Upsc का फुल सिलेबस बताए ? ...

प्रीलिम्स पेपर 1 का पाठ्यक्रम – (200 अंक) अवधि: दो घंटे • राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय वर्तमान घटनाएं (Current events of national and international importance) • भारत और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन का इतिहास (History of India and Indian National Movement) • भारतीय और वैश्विक भूगोल – भारत और दुनिया का प्राकृतिक, सामाजिक, आर्थिक भूगोल (Indian and World Geography – Physical, Social, Economic Geography of India and the World) • भारतीय राजनीति और शासन – संविधान, राजनीतिक प्रणाली, पंचायती राज, सार्वजनिक नीति, अधिकारों के मुद्दे आदि (Indian Polity and Governance – Constitution, Political System, Panchayati Raj, Public Policy, Rights Issues, etc.) • आर्थिक और सामाजिक विकास, सतत टिकने वाला विकास (Sustainable Development), गरीबी, समावेशन ( Inclusion), जनसांख्यिकी (Demographics) , सामाजिक क्षेत्र की पहलें (Social Sector initiatives) आदि • पर्यावरण पारिस्थितिकी (Environmental Ecology), जैव विविधता (Bio-diversity) और जलवायु परिवर्तन (Climate Change) पर सामान्य/ज्वलंत मुद्दे • सामान्य विज्ञान (General Science) प्रीलिम्स पेपर 2 का पाठ्यक्रम – (200 अंक) अवधि: दो घंटे (यह एक क्वालीफाइंग पेपर होगा जिसमें 33% अंक की जरूरत है) • बोधगम्यता (Comprehension) • पारस्परिक कौशल—संचार कौशल (Interpersonal skills including communication skills) सहित • तार्किक क्षमता और विश्लेषणात्मक क्षमता (Logical reasoning and analytical ability) • निर्णय लेने और समस्या को विश्लेषण की क्षमता (Logical reasoning and analytical ability) • सामान्य मानसिक योग्यता (General mental ability) • बेसिक संख्यात्मक योग्यता, संख्याएँ और उनमें आपसी-संबंध (numbers and their relations, orders of magnitude, आदि) (दसवीं कक्षा के स्तर का), डेटा इंटरप्रिटेशन Data interpretation (चार्ट, ग्राफ, टेबल, डेटा पर्याप्तता (data sufficiency) आदि – दसवीं कक्षा के स्तर का)। संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा में एक उम्मीदवार का रैंक केवल मुख्य और साक्षात्कार (interview) परीक्षा के टोटल मार्क्स पर निर्भर करता है। साक्षात्कार के कुल मार्क्स 275 हैं, जबकि मुख्य परीक्षा के 1750. लिखित परीक्षा (मुख्य) mains exam में कुल नौ पेपर होंगे. लेकिन उनमें से केवल 7 पेपर के मार्क्स अंतिम मेरिट रैंकिंग के लिए जोड़े जाएगें। बाकी दो सिर्फ क्वालीफाइंग पेपर होंगे!!
प्रीलिम्स पेपर 1 का पाठ्यक्रम – (200 अंक) अवधि: दो घंटे • राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय वर्तमान घटनाएं (Current events of national and international importance) • भारत और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन का इतिहास (History of India and Indian National Movement) • भारतीय और वैश्विक भूगोल – भारत और दुनिया का प्राकृतिक, सामाजिक, आर्थिक भूगोल (Indian and World Geography – Physical, Social, Economic Geography of India and the World) • भारतीय राजनीति और शासन – संविधान, राजनीतिक प्रणाली, पंचायती राज, सार्वजनिक नीति, अधिकारों के मुद्दे आदि (Indian Polity and Governance – Constitution, Political System, Panchayati Raj, Public Policy, Rights Issues, etc.) • आर्थिक और सामाजिक विकास, सतत टिकने वाला विकास (Sustainable Development), गरीबी, समावेशन ( Inclusion), जनसांख्यिकी (Demographics) , सामाजिक क्षेत्र की पहलें (Social Sector initiatives) आदि • पर्यावरण पारिस्थितिकी (Environmental Ecology), जैव विविधता (Bio-diversity) और जलवायु परिवर्तन (Climate Change) पर सामान्य/ज्वलंत मुद्दे • सामान्य विज्ञान (General Science) प्रीलिम्स पेपर 2 का पाठ्यक्रम – (200 अंक) अवधि: दो घंटे (यह एक क्वालीफाइंग पेपर होगा जिसमें 33% अंक की जरूरत है) • बोधगम्यता (Comprehension) • पारस्परिक कौशल—संचार कौशल (Interpersonal skills including communication skills) सहित • तार्किक क्षमता और विश्लेषणात्मक क्षमता (Logical reasoning and analytical ability) • निर्णय लेने और समस्या को विश्लेषण की क्षमता (Logical reasoning and analytical ability) • सामान्य मानसिक योग्यता (General mental ability) • बेसिक संख्यात्मक योग्यता, संख्याएँ और उनमें आपसी-संबंध (numbers and their relations, orders of magnitude, आदि) (दसवीं कक्षा के स्तर का), डेटा इंटरप्रिटेशन Data interpretation (चार्ट, ग्राफ, टेबल, डेटा पर्याप्तता (data sufficiency) आदि – दसवीं कक्षा के स्तर का)। संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा में एक उम्मीदवार का रैंक केवल मुख्य और साक्षात्कार (interview) परीक्षा के टोटल मार्क्स पर निर्भर करता है। साक्षात्कार के कुल मार्क्स 275 हैं, जबकि मुख्य परीक्षा के 1750. लिखित परीक्षा (मुख्य) mains exam में कुल नौ पेपर होंगे. लेकिन उनमें से केवल 7 पेपर के मार्क्स अंतिम मेरिट रैंकिंग के लिए जोड़े जाएगें। बाकी दो सिर्फ क्वालीफाइंग पेपर होंगे!!
