दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का मजाक उड़ाते हुए लोग उन्हें खुजलीवाल के नाम से बुलाते है क्या यह सही है ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल सबसे पहले बता दो उन लोगों को जो उनका मजाक उड़ाते हैं कि माना कि वह आपको पसंद नहीं है या उनकी गलत राजनीति तो इसका यह मतलब नहीं कि आप उनका मजाक उड़ाया खुजलीवाल या और कुछ नाम रखो इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा आगे यदि आप कौन सी राजनीति इतनी खराब लगती है तो उसके खिलाफ आवाज उठाओ ना कि उनके साथ ऐसा मजाक उड़ाओ कॉल हर किसी की चतुर्थी है आज इतने ऊंचे पद पर हैं तो यारों नंबर कोई वजह भी तो होगी ना कि जिस काम को इतने ऊंचे पद पर और वैसे भी हमने उनका नाम यदि खुजलीवाल रख दिया तो इससे क्या फर्क पड़ता है सिर्फ हमारी मानसिकता ही दर्शाती है कि हम कुछ नहीं कर सकते तो हम दूसरों का मजाक उड़ाने लग गई कुछ करना है तो सही कराने का प्रयास मजाक उड़ाने से क्या हो जाएगा इससे हमारे होते हैं मुख्यमंत्री किसी के किसी का भी मजाक उड़ाते हैं तो उनके कर्तव्य को हम नष्ट कर देते हैं इसके जिम्मेदार हम खुद होते हैं हम खुद अपने पैर पर कुल्हाड़ी मारते हैं
Romanized Version
देखिए दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल सबसे पहले बता दो उन लोगों को जो उनका मजाक उड़ाते हैं कि माना कि वह आपको पसंद नहीं है या उनकी गलत राजनीति तो इसका यह मतलब नहीं कि आप उनका मजाक उड़ाया खुजलीवाल या और कुछ नाम रखो इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा आगे यदि आप कौन सी राजनीति इतनी खराब लगती है तो उसके खिलाफ आवाज उठाओ ना कि उनके साथ ऐसा मजाक उड़ाओ कॉल हर किसी की चतुर्थी है आज इतने ऊंचे पद पर हैं तो यारों नंबर कोई वजह भी तो होगी ना कि जिस काम को इतने ऊंचे पद पर और वैसे भी हमने उनका नाम यदि खुजलीवाल रख दिया तो इससे क्या फर्क पड़ता है सिर्फ हमारी मानसिकता ही दर्शाती है कि हम कुछ नहीं कर सकते तो हम दूसरों का मजाक उड़ाने लग गई कुछ करना है तो सही कराने का प्रयास मजाक उड़ाने से क्या हो जाएगा इससे हमारे होते हैं मुख्यमंत्री किसी के किसी का भी मजाक उड़ाते हैं तो उनके कर्तव्य को हम नष्ट कर देते हैं इसके जिम्मेदार हम खुद होते हैं हम खुद अपने पैर पर कुल्हाड़ी मारते हैंDekhie Delhi Ke Mukhyamantri Shri Arvind Kejriwal Sabse Pehle Bata Do Un Logon Ko Jo Unka Mazak Udate Hain Ki Mana Ki Wah Aapko Pasand Nahi Hai Ya Unki Galat Rajneeti To Iska Yeh Matlab Nahi Ki Aap Unka Mazak Udaya Khujaliwal Ya Aur Kuch Naam Rakho Isse Koi Fark Nahi Padega Aage Yadi Aap Kaun Si Rajneeti Itni Kharab Lagti Hai To Uske Khilaf Aawaj Uthao Na Ki Unke Saath Aisa Mazak Udao Call Har Kisi Ki Chaturthi Hai Aaj Itne Unche Pad Par Hain To Yaaron Number Koi Wajah Bhi To Hogi Na Ki Jis Kaam Ko Itne Unche Pad Par Aur Waise Bhi Humne Unka Naam Yadi Khujaliwal Rakh Diya To Isse Kya Fark Padata Hai Sirf Hamari Mansikta Hi Darshatee Hai Ki Hum Kuch Nahi Kar Sakte To Hum Dusron Ka Mazak Udane Lag Gayi Kuch Karna Hai To Sahi Karane Ka Prayas Mazak Udane Se Kya Ho Jayega Isse Hamare Hote Hain Mukhyamantri Kisi Ke Kisi Ka Bhi Mazak Udate Hain To Unke Kartavya Ko Hum Nasht Kar Dete Hain Iske Zimmedar Hum Khud Hote Hain Hum Khud Apne Pair Par Kulhadi Marte Hain
Likes  4  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

क्या दिल्ली में अरविंद केजरीवाल की सरकार फिर से बननी चाहिए और क्यों ? ...

