भारत मे पहले रपे जैसी चीजें नहीं थी तो ये कहाँ से आया और भारत इन सबसे कैसे बहार आएगा ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या होता था कि पहले जो पूरा कल्याणी बहुत पुराने की बात करें तो औरतों को जो है महिलाओं क्यों माना जाता है और अभी भी जो कन्याओं को देवी के रूप में देखा जाता है वह अभी भी जो औरतों की पूजा होती है यानी कि आप जैसे जानते हो काली मां का मंदिर पार्वती मां का मंदिर जाने कि अभी भी जो औरतों के रूप में स्वीकारा जाता है लेकिन क्या हुआ कि आजकल के लोगों की प्रवृत्ति है वह नोनी होती आ रही है यानी कि आजकल के लोग काम वासना में होटल उलझ गए हैं उन्हें जो सच्चाई है वह से परिचित हो ही नहीं पा रहे हैं ऐसा क्या है क्यों है या तो वह अपनी मानसिकता बदलनी सभी लोग या फिर यह हो जाएगी इसके लिए कड़ी से कड़ी सजा हो जाता कि वह ऐसा कर नहीं तो मेरी सबसे यह दोनों तो एक है कि उन पर रोक लगाने की एक अपने आप से और एक मजबूरी से मैं 14 गया यह भी मजबूरी से देख रहा तू कुछ समय के लिए मजबूर हो जाएगा लेकिन मुझे देश बदलना है यदि वह खुद बदल जाए तो देश अपने आप बदल जाएगा
Romanized Version
क्या होता था कि पहले जो पूरा कल्याणी बहुत पुराने की बात करें तो औरतों को जो है महिलाओं क्यों माना जाता है और अभी भी जो कन्याओं को देवी के रूप में देखा जाता है वह अभी भी जो औरतों की पूजा होती है यानी कि आप जैसे जानते हो काली मां का मंदिर पार्वती मां का मंदिर जाने कि अभी भी जो औरतों के रूप में स्वीकारा जाता है लेकिन क्या हुआ कि आजकल के लोगों की प्रवृत्ति है वह नोनी होती आ रही है यानी कि आजकल के लोग काम वासना में होटल उलझ गए हैं उन्हें जो सच्चाई है वह से परिचित हो ही नहीं पा रहे हैं ऐसा क्या है क्यों है या तो वह अपनी मानसिकता बदलनी सभी लोग या फिर यह हो जाएगी इसके लिए कड़ी से कड़ी सजा हो जाता कि वह ऐसा कर नहीं तो मेरी सबसे यह दोनों तो एक है कि उन पर रोक लगाने की एक अपने आप से और एक मजबूरी से मैं 14 गया यह भी मजबूरी से देख रहा तू कुछ समय के लिए मजबूर हो जाएगा लेकिन मुझे देश बदलना है यदि वह खुद बदल जाए तो देश अपने आप बदल जाएगाKya Hota Tha Ki Pehle Jo Pura Kalyani Bahut Purane Ki Baat Karen To Auraton Ko Jo Hai Mahilaon Kyun Mana Jata Hai Aur Abhi Bhi Jo Kanyayo Ko Devi Ke Roop Mein Dekha Jata Hai Wah Abhi Bhi Jo Auraton Ki Puja Hoti Hai Yani Ki Aap Jaise Jante Ho Kali Maa Ka Mandir Parvati Maa Ka Mandir Jaane Ki Abhi Bhi Jo Auraton Ke Roop Mein Swikara Jata Hai Lekin Kya Hua Ki Aajkal Ke Logon Ki Pravritti Hai Wah Noni Hoti Aa Rahi Hai Yani Ki Aajkal Ke Log Kaam Vasana Mein Hotel Ulajh Gaye Hain Unhen Jo Sacchai Hai Wah Se Parichit Ho Hi Nahi Pa Rahe Hain Aisa Kya Hai Kyun Hai Ya To Wah Apni Mansikta Badalni Sabhi Log Ya Phir Yeh Ho Jayegi Iske Liye Kadi Se Kadi Saja Ho Jata Ki Wah Aisa Kar Nahi To Meri Sabse Yeh Dono To Ek Hai Ki Un Par Rok Lagane Ki Ek Apne Aap Se Aur Ek Majburi Se Main 14 Gaya Yeh Bhi Majburi Se Dekh Raha Tu Kuch Samay Ke Liye Majboor Ho Jayega Lekin Mujhe Desh Badalna Hai Yadi Wah Khud Badal Jaye To Desh Apne Aap Badal Jayega
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

ques_icon

ques_icon

