जीवन में पैसे को जायदा अहमियत दी जाती है इंसान को क्यों नहीं ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए इस जिंदगी में पैसे की भी जरूरत रहती है और इंसान की भी जरूरत रहती है यह कहना कि लोग पैसे को ज्यादा अहमियत देते हैं इंसान को नहीं देते यह मैं समझता हूं कि उचित नहीं है लेकिन पैसे जो है उससे आप जिं...जवाब पढ़िये
देखिए इस जिंदगी में पैसे की भी जरूरत रहती है और इंसान की भी जरूरत रहती है यह कहना कि लोग पैसे को ज्यादा अहमियत देते हैं इंसान को नहीं देते यह मैं समझता हूं कि उचित नहीं है लेकिन पैसे जो है उससे आप जिंदगी की बहुत सारी चीजें खरीद सकते हैं कि जो जरूरतें हैं वह पैसे से ही पूरी हो सकती हैं अगर आपको खाना चाहिए पानी चाहिए रहने के लिए घर चाहिए कपड़े चाहिए तो उन सब को पैसे की जरूरत होती है जहां इंसान की बात है आपकी जिंदगी में अगर आपके 24 अच्छे मित्र हैं आपका अपना के परिवार है अगर उनके साथ में आप बहुत अच्छे संबंध बना कर के रखे हैं तो फिर आपको बहुत ज्यादा लोगों के साथ में अच्छे संबंध होने की जरूरत नहीं है क्योंकि हमारा जुदा हम ज्यादा से ज्यादा 810 लोगों के साथ ही बहुत ही मधुर संबंध बनाकर रख सकते हैं तो इसलिए जो है पैसे की अहमियत रखती है और इंसान की भी हिम्मत रहती है और दोनों को जो बैलेंस करके जो चलता है वही आदमी जो है वह आगे बढ़ता है अगर आप इंसान को वैल्यू करना बंद कर दें और आपके पास करोड़ों करोड़ों रुपया हुआ रुपया हो सोने के महल में रहते हो लेकिन आपके साथ में कोई अच्छा आपका दोस्त ना हो तो मैं समझता हूं बिल्कुल ही निरर्थक आपकी जिंदगी होगी और इसी तरीके से अगर आपके पास में अच्छे दोस्त हैं और बिल्कुल पैसा नहीं है तो धीरे-धीरे करके आप देखेंगे आपके दोस्त और आपके रिश्तेदार भी आप को दूर कर देंगे फिर आप दोनों छोड़ इंपॉर्टेंस रहती है लेकिन इंसान और आप को गाली देना चाहिए लेकिन इंसान में बहुत ज्यादा नहीं आप के कुछ अच्छे मित्र होने जरूरी हैं अगर आप के कुछ अच्छे मित्र और रिश्तेदार हैं तो आप की जिंदगी बहुत अच्छी चलेगीDekhie Is Zindagi Mein Paise Ki Bhi Zaroorat Rehti Hai Aur Insaan Ki Bhi Zaroorat Rehti Hai Yeh Kehna Ki Log Paise Ko Zyada Ahamiyat Dete Hain Insaan Ko Nahi Dete Yeh Main Samajhata Hoon Ki Uchit Nahi Hai Lekin Paise Jo Hai Usse Aap Zindagi Ki Bahut Saree Cheezen Kharid Sakte Hain Ki Jo Jarurate Hain Wah Paise Se Hi Puri Ho Sakti Hain Agar Aapko Khana Chahiye Pani Chahiye Rehne Ke Liye Ghar Chahiye Kapde Chahiye To Un Sab Ko Paise Ki Zaroorat Hoti Hai Jahan Insaan Ki Baat Hai Aapki Zindagi Mein Agar Aapke 24 Acche Mitra Hain Aapka Apna Ke Parivar Hai Agar Unke Saath Mein Aap Bahut Acche Sambandh Bana Kar Ke Rakhe Hain To Phir Aapko Bahut Zyada Logon