दिल्ली की जहां तक बात सहित दिल्ली गवर्नमेंट काफी योगदान रहा है बहुत सारे इंडेक्स की बात करते हैं तो एक रिपोर्ट आया था उसमें प्राइज ऑफ बिजनेस है जिसमें कि अवश्य इंडिया की रैंकिंग बहुत सुधरी है और यह दोजवाब पढ़िये
ques_icon

क्या वास्तविकता में केजरीवाल जी ने दिल्ली में गरीब लोगों के लिए सब कुछ करने की ठानी है ...

लेकिन मुझे लगता है कि केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों के साथ बहुत अच्छा किया है दूसरा मैं यह कहना चाह मुझे इस तरह से केजरीवाल ने मुस्लिम पॉलिसी झूलों ने बताए थे उनको फॉलो जरुर किया पानी का बिल जो आता था उजवाब पढ़िये
ques_icon

दिल्ली सीलिंग: मनोज तिवारी का केजरीवाल को चैलेंज, फिर तोड़ने जा रहे सील ...

सीलिंग जो है वह केवल पॉलिटिकल ड्रामा है आप देखें मनोज तिवारी पर FIR हो चुकी है मनोज तिवारी केजरीवाल पर आरोप लगाते हैं केजरीवाल मनोज तिवारी पर आरोप लगाते हैं और केवल दोनों ही लोग राजनीति कर रहे हैं क्यजवाब पढ़िये
ques_icon

दिल्ली पुलिस ने केजरीवाल को पूछताछ के लिए क्यों बुलाया, मामला क्या है ? ...

दिल्ली पुलिस ने केजरीवाल को पूछताछ के लिए इसलिए बुलाया क्योंकि कुछ दिन पहले आपने सुना होगा कि जो आपके चीफ सेक्रेटरी थे चीफ सेक्रेटरी को दिल्ली मुख्यमंत्री ने अपने निवास पर बुलाया था वह जहां वह अपने विजवाब पढ़िये
ques_icon

पूर्ण राज्य के सवाल पर बीजेपी ने केजरीवाल से कहा कि दिल्ली को दे दो पूर्ण बिजली क्या ऐसा संभव है ...

हाल ही में बीजेपी ने केजरीवाल सही बात कही है कि जैसे आप हो हर जगह बिजली देने की बात कर रहे हैं तो आप दिल्ली में ही पूर्ण बिजली क्यों नहीं दे सकते तरीके ऐसा संभव इसलिए नहीं है क्योंकि हमारे देश में बहुजवाब पढ़िये
ques_icon

कुमार विश्वास और अरविंद केजरीवाल के बीच का टकराव का अंजाम क्या हो सकता है? ...

आम आदमी पार्टी वैसे ही अब धीरे-धीरे करके अरविंद केजरीवाल की पार्टी बन गई है और अरविंद केजरीवाल जो एक अपने को डेमोक्रेटिक लीडर की तरह प्रोजेक्ट कर देता था इस तरीके से सुप्रीमो हो गया सुप्रीम कमांडर हो जवाब पढ़िये
ques_icon

कमल हासन द्वारा पार्टी ऐलान पर अरविंद केजरीवाल का जाना उनके लिए फायदा या नुकसान ? ...

देसी कि आपसे पूछा है कि कमल हसन द्वारा जो पार्टी अलार्म की गई है उसमें अरविंद केजरीवाल का खाना फायदेमंद हुआ या नुकसान जी हां अगर उन्होंने पार्टी के लॉन्च की है ऑफिस से कुछ दिमाग में लिखे जो है अपनों नजवाब पढ़िये
ques_icon

दिल्ली के केजरीवाल और उपराज्यपाल बैजल मिलेंगे तो क्या बात करेंगे ? ...

