क्यों आज भी मजदूर महिलाएं खुले में शौचालय करने और खुले में नहाने के लिए मजबूर है? ...

Likes  0  Dislikes

2 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
यह जो हमारी भारत सरकार इसके द्वारा प्रत्येक गांव में हर व्यक्ति के लिए जो है टॉयलेट बनी है हर व्यक्ति जो है उसका उपयोग यानी कि बन गई है और जो सरकार की तरफ से भी लाभ आया है उनके लिए जो पैसों का उन्होंने उस का भी उपयोग किया है लेकिन शौचालय है उसका उपयोग भी नहीं करती क्योंकि जानता हूं कि जो गांव के लोग होते हैं वह ऐसा करना नहीं चाहते हैं वह नहीं चाहते हैं भाई सिर्फ यही चाहते हैं कि उनके लिए पैसे मिल जाए भाई यानी कि जो इनकी मानसिकता ही नहीं सुधरेगी ना तब तक कुछ नहीं हो सकता वह मजबूर हैं हम माना कि कुछ लोग मजबूर हैं लेकिन कुछ लोगों के पास टॉयलेट हैं लेकिन उपयोग नहीं करतेYeh Jo Hamari Bharat Sarkar Iske Dwara Pratyek Gav Mein Har Vyakti Ke Liye Jo Hai Toilet Bani Hai Har Vyakti Jo Hai Uska Upyog Yani Ki Ban Gayi Hai Aur Jo Sarkar Ki Taraf Se Bhi Labh Aaya Hai Unke Liye Jo Paison Ka Unhone Us Ka Bhi Upyog Kiya Hai Lekin Sauchalay Hai Uska Upyog Bhi Nahi Karti Kyonki Jaanta Hoon Ki Jo Gav Ke Log Hote Hain Wah Aisa Karna Nahi Chahte Hain Wah Nahi Chahte Hain Bhai Sirf Yahi Chahte Hain Ki Unke Liye Paise Mil Jaye Bhai Yani Ki Jo Inki Mansikta Hi Nahi Sudharegi Na Tab Tak Kuch Nahi Ho Sakta Wah Majboor Hain Hum Mana Ki Kuch Log Majboor Hain Lekin Kuch Logon Ke Paas Toilet Hain Lekin Upyog Nahi Karte
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

अपना सवाल पूछिए

0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
जुने ऐसा तो कोई मजबूरी नहीं है कि जो मजदूर महिलाएं हैं वह खुले में शौचालय करें तो देखिए जिसे सरकार पहले से भी बहुत सारे टॉयलेट के लिए योजना गांव में बनाई है क्योंकि शहर में हर किसी घर पर टॉयलेट रहा था जैसे कि गांव में यह जो प्रक्रिया है टॉयलेट बनाने का सरकार धीरे धीरे कर रही है और लोगों को मैं यह कहना चाहूंगा सर करा कर थोड़ा लेट हो रहा है करने के लिए टॉयलेट की सुविधा तो आप भी बना सकते हैं उसमें ज्यादा खर्चा भी नहीं होता है और जैसे कि ज्यादातर महिलाओं और पुरुषों क्योंकि बच्चे हैं जितने भी इंसान हैं सब को टॉयलेट इस्तेमाल करना चाहिए जो कि सबसे अच्छा हैZune Aisa To Koi Majburi Nahi Hai Ki Jo Majdur Mahilaye Hain Wah Khule Mein Sauchalay Karen To Dekhie Jise Sarkar Pehle Se Bhi Bahut Sare Toilet Ke Liye Yojana Gav Mein Banai Hai Kyonki Sheher Mein Har Kisi Ghar Par Toilet Raha Tha Jaise Ki Gav Mein Yeh Jo Prakriya Hai Toilet Banane Ka Sarkar Dhire Dhire Kar Rahi Hai Aur Logon Ko Main Yeh Kehna Chahunga Sar Kra Kar Thoda Let Ho Raha Hai Karne Ke Liye Toilet Ki Suvidha To Aap Bhi Bana Sakte Hain Usamen Jyada Kharcha Bhi Nahi Hota Hai Aur Jaise Ki Jyadatar Mahilaon Aur Purushon Kyonki Bacche Hain Jitne Bhi Insaan Hain Sab Ko Toilet Istemal Karna Chahiye Jo Ki Sabse Accha Hai
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kyun Aaj Bhi Majdur Mahilaye Khule Mein Sauchalay Karne Aur Khule Mein Nahane Ke Liye Majboor Hai, Why Do I Have To Send A Message From My Friend Or To Send Me A Message?





मन में है सवाल?