पश्चिम बंगाल के पंचायत चुनाव- BJP को सुप्रीम कोर्ट से झटका, क्या इससे BJP को नुकसान होगा ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पश्चिम बंगाल की बात की जाए तो कल ही मैं न्यूज़ पेपर पढ़ रहा था जिसमें मैंने पढ़ा के एक BJP के पंचायत मेंबर की जो चुनाव लड़ रहे थे उनकी बीएमसी कार्यकर्ताओं ने बहुत ज्यादा पिटाई कर दी तो मुझे लगता है कि पश्चिम बंगाल में लॉयन ऑर्डर नाम की कोई चीज नहीं है दूसरा इलेक्शन कमीशन भी एक साफ-सुथरा चुनाव नहीं करा सकता वहां और कहीं ना कहीं टीएमसी के जो कार्य करता है वह पूरी तरह गुंडागर्दी पर उतर आए अगर पश्चिम बंगाल पंचायत चुनाव बीजेपी को सुप्रीम कोर्ट से झटका मिला है तो मैं यह नहीं कहता कि बीजेपी को नुकसान है क्योंकि वहां की जनता इस चीज को देख रही है जिस प्रकार कानून को तोड़ा जा रहा है जिस प्रकार की MC के कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी वहां चल रही है तो आने वाले विधानसभा चुनाव में मुझे लगता है कि कहीं ना कहीं जनता का मोशन भारतीय जनता पार्टी के साथ रहेगा और उसको उसका बेनिफिट मिलेगा लेकिन हां अभी तो के चुनाव होते हैं विधानसभा चुनाव हुए जो भी स्टेट के अंदर चुनाव होते हैं वहां कहीं ना कि सत्तारूढ़ पार्टी का इंश्योरेंस होता है और वही हुआ है अगर में टीएमसी जीती है तो सत्तारूढ़ पार्टी का ही इन्फ्लुएंस है और किसी चीज का नहीं है और सुप्रीम कोर्ट ने से जो भारतीय जनता पार्टी को झटका लगा है तो मुझे लगता है इसका कोई नुकसान नहीं होगा आने वाले विधानसभा चुनाव में जरूर इसका फायदा होगा
Romanized Version
पश्चिम बंगाल की बात की जाए तो कल ही मैं न्यूज़ पेपर पढ़ रहा था जिसमें मैंने पढ़ा के एक BJP के पंचायत मेंबर की जो चुनाव लड़ रहे थे उनकी बीएमसी कार्यकर्ताओं ने बहुत ज्यादा पिटाई कर दी तो मुझे लगता है कि पश्चिम बंगाल में लॉयन ऑर्डर नाम की कोई चीज नहीं है दूसरा इलेक्शन कमीशन भी एक साफ-सुथरा चुनाव नहीं करा सकता वहां और कहीं ना कहीं टीएमसी के जो कार्य करता है वह पूरी तरह गुंडागर्दी पर उतर आए अगर पश्चिम बंगाल पंचायत चुनाव बीजेपी को सुप्रीम कोर्ट से झटका मिला है तो मैं यह नहीं कहता कि बीजेपी को नुकसान है क्योंकि वहां की जनता इस चीज को देख रही है जिस प्रकार कानून को तोड़ा जा रहा है जिस प्रकार की MC के कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी वहां चल रही है तो आने वाले विधानसभा चुनाव में मुझे लगता है कि कहीं ना कहीं जनता का मोशन भारतीय जनता पार्टी के साथ रहेगा और उसको उसका बेनिफिट मिलेगा लेकिन हां अभी तो के चुनाव होते हैं विधानसभा चुनाव हुए जो भी स्टेट के अंदर चुनाव होते हैं वहां कहीं ना कि सत्तारूढ़ पार्टी का इंश्योरेंस होता है और वही हुआ है अगर में टीएमसी जीती है तो सत्तारूढ़ पार्टी का ही इन्फ्लुएंस है और किसी चीज का नहीं है और सुप्रीम कोर्ट ने से जो भारतीय जनता पार्टी को झटका लगा है तो मुझे लगता है इसका कोई नुकसान नहीं होगा आने वाले विधानसभा चुनाव में जरूर इसका फायदा होगाPaschim Bengal Ki Baat Ki Jaye To Kal Hi Main News Paper Padh Raha Tha Jisme Maine Padha Ke Ek BJP Ke Panchayat Member Ki Jo Chunav Lad Rahe The Unki Biemasi Karyakartao Ne Bahut Jyada Pitai Kar Di To Mujhe Lagta Hai Ki Paschim Bengal Mein Layan Order Naam Ki Koi