क़िस्मत का मेरे जीवन में कितना योगदान है? क्या क़िस्मत से ही सब कुछ होता है या परिश्रम की भी ज़रूरत होती है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे ख्याल से किस्मत का जीवन में कोई योगदान नहीं होता इंसान के कर्म जो रिजल्ट देते हैं उसे लोग किस्मत का नाम दे देते हैं तो आप इन बातों पर ध्यान ना देकर परिश्रम करें और परिश्रम के साथ बुद्धि का मेल क...
जवाब पढ़िये
मेरे ख्याल से किस्मत का जीवन में कोई योगदान नहीं होता इंसान के कर्म जो रिजल्ट देते हैं उसे लोग किस्मत का नाम दे देते हैं तो आप इन बातों पर ध्यान ना देकर परिश्रम करें और परिश्रम के साथ बुद्धि का मेल करें कि बुद्धि लगाकर परिश्रम करें कि आपको कहां हो तो क्या करना चाहिए और इन किस्मत किस्मत की बातों को आप अलग ही छोड़ देंMere Khayal Se Kismat Ka Jeevan Mein Koi Yogdan Nahi Hota Insaan Ke Karm Jo Result Dete Hain Use Log Kismat Ka Naam De Dete Hain To Aap In Baaton Par Dhyan Na Dekar Parishram Karen Aur Parishram Ke Saath Buddhi Ka Mail Karen Ki Buddhi Lagakar Parishram Karen Ki Aapko Kahaan Ho To Kya Karna Chahiye Aur In Kismat Kismat Ki Baaton Ko Aap Alag Hi Chod Dein
Likes  11  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kismat Ka Mere Jeevan Mein Kitna Yogdan Hai Kya Kismat Se Hi Sab Kuch Hota Hai Ya Parishram Ki Bhi Zaroorat Hoti Hai

vokalandroid