Ke Saath Mein Acche Sambandh Hone Ki Zaroorat Nahi Hai Kyonki Hamara Juda Hum Zyada Se Zyada 810 Logon Ke Saath Hi Bahut Hi Madhur Sambandh Banakar Rakh Sakte Hain To Isliye Jo Hai Paise Ki Ahamiyat Rakhti Hai Aur Insaan Ki Bhi Himmat Rehti Hai Aur Dono Ko Jo Balance Karke Jo Chalta Hai Wahi Aadmi Jo Hai Wah Aage Badhta Hai Agar Aap Insaan Ko Value Karna Band Kar Dein Aur Aapke Paas Karodo Karodo Rupya Hua Rupya Ho Sone Ke Mahal Mein Rehte Ho Lekin Aapke Saath Mein Koi Accha Aapka Dost Na Ho To Main Samajhata Hoon Bilkul Hi Nirarthak Aapki Zindagi Hogi Aur Isi Tarike Se Agar Aapke Paas Mein Acche Dost Hain Aur Bilkul Paisa Nahi Hai To Dhire Dhire Karke Aap Dekhenge Aapke Dost Aur Aapke Rishtedar Bhi Aap Ko Dur Kar Denge Phir Aap Dono Chod Importance Rehti Hai Lekin Insaan Aur Aap Ko Gaali Dena Chahiye Lekin Insaan Mein Bahut Zyada Nahi Aap Ke Kuch Acche Mitra Hone Zaroori Hain Agar Aap Ke Kuch Acche Mitra Aur Rishtedar Hain To Aap Ki Zindagi Bahut Acchi Chalegi
Likes  60  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन में पैसे को ज्यादा अहमियत नहीं मिलती है जितना इंसान और इंसानियत को मिलता है मैं मान लूंगा कि जीवन में जीने के लिए कुछ पैसों की जरूरत सकता होती है लेकिन पैसा ही जीवन नहीं है और जो लोग थोड़ा बहुत प...जवाब पढ़िये
जीवन में पैसे को ज्यादा अहमियत नहीं मिलती है जितना इंसान और इंसानियत को मिलता है मैं मान लूंगा कि जीवन में जीने के लिए कुछ पैसों की जरूरत सकता होती है लेकिन पैसा ही जीवन नहीं है और जो लोग थोड़ा बहुत पैसा भी कमा लेते हैं वही फिर और आगे रह पाते हैं जो अपने अंदर इंसानियत बचा कर रखते हैं तो मेरे हिसाब से जीवन में पैसा उतना जरूरी नहीं है जितना इंसानियत होना जरूरी है हमने यह देखा है कि जो व्यक्ति पैसे कमा भी लेता है लेकिन जब इंसानियत उसके अंदर बचती नहीं है तो वह व्यक्ति खत्म हो जाता है और धराशाई हो जाता है इसलिए पैसा एक सीमित हद तक आवश्यकता है परंतु पैसा ही जीवन नहीं है ऐसा ही इंसान नहीं है और इंसानियत नहीं हैJeevan Mein Paise Ko Zyada Ahamiyat Nahi Milti Hai Jitna Insaan Aur Insaniyat Ko Milta Hai Main Maan Lunga Ki Jeevan Mein Jeene Ke Liye Kuch Paison Ki Zaroorat Sakta Hoti Hai Lekin Paisa Hi Jeevan Nahi Hai Aur Jo Log Thoda Bahut Paisa Bhi Kama Lete Hain Wahi Phir Aur Aage Rah Paate Hain Jo Apne Andar Insaniyat Bacha Kar Rakhate Hain To Mere Hisab Se Jeevan Mein Paisa Utana Zaroori Nahi Hai Jitna Insaniyat Hona Zaroori Hai Humne Yeh Dekha Hai Ki Jo Vyakti Paise Kama Bhi Leta Hai Lekin Jab Insaniyat Uske Andar Bachati Nahi Hai To Wah Vyakti Khatam Ho Jata Hai Aur Dharashai Ho Jata Hai Isliye Paisa Ek Simith Had Tak Avashyakta Hai Parantu Paisa Hi Jeevan Nahi Hai Aisa Hi Insaan Nahi Hai Aur Insaniyat Nahi Hai