Cheez Nahi Hai Doosra Election Commision Bhi Ek Saaf Suthara Chunav Nahi Kra Sakta Wahan Aur Kahin Na Kahin Tmc Ke Jo Karya Karta Hai Wah Puri Tarah Gundagardi Par Utar Aaye Agar Paschim Bengal Panchayat Chunav Bjp Ko Supreme Court Se Jhatka Mila Hai To Main Yeh Nahi Kahata Ki Bjp Ko Nuksan Hai Kyonki Wahan Ki Janta Is Cheez Ko Dekh Rahi Hai Jis Prakar Kanoon Ko Toda Ja Raha Hai Jis Prakar Ki MC Ke Karyakartao Ki Gundagardi Wahan Chal Rahi Hai To Aane Wale Vidhan Sabha Chunav Mein Mujhe Lagta Hai Ki Kahin Na Kahin Janta Ka Motion Bhartiya Janta Party Ke Saath Rahega Aur Usko Uska Benefit Milega Lekin Haan Abhi To Ke Chunav Hote Hain Vidhan Sabha Chunav Hue Jo Bhi State Ke Andar Chunav Hote Hain Wahan Kahin Na Ki Sattarudh Party Ka Insurance Hota Hai Aur Wahi Hua Hai Agar Mein Tmc Jeeti Hai To Sattarudh Party Ka Hi Imfluens Hai Aur Kisi Cheez Ka Nahi Hai Aur Supreme Court Ne Se Jo Bhartiya Janta Party Ko Jhatka Laga Hai To Mujhe Lagta Hai Iska Koi Nuksan Nahi Hoga Aane Wale Vidhan Sabha Chunav Mein Jarur Iska Fayda Hoga
Likes  2  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

ques_icon

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव पार्टी विशेष पोखरा
Romanized Version
पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव पार्टी विशेष पोखराPaschim Bengal Mein Panchayat Chunav Party Vishesh Pokhara
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पश्चिम बंगाल में 1 दिनों 5 मई को पंचायती चुनाव होने वाले हैं और उसके नामांकन भरने की अंतिम तारीख 9 अप्रैल है बीजेपी ने आरोप लगाया है कि चुनाव में उम्मीदवारों को नामांकन पत्र दाखिल करने की इजाजत नहीं दी जा रही है पार्टी ने देश की सबसे बड़ी अदालत में याचिका दाखिल कर की मांग की थी कि नामांकन नामांकन दाखिल करने की अंतिम तारीख को बढ़ा दिया जाए तथा पिछले दिनों हुई हिंसा को ध्यान में रखते हुए वहां अर्थ सैनिक बलों की तैनाती भी की जाए नामांकन भरते वक्त तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के कार्यकर्ताओं में आपस में झड़प हो गई थी उसमें कई लोग घायल भी हुए और दो लोगों की जान भी चली गई और इसी के चलते जब भाजपा की रैली निकल रही थी तब उसमें आपस में पुलिस और भाजपा की रैली में भी कार्यकर्ताओं की आपस में झड़प हो गई और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया और रबर की बीजेपी कार्यकर्ता हूं मैं सिर्फ 25 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार भी किया गया है और भाजपा कार्यकर्ताओं का यह कहना है कि इस को मद्देनजर रखते हुए उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में अपनी याचिका दायर दायर करिए यही कहते हुए कि पंचायत चुनावों में सुप्रीम कोर्ट दखल दे और उनके कार्यकर्ताओं को नामांकन भरने दे लेकिन आज सुप्रीम कोर्ट का आदेश आया है और सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी की याचिका पर सुनवाई करते हुए पश्चिम बंगाल में होने वाले पंचायत चुनाव में दखल देने से इंकार कर दिया है सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी को सलाह भी दी है कि इस मामले में वह चुनाव आयोग के पास जाने के लिए संपर्क कर सकती है और वहां जाने के लिए वह स्वतंत्र है यह BJP के लिए एक बड़ा झटका है इससे पंचायत चुनाव में जरूर फर्क