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा कुल 400 अंकों की होती है जिसमें सामान्य अध्ययन पेपर (general knowledge paper) प्रथम और सामान्य अध्ययन पेपर द्वीतीय के दो अनिवार्य पेपर होते हैं. यह परीक्षा वस्तुनिष्ठ प्रकार की होगी। ध्यान रखें, प्रीलिम्स (prelims) केवल एक छंटनी परीक्षा है, इसके अंक पूरी परीक्षा के ओवर आल अंकों में नहीं जोड़े जाते है ! राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय वर्तमान घटनाएं (Current events of national and international importance) • भारत और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन का इतिहास (History of India and Indian National Movement) • भारतीय और वैश्विक भूगोल – भारत और दुनिया का प्राकृतिक, सामाजिक, आर्थिक भूगोल (Indian and World Geography – Physical, Social, Economic Geography of India and the World) • भारतीय राजनीति और शासन – संविधान, राजनीतिक प्रणाली, पंचायती राज, सार्वजनिक नीति, अधिकारों के मुद्दे आदि (Indian Polity and Governance – Constitution, Political System, Panchayati Raj, Public Policy, Rights Issues, etc.) • आर्थिक और सामाजिक विकास, सतत टिकने वाला विकास (Sustainable Development), गरीबी, समावेशन ( Inclusion), जनसांख्यिकी (Demographics) , सामाजिक क्षेत्र की पहलें (Social Sector initiatives) आदि • पर्यावरण पारिस्थितिकी (Environmental Ecology), जैव विविधता (Bio-diversity) और जलवायु परिवर्तन (Climate Change) पर सामान्य/ज्वलंत मुद्दे • सामान्य विज्ञान (General Science) प्रीलिम्स पेपर 2 का पाठ्यक्रम – (200 अंक) अवधि: दो घंटे (यह एक क्वालीफाइंग पेपर होगा जिसमें 33% अंक की जरूरत है) • बोधगम्यता (Comprehension) • पारस्परिक कौशल—संचार कौशल (Interpersonal skills including communication skills) सहित • तार्किक क्षमता और विश्लेषणात्मक क्षमता (Logical reasoning and analytical ability) • निर्णय लेने और समस्या को विश्लेषण की क्षमता (Logical reasoning and analytical ability) • सामान्य मानसिक योग्यता (General mental ability) • बेसिक संख्यात्मक योग्यता, संख्याएँ और उनमें आपसी-संबंध (numbers and their relations, orders of magnitude, आदि) (दसवीं कक्षा के स्तर का), डेटा इंटरप्रिटेशन Data interpretation (चार्ट, ग्राफ, टेबल, डेटा पर्याप्तता (data sufficiency) आदि – दसवीं कक्षा के स्तर का)।
सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा कुल 400 अंकों की होती है जिसमें सामान्य अध्ययन पेपर (general knowledge paper) प्रथम और सामान्य अध्ययन पेपर द्वीतीय के दो अनिवार्य पेपर होते हैं. यह परीक्षा वस्तुनिष्ठ प्रकार की होगी। ध्यान रखें, प्रीलिम्स (prelims) केवल एक छंटनी परीक्षा है, इसके अंक पूरी परीक्षा के ओवर आल अंकों में नहीं जोड़े जाते है ! राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय वर्तमान घटनाएं (Current events of national and international importance) • भारत और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन का इतिहास (History of India and Indian National Movement) • भारतीय और वैश्विक भूगोल – भारत और दुनिया का प्राकृतिक, सामाजिक, आर्थिक भूगोल (Indian and World Geography – Physical, Social, Economic Geography of India and the World) • भारतीय राजनीति और शासन – संविधान, राजनीतिक प्रणाली, पंचायती राज, सार्वजनिक नीति, अधिकारों के मुद्दे आदि (Indian Polity and Governance – Constitution, Political System, Panchayati Raj, Public Policy, Rights Issues, etc.) • आर्थिक और सामाजिक विकास, सतत टिकने वाला विकास (Sustainable Development), गरीबी, समावेशन ( Inclusion), जनसांख्यिकी (Demographics) , सामाजिक क्षेत्र की पहलें (Social Sector initiatives) आदि • पर्यावरण पारिस्थितिकी (Environmental Ecology), जैव विविधता (Bio-diversity) और जलवायु परिवर्तन (Climate Change) पर सामान्य/ज्वलंत मुद्दे • सामान्य विज्ञान (General Science) प्रीलिम्स पेपर 2 का पाठ्यक्रम – (200 अंक) अवधि: दो घंटे (यह एक क्वालीफाइंग पेपर होगा जिसमें 33% अंक की जरूरत है) • बोधगम्यता (Comprehension) • पारस्परिक कौशल—संचार कौशल (Interpersonal skills including communication skills) सहित • तार्किक क्षमता और विश्लेषणात्मक क्षमता (Logical reasoning and analytical ability) • निर्णय लेने और समस्या को विश्लेषण की क्षमता (Logical reasoning and analytical ability) • सामान्य मानसिक योग्यता (General mental ability) • बेसिक संख्यात्मक योग्यता, संख्याएँ और उनमें आपसी-संबंध (numbers and their relations, orders of magnitude, आदि) (दसवीं कक्षा के स्तर का), डेटा इंटरप्रिटेशन Data interpretation (चार्ट, ग्राफ, टेबल, डेटा पर्याप्तता (data sufficiency) आदि – दसवीं कक्षा के स्तर का)।
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Upsc Karne Full Syllabus Bataye ?, Tell Upsc's Full Sledabus?