Likes  15  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्योंकि यहां पैसा कम है और इंसान ज्यादा...जवाब पढ़िये
क्योंकि यहां पैसा कम है और इंसान ज्यादाKyonki Yahan Paisa Kam Hai Aur Insaan Zyada
Likes  13  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी ऐसा नहीं है कि जीवन में पैसे को ज्यादा अहमियत दी जाती है हमें देखने जरूर लगा है कि हम सभी लोग पैसे के पीछे भाग रहे हैं पैसे की अपनी वैल्यू है और इंसान तो इंसान है इंसान तो बहुत महत्वपूर्ण है सर्वश्...जवाब पढ़िये
जी ऐसा नहीं है कि जीवन में पैसे को ज्यादा अहमियत दी जाती है हमें देखने जरूर लगा है कि हम सभी लोग पैसे के पीछे भाग रहे हैं पैसे की अपनी वैल्यू है और इंसान तो इंसान है इंसान तो बहुत महत्वपूर्ण है सर्वश्रेष्ठ है पहले इंसान इंसान आता है फिर पैसे आता है पैसा क्या कहलाता है पैसा आपको जरूरत की चीजें मुहैया करा सकता है आपकी बेसिक्स या आपके लाइफ़स्टाइल नीड्स को फुल फील करता है वह सारे गेम्स भरता है जिससे आपका जीवन ठीक-ठाक चल सके लेकिन जहां पर रिश्तो की बात आती है इंसान की बात आती है वह इंसान ही दूसरे इंसान के बारे में समझ सकता है पहचान नहीं पैसे ब्रेसब्रिज कर सकता है कि आप जहां पर भी हमें लगता है फॉर एग्जांपल किसी इंसान को पैसों की जरूरत है आपको दे सकते हैं किसी इंसान को आप इस तरीके से उस तरीके से मदद करना चाहते तो वह आप कर सकते हैं वहां पर पैसा एक सूट्स बन सकता है एक जरिया बन सकता है उस को हेल्प करने के लिए लेकिन आप कर क्या रहे हैं आप तो इंसान को वैल्यू दे रहे ना पैसा वगैरह तो एक माध्यम हो गया जिसके थ्रू आप इंसान की कद्र करके उसकी वैल्यू दे उसको दे रहे हैं जिसकी उसको अभी आवश्यकता है तो पैसा पैसा का हेल्प नहीं करता पैसे से आप इंसान की हेल्प कर सकते हैं आप ऐसा इसलिए जरूरी हो गया है क्योंकि यह में ऐसा लगने लगा है क्योंकि जो चीज काम देखती है कम मात्रा में होती है लगता है और कठिनाई होती है जिसको प्राप्त करने में तो हमें लगता है नहीं वह साथ सबसे ज्यादा इंपोर्टेंट है आज की तारीख में और आज की तारीख में जहां पर जॉब को लेकर परेशानी है बिजनेस को लेकर परेशानी है पैसा कमाना मुश्किल है हर चीज में पैसा लगता है कॉस्ट ऑफ लिविंग बढ़ गए तो हमें ऐसा देखने में लगता है सोचने लगता है कि यह तो पैसा ही और सब लोग पैसे के पीछे भाग रहे हैं ऐसा नहीं है अगर यह पैसे का खेल बंद हो जाए तो आप देखिए आप क्या इंसान ही इंसान ही दिखाई देंगेG Aisa Nahi Hai Ki Jeevan Mein Paise Ko Zyada Ahamiyat Di Jati Hai Hume Dekhne Jarur Laga Hai Ki Hum Sabhi Log