क्या इस्लाम धर्म को अातंकवाद कहना सही है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नहीं ऐसा कहना बिल्कुल गलत है हम इस्लाम धर्म को आतंकवाद नहीं कर सकते क्योंकि ऐसा नहीं है कि इस्लाम धर्म में जो लोग हैं वह सारे आतंकवादी है ऐसा भी कहना बिल्कुल गलत है हम अमित किसी भी धर्म के बारे में...जवाब पढ़िये
जी नहीं ऐसा कहना बिल्कुल गलत है हम इस्लाम धर्म को आतंकवाद नहीं कर सकते क्योंकि ऐसा नहीं है कि इस्लाम धर्म में जो लोग हैं वह सारे आतंकवादी है ऐसा भी कहना बिल्कुल गलत है हम अमित किसी भी धर्म के बारे में ऐसा नहीं बोलना चाहिए चाहे वह कोई भी धर्म होJi Nahi Aisa Kehna Bilkul Galat Hai Hum Islam Dharm Ko Aatankwad Nahi Kar Sakte Kyonki Aisa Nahi Hai Ki Islam Dharm Mein Jo Log Hain Wah Sare Aatankwadi Hai Aisa Bhi Kehna Bilkul Galat Hai Hum Amit Kisi Bhi Dharm Ke Baare Mein Aisa Nahi Bolna Chahiye Chahe Wah Koi Bhi Dharm Ho
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दीदी कल जहां तक मुझे पता है दुनिया में एक ही ऐसा धर्म है जो बिल्कुल अहिंसा के मार्ग पर चलता है सच में अहिंसा के मार्ग पर चलता है और वह धर्म है जॉइनिंग जैन धर्म बाकी सब धर्म भले हिंदू हो गया क्रिश्चियन...जवाब पढ़िये
दीदी कल जहां तक मुझे पता है दुनिया में एक ही ऐसा धर्म है जो बिल्कुल अहिंसा के मार्ग पर चलता है सच में अहिंसा के मार्ग पर चलता है और वह धर्म है जॉइनिंग जैन धर्म बाकी सब धर्म भले हिंदू हो गया क्रिश्चियनिटी हो गया भोजन हो गया सी खत्म हो गया इस्लाम हो गया सब धर्मों में यह लिखा जाता है लोगों को कि यह धर्म सबसे अच्छा है और इस धर्म को बचाने के लिए कुछ भी करना पड़े तो वह सब कर सकते हैं सिर्फ इस्लाम में या मुस्लिम होने से कोई आतंकवादी नहीं बन जाता है हिंदू आतंकवादी भी हो सकता है क्रिश्चन आतंकवादी भी हो सकता है जो इस आतंकवादी भी हो सकता है कोई भी आतंकवादी हो सकता है इसका अपने धर्म के नाम पर मेरे ख्याल में एक जने जब मैंने एक ऐसा धर्म देखा है मैं खुद जानी नहीं हूं लेकिन मैंने ऐसे धर्म देखा है कि आज जिसमें यह चीज बिल्कुल नहीं होती ऐसा नहीं है कि सिर्फ इस्लाम में ऐसी प्रॉब्लम है ऐसी प्रॉब्लम हर धर्म मेंDidi Kal Jahan Tak Mujhe Pata Hai Duniya Mein Ek Hi Aisa Dharm Hai Jo Bilkul Ahinsha Ke Marg Par Chalta Hai Sach Mein Ahinsha Ke Marg Par Chalta Hai Aur Wah Dharm Hai Joining Jain Dharm Baki Sab Dharm Bhale Hindu Ho Gaya Krishchiyaniti Ho Gaya Bhojan Ho Gaya Si Khatam Ho Gaya Islam Ho Gaya Sab Dharmon Mein Yeh Likha Jata Hai Logon Ko Ki Yeh Dharm Sabse Accha Hai Aur Is Dharm Ko Bachane Ke Liye Kuch Bhi Karna Pade To Wah Sab Kar Sakte Hain Sirf Islam Mein Ya Muslim Hone Se Koi Aatankwadi Nahi Ban Jata Hai Hindu Aatankwadi Bhi Ho Sakta Hai Krishchan Aatankwadi Bhi Ho Sakta Hai Jo Is Aatankwadi Bhi Ho Sakta Hai Koi Bhi Aatankwadi Ho Sakta Hai Iska Apne Dharm Ke Naam Par Mere Khayal Mein Ek Jane Jab Maine Ek Aisa Dharm Dekha Hai Main Khud Jani Nahi Hoon Lekin Maine Aise Dharm Dekha Hai Ki Aaj Jisme Yeh Cheez Bilkul Nahi Hoti Aisa Nahi Hai Ki Sirf Islam Mein Aisi Problem Hai Aisi Problem Har Dharm Mein
