मैं हर दिन किसी ना किसी को लड़ते-झगड़ते देखता हूँ।अगर लोग एक दूसरे से इतनी नफ़रत करते है तो लोगों का दुनिया में होने का क्या मतलब है? ...

Romanized Version
Likes  85  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुदरत में सब कुछ बैलेंस है रात के बाद दिन आता है सूरज के बाद चंद्रमा होता है धूप के बाद शाम होती है समंदर में भर्ती के बाद वोट होती है बसंत के बाद पतझड़ होता है वैसे ही इस दुनिया में दो प्रकार के लोग ...जवाब पढ़िये
कुदरत में सब कुछ बैलेंस है रात के बाद दिन आता है सूरज के बाद चंद्रमा होता है धूप के बाद शाम होती है समंदर में भर्ती के बाद वोट होती है बसंत के बाद पतझड़ होता है वैसे ही इस दुनिया में दो प्रकार के लोग हैं कुछ लोग बुरी में बुरी चीज में भी अच्छा ही ढूंढते हैं और कुछ लोग अच्छी चीजों में भी बुराई ढूंढते हैं जो लोग नफरत करते हैं वह ऐसी दुनिया में जी रहे हैं जहां उनको हर जगह पर ऐसा ही लगता है कि सब कुछ गलत हो रहा है उनके साथ भी गलत हो रहा है और दुनिया में डिस्ट्रस्टेड इस ट्रस्ट है कुदरत का कानून देखें तो सब कुछ बैलेंस तो होना जरूरी है तो नफरत वाले लोग इस दुनिया में रहने वाले हम हम हम अपना फोकस उनकी जरूरत है कि नहीं उनकी जगह से हटाकर हमें कैसे जीवन जीना है यह में कितने लोगों के बीच रहना है वह पसंद करना है हम अपना फोकस अपनी संगत और अपना समय ऐसे लोगों के बीच पीता है जो लोग सही में नफरत से विपरीत यानी कि खुशहाल माहौल में जीते हैं और हर परिस्थिति में अच्छा ही देखते हैं तो हमारा जीवन अद्भुत बन जाएगा थैंक यू
Likes  96  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दुनिया तो हमेशा ऐसी ही रही है हजारों साल से लोकगीत दुख में साथ लड़ते हैं झगड़ते हैं लेकिन यह दुनिया में बहुत अच्छे लोग भी हैं दुनिया में अच्छे लोग भी हैं बुरे लोग भी है अच्छी बात नहीं करती है बुरी गत ...जवाब पढ़िये
दुनिया तो हमेशा ऐसी ही रही है हजारों साल से लोकगीत दुख में साथ लड़ते हैं झगड़ते हैं लेकिन यह दुनिया में बहुत अच्छे लोग भी हैं दुनिया में अच्छे लोग भी हैं बुरे लोग भी है अच्छी बात नहीं करती है बुरी गत नहीं भी करती है परसेंटेज कम ज्यादा हो सकता है लेकिन हमें हमारा फोकस अच्छी बातों पर ही रखना है जिस बात पर हो फोकस करेंगे वह बड़े गणेश जी को वेरी-वेरी देखो कर दो हमें अच्छी बातों के बारे में सोचना है अच्छी बातें बोली नहीं है अच्छी बातें करनी है और जो लोग लड़ते झगड़ते हैं उनके लिए भी हमारे मरने में को देश की भलाई के लिए सूचना है कि वह सब कभी मंगल हो वह शांत हो वह जीवन में अच्छी तरह से खुश रहे एक दूसरे को समझे इस तरह से मंगल भाव हमारे मन में रखना
Likes  24  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते दोस्तों मेरी रानी डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सब को दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं देखिए दुनिया में बहुत टाइप के लोग होते हैं बेसिकली अगर आप यहां पर एक खराब दिख रहे हो कि लोग झगड़ रहे हैं तो आपक...जवाब पढ़िये
