वर्त्तमान समय बॉलीवुड मूवीज कि अहमियत क्या है हम इसे कैसे स्वीकार करें ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तुम्हें जो भी कुछ सिखा रहा है यकीन मानो सिनेमा दिखा रहा है क्या देना किस सिनेमा तो समाज का दर्पण है तो सिनेमा वही दिखा रहा है जो समाज के पहले से मौजूद है गलत बात समाज में बहुत कुछ मौजूद है सिनेमा सब कुछ नहीं दिखाता सिनेमा भले ही वह सब चीजें ही दिखाता हो जो समाज में मौजूद है पर सिनेमा उनमें से कुछ चीजें चुन-चुन कर दिखाता है जो तुम्हें उत्तेजित करती है समाज में तो संत भी है मुझे बताना संतों पर कितनी पिक्चरें बनती है तो लोग कहते हैं ना क्या दिखा रहा जो समाज में है समाज में क्या कबीर और रैदास नहीं है तुम्हारी पिक्चरों में कबीर और रैदास का जिक्र भी कितनी बार आता है तुम्हें बर्बाद कर रहे हैं में अगर एक चीज का सबसे बड़ा योगदान रहा है तो वह फिल्में फ़िल्में और टीवी यह बात है घर के बड़े बूढ़े की तरह नहीं कह रहा जाता है टीवी की आवाज से यह बात मैं बहुत ध्यान और विचार की बात कह रहा हूं धमकी चेतना हमारी चेतना है ही नहीं हमारी चेतना फिल्मी है तुम सब ने बहुत कुछ सीख रखा है और बहुत मारना है और तुम्हारी उस अवधारणाएं टीवी और सिनेमा से आ रही है कुछ नहीं मानते हो लेकिन तुमने ग्रुप बहुत बना रखे हैं और तुम्हारे गुरु यही सब है जो फिल्मों के परदे पर नज़र आते हैं जो पर्दे के पीछे पटकथा लेखक निर्माता निर्देशक और यह फिल्मी कलाकार कलाकार भी कम ही है उनमें से अधिकांश कर दो सौदागर अधिकांश यह नहीं है कि उन्हें अभिनय की कला आती है उनमें से अधिकांश का गुण यह है कि उन्होंने अपना जिस्म कामुकता की दृष्टि से उत्तेजक बना रखा है अगर बात सिर्फ अपने कला की होती तो उसमें से बहुत सारे हैं जो कहीं नजर नहीं आते तुम्हें पता भी नहीं है कि जिनको तुम अपने विचार कहते हो वास्तव में फिल्मी विचार हैं अपनी भावनाएं बोलते हो बातों में फिल्मों में नहीं है तुमको पर उन भावनाओं को ले लिए फिरते हो और भावनाओं को पोषण देते हो बाबू पर जीते हो मरते हो यहां तक कि तुम्हारे चेहरे के जो भाव हैं वह भी तुम्हारे नहीं है तुम्हारे देखने का जो तरीका यह जो तेरी तिरछी चितवन है यह भी तुम्हारी नहीं है तुमने फिल्मों से सीखी है कभी-कभी तो तुम्हें देख करके बताया जा सकता है कि यह तुम किस फिल्म के इस दृश्य की नकल कर रहे हो कभी-कभी तो तुम्हारी लिखी बात करूंगा व्हाट्सएप इत्यादि पर और कहूंगा यह 1987 में पिक्चर आई थी उसकी अभिनेत्री ने मध्यांतर के ठीक पहले वहां से आ रहा है हिंदी में लिखकर भेजा मुझे पता भी नहीं है कि वह सिर्फ नकल कर रही हैं की बस्ती में नकल कर रही हैं उन्हें लग रहा है कि यह तो मेरे जज्बात है मेरे व्यक्तिगत जज्बात कुछ व्यक्तिगत नहीं है
Romanized Version