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नहीं ऐसा किसी भी धर्म के बारे में कहना गलत नहीं है अरे आप गलत है ऐसा भी अधर में अच्छे बुरे लोग होते हैं तो आप कोई गलत है हो सकता है किसी धर्म में चलो ज्यादा है कितने में कम है या फिर कहीं कोई मतलब ...जवाब पढ़िये
जी नहीं ऐसा किसी भी धर्म के बारे में कहना गलत नहीं है अरे आप गलत है ऐसा भी अधर में अच्छे बुरे लोग होते हैं तो आप कोई गलत है हो सकता है किसी धर्म में चलो ज्यादा है कितने में कम है या फिर कहीं कोई मतलब सभी जगह धर्म जैन धर्म ज्यादा है तो उसके काम ज्यादा है तो डिपेंड करता है इसलिए हम बदनाम बदनाम नहीं कर सकते हैं अच्छे भी होते हैं तो हम लोग को बस यह समझना पड़ेगा कि अच्छे अच्छाई और बुराई को ध्यान देना पड़ेगा कि हम को धर्म के आधार पर देखना पड़ेगा आज इंसान है या बुरे इंसान नहीं जो होना चाहिए सही और गलत होना चाहिए जो चीज होना चाहिए और इन सब चीजों के अकॉर्डिंग 26 दिन है मतलब कितना देश विश्व आ गया तो अपने आप बहुत सारी चीजें हैं जो मतलब कि सही हो जाएगा और गलत बहुत मतलब की रेल हो जाएगा क्योंकि हम लोगों की बताएगी फिर सही करने का जो जो मतलब कि करने मन की संख्या हो ज्यादा होगा और दूसरे अपने आप पर बहुत सारी चीजें सही हो जाएगी तो ऐसा कुछ बोलना बाकी आतंकवादी होता है यह गाना HD गलत है हाउस में आतंकवादी जो भी है आतंकवादी है सही है जो वो सही है वजह से मतलब चाहिएJi Nahi Aisa Kisi Bhi Dharm Ke Baare Mein Kehna Galat Nahi Hai Arre Aap Galat Hai Aisa Bhi Adhar Mein Acche Bure Log Hote Hain To Aap Koi Galat Hai Ho Sakta Hai Kisi Dharm Mein Chalo Jyada Hai Kitne Mein Kum Hai Ya Phir Kahin Koi Matlab Sabhi Jagah Dharm Jain Dharm Jyada Hai To Uske Kaam Jyada Hai To Depend Karta Hai Isliye Hum Badnaam Badnaam Nahi Kar Sakte Hain Acche Bhi Hote Hain To Hum Log Ko Bus Yeh Samajhna Padega Ki Acche Acchai Aur Burayi Ko Dhyan Dena Padega Ki Hum Ko Dharm Ke Aadhar Par Dekhna Padega Aaj Insaan Hai Ya Bure Insaan Nahi Jo Hona Chahiye Sahi Aur Galat Hona Chahiye Jo Cheez Hona Chahiye Aur In Sab Chijon Ke According 26 Din Hai Matlab Kitna Desh Vishwa Aa Gaya To Apne Aap Bahut Saree Cheezen Hain Jo Matlab Ki Sahi Ho Jayega Aur Galat Bahut Matlab Ki Rail Ho Jayega Kyonki Hum Logon Ki Bataegi Phir Sahi Karne Ka Jo Jo Matlab Ki Karne Man Ki Sankhya Ho Jyada Hoga Aur Dusre Apne Aap Par Bahut Saree Cheezen Sahi Ho Jayegi To Aisa Kuch Bolna Baki Aatankwadi Hota Hai Yeh Gaana HD Galat Hai House Mein Aatankwadi Jo Bhi Hai Aatankwadi Hai Sahi Hai Jo Vo Sahi Hai Wajah Se Matlab Chahiye
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल नहीं कोई भी धर्म में अहिंसा का रास्ता नहीं दिखाता धर्म एक जीवन जीने की कला होती है जीवन जीने का रास्ता होता जिस दम के जरिए हम अपना जीवन सादगी पूर्ण अच्छे से सही तरीके से जी सकते हैं उसी को धर्...जवाब पढ़िये