क्या आपने क्योंकि दिल्ली की परिस्थिति का जिक्र किया है तो सवाल का जवाब देने से पहले मैं कुछ चीजें स्पष्ट करना चाहूंगा कि जो अरविंद केजरीवाल मुख्यमंत्री हैं वह पूरी राजनीति से अलग हटकर आया नहीं जिस किसजवाब पढ़िये
ques_icon

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिस बात आज मुझे समझ में नहीं आ रही है क्यों क्यों हमारे समाज के लोग नैतिकता को पीछे छोड़ रहे हैं और अपना स्तर गिरा रहे हैं क्यों इस तरह की बातें करके किसी के भी बारे में आप अपना जबान गंदा कर रहे हैं चाहे वह अरविंद केजरीवाल हो या कोई भी प्रधानमंत्री जी हो या कोई भी व्यक्ति हूं कोई सामान्य व्यक्ति भी हो यह तो खैर बड़े व्यक्ति है एक मुख्यमंत्री है प्रधानमंत्री है और भी योगीजी नीतीश कुमार सब के बारे में आप गलत बोलते हैं उन्हें आदर्श से संबोधित नहीं करते हैं उनके बारे में गलत शब्दों का इस्तेमाल करते हैं क्यों किसने आपको ही अधिकार दिया है कि आप किसी को भी कुछ भी बोल दे यह हमारी संस्कृति नहीं है यह हमारे संस्कारों में नहीं सिखाया जाता है कि आप अपने से बड़ों को या एक बड़े पद पर रहने वाले व्यक्ति को या किसी भी अनजान व्यक्ति को अजनबी व्यक्ति को गलत संबोधन से संबोधित करें या उनके बारे में कुछ गलत शब्द बोले हमारे देश की संस्कृति पूरी दुनिया में मानी जाती है कि हमारे यहां आदर और सम्मान सबसे पहले दिया जाता है किसी अजनबी को भी हम तू करके बात नहीं करते हैं आप से संबोधित करते हैं तो यह तो हमारे देश के नेता हैं जो हमारे आइडियल भी हैं और उन्होंने चाहे कुछ भी किया हो लेकिन फिर भी हमारे देश के आइडियल हैं हमारे देश के नेता हैं जिन्हें हमारी देश की जनता ने चुना है इसलिए उनके लिए इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल करना बिल्कुल भी सही नहीं है बहुत ही गलत सोच है यह और युवाओं की अगर ऐसी सोच है तो यह बिल्कुल ही गलत है आज अगर हमारा देश का युवा यह सोच रहा है तो मैं सोचती हूं कि कल हमारा देश कहां पहुंचेगा हमारी संस्कृति का क्या होगा उसे कौन बचाएगा इसलिए मुझे लगता है इस में सुधार
Romanized Version
जिस बात आज मुझे समझ में नहीं आ रही है क्यों क्यों हमारे समाज के लोग नैतिकता को पीछे छोड़ रहे हैं और अपना स्तर गिरा रहे हैं क्यों इस तरह की बातें करके किसी के भी बारे में आप अपना जबान गंदा कर रहे हैं चाहे वह अरविंद केजरीवाल हो या कोई भी प्रधानमंत्री जी हो या कोई भी व्यक्ति हूं कोई सामान्य व्यक्ति भी हो यह तो खैर बड़े व्यक्ति है एक मुख्यमंत्री है प्रधानमंत्री है और भी योगीजी नीतीश कुमार सब के बारे में आप गलत बोलते हैं उन्हें आदर्श से संबोधित नहीं करते हैं उनके बारे में गलत शब्दों का इस्तेमाल करते हैं क्यों किसने आपको ही अधिकार दिया है कि आप किसी को भी कुछ भी बोल दे यह हमारी संस्कृति नहीं है यह हमारे संस्कारों में नहीं सिखाया जाता है कि आप अपने से बड़ों को या एक बड़े पद पर रहने वाले व्यक्ति को या किसी भी अनजान व्यक्ति को अजनबी व्यक्ति को गलत संबोधन से संबोधित करें या उनके बारे में कुछ गलत शब्द बोले हमारे देश की संस्कृति पूरी दुनिया में मानी जाती है कि हमारे यहां आदर और सम्मान सबसे पहले