तुम्हें जो भी कुछ सिखा रहा है यकीन मानो सिनेमा दिखा रहा है क्या देना किस सिनेमा तो समाज का दर्पण है तो सिनेमा वही दिखा रहा है जो समाज के पहले से मौजूद है गलत बात समाज में बहुत कुछ मौजूद है सिनेमा सब कुछ नहीं दिखाता सिनेमा भले ही वह सब चीजें ही दिखाता हो जो समाज में मौजूद है पर सिनेमा उनमें से कुछ चीजें चुन-चुन कर दिखाता है जो तुम्हें उत्तेजित करती है समाज में तो संत भी है मुझे बताना संतों पर कितनी पिक्चरें बनती है तो लोग कहते हैं ना क्या दिखा रहा जो समाज में है समाज में क्या कबीर और रैदास नहीं है तुम्हारी पिक्चरों में कबीर और रैदास का जिक्र भी कितनी बार आता है तुम्हें बर्बाद कर रहे हैं में अगर एक चीज का सबसे बड़ा योगदान रहा है तो वह फिल्में फ़िल्में और टीवी यह बात है घर के बड़े बूढ़े की तरह नहीं कह रहा जाता है टीवी की आवाज से यह बात मैं बहुत ध्यान और विचार की बात कह रहा हूं धमकी चेतना हमारी चेतना है ही नहीं हमारी चेतना फिल्मी है तुम सब ने बहुत कुछ सीख रखा है और बहुत मारना है और तुम्हारी उस अवधारणाएं टीवी और सिनेमा से आ रही है कुछ नहीं मानते हो लेकिन तुमने ग्रुप बहुत बना रखे हैं और तुम्हारे गुरु यही सब है जो फिल्मों के परदे पर नज़र आते हैं जो पर्दे के पीछे पटकथा लेखक निर्माता निर्देशक और यह फिल्मी कलाकार कलाकार भी कम ही है उनमें से अधिकांश कर दो सौदागर अधिकांश यह नहीं है कि उन्हें अभिनय की कला आती है उनमें से अधिकांश का गुण यह है कि उन्होंने अपना जिस्म कामुकता की दृष्टि से उत्तेजक बना रखा है अगर बात सिर्फ अपने कला की होती तो उसमें से बहुत सारे हैं जो कहीं नजर नहीं आते तुम्हें पता भी नहीं है कि जिनको तुम अपने विचार कहते हो वास्तव में फिल्मी विचार हैं अपनी भावनाएं बोलते हो बातों में फिल्मों में नहीं है तुमको पर उन भावनाओं को ले लिए फिरते हो और भावनाओं को पोषण देते हो बाबू पर जीते हो मरते हो यहां तक कि तुम्हारे चेहरे के जो भाव हैं वह भी तुम्हारे नहीं है तुम्हारे देखने का जो तरीका यह जो तेरी तिरछी चितवन है यह भी तुम्हारी नहीं है तुमने फिल्मों से सीखी है कभी-कभी तो तुम्हें देख करके बताया जा सकता है कि यह तुम किस फिल्म के इस दृश्य की नकल कर रहे हो कभी-कभी तो तुम्हारी लिखी बात करूंगा व्हाट्सएप इत्यादि पर और कहूंगा यह 1987 में पिक्चर आई थी उसकी अभिनेत्री ने मध्यांतर के ठीक पहले वहां से आ रहा है हिंदी में लिखकर भेजा मुझे पता भी नहीं है कि वह सिर्फ नकल कर रही हैं की बस्ती में नकल कर रही हैं उन्हें लग रहा है कि यह तो मेरे जज्बात है मेरे व्यक्तिगत जज्बात कुछ व्यक्तिगत नहीं हैTumhe Jo Bhi Kuch Sikha Raha Hai Yakin Maano Cinema Dikha Raha Hai Kya Dena Kis Cinema Toh Samaaj Ka Darpan Hai Toh Cinema Wahi Dikha Raha Hai Jo Samaaj Ke Pehle Se Maujud Hai Galat Baat Samaaj