नमस्ते दोस्तों मेरी रानी डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सब को दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं देखिए दुनिया में बहुत टाइप के लोग होते हैं बेसिकली अगर आप यहां पर एक खराब दिख रहे हो कि लोग झगड़ रहे हैं तो आपको वह पहलू भी देखना चाहिए जहां पर लोग प्यार मोहब्बत से रह रहे हैं और मेरे हिसाब से हमारी जिंदगी में बाकी लोग और बाकियों के जिंदगी में हम हम सब एक दूसरे को एक पहलू और बहुत सारी पहलू है दिखाने के लिए आते हैं तो हम सब एक दूसरे को एक्सपीरियंस दे रहे हैं और सीख रहे हैं सिखा रहे हैं जिंदगी में आके जिंदगी में जो लोग भी हैं और आएंगे वह आपको कुछ ना कुछ सीख लेकर जाएंगे और मतलब आपको विजिबल देंगे जिससे आप जिंदगी को और बेहतर नजर से देख पाओगे तो मैं यह कहना चाहूंगी कि जिंदगी को ब्रॉडर पर्सपेक्टिव से देखना चाहिए ऐसा है कि अगर आप के आजू-बाजू लोग रहे हैं तो बहुत सारे लोग हैं जो प्यार मोहब्बत से भी रह रहे हैं हंसी-मजाक से भी रह रहे हैं सुकून में रह रहे हैं अपने में खुश हैं तो इन लोगों को भी ढूंढिए और उनको भी देखिए और जिंदगी जैसी है उसको आप अप्रिशिएट कीजिए और खुशी मनाइए दूसरों को खुशी बाटने के उतार-चढ़ाव जिंदगी का पार्ट एंड पार्सल है वह आता ही रहेगा अगर आज अच्छा टाइम है तो कल बुरा टाइम आएगा और फिर बाद में अच्छा टाइम आ जाएगा कोई भी चीज कांस्टेंट नहीं रहता है लेकिन इस चीज से निराश होना अच्छी बात नहीं है अगर आप जिंदगी में जो खराब या है जो लोगों में कुछ खराब रेट देखते हो उस चीज को देखकर अगर आप निराश हो गए और यह सोचने लगे कि हम जिंदगी में क्यों आए हैं तो यह एक नेगेटिव पर्सपेक्टिव है इससे मत देख हॉस्पिटल से दुनिया को देखिए और ज्यादातर के अच्छी चीजें देखी किसी अच्छी चीज को देखकर लोगों में अच्छी चीजें देखी खुशियां मिलती है शुक्रिया
Likes  117  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे यहां पर बात नफरत की नहीं है यहां पर बात एक दूसरे को नापसंद करने की भी नहीं है यहां बस अपनी बात को रखने का है यानी कि मन कांड फुल लीडरशिप कि मैं लीडर हूं और तुम फॉलो वर हो मेरी बात सच्ची है मैं सच...जवाब पढ़िये
देखे यहां पर बात नफरत की नहीं है यहां पर बात एक दूसरे को नापसंद करने की भी नहीं है यहां बस अपनी बात को रखने का है यानी कि मन कांड फुल लीडरशिप कि मैं लीडर हूं और तुम फॉलो वर हो मेरी बात सच्ची है मैं सच कह रहा हूं आई नो मोर देन यू मैं तुमसे ज्यादा एक्सपीरियंस टू और आई नो मोर दें यहां पर सेल्समैनशिप यानी कि मैं सब कुछ जानता हूं प्लीज फॉलो मी वह वाली बात हो रही है तो यहां पर आपको लोग को देखते हैं किधर फाइटिंग एंड की लड़ाई लड़ते हैं तो इसका मतलब यह है कि वह एक दूसरे से अपनी बात को मनवाना चाहते हैं और जहां पर उनको जी हुजूरी नहीं मिल रही है हां में हां नहीं मिल रही है वहां पर मामला बिगड़ जाता है और डिस्कशन से बहुत झगड़े में बदल जाता है कि लोगों को चाहिए कि वह यह बात समझे कि कोर्ट दो