जीवन में पैसे को जायदा अहमियत दी जाती है इंसान को क्यों नहीं ? ...

Likes  1  Dislikes

7 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
देखिए इस जिंदगी में पैसे की भी जरूरत रहती है और इंसान की भी जरूरत रहती है यह कहना कि लोग पैसे को ज्यादा अहमियत देते हैं इंसान को नहीं देते यह मैं समझता हूं कि उचित नहीं है लेकिन पैसे जो है उससे आप जिंदगी की बहुत सारी चीजें खरीद सकते हैं कि जो जरूरतें हैं वह पैसे से ही पूरी हो सकती हैं अगर आपको खाना चाहिए पानी चाहिए रहने के लिए घर चाहिए कपड़े चाहिए तो उन सब को पैसे की जरूरत होती है जहां इंसान की बात है आपकी जिंदगी में अगर आपके 24 अच्छे मित्र हैं आपका अपना के परिवार है अगर उनके साथ में आप बहुत अच्छे संबंध बना कर के रखे हैं तो फिर आपको बहुत ज्यादा लोगों के साथ में अच्छे संबंध होने की जरूरत नहीं है क्योंकि हमारा जुदा हम ज्यादा से ज्यादा 810 लोगों के साथ ही बहुत ही मधुर संबंध बनाकर रख सकते हैं तो इसलिए जो है पैसे की अहमियत रखती है और इंसान की भी हिम्मत रहती है और दोनों को जो बैलेंस करके जो चलता है वही आदमी जो है वह आगे बढ़ता है अगर आप इंसान को वैल्यू करना बंद कर दें और आपके पास करोड़ों करोड़ों रुपया हुआ रुपया हो सोने के महल में रहते हो लेकिन आपके साथ में कोई अच्छा आपका दोस्त ना हो तो मैं समझता हूं बिल्कुल ही निरर्थक आपकी जिंदगी होगी और इसी तरीके से अगर आपके पास में अच्छे दोस्त हैं और बिल्कुल पैसा नहीं है तो धीरे-धीरे करके आप देखेंगे आपके दोस्त और आपके रिश्तेदार भी आप को दूर कर देंगे फिर आप दोनों छोड़ इंपॉर्टेंस रहती है लेकिन इंसान और आप को गाली देना चाहिए लेकिन इंसान में बहुत ज्यादा नहीं आप के कुछ अच्छे मित्र होने जरूरी हैं अगर आप के कुछ अच्छे मित्र और रिश्तेदार हैं तो आप की जिंदगी बहुत अच्छी चलेगी
Likes  39  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

अतिरिक्त विकल्प यहां दिखाई देते हैं!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
हमारे देश का यह दुर्भाग्य है कि पैसे वाले को ज्यादा अहमियत दी जाती है और जिस को अहमियत देना चाहिए उसको कम दी जाती है पैसे वाला अगर गधा भी है तो उसे लोग ज्यादा अहमियत देते हैं उसे अपना नाम लिखने नहीं आता है अगर उसके पास पैसा है तो उसे ज्यादा अहमियत देते हैं और वही पढ़े लिखे लोगों को कम अहमियत दिया जाता है तो इसलिए देखिए कि हमारा दुर्भाग्य है हमें अहमियत तो समझदार जो अच्छा जो झुके डेड पर्सन है उसे अहमियत देनी चाहिए नहीं कि उस गधे को देना चाहिए जिसके पास पैसा है पैसे से सब कुछ नहीं किया जा सकता है हां अगर आप एजुकेटेड हो आप अच्छे हो तो आप पैसा बना सकते हो जैसे कुछ लोग गरीब होते हैं धीरे-धीरे वह अपने मेहनत के बल पर बहुत बड़े बिजनेसमैन बन जाते हैं हमारे देश का इतिहास रहा है तो हमें अहमियत उसको देना चाहिए जो अमित के लायक हो जो अमृत के लायक नहीं है उसे कभी अपनी देनी चाहिए धन्यवाद
Likes  9  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
लिखे जो पैसा होता है वह बहुत सारी चीजों को खरीद लेता है आखिर क्या था बोला जाता है कि पैसा सब कुछ नहीं खरीद सकता है तो बहुत कुछ चीज है वह खरीद लेता है तो इसलिए जो है आज के दौर में इंसान से ज्यादा पैसा कहीं बोले क्यों क्यों लोगों को लगता है जिसके पास में पैसा होता है कि और पैसा देकर वह किसी भी इंसान को खरीद सकते हैं और उनसे जो है वह काम करा सकते हैं
Likes  8  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions


More Answers


जीवन में पैसे को ज्यादा अहमियत नहीं मिलती है जितना इंसान और इंसानियत को मिलता है मैं मान लूंगा कि जीवन में जीने के लिए कुछ पैसों की जरूरत सकता होती है लेकिन पैसा ही जीवन नहीं है और जो लोग थोड़ा बहुत पैसा भी कमा लेते हैं वही फिर और आगे रह पाते हैं जो अपने अंदर इंसानियत बचा कर रखते हैं तो मेरे हिसाब से जीवन में पैसा उतना जरूरी नहीं है जितना इंसानियत होना जरूरी है हमने यह देखा है कि जो व्यक्ति पैसे कमा भी लेता है लेकिन जब इंसानियत उसके अंदर बचती नहीं है तो वह व्यक्ति खत्म हो जाता है और धराशाई हो जाता है इसलिए पैसा एक सीमित हद तक आवश्यकता है परंतु पैसा ही जीवन नहीं है ऐसा ही इंसान नहीं है और इंसानियत नहीं है
जीवन में पैसे को ज्यादा अहमियत नहीं मिलती है जितना इंसान और इंसानियत को मिलता है मैं मान लूंगा कि जीवन में जीने के लिए कुछ पैसों की जरूरत सकता होती है लेकिन पैसा ही जीवन नहीं है और जो लोग थोड़ा बहुत पैसा भी कमा लेते हैं वही फिर और आगे रह पाते हैं जो अपने अंदर इंसानियत बचा कर रखते हैं तो मेरे हिसाब से जीवन में पैसा उतना जरूरी नहीं है जितना इंसानियत होना जरूरी है हमने यह देखा है कि जो व्यक्ति पैसे कमा भी लेता है लेकिन जब इंसानियत उसके अंदर बचती नहीं है तो वह व्यक्ति खत्म हो जाता है और धराशाई हो जाता है इसलिए पैसा एक सीमित हद तक आवश्यकता है परंतु पैसा ही जीवन नहीं है ऐसा ही इंसान नहीं है और इंसानियत नहीं है
Likes  7  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

जी ऐसा नहीं है कि जीवन में पैसे को ज्यादा अहमियत दी जाती है हमें देखने जरूर लगा है कि हम सभी लोग पैसे के पीछे भाग रहे हैं पैसे की अपनी वैल्यू है और इंसान तो इंसान है इंसान तो बहुत महत्वपूर्ण है सर्वश्रेष्ठ है पहले इंसान इंसान आता है फिर पैसे आता है पैसा क्या कहलाता है पैसा आपको जरूरत की चीजें मुहैया करा सकता है आपकी बेसिक्स या आपके लाइफ़स्टाइल नीड्स को फुल फील करता है वह सारे गेम्स भरता है जिससे आपका जीवन ठीक-ठाक चल सके लेकिन जहां पर रिश्तो की बात आती है इंसान की बात आती है वह इंसान ही दूसरे इंसान के बारे में समझ सकता है पहचान नहीं पैसे ब्रेसब्रिज कर सकता है कि आप जहां पर भी हमें लगता है फॉर एग्जांपल किसी इंसान को पैसों की जरूरत है आपको दे सकते हैं किसी इंसान को आप इस तरीके से उस तरीके से मदद करना चाहते तो वह आप कर सकते हैं वहां पर पैसा एक सूट्स बन सकता है एक जरिया बन सकता है उस को हेल्प करने के लिए लेकिन आप कर क्या रहे हैं आप तो इंसान को वैल्यू दे रहे ना पैसा वगैरह तो एक माध्यम हो गया जिसके थ्रू आप इंसान की कद्र करके उसकी वैल्यू दे उसको दे रहे हैं जिसकी उसको अभी आवश्यकता है तो पैसा पैसा का हेल्प नहीं करता पैसे से आप इंसान की हेल्प कर सकते हैं आप ऐसा इसलिए जरूरी हो गया है क्योंकि यह में ऐसा लगने लगा है क्योंकि जो चीज काम देखती है कम मात्रा में होती है लगता है और कठिनाई होती है जिसको प्राप्त करने में तो हमें लगता है नहीं वह साथ सबसे ज्यादा इंपोर्टेंट है आज की तारीख में और आज की तारीख में जहां पर जॉब को लेकर परेशानी है बिजनेस को लेकर परेशानी है पैसा कमाना मुश्किल है हर चीज में पैसा लगता है कॉस्ट ऑफ लिविंग बढ़ गए तो हमें ऐसा देखने में लगता है सोचने लगता है कि यह तो पैसा ही और सब लोग पैसे के पीछे भाग रहे हैं ऐसा नहीं है अगर यह पैसे का खेल बंद हो जाए तो आप देखिए आप क्या इंसान ही इंसान ही दिखाई देंगे
जी ऐसा नहीं है कि जीवन में पैसे को ज्यादा अहमियत दी जाती है हमें देखने जरूर लगा है कि हम सभी लोग पैसे के पीछे भाग रहे हैं पैसे की अपनी वैल्यू है और इंसान तो इंसान है इंसान तो बहुत महत्वपूर्ण है सर्वश्रेष्ठ है पहले इंसान इंसान आता है फिर पैसे आता है पैसा क्या कहलाता है पैसा आपको जरूरत की चीजें मुहैया करा सकता है आपकी बेसिक्स या आपके लाइफ़स्टाइल नीड्स को फुल फील करता है वह सारे गेम्स भरता है जिससे आपका जीवन ठीक-ठाक चल सके लेकिन जहां पर रिश्तो की बात आती है इंसान की बात आती है वह इंसान ही दूसरे इंसान के बारे में समझ सकता है पहचान नहीं पैसे ब्रेसब्रिज कर सकता है कि आप जहां पर भी हमें लगता है फॉर एग्जांपल किसी इंसान को पैसों की जरूरत है आपको दे सकते हैं किसी इंसान को आप इस तरीके से उस तरीके से मदद करना चाहते तो वह आप कर सकते हैं वहां पर पैसा एक सूट्स बन सकता है एक जरिया बन सकता है उस को हेल्प करने के लिए लेकिन आप कर क्या रहे हैं आप तो इंसान को वैल्यू दे रहे ना पैसा वगैरह तो एक माध्यम हो गया जिसके थ्रू आप इंसान की कद्र करके उसकी वैल्यू दे उसको दे रहे हैं जिसकी उसको अभी आवश्यकता है तो पैसा पैसा का हेल्प नहीं करता पैसे से आप इंसान की हेल्प कर सकते हैं आप ऐसा इसलिए जरूरी हो गया है क्योंकि यह में ऐसा लगने लगा है क्योंकि जो चीज काम देखती है कम मात्रा में होती है लगता है और कठिनाई होती है जिसको प्राप्त करने में तो हमें लगता है नहीं वह साथ सबसे ज्यादा इंपोर्टेंट है आज की तारीख में और आज की तारीख में जहां पर जॉब को लेकर परेशानी है बिजनेस को लेकर परेशानी है पैसा कमाना मुश्किल है हर चीज में पैसा लगता है कॉस्ट ऑफ लिविंग बढ़ गए तो हमें ऐसा देखने में लगता है सोचने लगता है कि यह तो पैसा ही और सब लोग पैसे के पीछे भाग रहे हैं ऐसा नहीं है अगर यह पैसे का खेल बंद हो जाए तो आप देखिए आप क्या इंसान ही इंसान ही दिखाई देंगे
Likes  6  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

