अगर भगवान नही होता तो क्या होता? ...

Likes  0  Dislikes

4 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
यदि हम किसी से पूछे कि भगवान कौन है तो वैसे ही भगवान हमारी आस्था में हमारे विश्वास में हैं हमारे माइंड में यानी कि भगवान नहीं होते तो हमारा उनके प्रति जो अच्छे विचार होते हैं वह नहीं होते तो यानी कि भगवान भी जब हम किसी परिस्थिति में फंस जाते हैं तो हम भगवान के हाथ में है भगवान ना होते तो मुझे याद नहीं करतेYadi Hum Kisi Se Puche Ki Bhagwan Kaun Hai To Waise Hi Bhagwan Hamari Aastha Mein Hamare Vishwas Mein Hain Hamare Mind Mein Yani Ki Bhagwan Nahi Hote To Hamara Unke Prati Jo Acche Vichar Hote Hain Wah Nahi Hote To Yani Ki Bhagwan Bhi Jab Hum Kisi Paristhiti Mein Phans Jaate Hain To Hum Bhagwan Ke Hath Mein Hai Bhagwan Na Hote To Mujhe Yaad Nahi Karte
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

अपना सवाल पूछिए

0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
लेकिन भगवान नहीं होता तो क्या होता है और भगवान है कि नहीं है यह बहुत ही बड़ा सवाल जो हमारे भारत में हमारे समाज में आए दिन लोग जो है जानने की कोशिश करते हैं देखा जाए तो भगवान को साइंटिफिक लिए किसी ने देखा नहीं आज तक तुम्हें हिसाब से भगवान कि बस हम लोग का विश्वास है भगवान में विश्वास में भगवान हम देख नहीं सकते उन पर विश्वास करते हो हमारे दिल में हमारे विश्वास में दिखे तो भगवान पर विश्वास नहीं तो अगर वह नहीं होता है तो मैं विश्वास अंधविश्वास की एक इंसान को जीवन सफल करने के लिए उस इंसान को जिंदगी जीने की जरूरत होती है ना सीखोगे आरती का मतलब है भगवान पर विश्वास रखना अपने धर्म पर विश्वास रखना आप अपनी जिंदगी जीनाLekin Bhagwan Nahi Hota To Kya Hota Hai Aur Bhagwan Hai Ki Nahi Hai Yeh Bahut Hi Bada Sawal Jo Hamare Bharat Mein Hamare Samaaj Mein Aaye Din Log Jo Hai Jaanne Ki Koshish Karte Hain Dekha Jaye To Bhagwan Ko Scientific Liye Kisi Ne Dekha Nahi Aaj Tak Tumhein Hisab Se Bhagwan Ki Bus Hum Log Ka Vishwas Hai Bhagwan Mein Vishwas Mein Bhagwan Hum Dekh Nahi Sakte Un Par Vishwas Karte Ho Hamare Dil Mein Hamare Vishwas Mein Dikhe To Bhagwan Par Vishwas Nahi To Agar Wah Nahi Hota Hai To Main Vishwas Andhavishvas Ki Ek Insaan Ko Jeevan Safal Karne Ke Liye Us Insaan Ko Zindagi Jeene Ki Zaroorat Hoti Hai Na Aarti Ka Matlab Hai Bhagwan Par Vishwas Rakhna Apne Dharm Par Vishwas Rakhna Aap Apni Zindagi Jeena
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
भगवान बिल्कुल है लेकिन भगवान को देखने के लिए हमारे अंदर इतना शक्ति ही नहीं है जैसे समझे कि भगवान का बनाया हुआ जब हम खुली आंख से सही तरीके से नहीं देख सकते हैं तो भगवान को किस तरह देख सकते हैं अपने आपBhagwan Bilkul Hai Lekin Bhagwan Ko Dekhne Ke Liye Hamare Andar Itna Shakti Hi Nahi Hai Jaise Samjhe Ki Bhagwan Ka Banaya Hua Jab Hum Khuli Aankh Se Sahi Tarike Se Nahi Dekh Sakte Hain To Bhagwan Ko Kis Tarah Dekh Sakte Hain Apne Aap
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Agar Bhagwan Nahi Hota To Kya Hota, If God Were Not, What Would Happen , Kya Bhagwan Hai Ya Nahi, भगवान नहीं होता





मन में है सवाल?