इंसान जो होते हैं वह कभी एक नजर क्यों अपनाते नहीं सबका थॉट होता है सबकी थिंकिंग सबका पर्सनालिटी नजर से अलग होता है आपकी सोच अलग है मेरी सोच अलग है अगर हम चाहते हैं कि एक दुनिया में पीसफुली रहे तो हमें जो है सबकी सोच को लेकर चल रहा होगा जरूरी नहीं कि आप दूसरों की सोच को अपनाएं लेकिन उसको उसका विरोध करके आपको दुश्मन बनाने की जरूरत नहीं है अगर आपको इंसान पसंद है आपकी सोच मिलती है तो आप दोस्ती कीजिए अगर सोच नहीं मिलती है उनके विचारों का दिनचर्या उनके संस्कार अब से अलग है तो किसी ने भी आपको फोर्स नहीं किया है कि आप उठ जाती है दोस्ती की दोस्ती करें उनके साथ तो हमेशा आपकी होती है कि आपको क्या करना चाहिए अगर आप अच्छे हैं अच्छे हैं और काबिल है और कामयाब है तो लोग ऑटोमेटिक लिए आपके पास आएंगे और आपकी बात को सुनेंगे और शायद मानेंगे भी और उसके लिए आपको झगड़ा करने की जरूरत नहीं हो गया टेंशन के लिए उसके लिए आपको सिर्फ अपने आप पर भरोसा करने की जरूरत होगी
Likes  110  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत ही अच्छा सवाल है आपका कि अगर दुनिया में इतनी ज्यादा आप लड़ाई देख रहे हैं तो इतनी नफरत है तो इस दुनिया में होने का क्या मतलब है हमेशा याद रखे की जगह दुनिया में लड़ाई देखते हैं तो आप सिर्फ एक एस्पे...जवाब पढ़िये
बहुत ही अच्छा सवाल है आपका कि अगर दुनिया में इतनी ज्यादा आप लड़ाई देख रहे हैं तो इतनी नफरत है तो इस दुनिया में होने का क्या मतलब है हमेशा याद रखे की जगह दुनिया में लड़ाई देखते हैं तो आप सिर्फ एक एस्पेक्ट देख रहे हैं पहलू देख रहे हैं जिंदगी का बहुत सारे लोग जो है वह एक दूसरे की मदद भी करते हैं संसार में आप अगर आपके पास समय है तो अपने भी देख सकते हैं या फिर अपने दैनिक जीवन में भी देख सकते हैं लोग मंदिरों में दान करते हैं अनाथालय में दान करते हैं तो वह एक पॉजिटिव साइट है दुनिया की की लोग जो है वह दूसरे के लिए बिना कुछ एक फैक्टरी के बिना कुछ मुझे मिले उसके लिए भी लोगों के लिए कुछ ना कुछ बहुत कुछ कर रहे हैं और दूसरी बात हमेशा याद रखिए कि दुख देखने से कुछ नहीं होगा दूसरों की मदद करें उसे भी आपको बहुत खुशी मिलेगी इसके अलावा आप यह भी कह सकते हैं कि आप अपने अपने सब टीवी देख रहे हैं तो ऐसे न्यूज़ चैनल कीमत देखिए जहां ज्यादा लड़ाई है हंसी मजाक वाले देखे या पॉजिटिव जो आप रिसीव करेंगे वही आपकी लाइफ में घटेगा तो बहुत जरूरत है क्या पॉजिटिव थिंकिंग की पड़ी है ना कि जो है नॉर्मल नॉर्मल आप मडर्स वगैरह दिखाई जाते हैं जो कि स्पीकिंग कि मैं अगर आप पढ़ कर देखेंगे तो या तो आप पाएंगे कि वहां पर एक इंसान ने दूसरे इंसान की कैसे मदद करें वह उसमें लिखा होता है
Likes  94  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वह इसलिए क्योंकि इंसान भी असल में एक जानवर की प्रजाति है और एनिमल इंस्टिंक्ट्स जो है वह शिव मन में भी थोड़ा बहुत अभी तक बसा हुआ है उसमें एक दूसरे से लड़ना ही जीवन था एक दूसरे से लड़के ही हम लोग आज तक ...जवाब पढ़िये