जीवन में पैसों को ज्यादा अहमियत दी जाती इंसानों को कि नहीं तो बहुत ही अच्छा क्वेश्चन था क्योंकि अभी लाइफ में लोगों को सब घूमना फिरना अच्छा लगता है सो अच्छे फ्रेंड होंगे फ्रेंड पहले के फ्रेंड कुछ अलग होते थे या नबी के फ्रेंड जिसका स्पाइस है उसके पास हम जाते हैं तो ऐसा बिल्कुल नहीं होना चाहिए इसलिए पैसे पैसे को ज्यादा अहमद पैसों से ज्यादा है इंसान को नहीं दी जाती है मैं तो मेरा मानना है कि आप इंसान को देखिए ना कि पैसे को अभी के जमाने में लोग पैसे को ही देखते कि पैसा सब कुछ है तो उसको ऐसा बिल्कुल नहीं होना चाहिए
जीवन में पैसों को ज्यादा अहमियत दी जाती इंसानों को कि नहीं तो बहुत ही अच्छा क्वेश्चन था क्योंकि अभी लाइफ में लोगों को सब घूमना फिरना अच्छा लगता है सो अच्छे फ्रेंड होंगे फ्रेंड पहले के फ्रेंड कुछ अलग होते थे या नबी के फ्रेंड जिसका स्पाइस है उसके पास हम जाते हैं तो ऐसा बिल्कुल नहीं होना चाहिए इसलिए पैसे पैसे को ज्यादा अहमद पैसों से ज्यादा है इंसान को नहीं दी जाती है मैं तो मेरा मानना है कि आप इंसान को देखिए ना कि पैसे को अभी के जमाने में लोग पैसे को ही देखते कि पैसा सब कुछ है तो उसको ऐसा बिल्कुल नहीं होना चाहिए
Likes  6  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

क्योंकि यहां पैसा कम है और इंसान ज्यादा
क्योंकि यहां पैसा कम है और इंसान ज्यादा
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Jeevan Mein Paise Ko Zayada Ahamiyat Di Jati Hai Insaan Ko Kyon Nahi ?, Money Is Given A Lot Of Importance In Life, Why Not A Person?





मन में है सवाल?