Romanized Version
पश्चिम बंगाल में 1 दिनों 5 मई को पंचायती चुनाव होने वाले हैं और उसके नामांकन भरने की अंतिम तारीख 9 अप्रैल है बीजेपी ने आरोप लगाया है कि चुनाव में उम्मीदवारों को नामांकन पत्र दाखिल करने की इजाजत नहीं दी जा रही है पार्टी ने देश की सबसे बड़ी अदालत में याचिका दाखिल कर की मांग की थी कि नामांकन नामांकन दाखिल करने की अंतिम तारीख को बढ़ा दिया जाए तथा पिछले दिनों हुई हिंसा को ध्यान में रखते हुए वहां अर्थ सैनिक बलों की तैनाती भी की जाए नामांकन भरते वक्त तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के कार्यकर्ताओं में आपस में झड़प हो गई थी उसमें कई लोग घायल भी हुए और दो लोगों की जान भी चली गई और इसी के चलते जब भाजपा की रैली निकल रही थी तब उसमें आपस में पुलिस और भाजपा की रैली में भी कार्यकर्ताओं की आपस में झड़प हो गई और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया और रबर की बीजेपी कार्यकर्ता हूं मैं सिर्फ 25 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार भी किया गया है और भाजपा कार्यकर्ताओं का यह कहना है कि इस को मद्देनजर रखते हुए उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में अपनी याचिका दायर दायर करिए यही कहते हुए कि पंचायत चुनावों में सुप्रीम कोर्ट दखल दे और उनके कार्यकर्ताओं को नामांकन भरने दे लेकिन आज सुप्रीम कोर्ट का आदेश आया है और सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी की याचिका पर सुनवाई करते हुए पश्चिम बंगाल में होने वाले पंचायत चुनाव में दखल देने से इंकार कर दिया है सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी को सलाह भी दी है कि इस मामले में वह चुनाव आयोग के पास जाने के लिए संपर्क कर सकती है और वहां जाने के लिए वह स्वतंत्र है यह BJP के लिए एक बड़ा झटका है इससे पंचायत चुनाव में जरूर फर्कPaschim Bengal Mein 1 Dinon 5 May Ko Panchayati Chunav Hone Wale Hain Aur Uske Namankan Bharne Ki Antim Tarikh 9 April Hai Bjp Ne Aarop Lagaya Hai Ki Chunav Mein Ummidwaron Ko Namankan Patra Dakhil Karne Ki Ijajat Nahi Di Ja Rahi Hai Party Ne Desh Ki Sabse Badi Adalat Mein Yachikaa Dakhil Kar Ki Maang Ki Thi Ki Namankan Namankan Dakhil Karne Ki Antim Tarikh Ko Badha Diya Jaye Tatha Pichle Dinon Hui Hinsa Ko Dhyan Mein Rakhate Hue Wahan Arth Sainik Balon Ki Tainati Bhi Ki Jaye Namankan Bharte Waqt Trinmul Congress Aur Bhajpa Ke Karyakartao Mein Aapas Mein Jhadap Ho Gayi Thi Usamen Kai Log Ghaayal Bhi Hue Aur Do Logon Ki Jaan Bhi Chali Gayi Aur Isi Ke Chalte Jab Bhajpa Ki Rally Nikal Rahi Thi Tab Usamen Aapas Mein Police Aur Bhajpa Ki Rally Mein Bhi Karyakartao Ki Aapas Mein Jhadap Ho Gayi Aur Bheed Ko Titar Bitar Karne Ke Liye Police Ne Lathicharj Bhi Kiya Aur Rubber Ki Bjp Karyakarta Hoon Main Sirf 25 Karyakartao Ko Giraftar Bhi Kiya Gaya Hai Aur Bhajpa Karyakartao Ka Yeh Kehna Hai Ki Is Ko Maddenajar Rakhate Hue Unhone Supreme Court Mein Apni Yachikaa Dayar