Paise Ke Piche Bhag Rahe Hain Paise Ki Apni Value Hai Aur Insaan To Insaan Hai Insaan To Bahut Mahatvapurna Hai Sarvashrestha Hai Pehle Insaan Insaan Aata Hai Phir Paise Aata Hai Paisa Kya Kehlata Hai Paisa Aapko Zaroorat Ki Cheezen Muhaiya Kra Sakta Hai Aapki Basics Ya Aapke Laifastail Needs Ko Full Feel Karta Hai Wah Sare Games Bharta Hai Jisse Aapka Jeevan Theek Thak Chal Sake Lekin Jahan Par Rishto Ki Baat Aati Hai Insaan Ki Baat Aati Hai Wah Insaan Hi Dusre Insaan Ke Bare Mein Samajh Sakta Hai Pehchaan Nahi Paise Bresabrij Kar Sakta Hai Ki Aap Jahan Par Bhi Hume Lagta Hai For Example Kisi Insaan Ko Paison Ki Zaroorat Hai Aapko De Sakte Hain Kisi Insaan Ko Aap Is Tarike Se Us Tarike Se Madad Karna Chahte To Wah Aap Kar Sakte Hain Wahan Par Paisa Ek Suits Ban Sakta Hai Ek Jariya Ban Sakta Hai Us Ko Help Karne Ke Liye Lekin Aap Kar Kya Rahe Hain Aap To Insaan Ko Value De Rahe Na Paisa Vagairah To Ek Maadhyam Ho Gaya Jiske Through Aap Insaan Ki Kadra Karke Uski Value De Usko De Rahe Hain Jiski Usko Abhi Avashyakta Hai To Paisa Paisa Ka Help Nahi Karta Paise Se Aap Insaan Ki Help Kar Sakte Hain Aap Aisa Isliye Zaroori Ho Gaya Hai Kyonki Yeh Mein Aisa Lagne Laga Hai Kyonki Jo Cheez Kaam Dekhti Hai Kam Matra Mein Hoti Hai Lagta Hai Aur Kathinai Hoti Hai Jisko Prapt Karne Mein To Hume Lagta Hai Nahi Wah Saath Sabse Zyada Important Hai Aaj Ki Tarikh Mein Aur Aaj Ki Tarikh Mein Jahan Par Job Ko Lekar Pareshani Hai Business Ko Lekar Pareshani Hai Paisa Kamana Mushkil Hai Har Cheez Mein Paisa Lagta Hai Cost Of Living Badh Gaye To Hume Aisa Dekhne Mein Lagta Hai Sochne Lagta Hai Ki Yeh To Paisa Hi Aur Sab Log Paise Ke Piche Bhag Rahe Hain Aisa Nahi Hai Agar Yeh Paise Ka Khel Band Ho Jaye To Aap Dekhie Aap Kya Insaan Hi Insaan Hi Dikhai Denge
Likes  9  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं बताना चाहता हूं कि जीवन में पैसे को ज्यादा क्यों है मा अहमियत दी जाती क्योंकि पैसे की बिना आप पानी भी नहीं कर सकते और पानी के बिना आप खुद भी नहीं चल सकते तो एक इंसान आपको किस हद तक मदद कर सकता है ...जवाब पढ़िये
