यादा कमी या जो कमी या फिर वृद्धि हुई है बल्कि वह जस की तस बनी हुई है जो कि अवश्य रूप से चिंताजनक विषय है तथा अनीति सरकार पर इस विषय में कुछ साहसी कदम उठाने चाहिए तथा इस विषय में कोई कानून प्रस्तावित करके उसे पास करना चाहिए धन्यवादBihar Uttar Pradesh Chattisgarh Tatha Jharkhand Jaise Kuch Rajya Jahan Par Samajik Sanrachna Is Prakar Ki Hai Ki Sarvajanik V Samajik Asantosh Ki Bhavna Lagatar Badhti Ja Rahi Hai Jiske Kaaran Hai Rojgar Mein Kami Tatha Ek Prakar Se Asiksha V Samajik Asuraksha Ki Bhavna Hai Jiske Kaaran Varsh Mob Linching Tatha Samaaj Mein Hone Wali Anya Jis Prakar Ki Hinsatmak Gatividhiyan Hai Unki Sankhya Nitya Pratidin Badhti Ja Rahi Hai Iska Sidhaa Sambandh Kisi Bhi Raajnitik Dal Se Nahi Hai Chahe Wah Bjp Ho Chahe Wah Congress Ho Chahe Wah Koi Bhi Police Prashasan Ho Mujhe Nahi Lagta Ki Iska Sidhaa Sambandh Kisi Bhi Party Se Hai Balki Iska Sidhaa Sambandh Yahan Ke Samajik Asuraksha Ka Ek Prakar Se Jo Samajik Asantosh Hai Usse Iska Sidhaa Sambandh Hai Janta Is Prakar Se Asantosh Se Bhari Padi Hai Ki Use Is Prakar Ke Jo Asambhav Asanvaidhanik Avaidhanik Jo Gatividhiyan Hoti Hain Suraj Is Prakar Se Koi Bhi Vyakti Apradh Karta Hua Pakada Jata Hai To Uska Janta Khud Hi Faisla Karna Chahti Hai Kyonki Wah Puri Tarah Se Naaraj Hai Is Samaaj Se Is Rajneeti Se Tatha Prashasan Se Ki Wah Is Prakar Ki Gatividhiyan Karke Apni Asuraksha Ko Samajik Taur Par Darshatee Hai Saath Hi Saath Mujhe Lagta Hai Ki Bjp Ki Jab Se Sarkar I Hai Nitish Kumar G Ke Saath Tab Se Mob Linching Ki Ghatnaon Mein Mujhe Nahi Lagta Ki Koi Bahut Zyada Kami Ya Jo Kami Ya Phir Vriddhi Hui Hai Balki Wah Jas Ki Tas Bani Hui Hai Jo Ki Avashya Roop Se Chintajanak Vishay Hai Tatha Aneeti Sarkar Par Is Vishay Mein Kuch Sahasi Kadam Uthane Chahiye Tatha Is Vishay Mein Koi Kanoon Prastavit Karke Use Paas Karna Chahiye Dhanyavad
Likes  66  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

मॉब लिंचिंग रोकना क्या सरकार की जिम्मेदारी नहीं है क्या सरकार इसे रोक नहीं सकती ? ...

मॉब लीचिंग को रोकने के लिए सरकार को जरूरी कदम उठाने चाहिए क्योंकि मॉब लीचिंग के वजह से बहुत सारे लोगों की जान जा रही है हमारे देश में और इससे जो हमारे समाज में एक मैसेज आ रहा है वह नकारात्मक जा रहा हैजवाब पढ़िये
ques_icon

3 राज्यों में कांग्रेस की सरकार आने से क्या बीजेपी के लिए 2019 चुनाव में मुश्किल हो गयी है? ...

देखिए तीन राज्यों यानी राजस्थान मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की जीत के साथ यह कयास लगाया जाने लगा है कि 2019 का आम चुनाव भाजपा के लिए मुश्किल खड़ी करने वाला है हालांकि भाजपा के लिए यह कितनी मजवाब पढ़िये
ques_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Kya Bihar Mein Bjp Ki Satta Aane Se Mob Linching Ki Ghatnaayen Badh Gayi Hai,


vokalandroid