Mein Bahut Kuch Maujud Hai Cinema Sab Kuch Nahi Dikhaata Cinema Bhale Hi Wah Sab Cheezen Hi Dikhaata Ho Jo Samaaj Mein Maujud Hai Par Cinema Unmen Se Kuch Cheezen Chun Chun Kar Dikhaata Hai Jo Tumhe Uttejit Karti Hai Samaaj Mein Toh Sant Bhi Hai Mujhe Batana Santo Par Kitni Pikcharen Banti Hai Toh Log Kehte Hain Na Kya Dikha Raha Jo Samaaj Mein Hai Samaaj Mein Kya Kabir Aur Raidas Nahi Hai Tumhari Picturo Mein Kabir Aur Raidas Ka Jikarr Bhi Kitni Baar Aata Hai Tumhe Barbad Kar Rahe Hain Mein Agar Ek Cheez Ka Sabse Bada Yogdan Raha Hai Toh Wah Filme Filme Aur TV Yeh Baat Hai Ghar Ke Bade Budhe Ki Tarah Nahi Keh Raha Jata Hai TV Ki Awaaz Se Yeh Baat Main Bahut Dhyan Aur Vichar Ki Baat Keh Raha Hoon Dhamki Chetna Hamari Chetna Hai Hi Nahi Hamari Chetna Filmy Hai Tum Sab Ne Bahut Kuch Seekh Rakha Hai Aur Bahut Maarna Hai Aur Tumhari Us Avdharnaen TV Aur Cinema Se Aa Rahi Hai Kuch Nahi Maante Ho Lekin Tumne Group Bahut Bana Rakhe Hain Aur Tumhare Guru Yahi Sab Hai Jo Filmo Ke Parde Par Nazar Aate Hain Jo Parde Ke Peeche Patakatha Lekhak Nirmaata Nirdeshak Aur Yeh Filmy Kalakar Kalakar Bhi Kam Hi Hai Unmen Se Adhikaansh Kar Do Saudagar Adhikaansh Yeh Nahi Hai Ki Unhein Abhinay Ki Kala Aati Hai Unmen Se Adhikaansh Ka Gun Yeh Hai Ki Unhone Apna Jism Kaamukata Ki Drishti Se Uttejak Bana Rakha Hai Agar Baat Sirf Apne Kala Ki Hoti Toh Usmein Se Bahut Saare Hain Jo Kahin Nazar Nahi Aate Tumhe Pata Bhi Nahi Hai Ki Jinako Tum Apne Vichar Kehte Ho Vaastav Mein Filmy Vichar Hain Apni Bhavanae Bolte Ho Baaton Mein Filmo Mein Nahi Hai Tumko Par Un Bhavnao Ko Le Liye Phirte Ho Aur Bhavnao Ko Poshan Dete Ho Babu Par Jeete Ho Marte Ho Yahan Tak Ki Tumhare Chehre Ke Jo Bhav Hain Wah Bhi Tumhare Nahi Hai Tumhare Dekhne Ka Jo Tarika Yeh Jo Teri Tirchi Chitwan Hai Yeh Bhi Tumhari Nahi Hai Tumne Filmo Se Sikhi Hai Kabhi Kabhi Toh Tumhe Dekh Karke Bataya Ja Sakta Hai Ki Yeh Tum Kis Film Ke Is Drishya Ki Nakal Kar Rahe Ho Kabhi Kabhi Toh Tumhari Likhi Baat Karunga Whatsapp Ityadi Par Aur Kahunga Yeh 1987 Mein Picture I Thi Uski Abhinetri Ne Madhyantar Ke Theek Pehle Wahan Se Aa Raha Hai Hindi Mein Likhkar Bheja Mujhe Pata Bhi Nahi Hai Ki Wah Sirf Nakal Kar Rahi Hain Ki Basti Mein Nakal Kar Rahi Hain Unhein Lag Raha Hai Ki Yeh Toh Mere Jazbaat Hai Mere Vyaktigat Jazbaat Kuch Vyaktigat Nahi Hai
Likes  122  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