दिया जाता है किसी अजनबी को भी हम तू करके बात नहीं करते हैं आप से संबोधित करते हैं तो यह तो हमारे देश के नेता हैं जो हमारे आइडियल भी हैं और उन्होंने चाहे कुछ भी किया हो लेकिन फिर भी हमारे देश के आइडियल हैं हमारे देश के नेता हैं जिन्हें हमारी देश की जनता ने चुना है इसलिए उनके लिए इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल करना बिल्कुल भी सही नहीं है बहुत ही गलत सोच है यह और युवाओं की अगर ऐसी सोच है तो यह बिल्कुल ही गलत है आज अगर हमारा देश का युवा यह सोच रहा है तो मैं सोचती हूं कि कल हमारा देश कहां पहुंचेगा हमारी संस्कृति का क्या होगा उसे कौन बचाएगा इसलिए मुझे लगता है इस में सुधारJis Baat Aaj Mujhe Samajh Mein Nahi Aa Rahi Hai Kyun Kyun Hamare Samaaj Ke Log Naitikta Ko Piche Chod Rahe Hain Aur Apna Sthar Gira Rahe Hain Kyun Is Tarah Ki Batein Karke Kisi Ke Bhi Baare Mein Aap Apna Jaban Ganda Kar Rahe Hain Chahe Wah Arvind Kejriwal Ho Ya Koi Bhi Pradhanmantri Ji Ho Ya Koi Bhi Vyakti Hoon Koi Samanya Vyakti Bhi Ho Yeh To Khair Bade Vyakti Hai Ek Mukhyamantri Hai Pradhanmantri Hai Aur Bhi Yogiji Nitish Kumar Sab Ke Baare Mein Aap Galat Bolte Hain Unhen Adarsh Se Sambodhit Nahi Karte Hain Unke Baare Mein Galat Shabdon Ka Istemal Karte Hain Kyun Kisne Aapko Hi Adhikaar Diya Hai Ki Aap Kisi Ko Bhi Kuch Bhi Bol De Yeh Hamari Sanskriti Nahi Hai Yeh Hamare Sanskaron Mein Nahi Sikhaya Jata Hai Ki Aap Apne Se Badon Ko Ya Ek Bade Pad Par Rehne Wale Vyakti Ko Ya Kisi Bhi Anjaan Vyakti Ko Ajnabee Vyakti Ko Galat Sanbodhan Se Sambodhit Karen Ya Unke Baare Mein Kuch Galat Shabdh Bole Hamare Desh Ki Sanskriti Puri Duniya Mein Maani Jati Hai Ki Hamare Yahan Aadar Aur Samman Sabse Pehle Diya Jata Hai Kisi Ajnabee Ko Bhi Hum Tu Karke Baat Nahi Karte Hain Aap Se Sambodhit Karte Hain To Yeh To Hamare Desh Ke Neta Hain Jo Hamare Ideal Bhi Hain Aur Unhone Chahe Kuch Bhi Kiya Ho Lekin Phir Bhi Hamare Desh Ke Ideal Hain Hamare Desh Ke Neta Hain Jinhen Hamari Desh Ki Janta Ne Chuna Hai Isliye Unke Liye Is Tarah Ke Shabdon Ka Istemal Karna Bilkul Bhi Sahi Nahi Hai Bahut Hi Galat Soch Hai Yeh Aur Yuvaon Ki Agar Aisi Soch Hai To Yeh Bilkul Hi Galat Hai Aaj Agar Hamara Desh Ka Yuva Yeh Soch Raha Hai To Main Sochti Hoon Ki Kal Hamara Desh Kahan Pahunchega Hamari Sanskriti Ka Kya Hoga Use Kaun Bachega Isliye Mujhe Lagta Hai Is Mein Sudhaar
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल का खुजलीवाल बोलते हैं यह बात आपकी बिल्कुल सही है और उसके नाम पर आपको सोशल मीडिया पर बहुत सारे पैसे मिल जाएंगे ठीक है जिसमें मुझे एक कभी-कभी केजरीवाल जी को के ऊपर एक कैप लगा दी इसमें लिखा था मुझे चाहिए आज स्वराज उस जगह लोगों ने लिख दिया है क्या मुझे चाहिए रायता रायता फैल आता हूं दूसरे की चीजें होती रहती है नेताओं के नाम पर आप देखिए न्यूज़ चैनल्स में भी इस प्रकार का दिखाते