बिल्कुल नहीं कोई भी धर्म में अहिंसा का रास्ता नहीं दिखाता धर्म एक जीवन जीने की कला होती है जीवन जीने का रास्ता होता जिस दम के जरिए हम अपना जीवन सादगी पूर्ण अच्छे से सही तरीके से जी सकते हैं उसी को धर्म का नाम दिया गया है हिंदू धर्म में इस्लाम और क्रिश्चियन हो जो भी हो पारसी हो बहुत 221 मो जैनिज़्म हो जो भी हो ठीक है ना सलाम मैं कुछ लोग ऐसे हो गए और जो हर घर में होते हैं जो राक्षसी प्रवृत्ति के जिनको हम लोग बोलते जैसे ISIS है ठीक है ना लोगों ने देखा है कि वह लोग धर्म को धर्म की आड़ में जो काम कर रहे हैं भटके हुए लोग वह लोग अपने ही धर्म को बदनाम कर रहे हैं लेकिन क्या ऐसा करके वह अपने धर्म को नुकसान नहीं पहुंचा रहे हैं अरे मैं शाम को बढ़ने जाएं हम लोग देखेंगे कि इस्लाम में भी शांति और भाईचारे का चेक दिया गया है कुरान शरीफ जो है बहुत पवित्र ग्रंथ है कभी पड़ी है अगर आपको उर्दू नहीं आती तो उसका हिंदी वर्जन पड़ी है आपको पता पता चलेगा की पैगंबर मोहम्मद साहब ने शांति का संदेश दिया है आपसे प्रेम का संदेश दिया है वैसा ही है जैसे हमारे बाकी धर्मों में है और कहीं ना कहीं उससे भी अच्छा है जरूरत है उसको जानने की कभी-कभी जो दिखता है वह सच नहीं होता है और आज वही हो रहा है कि हमें जो दिख रहा है इस्लाम के बारे में वह सच नहीं है ISIS हो या लादेन हो इसलिए झूठ है सच्चाईBilkul Nahi Koi Bhi Dharm Mein Ahinsha Ka Rasta Nahi Dikhaata Dharm Ek Jeevan Jeene Ki Kala Hoti Hai Jeevan Jeene Ka Rasta Hota Jis Dum Ke Jariye Hum Apna Jeevan Saadagee Poorn Acche Se Sahi Tarike Se Ji Sakte Hain Ussi Ko Dharm Ka Naam Diya Gaya Hai Hindu Dharm Mein Islam Aur Krishchiyan Ho Jo Bhi Ho Parasi Ho Bahut 221 Mo Jainizm Ho Jo Bhi Ho Theek Hai Na Salaam Main Kuch Log Aise Ho Gaye Aur Jo Har Ghar Mein Hote Hain Jo Raakshasi Pravritti Ke Jinako Hum Log Bolte Jaise ISIS Hai Theek Hai Na Logon Ne Dekha Hai Ki Wah Log Dharm Ko Dharm Ki Ad Mein Jo Kaam Kar Rahe Hain Bhatke Hue Log Wah Log Apne Hi Dharm Ko Badnaam Kar Rahe Hain Lekin Kya Aisa Karke Wah Apne Dharm Ko Nuksan Nahi Pahuncha Rahe Hain Arre Main Shaam Ko Badhne Jayen Hum Log Dekhenge Ki Islam Mein Bhi Shanti Aur Bhaichare Ka Check Diya Gaya Hai Quraan Sharif Jo Hai Bahut Pavitra Granth Hai Kabhi Padi Hai Agar Aapko Urdu Nahi Aati To Uska Hindi Version Padi Hai Aapko Pata Pata Chalega Ki Paigambar Mohammed Sahab Ne Shanti Ka Sandesh Diya Hai Aapse Prem Ka Sandesh Diya Hai Waisa Hi Hai Jaise Hamare Baki Dharmon Mein Hai Aur Kahin Na Kahin Usse Bhi Accha Hai Zaroorat Hai Usko Jaanne Ki Kabhi Kabhi Jo Dikhta Hai Wah Sach Nahi Hota Hai Aur Aaj Wahi Ho Raha Hai Ki Hume Jo Dikh Raha Hai Islam Ke Baare Mein Wah Sach Nahi Hai ISIS Ho Ya Laden Ho Isliye Jhuth Hai Sacchai
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kya Islam Dharm Ko Aatankwad Kehna Sahi Hai, Is Islam Religion Right To Say Superstition?