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बात बिल्कुल सही है कि पहले के समय में रेप जैसी घटनाएं नहीं होती थी और जिस तरह से हमारी जनसंख्या वृद्धि हुई है और शिक्षा का प्रसार तो हमारे समाज में हुआ है लेकिन नैतिक शिक्षा का जो प्रचार है वह बिल्कुल रुक गया है और लोग महिलाओं की इज्जत करना उन्हें मान सम्मान देना बिल्कुल भूलते जा रहे हैं तो इसी वजह से मुझे लगता है कि हमारे समाज में आज रेप की जो घटनाएं हैं वह दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है इसके अलावा सरकार की विफलता भी है कि वह सही तरीके से कानून नहीं बना पा रही है और ना ही उसे लागू कर पा रही है जिसकी वजह से इस तरह की अप्रिय आपराधिक मानसिकता वाले जो लोग हैं वह समाज में खुले घूम रहे हैं और महिलाओं के प्रति अत्याचार कर रहे हैं अभी हाल में ही पास्को एक्ट में जो बदलाव किया गया है जहां पर 12 वर्ष से कम लड़कियों के साथ अगर बलात्कार होता है तो फांसी का प्रावधान रखा गया है लेकिन अगर यही बलात्कार 12 वर्ष से बड़ी बच्चियों के साथ बड़ी महिलाओं के साथ होता है तो वहां पर फांसी का कोई प्रावधान सरकार ने नहीं यह साफ दर्शाता है कि सरकार की मानसिकता क्या है और किस प्रकार से वह महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करने की कोशिश कर रहे हैं क्योंकि एक ही अपराध के लिए अलग-अलग इस ग्रुप बना देना यह कहीं से भी उचित नहीं है और सरकार को इस नियम में जल्द से जल्द बदलाव करना चाहिए और अगर कोई भी व्यक्ति बलात्कार जैसी संगीन जुर्म को अंजाम देता है तो उसे बस फांसी की सजा होनी चाहिए इससे कम कोई भी सजा मुझे नहीं लगता कि बलात्कार जैसे केसेस में मुनासिब होंगे तो सरकार गंभीर बिल्कुल नहीं दिखाई दे रही है महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करने में और आरोपियों को फांसी के फंदे पर लटकाने के लिए इसीलिए उन्होंने 12 वर्ष की एक एज लिमिट बना दी है और अगर इसी तरह से सरकार काम करती रहेगी तो मुझे नहीं लगता है कि आने वाले समय में भी रेप जैसी जो घटना हमारे देश में आज इतनी ज्यादा बढ़ चुकी है उस पर कोई भी लगाम लगाया जा सकेगा
Romanized Version
यह बात बिल्कुल सही है कि पहले के समय में रेप जैसी घटनाएं नहीं होती थी और जिस तरह से हमारी जनसंख्या वृद्धि हुई है और शिक्षा का प्रसार तो हमारे समाज में हुआ है लेकिन नैतिक शिक्षा का जो प्रचार है वह बिल्कुल रुक गया है और लोग महिलाओं की इज्जत करना उन्हें मान सम्मान देना बिल्कुल भूलते जा रहे हैं तो इसी वजह से मुझे लगता है कि हमारे समाज में आज रेप की जो घटनाएं हैं वह दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है इसके अलावा सरकार की विफलता भी है कि वह सही तरीके से कानून नहीं बना पा रही है और ना ही उसे लागू कर पा रही है जिसकी वजह से इस तरह की अप्रिय आपराधिक मानसिकता वाले जो लोग हैं वह समाज में खुले घूम रहे हैं और महिलाओं के प्रति अत्याचार कर रहे हैं अभी हाल में ही पास्को एक्ट में जो बदलाव किया गया है जहां पर 12 वर्ष से कम लड़कियों के साथ अगर बलात्कार होता है तो फांसी का प्रावधान रखा गया है लेकिन अगर यही बलात्कार 12 वर्ष से बड़ी बच्चियों के साथ बड़ी महिलाओं के साथ होता है तो वहां पर फांसी का कोई प्रावधान सरकार ने नहीं यह साफ दर्शाता है कि सरकार की मानसिकता क्या है और किस प्रकार से वह महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करने की कोशिश कर रहे हैं क्योंकि