रहते हैं नेताओं के ऊपर जोक्स उसके अलावा अब दिखे मोदी जी को फेंकू लोग बोलते हैं दिग्विजय को डॉग विजय बोलते हैं तो अपनी अदाओं से तो लोगों ने इस प्रकार सोशल मीडिया पर पेज बना रखे लेकिन मैं फिर भी कहूंगा कि इस प्रकार किसी भी पॉलिटिकल लीडर का आभास नहीं उड़ाना चाहिए हालांकि केजरीवाल जी अपनी बात पर कभी नहीं कभी जब मन आता है तो वह माफी मांग लेते हैं बिना सबूत के किसी पर आरोप लगा देते तो सारी चीजें हैं लेकिन फिर भी मैं यही कहूंगा किसी भी नेता का चाहे वह कैसा भी उसका मजाक नहीं उड़ाना चाहिए
Romanized Version
विकी दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल का खुजलीवाल बोलते हैं यह बात आपकी बिल्कुल सही है और उसके नाम पर आपको सोशल मीडिया पर बहुत सारे पैसे मिल जाएंगे ठीक है जिसमें मुझे एक कभी-कभी केजरीवाल जी को के ऊपर एक कैप लगा दी इसमें लिखा था मुझे चाहिए आज स्वराज उस जगह लोगों ने लिख दिया है क्या मुझे चाहिए रायता रायता फैल आता हूं दूसरे की चीजें होती रहती है नेताओं के नाम पर आप देखिए न्यूज़ चैनल्स में भी इस प्रकार का दिखाते रहते हैं नेताओं के ऊपर जोक्स उसके अलावा अब दिखे मोदी जी को फेंकू लोग बोलते हैं दिग्विजय को डॉग विजय बोलते हैं तो अपनी अदाओं से तो लोगों ने इस प्रकार सोशल मीडिया पर पेज बना रखे लेकिन मैं फिर भी कहूंगा कि इस प्रकार किसी भी पॉलिटिकल लीडर का आभास नहीं उड़ाना चाहिए हालांकि केजरीवाल जी अपनी बात पर कभी नहीं कभी जब मन आता है तो वह माफी मांग लेते हैं बिना सबूत के किसी पर आरोप लगा देते तो सारी चीजें हैं लेकिन फिर भी मैं यही कहूंगा किसी भी नेता का चाहे वह कैसा भी उसका मजाक नहीं उड़ाना चाहिएVikee Delhi Ke Mukhyamantri Kejriwal Ka Khujaliwal Bolte Hain Yeh Baat Aapki Bilkul Sahi Hai Aur Uske Naam Par Aapko Social Media Par Bahut Sare Paise Mil Jaenge Theek Hai Jisme Mujhe Ek Kabhi Kabhi Kejriwal Ji Ko Ke Upar Ek Cap Laga Di Isme Likha Tha Mujhe Chahiye Aaj Swaraj Us Jagah Logon Ne Likh Diya Hai Kya Mujhe Chahiye Rayata Rayata Fail Aata Hoon Dusre Ki Cheezen Hoti Rehti Hai Netaon Ke Naam Par Aap Dekhie News Channels Mein Bhi Is Prakar Ka Dikhate Rehte Hain Netaon Ke Upar Jokes Uske Alava Ab Dikhe Modi Ji Ko Fenku Log Bolte Hain Digvijay Ko Dog Vijay Bolte Hain To Apni Adaon Se To Logon Ne Is Prakar Social Media Par Page Bana Rakhe Lekin Main Phir Bhi Kahunga Ki Is Prakar Kisi Bhi Political Leader Ka Aabhas Nahi Udana Chahiye Halanki Kejriwal Ji Apni Baat Par Kabhi Nahi Kabhi Jab Man Aata Hai To Wah Maafi Maang Lete Hain Bina Sabut Ke Kisi Par Aarop Laga Dete To Saree Cheezen Hain Lekin Phir Bhi Main Yahi Kahunga Kisi Bhi Neta Ka Chahe Wah Kaisa Bhi Uska Mazak Nahi Udana Chahiye
Likes  3  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Delhi Ke Mukhyamantri Arvind Kejriwal Ka Mazak Udate Hue Log Unhein Khujaliwal Ke Naam Se Bulate Hai Kya Yeh Sahi Hai ?,खुजलीवाल, Khujliwal, Delhi Ke Mukhyamantri Ka Naam Kya Hai,


vokalandroid