वह इसलिए क्योंकि इंसान भी असल में एक जानवर की प्रजाति है और एनिमल इंस्टिंक्ट्स जो है वह शिव मन में भी थोड़ा बहुत अभी तक बसा हुआ है उसमें एक दूसरे से लड़ना ही जीवन था एक दूसरे से लड़के ही हम लोग आज तक यहां तक पहुंचे हैं अपनी जाति से दूसरी जातियों के जानवर से लड़ाई इंसानी अंदरूनी क्षेत्र है लेकिन जो संस्कृति है वह हमें सिखाती है कि एक दूसरे से लड़ना नहीं चाहिए और संस्कृति के तहत उस वह अगर कोई इंसान सुसंस्कृत है तो वह लड़ाई कम करता है या नहीं करता है वरना लड़ाई कोई अजीब बात नहीं आप ने सरवा ईमेल ऑफ द फिटेस्ट तो सुना होगा लड़ाई उसी के तहत चलती रहती है और यह चलती रहेगी और संस्कृति जो है वह हमें सिखाती आई है कि लर्न नहीं चाहिए एक दूसरे से बातचीत करके जो भी मसला हो उसे सुलझाना चाहिए उसकी कोशिश तो हम करते हैं लेकिन हमेशा हमेशा सक्सेसफुल नहीं हो पाते धन्यवाद
Likes  70  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स मैं हर दिन किसी ना किसी को लड़ते झगड़ते देखता हूं अगर लोग एक दूसरे से इतनी ही नफरत करते हैं तो लोग को दुनिया में होने से क्या अर्थ है इसका मतलब यह है मेरा इस टॉपिक पर कहने का एक ही मां ब...जवाब पढ़िये
हेलो फ्रेंड्स मैं हर दिन किसी ना किसी को लड़ते झगड़ते देखता हूं अगर लोग एक दूसरे से इतनी ही नफरत करते हैं तो लोग को दुनिया में होने से क्या अर्थ है इसका मतलब यह है मेरा इस टॉपिक पर कहने का एक ही मां बाप द्वारा याद उसके चार बच्चे पैदा होते हैं तो चारों के दिन तो एक होती है लेकिन उनके जी ने टिक्के कोर्स होते हैं अलग-अलग होते हैं और जब बेटा जी नेट कोड अलग होंगे जी ने एक होंगे तो रूप रंग से हो सकते थोड़ा सा एक जैसे दिखे लेकिन उनकी सोच विचार अलग कंपनी है वोडाफोन कंपनी दूसरे नंबर है क्या एक नंबर दूसरे नंबर हो सकता है नहीं क्या वोडाफोन में एक नंबर दूसरे नंबर का हो सकता है नहीं एयरटेल में हो सकता है नहीं तो बेटा होता क्या है कि एक ही मां बाप द्वारा उत्पन्न बच्चे में जीने को तेल रेट अलग होते हैं अलग से मिलता है तो उसके हाव-भाव विचार अपने विचारों से अपने अपने विचार से अपने थाट से लोग एक दूसरे को प्रभावित करते हैं और जब एक दूसरे एक दूसरे से प्रभावित नहीं होते हैं या उनको विचारों को नहीं मानते तो आपस में विवाद होता है ऐसा नहीं है कि जब मैं यहां पर विभिन्न संप्रदाय विभिन्न क्षेत्र के लोग हैं उनकी सोच होती कुछ मेरे लिए अच्छी हो सकती है पिछले मेरे लिए मेरे लिए खराब है मैदान की टेंपरेचर
Likes  50  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप जरा अपने सवाल पर कॉल करें आप ने कहा है कि आप किसी ना किसी को लड़ते झगड़ते हुए देखते हो आप ने यह नहीं कहा है कि आप हर किसी को हर किसी से लड़ते हो जो करते हुए देखते हो आजा जहां से वाले नफरत का तो यह...जवाब पढ़िये