मैं बताना चाहता हूं कि जीवन में पैसे को ज्यादा क्यों है मा अहमियत दी जाती क्योंकि पैसे की बिना आप पानी भी नहीं कर सकते और पानी के बिना आप खुद भी नहीं चल सकते तो एक इंसान आपको किस हद तक मदद कर सकता है बताइए मुझे क्या आपको खाना चाहिए तो वह खाना देखा ना पर कैसे देखा उसके पास पैसे होंगे उसके पास कोई स्कीम होगी है उसको खाना बनाना आएगा तो वह आपको किला पाएगा ऐसा तो खिला नहीं पाएगा आज आपके घर में पिता श्री का जो आपके पिता है आपके हस्बैंड है या आपके घर में जो भी कमा कर लाता है वह आदमी या और उसकी कितनी अहमियत है घर में पहले उन्हें देखिए क्यों आए थे उनकी क्योंकि आप जो भी चीज मांगते हो उनसे वह चीज आपको दिलाते हैं आपकी हर एक नीड टो फुलफिल करते हैं ओके तो आपकी नजरों में वह सबसे अच्छा क्योंकि आपको वह समझता है ऐसा आप मानते हैं वह समझता नहीं है उसको पता है कि आपको किस चीज की जरूरत है और वह जरूरत किस चीज से पूरी हो सकती है तो वह जरूरत से पैसे अब पैसे आपकी हर एक गीत पूरी कर सकता है और पैसे होगे तो आपको हर कोई मदद कर सकते हैं पर आपके पास ही पैसे नहीं होंगे तो आप किस को मदद कर पाएंगे या जिस आदमी के पास पैसे नहीं है वह आपको किस तरह से मदद कर सकते हैं या तो सोशल मदद हो सकती हैं या तो फिर कुछ एडवाइस दे सकता है या फिर कोई किसी कंपनी में लगवा सकता है या कुछ भी पहचान से करवा सकते हैं और क्या कर सकता है कोई भी मैसेज दे सकता है और क्या दे सकता है इंसान की अहमियत होनी चाहिए पैसे से ज्यादा नहीं पर जब तक उसके पास पैसे नहीं है तब तक उसकी अहमियत भी नहीं होगी क्योंकि वह किसी भी तरह से कैपेबल नहीं होगा किसी को हेल्प करने की तो आज यही हैMain Batana Chahta Hoon Ki Jeevan Mein Paise Ko Zyada Kyon Hai Ma Ahamiyat Di Jati Kyonki Paise Ki Bina Aap Pani Bhi Nahi Kar Sakte Aur Pani Ke Bina Aap Khud Bhi Nahi Chal Sakte To Ek Insaan Aapko Kis Had Tak Madad Kar Sakta Hai Bataiye Mujhe Kya Aapko Khana Chahiye To Wah Khana Dekha Na Par Kaise Dekha Uske Paas Paise Honge Uske Paas Koi Scheme Hogi Hai Usko Khana Banana Aaega To Wah Aapko Kila Payega Aisa To Khila Nahi Payega Aaj Aapke Ghar Mein Pita Shri Ka Jo Aapke Pita Hai Aapke Husband Hai Ya Aapke Ghar Mein Jo Bhi Kama Kar Lata Hai Wah Aadmi Ya Aur Uski Kitni Ahamiyat Hai Ghar Mein Pehle Unhen Dekhie Kyon Aaye The Unki Kyonki Aap Jo Bhi Cheez Mangate Ho Unse Wah Cheez Aapko Dilate Hain Aapki Har Ek Need To Fulfil Karte Hain Ok To Aapki Najaron Mein Wah Sabse Accha Kyonki Aapko Wah Samajhata Hai Aisa Aap Manate Hain Wah Samajhata Nahi Hai Usko Pata Hai Ki Aapko Kis Cheez Ki Zaroorat Hai Aur Wah Zaroorat Kis Cheez Se Puri Ho Sakti Hai To Wah Zaroorat Se Paise Ab Paise Aapki Har Ek Geet Puri Kar Sakta Hai Aur Paise Hoge To Aapko Har Koi Madad Kar Sakte Hain Par Aapke Paas Hi Paise Nahi Honge To Aap Kis Ko Madad Kar Payenge Ya Jis Aadmi Ke Paas Paise Nahi Hai Wah Aapko Kis Tarah Se Madad Kar Sakte Hain Ya To Social Madad Ho Sakti Hain Ya To Phir Kuch Advice De Sakta Hai Ya Phir Koi Kisi Company Mein Lagwa Sakta Hai Ya Kuch Bhi Pehchaan Se Karava Sakte Hain Aur Kya Kar Sakta Hai Koi Bhi Massage De Sakta Hai Aur Kya De Sakta Hai Insaan Ki Ahamiyat Honi Chahiye Paise Se Zyada Nahi Par Jab Tak Uske Paas Paise Nahi Hai Tab Tak Uski Ahamiyat Bhi Nahi Hogi Kyonki Wah Kisi Bhi Tarah Se Kaipebal Nahi Hoga Kisi Ko Help Karne Ki To Aaj Yahi Hai
