अपने पैसों की बात ही कुछ और रहता है, जब चाहे तब खर्च कर सकते हैं, इस पर आपकी क्या राय है ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चींटी के अपना खुद का पैसा तो हमेशा ही एक और एक बात रहता है जैसा कि आपने बोला है बहुत अच्छा है जब मर्जी आप खर्चा कर सकते लेकिन हमेशा खर्चा करने से पहले भी आपको सोचना पड़ेगा कि अगर आपको बहुत सारा से भी ...
जवाब पढ़िये
चींटी के अपना खुद का पैसा तो हमेशा ही एक और एक बात रहता है जैसा कि आपने बोला है बहुत अच्छा है जब मर्जी आप खर्चा कर सकते लेकिन हमेशा खर्चा करने से पहले भी आपको सोचना पड़ेगा कि अगर आपको बहुत सारा से भी आपका जितने इनकम है उससे ज्यादा आप खर्चा कर देंगे तो आपको ही नुकसान हो जाएगा अगर आपका कोई इमरजेंसी हो जाएगा पैसों की सख्त जरूरत पड़ जाएगी या फिर फैमिली का आपको जरूर देता का घर पैसा नहीं रहेगा तब आप कोई दिक्कत हो जाएगा इसलिए पैसा देखकर ही सच्चा करना चाहिएChinti Ke Apna Khud Ka Paisa To Hamesha Hi Ek Aur Ek Baat Rehta Hai Jaisa Ki Aapne Bola Hai Bahut Accha Hai Jab Marji Aap Kharcha Kar Sakte Lekin Hamesha Kharcha Karne Se Pehle Bhi Aapko Sochna Padega Ki Agar Aapko Bahut Saara Se Bhi Aapka Jitne Income Hai Usse Zyada Aap Kharcha Kar Denge To Aapko Hi Nuksan Ho Jayega Agar Aapka Koi Emergency Ho Jayega Paison Ki Sakht Zaroorat Padh Jayegi Ya Phir Family Ka Aapko Jarur Deta Ka Ghar Paisa Nahi Rahega Tab Aap Koi Dikkat Ho Jayega Isliye Paisa Dekhkar Hi Saccha Karna Chahiye
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Apne Paison Ki Baat Hi Kuch Aur Rehta Hai Jab Chahe Tab Kharch Kar Sakte Hain Is Par Aapki Kya Rai Hai ?

vokalandroid