आप जरा अपने सवाल पर कॉल करें आप ने कहा है कि आप किसी ना किसी को लड़ते झगड़ते हुए देखते हो आप ने यह नहीं कहा है कि आप हर किसी को हर किसी से लड़ते हो जो करते हुए देखते हो आजा जहां से वाले नफरत का तो यहां हर तरह के इंसान इस धरती पर आपके जैसे अच्छे लोग भी हैं जो दूसरों से लड़ते झगड़ते नहीं है और लड़ने वाले लोग भी हैं जैसे एक दिन कंपलीट होने के लिए रात और दिन दोनों का होना जरूरी है और वैसे ही इस दुनिया में हर चीज प्लस और माइनस में है तो अच्छे लोग भी हैं और बुरे लोग भी हैं तो मेरे ख्याल से आपको अपना नजरिया बदलना चाहिए आप अच्छे को देखना चाहते हो तो अच्छे को देखो अच्छे बनो लेकिन बुराई तो यहां रहेगी हम यह नहीं कह सकते कि पूरी दुनिया बुरे लोगों से बिल्कुल साफ हो जाएगी और सिर्फ अच्छे लोग बचेंगे का मतलब ही नहीं रह जाएगा
Likes  34  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार जैसा कि आपने लिखा है कि मैं हर दिन किसी न किसी को लड़ते झगड़ते देखता हूं अगर लोग एक दूसरे से इतनी नफरत करते हैं तो लोगों का दुनिया में होने का क्या मतलब है देखिए लड़ना झगड़ना नफरत करना प्यार क...जवाब पढ़िये
नमस्कार जैसा कि आपने लिखा है कि मैं हर दिन किसी न किसी को लड़ते झगड़ते देखता हूं अगर लोग एक दूसरे से इतनी नफरत करते हैं तो लोगों का दुनिया में होने का क्या मतलब है देखिए लड़ना झगड़ना नफरत करना प्यार करना यह सभी जिंदगी में हमारे ऐसे कई सारे पहलू हैं जो हमारे सामने आते हैं अब जैसे कि आप देख रहे हैं जिस प्रकार आप लोगों को निरंतर लड़ते झगड़ते देखते हैं उसी प्रकार यहां पर बहुत सारे लोगों के उदाहरण भी हैं जो आपको इस नहीं करते हुए प्यार करते हुए लोगों के लिए काम करते हुए भी दिखाई देंगे तो यह आपके नजरिए पर डिपेंड करता है क्या आप उसको एक पॉजिटिव में देख रहे हैं या कि नेगेटिव में देख रहे हैं जहां नफरत है लड़ाई झगड़ा है वहां प्यार भी है जहां अगर आप एक क्लास को भरा हुआ देखते हैं अगर वह आधा भरा हुआ तो कुछ लोग उसको आधा भरा हुआ कुछ आधा खाली कहीं है तो एक ऑल अप टू यू जैसे आप कह रहे हैं कि दुनिया में लोगों पर हो ना का मतलब क्या है तो देखिए दुनिया में अगर लोग होंगे तभी तो यह विचार सारे होंगे कि वह लड़ाई करे झगड़ा करेगा वह लड़ाई झगड़ा करेंगे तभी वह प्यार करेंगे जिनमें लड़ाई झगड़ा होता है तो मेरे विचार से आपको यह नहीं सोचना चाहिए कि हां नफरत ही नफरत है हर चीज का एक पॉजिटिव पॉजिटिव होता है तो दुनिया में जो पॉजिटिव चीजें हो रही है उनके बारे में भी सोचिए आपके जीवन में तुझे पॉजिटिव हुआ उसके बारे में सोचिए इंसान की होती है क्या अपनी नकारात्मक चीज है जो हमारे जीवन में घटित हुई है उनके बारे में ज्यादा सोचते हैं उनको अपने दिमाग में बैठा कर रखते हैं ना कि जो पॉजिटिव थिंग्स ऑप्शन तो उनको तो अगर आप धीरे-धीरे हो नकारात्मक विचारों को अपने माइंड से निकालेंगे और सकारात्मक विचारों को तभी तो सकारात्मक विचार आपके महीना पाएंगे उनको जगह मिलेगी तभी तो आप ही ने तो सोचिए सकारात्मक सोच को सकारात्मक जो आपके आसपास है उसको दीजिए धन्यवाद
Likes  17  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी किसी भी चीज के 1 पहलू को देखकर इस बात का अनुमान नहीं लगाया जा सकता कि लोगों के होने का क्या मतलब है कि लोगों को होने का मतलब है कि इस के दो पहलू हैं लोग लड़ झगड़ रहे हैं तो साथ के साथ देखा जाए तो...जवाब पढ़िये