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन में पैसों को ज्यादा अहमियत दी जाती इंसानों को कि नहीं तो बहुत ही अच्छा क्वेश्चन था क्योंकि अभी लाइफ में लोगों को सब घूमना फिरना अच्छा लगता है सो अच्छे फ्रेंड होंगे फ्रेंड पहले के फ्रेंड कुछ अलग ह...जवाब पढ़िये
जीवन में पैसों को ज्यादा अहमियत दी जाती इंसानों को कि नहीं तो बहुत ही अच्छा क्वेश्चन था क्योंकि अभी लाइफ में लोगों को सब घूमना फिरना अच्छा लगता है सो अच्छे फ्रेंड होंगे फ्रेंड पहले के फ्रेंड कुछ अलग होते थे या नबी के फ्रेंड जिसका स्पाइस है उसके पास हम जाते हैं तो ऐसा बिल्कुल नहीं होना चाहिए इसलिए पैसे पैसे को ज्यादा अहमद पैसों से ज्यादा है इंसान को नहीं दी जाती है मैं तो मेरा मानना है कि आप इंसान को देखिए ना कि पैसे को अभी के जमाने में लोग पैसे को ही देखते कि पैसा सब कुछ है तो उसको ऐसा बिल्कुल नहीं होना चाहिएJeevan Mein Paison Ko Zyada Ahamiyat Di Jati Insanon Ko Ki Nahi To Bahut Hi Accha Question Tha Kyonki Abhi Life Mein Logon Ko Sab Ghumana Phirna Accha Lagta Hai So Acche Friend Honge Friend Pehle Ke Friend Kuch Alag Hote The Ya Nabi Ke Friend Jiska Spice Hai Uske Paas Hum Jaate Hain To Aisa Bilkul Nahi Hona Chahiye Isliye Paise Paise Ko Zyada Ahmad Paison Se Zyada Hai Insaan Ko Nahi Di Jati Hai Main To Mera Manana Hai Ki Aap Insaan Ko Dekhie Na Ki Paise Ko Abhi Ke Jamaane Mein Log Paise Ko Hi Dekhte Ki Paisa Sab Kuch Hai To Usko Aisa Bilkul Nahi Hona Chahiye
Likes  9  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे जो पैसा होता है वह बहुत सारी चीजों को खरीद लेता है आखिर क्या था बोला जाता है कि पैसा सब कुछ नहीं खरीद सकता है तो बहुत कुछ चीज है वह खरीद लेता है तो इसलिए जो है आज के दौर में इंसान से ज्यादा पैसा ...जवाब पढ़िये
लिखे जो पैसा होता है वह बहुत सारी चीजों को खरीद लेता है आखिर क्या था बोला जाता है कि पैसा सब कुछ नहीं खरीद सकता है तो बहुत कुछ चीज है वह खरीद लेता है तो इसलिए जो है आज के दौर में इंसान से ज्यादा पैसा कहीं बोले क्यों क्यों लोगों को लगता है जिसके पास में पैसा होता है कि और पैसा देकर वह किसी भी इंसान को खरीद सकते हैं और उनसे जो है वह काम करा सकते हैंLikhe Jo Paisa Hota Hai Wah Bahut Saree Chijon Ko Kharid Leta Hai Aakhir Kya Tha Bola Jata Hai Ki Paisa Sab Kuch Nahi Kharid Sakta Hai To Bahut Kuch Cheez Hai Wah Kharid Leta Hai To Isliye Jo Hai Aaj Ke Daur Mein Insaan Se Zyada Paisa Kahin Bole Kyon Kyon Logon Ko Lagta Hai Jiske Paas Mein Paisa Hota Hai Ki Aur Paisa Dekar Wah Kisi Bhi Insaan Ko Kharid Sakte Hain Aur Unse Jo Hai Wah Kaam Kra Sakte Hain