एक ही अपराध के लिए अलग-अलग इस ग्रुप बना देना यह कहीं से भी उचित नहीं है और सरकार को इस नियम में जल्द से जल्द बदलाव करना चाहिए और अगर कोई भी व्यक्ति बलात्कार जैसी संगीन जुर्म को अंजाम देता है तो उसे बस फांसी की सजा होनी चाहिए इससे कम कोई भी सजा मुझे नहीं लगता कि बलात्कार जैसे केसेस में मुनासिब होंगे तो सरकार गंभीर बिल्कुल नहीं दिखाई दे रही है महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करने में और आरोपियों को फांसी के फंदे पर लटकाने के लिए इसीलिए उन्होंने 12 वर्ष की एक एज लिमिट बना दी है और अगर इसी तरह से सरकार काम करती रहेगी तो मुझे नहीं लगता है कि आने वाले समय में भी रेप जैसी जो घटना हमारे देश में आज इतनी ज्यादा बढ़ चुकी है उस पर कोई भी लगाम लगाया जा सकेगाYeh Baat Bilkul Sahi Hai Ki Pehle Ke Samay Mein Rape Jaisi Ghatnaye Nahi Hoti Thi Aur Jis Tarah Se Hamari Jansankhya Vriddhi Hui Hai Aur Shiksha Ka Prasaar To Hamare Samaaj Mein Hua Hai Lekin Naitik Shiksha Ka Jo Prachar Hai Wah Bilkul Ruk Gaya Hai Aur Log Mahilaon Ki Izzat Karna Unhen Maan Samman Dena Bilkul Bhultey Ja Rahe Hain To Isi Wajah Se Mujhe Lagta Hai Ki Hamare Samaaj Mein Aaj Rape Ki Jo Ghatnaye Hain Wah Din Pratidin Badhti Ja Rahi Hai Iske Alava Sarkar Ki Vifalta Bhi Hai Ki Wah Sahi Tarike Se Kanoon Nahi Bana Pa Rahi Hai Aur Na Hi Use Laagu Kar Pa Rahi Hai Jiski Wajah Se Is Tarah Ki Apriya Apradhik Mansikta Wale Jo Log Hain Wah Samaaj Mein Khule Ghum Rahe Hain Aur Mahilaon Ke Prati Atyachar Kar Rahe Hain Abhi Haal Mein Hi Pasco Act Mein Jo Badlav Kiya Gaya Hai Jahan Par 12 Varsh Se Kum Ladkiyon Ke Saath Agar Balatkar Hota Hai To Fansi Ka Pravadhan Rakha Gaya Hai Lekin Agar Yahi Balatkar 12 Varsh Se Badi Bacchiyo Ke Saath Badi Mahilaon Ke Saath Hota Hai To Wahan Par Fansi Ka Koi Pravadhan Sarkar Ne Nahi Yeh Saaf Darshaata Hai Ki Sarkar Ki Mansikta Kya Hai Aur Kis Prakar Se Wah Mahilaon Ko Suraksha Pradan Karne Ki Koshish Kar Rahe Hain Kyonki Ek Hi Apradh Ke Liye Alag Alag Is Group Bana Dena Yeh Kahin Se Bhi Uchit Nahi Hai Aur Sarkar Ko Is Niyam Mein Jald Se Jald Badlav Karna Chahiye Aur Agar Koi Bhi Vyakti Balatkar Jaisi Sangeen Jurm Ko Anjaam Deta Hai To Use Bus Fansi Ki Saja Honi Chahiye Isse Kum Koi Bhi Saja Mujhe Nahi Lagta Ki Balatkar Jaise Cases Mein Munaasib Honge To Sarkar Gambhir Bilkul Nahi Dikhai De Rahi Hai Mahilaon Ko Suraksha Pradan Karne Mein Aur Aaropiyon Ko Fansi Ke Fande Par Latkaane Ke Liye Isliye Unhone 12 Varsh Ki Ek Age Limit Bana Di Hai Aur Agar Isi Tarah Se Sarkar Kaam Karti Rahegi To Mujhe Nahi Lagta Hai Ki Aane Wale Samay Mein Bhi Rape Jaisi Jo Ghatna Hamare Desh Mein Aaj Itni Jyada Badh Chuki Hai Us Par Koi Bhi Lagaam Lagaya Ja Sakega
Likes  13  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Bharat Mein Pehle Rape Jaisi Cheezen Nahi Thi Toh Ye Kahaan Se Aaya Aur Bharat In Sabse Kaise Bahar Aaega ?,If There Was No Such Thing As Rape In India Then Where Did It Come From And How Will India Come Out Of Them All?,


vokalandroid