देखी किसी भी चीज के 1 पहलू को देखकर इस बात का अनुमान नहीं लगाया जा सकता कि लोगों के होने का क्या मतलब है कि लोगों को होने का मतलब है कि इस के दो पहलू हैं लोग लड़ झगड़ रहे हैं तो साथ के साथ देखा जाए तो बहुत सारी कंट्री हम लोग हेल्प ही कर रहे हैं एक दूसरे लोगों को क्यों जरूरी है इस दुनिया में होने के लिए क्योंकि लोग जो इनकी कोई सहायता नहीं कर सकता यह नहीं हो पाती है उनकी हेल्प करने के लिए लोग जरूरी है क्योंकि लोग प्यार से भी बहुत रह रहे हैं जैसा आप थिंकिंग होती है लोगों की जैसा ही माहौल दिखाई देता है अगर हम पॉजिटिव थिंकिंग की तरफ देखा जाए तो हम पॉजिटिव सोचेंगे तो हमें मैं मानता हूं वह में पॉजिटिव माहौल मिलेगा तो यह केवल एक माहौल का फर्क होता है दूसरा लोगों की थिंकिंग क्या आज की टाइम ऐसी हो गई है कि उसे अलावा उन्हें कुछ नहीं चाहिए तो क्या है खुद की बात है उसे मनमानी के लिए लोग लड़ते झगड़ते रहते हैं और
Likes  14  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस दुनिया में रहने के लिए ही सब बने हैं अच्छे से सब लोग आकर बिना भेदभाव भेदभाव के बिना लड़ाई झगड़ा करेंगे तो बहुत ही अच्छा होता है हर दिन में कोई ना कोई किसी से बर्दाश्त नहीं होती छोटी बात पर गुस्सा आ...जवाब पढ़िये
इस दुनिया में रहने के लिए ही सब बने हैं अच्छे से सब लोग आकर बिना भेदभाव भेदभाव के बिना लड़ाई झगड़ा करेंगे तो बहुत ही अच्छा होता है हर दिन में कोई ना कोई किसी से बर्दाश्त नहीं होती छोटी बात पर गुस्सा आ जाना और आपने देखा वह कोई कुछ लोग गाली गलौच गाली गलौज आया अभी उसने शब्द का प्रयोग करके बातें किया करते हैं किसी को वह बुरी लग जाती है और अधिक किसी का कोई काम रह जाता है किसी किसी का कोई काम ज्यादा कैसा काम पूरा नहीं होता तो किसी का माइंड अपसेट होता है किसी ऐसी बातें और किसी को मजाक पसंद पसंद नहीं होता तो सुबह से रह जाती है तो वह इसी गुस्से को लेकर लड़ाई झगड़ा होता है और किसी का जमीन जमीन विवाद चल रहा है उस पर अपसेट होता है जमीन विवाद को लेकर पड़ोसी ने पड़ोस कूड़ा कचरा कर दिया थोड़े से पानी चला गया उसके पर लड़ाई झगड़ा होना शुरू हो जाती है फिर एक दूसरे से लगते हैं और बस यही बात है सारी दिखे तो हर दिन का है अब तो यह तो यह समझ ले लीजिए आप यह रोज का ही हो चुका है सारा मैटर अगर लोग सब कुछ सब नबियों का चीज सबके अंदर आ जाए तो बहुत ही कुछ बदलाव आ सकता है समाज में और मेरे सबसे तो सबको दो बातें बर्दाश्त करनी चाहिए और अपने अपनी जिंदगी अच्छे से जीनी चाहिए बस यही मेरा सिद्धांत है कहने का धन्यवाद गूगल ऐप को शेयर करें पार्टी कैंसिल है
Likes  15  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Main Har Din Kisi Na Kisi Ko Ladtey Jhagadate Dekhta Hoon Agar Log Ek Dusre Se Itni Nafarat Karte Hai To Logon Karne Duniya Mein Hone Karne Kya Matlab Hai