क्या बॉलीवुड मूवी में किसिंग सिन में सच में करते है या सिर्फ दिखया जाता हैं ? ...

कुछ सीन ऐसे होते हैं बॉलीवुड मूवीस में जिसमें एक्टर्स को जो कि सिंगल एक्ट्रेस है यानी कि जिनकी शादी वादी नहीं हुई है वह लोग असली में किस करते हैं क्योंकि उन लोगों को मूवी के अंदर में सादर जाना पड़ता हजवाब पढ़िये
ques_icon

क्या आपको लगता है की बॉलीवुड पर अंडरवर्ल्ड का प्रभाव है? क्या उसका पैसा बॉलीवुड फिल्मों में लगता है? ...

इलेक्शन कर्नाटक टू लगता है क्योंकि इतने सारे पैसे मतलब इतने सारे पैसे 11 मूवी पर लग रहा है और यह ट्रैक्टर या फिर कोई माफिया तेरे बगैर यह मुमकिन नहीं है क्योंकि मैं इतने सारे पैसे कोई भी लगाता है तो समजवाब पढ़िये
ques_icon

एक्टिंग सीखना या बॉलीवुड में जाने के लिए बहुत पैसा इन्वेस्ट करना पड़ता है क्या? ...

अगर आप एक्टिंग सीखना चाह रहा है तो इसके लिए क्लासेस होते हैं और बहुत सारे जगह में कैसे सोते हैं या फिर ऑनलाइन से आप पूछ ले सकते हैं कहां-कहां पर क्लासेस होते हैं उसी हिसाब से आपका एरिया में अगर कोई चाजवाब पढ़िये
ques_icon

मैं कभी मूवी नही देखता हूँ क्या मुझे देखना चाहिए तो किस प्रकार की मूवी छात्र के लिए है उसका नाम बताइये ? ...

मूवी नहीं देखते हैं तो कोई बुराई नहीं है मूवी देखने की याद में आपका अलग प्रश्न जो माइंड सेट होता है माइंड सोचने की जो क्वालिटी होती है वह अलग तरीके से आप सोचते हैं मूवी देखने वाली मूवी देखनी है मतलब नजवाब पढ़िये
ques_icon

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वर्तमान समय में ही नहीं पहले के समय में भी बहुत ज्यादा जो है बॉलीवुड मूवीस की अहमियत है अभी भी है और पहले की मूवीस की भी थी हमारे बॉलीवुड में बहुत बड़ी-बड़ी मूवीस जो है भारत को दी है और बहुत ज्यादा फेमस भी हुआ मेरे बॉलीवुड एक्टर्स तो बहुत ज्यादा तरक्की है बॉलीवुड के अंदर यानी कि पैसा बहुत ज्यादा है और तरक्की भी बहुत ज्यादा है तो बॉलीवुड से कंपैरिजन भारत का नहीं किया जा सकता क्योंकि बॉलीवुड्स एक तरह से भारत का ही है लेकिन बहुत अलग है इतना ज्यादा टैलेंट है भारतीयों के अंदर जो बॉलीवुड के अंदर है तो इसलिए मां की कहानी बहुत ज्यादा है वैसे भी उनके पास बहुत ज्यादा है
Romanized Version
वर्तमान समय में ही नहीं पहले के समय में भी बहुत ज्यादा जो है बॉलीवुड मूवीस की अहमियत है अभी भी है और पहले की मूवीस की भी थी हमारे बॉलीवुड में बहुत बड़ी-बड़ी मूवीस जो है भारत को दी है और बहुत ज्यादा फेमस भी हुआ मेरे बॉलीवुड एक्टर्स तो बहुत ज्यादा तरक्की है बॉलीवुड के अंदर यानी कि पैसा बहुत ज्यादा है और तरक्की भी बहुत ज्यादा है तो बॉलीवुड से कंपैरिजन भारत का नहीं किया जा सकता क्योंकि बॉलीवुड्स एक तरह से भारत का ही है लेकिन बहुत अलग है इतना ज्यादा टैलेंट है भारतीयों के अंदर जो बॉलीवुड के अंदर है तो इसलिए मां की कहानी बहुत ज्यादा है वैसे भी उनके पास बहुत ज्यादा हैVartaman Samay Mein Hi Nahi Pehle Ke Samay Mein Bhi Bahut Zyada Jo Hai Bollywood Movies Ki Ahamiyat Hai Abhi Bhi Hai Aur Pehle Ki Movies Ki Bhi Thi Hamare Bollywood Mein Bahut Badi Badi Movies Jo Hai Bharat Ko Di Hai Aur Bahut Zyada Famous Bhi Hua Mere Bollywood Actors To Bahut Zyada Tarakki Hai Bollywood Ke Andar Yani Ki Paisa Bahut Zyada Hai Aur Tarakki Bhi Bahut Zyada Hai To Bollywood Se Comparison Bharat Ka Nahi Kiya Ja Sakta Kyonki Balivuds Ek Tarah Se Bharat Ka Hi Hai Lekin Bahut Alag Hai Itna Zyada Talent Hai Bharatiyon Ke Andar Jo Bollywood Ke Andar Hai To Isliye Maa Ki Kahani Bahut Zyada Hai Waise Bhi Unke Paas Bahut Zyada Hai
Likes  8  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Vartaman Samay Bollywood Movies Ki Ahamiyat Kya Hai Hum Ise Kaise Sweekar Karein ?,बॉलीवुड मूवीज,


vokalandroid