Likes  11  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश का यह दुर्भाग्य है कि पैसे वाले को ज्यादा अहमियत दी जाती है और जिस को अहमियत देना चाहिए उसको कम दी जाती है पैसे वाला अगर गधा भी है तो उसे लोग ज्यादा अहमियत देते हैं उसे अपना नाम लिखने नहीं आ...जवाब पढ़िये
हमारे देश का यह दुर्भाग्य है कि पैसे वाले को ज्यादा अहमियत दी जाती है और जिस को अहमियत देना चाहिए उसको कम दी जाती है पैसे वाला अगर गधा भी है तो उसे लोग ज्यादा अहमियत देते हैं उसे अपना नाम लिखने नहीं आता है अगर उसके पास पैसा है तो उसे ज्यादा अहमियत देते हैं और वही पढ़े लिखे लोगों को कम अहमियत दिया जाता है तो इसलिए देखिए कि हमारा दुर्भाग्य है हमें अहमियत तो समझदार जो अच्छा जो झुके डेड पर्सन है उसे अहमियत देनी चाहिए नहीं कि उस गधे को देना चाहिए जिसके पास पैसा है पैसे से सब कुछ नहीं किया जा सकता है हां अगर आप एजुकेटेड हो आप अच्छे हो तो आप पैसा बना सकते हो जैसे कुछ लोग गरीब होते हैं धीरे-धीरे वह अपने मेहनत के बल पर बहुत बड़े बिजनेसमैन बन जाते हैं हमारे देश का इतिहास रहा है तो हमें अहमियत उसको देना चाहिए जो अमित के लायक हो जो अमृत के लायक नहीं है उसे कभी अपनी देनी चाहिए धन्यवादHamare Desh Ka Yeh Durbhagya Hai Ki Paise Wali Ko Zyada Ahamiyat Di Jati Hai Aur Jis Ko Ahamiyat Dena Chahiye Usko Kam Di Jati Hai Paise Vala Agar Gadha Bhi Hai To Use Log Zyada Ahamiyat Dete Hain Use Apna Naam Likhne Nahi Aata Hai Agar Uske Paas Paisa Hai To Use Zyada Ahamiyat Dete Hain Aur Wahi Padhe Likhe Logon Ko Kam Ahamiyat Diya Jata Hai To Isliye Dekhie Ki Hamara Durbhagya Hai Hume Ahamiyat To Samajhdar Jo Accha Jo Jhuke Dead Person Hai Use Ahamiyat Deni Chahiye Nahi Ki Us Gadhe Ko Dena Chahiye Jiske Paas Paisa Hai Paise Se Sab Kuch Nahi Kiya Ja Sakta Hai Haan Agar Aap Educated Ho Aap Acche Ho To Aap Paisa Bana Sakte Ho Jaise Kuch Log Garib Hote Hain Dhire Dhire Wah Apne Mehnat Ke Bal Par Bahut Bade Bussinessmen Ban Jaate Hain Hamare Desh Ka Itihas Raha Hai To Hume Ahamiyat Usko Dena Chahiye Jo Amit Ke Layak Ho Jo Amrit Ke Layak Nahi Hai Use Kabhi Apni Deni Chahiye Dhanyavad
Likes  10  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Jeevan Mein Paise Ko Zayada Ahamiyat Di Jati Hai Insaan Ko Kyon Nahi ?