भारत देश अनेकता मे एकता को बताता हे लेकिन ये राजनेता जातिवाद को लेकर क्यों भड़काते हे। ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारा देश अनेकता में एकता का प्रतीक है सदियों से हमारे देश में कई धर्मों के कई संप्रदायों के और कई अलग-अलग तरीके लोग रह रहे हैं और हमारा देश हमेशा शरणागतम की शरणस्थली रहा है इसलिए इस देश में कई बार बा...
जवाब पढ़िये
हमारा देश अनेकता में एकता का प्रतीक है सदियों से हमारे देश में कई धर्मों के कई संप्रदायों के और कई अलग-अलग तरीके लोग रह रहे हैं और हमारा देश हमेशा शरणागतम की शरणस्थली रहा है इसलिए इस देश में कई बार बाहर से लोग आए हैं शरण लेने के लिए और कोई नहीं बच गए हैं तो हमारे देश में हमेशा लोगों को बाहें फैलाए उनका स्वागत किया है और उन्हें हमारा देश अनेकता में एकता की मिसाल है लेकिन हमारे समाज में जातिवाद एक लाइलाज बीमारी की तरह फैल गया है जिसका इलाज हमें कुछ करना पड़ेगा और क्यों उसकी कीटाणु है समाज में जो अंदर तक बैठ गए हैं उन्हें ढूंढ कर निकालना पड़ेगा खत्म करना पड़ेगा जब तक हम खुद जागरुक नहीं इसके प्रति और जब तक हम खुद जातिवाद को अपने मन से अपने दिमाग से नहीं निकालेंगे तब तक हमारी कमजोरी का फायदा हर कोई उठाएगा उसमें नेता लोग भी रहेंगे उसमें पंडित लोग भी रहेंगे उसमें यह जो बाबा लोग हैं वह भी रहेंगे इसलिए की बीमारी हमारे समाज की है और इस बीमारी को खत्म करना वह करना भी हमारा ही हमने इसे अपनी कमजोरी बना लिया है इसीलिए हर कोई आकर हमारी कमजोरी पर प्रहार करता है और हम आहत होते हैं पीड़ित होते हैं और फिर इसको जीते हुए सांप्रदायिक दंगों को कहते हैं और हर तरह की परेशानी को भुगतते हैं इसीलिए जनता को जागरूक होना होगा और जनता को एक होना होगा हमारी हमारी अखंडता ही जातिवाद को समूल नष्ट कर सकती है और इससे जो समस्याएं पैदा हो रही है उन्हें खत्म कर सकती है इसलिए जनता की एकता जरूरHamara Desh Anekata Mein Ekta Ka Pratik Hai Sadiyon Se Hamare Desh Mein Kai Dharmon Ke Kai Sampradayon Ke Aur Kai Alag Alag Tarike Log Rah Rahe Hain Aur Hamara Desh Hamesha Sharanagatam Ki Sharanasthali Raha Hai Isliye Is Desh Mein Kai Baar Bahar Se Log Aaye Hain Sharan Lene Ke Liye Aur Koi Nahi Bach Gaye Hain To Hamare Desh Mein Hamesha Logon Ko Bahen Failaye Unka Swaagat Kiya Hai Aur Unhen Hamara Desh Anekata Mein Ekta Ki Misal Hai Lekin Hamare Samaaj Mein Jaatiwad Ek Laailaaj Bimari Ki Tarah Fail Gaya Hai Jiska Ilaj Hume Kuch Karna Padega Aur Kyun Uski Kitanu Hai Samaaj Mein Jo Andar Tak Baith Gaye Hain Unhen Dhundh Kar Nikalna Padega Khatam Karna Padega Jab Tak Hum Khud Jagaruk Nahi Iske Prati Aur Jab Tak Hum Khud Jaatiwad Ko Apne Man Se Apne Dimag Se Nahi Nikalenge Tab Tak Hamari Kamjori Ka Fayda Har Koi Uthayega Usamen Neta Log Bhi Rahenge Usamen Pandit Log Bhi Rahenge Usamen Yeh Jo Baba Log Hain Wah Bhi Rahenge Isliye Ki Bimari Hamare Samaaj Ki Hai Aur Is Bimari Ko Khatam Karna Wah Karna Bhi Hamara Hi Humne Ise Apni Kamjori Bana Liya Hai Isliye Har Koi Aakar Hamari Kamjori Par Prahar Karta Hai Aur Hum Aahat Hote Hain Peedit Hote Hain Aur Phir Isko Jeete Hue Sampradayik Dango Ko Kehte Hain Aur Har Tarah Ki Pareshani Ko Bhugatate Hain Isliye Janta Ko Jaagruk Hona Hoga Aur Janta Ko Ek Hona Hoga Hamari Hamari Akhandata Hi Jaatiwad Ko Sumul Nasht Kar Sakti Hai Aur Isse Jo Samasyaen Paida Ho Rahi Hai Unhen Khatam Kar Sakti Hai Isliye Janta Ki Ekta Jarur
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं आपको बता दूं कि बाहर देश अनेकता में एकता को पता था यह बात सच है यह जो राजनेता जातिवाद को लेकर जो भड़काती है इसलिए मनाते हैं क्योंकि जब यह लोग अपना भाषण देते हैं और उसमें जो यह जातिवाद को लेकर बैठ ...
जवाब पढ़िये
मैं आपको बता दूं कि बाहर देश अनेकता में एकता को पता था यह बात सच है यह जो राजनेता जातिवाद को लेकर जो भड़काती है इसलिए मनाते हैं क्योंकि जब यह लोग अपना भाषण देते हैं और उसमें जो यह जातिवाद को लेकर बैठ जाती है वह इसलिए भड़काते ताकि इन्हें जातिवाद से ज्यादा वोट मिल जाए यह लोग जातिवाद करके अपनी वोट को बढ़ाते हैं और लोगों के बीच लड़ाई झगड़े करवा देते हैं तो यह लोग अपनी वोटों के लिए ही सब कुछ करते हैं यह राज नेता लोग फोटो के लिए कुछ भी कर सकते हैं इसलिए फोटो के लिए जातिवाद को भड़काते हैंMain Aapko Bata Doon Ki Bahar Desh Anekata Mein Ekta Ko Pata Tha Yeh Baat Sach Hai Yeh Jo Rajneta Jaatiwad Ko Lekar Jo Bhadakati Hai Isliye Manate Hain Kyonki Jab Yeh Log Apna Bhashan Dete Hain Aur Usamen Jo Yeh Jaatiwad Ko Lekar Baith Jati Hai Wah Isliye Bhadakate Taki Inhen Jaatiwad Se Jyada Vote Mil Jaye Yeh Log Jaatiwad Karke Apni Vote Ko Badhate Hain Aur Logon Ke Beech Ladai Jhagde Karava Dete Hain To Yeh Log Apni Voton Ke Liye Hi Sab Kuch Karte Hain Yeh Raj Neta Log Photo Ke Liye Kuch Bhi Kar Sakte Hain Isliye Photo Ke Liye Jaatiwad Ko Bhadakate Hain
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Bharat Desh Anekata Mein Ekta Ko Batata Hai Lekin Ye Raajneta Jaatiwad Ko Lekar Kyon Bhadkate Hai, India Describes Unity In Diversity But Why Do These Politicians Provoke Casteism?

vokalandroid