Dayar Kariye Yahi Kehte Hue Ki Panchayat Chunavon Mein Supreme Court Dakhal De Aur Unke Karyakartao Ko Namankan Bharne De Lekin Aaj Supreme Court Ka Aadesh Aaya Hai Aur Supreme Court Ne Bjp Ki Yachikaa Par Sunavai Karte Hue Paschim Bengal Mein Hone Wale Panchayat Chunav Mein Dakhal Dene Se Inkar Kar Diya Hai Supreme Court Ne Bjp Ko Salah Bhi Di Hai Ki Is Mamle Mein Wah Chunav Aayog Ke Paas Jaane Ke Liye Sampark Kar Sakti Hai Aur Wahan Jaane Ke Liye Wah Swatantra Hai Yeh BJP Ke Liye Ek Bada Jhatka Hai Isse Panchayat Chunav Mein Jarur Fark
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज यहां देखें HD क्या होता कि वह पंचायत चुनाव का नामांकन जो है बीजेपी के उम्मीदवार नहीं भर पाए थे जिसकी वजह से उन्होंने कोर्ट में याचिका दायर की थी कि वह हस्तक्षेप करें क्योंकि BJP के कार्यकर्ताओं ने जो है वह कोशिश की थी दूसरी पार्टी वालों पर पुलिस वालों की लास्ट डेट पहुंच गया तो बीजेपी ने याचिका दायर की थी तो नामांकन भरने का आखिरी दिन है उसको बढ़ाया जाए ताकि BJP के बजे जो उम्मीदवार है उसको भर सकेंगे कि सुप्रीम कोर्ट ने जो है वह इस मैटर में इंटरफेयर करने से मना कर दिया और कहा पश्चिम बंगाल इलेक्शन वहां पर जा सकते हैं और जो है अपना वहां पर प्रॉब्लम है बता सकते हैं क्योंकि सुप्रीम कोर्ट जो है इस मामले में इंटरफेयर नहीं करेंगे
Romanized Version
आज यहां देखें HD क्या होता कि वह पंचायत चुनाव का नामांकन जो है बीजेपी के उम्मीदवार नहीं भर पाए थे जिसकी वजह से उन्होंने कोर्ट में याचिका दायर की थी कि वह हस्तक्षेप करें क्योंकि BJP के कार्यकर्ताओं ने जो है वह कोशिश की थी दूसरी पार्टी वालों पर पुलिस वालों की लास्ट डेट पहुंच गया तो बीजेपी ने याचिका दायर की थी तो नामांकन भरने का आखिरी दिन है उसको बढ़ाया जाए ताकि BJP के बजे जो उम्मीदवार है उसको भर सकेंगे कि सुप्रीम कोर्ट ने जो है वह इस मैटर में इंटरफेयर करने से मना कर दिया और कहा पश्चिम बंगाल इलेक्शन वहां पर जा सकते हैं और जो है अपना वहां पर प्रॉब्लम है बता सकते हैं क्योंकि सुप्रीम कोर्ट जो है इस मामले में इंटरफेयर नहीं करेंगेAaj Yahan Dekhen HD Kya Hota Ki Wah Panchayat Chunav Ka Namankan Jo Hai Bjp Ke Ummidvar Nahi Bhar Paye The Jiski Wajah Se Unhone Court Mein Yachikaa Dayar Ki Thi Ki Wah Hastakshep Karen Kyonki BJP Ke Karyakartao Ne Jo Hai Wah Koshish Ki Thi Dusri Party Walon Par Police Walon Ki Last Date Pahunch Gaya To Bjp Ne Yachikaa Dayar Ki Thi To Namankan Bharne Ka Aakhiri Din Hai Usko Badhaya Jaye Taki BJP Ke Baje Jo Ummidvar Hai Usko Bhar Sakenge Ki Supreme Court Ne Jo Hai Wah Is Matter Mein Intarafeyar Karne Se Mana Kar Diya Aur Kaha Paschim Bengal Election Wahan Par Ja Sakte Hain Aur Jo Hai Apna Wahan Par Problem Hai Bata Sakte Hain Kyonki Supreme Court Jo Hai Is Mamle Mein Intarafeyar Nahi Karenge
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Paschim Bengal Ke Panchayat Chunav BJP Ko Supreme Court Se Jhatka Kya Isse BJP Ko Nuksan Hoga ?,West Bengal Panchayat Elections- BJP Shock From Supreme Court, Will It Harm BJP?,


vokalandroid