क्या बेहतर है? पैसे बचाना या सही तरीके से पैसे खर्च करना किसी पल को जीने के लिए ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरी सबसे दिखा दो भाई पैसे को सही तरीके से खर्च करना बेहतर क्योंकि यदि हम ने 100 में से ₹50 बचा 150 ऐसे ही फालतू कामों में बर्बाद कर दी तो उसका क्या फायदा क्या कुछ नहीं ₹50 से चली गई थी हमने ₹50 किसी ...
जवाब पढ़िये
मेरी सबसे दिखा दो भाई पैसे को सही तरीके से खर्च करना बेहतर क्योंकि यदि हम ने 100 में से ₹50 बचा 150 ऐसे ही फालतू कामों में बर्बाद कर दी तो उसका क्या फायदा क्या कुछ नहीं ₹50 से चली गई थी हमने ₹50 किसी अच्छे काम में खर्च की और यदि हमारे पास 50 बच्चे हुए हैं तो हमारे पास 50 है तो हमारे लिए पैसे खर्च कर आया नहीं चाहते किसी भी ठीकMeri Sabse Dikha Do Bhai Paise Ko Sahi Tarike Se Kharch Karna Behtar Kyonki Yadi Hum Ne 100 Mein Se ₹50 Bacha 150 Aise Hi Faltu Kamon Mein Barbad Kar Di To Uska Kya Fayda Kya Kuch Nahi ₹50 Se Chali Gayi Thi Humne ₹50 Kisi Acche Kaam Mein Kharch Ki Aur Yadi Hamare Paas 50 Bacche Hue Hain To Hamare Paas 50 Hai To Hamare Liye Paise Kharch Kar Aaya Nahi Chahte Kisi Bhi Theek
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी भी व्यक्ति की आय कितनी भी हो उसे कुछ न कुछ सेविंग जरूर करनी चाहिए क्योंकि जब इंसान के पास सेविंग होती हैं उसके पास पैसे रहते हैं तो वह ज्यादा कॉन्फिडेंट महसूस करता है और यह बात सभी लोग जानते हैं ...
जवाब पढ़िये
किसी भी व्यक्ति की आय कितनी भी हो उसे कुछ न कुछ सेविंग जरूर करनी चाहिए क्योंकि जब इंसान के पास सेविंग होती हैं उसके पास पैसे रहते हैं तो वह ज्यादा कॉन्फिडेंट महसूस करता है और यह बात सभी लोग जानते हैं अगर कोई ऐसी सिचुएशन हमारी जिंदगी में आ जाता है जहां पर हमें अचानक से कुछ पैसों की जरूरत पड़ती है और हमने पहले से टाइपिंग करके रखी है तो हमें किसी के सामने हाथ फैलाने की आवश्यकता नहीं पड़ती है और हम सारी चीजों को खुद ही हैंडल कर सकते हैं लेकिन अगर कोई व्यक्ति आशा है कि वह अपनी जिंदगी को बस एंजॉय करने में सारे पैसे उड़ा दे रहा है सारे पैसे खर्च कर दे रहा है और उसके पास कोई भी सेविंग नहीं है तो फिर कभी अगर बाई चांस ऐसी सिचुएशन आती है जहां पर कोई इमरजेंसी हो जाती है और उसे पैसों की जरूरत पड़ती है तो उस स्थिति में वह इंसान अपने आप को यह काफी मुश्किल कंडीशन में महसूस करता है और उसे कई लोगों के सामने हाथ फैलाना पड़ता है मदद खानी पड़ती है कई बार मदद तो मिल जाती है लेकिन कई बार ऐसा हमें भी देखने को मिलता है कि मदद नहीं मिल पाती है और उस समय हमें ऐसा महसूस होता है यह एहसास होता है कि काश हमने कुछ पैसे बचा लिए होते तो आज ऐसी सिचुएशन नहीं आती तो मुझे लगता है कि इस तरह की सिचुएशन से बचने का यही तरीका है कि हमें अपनी जो भी सैलरी है जितनी इनकम है उसमें से कुछ परसेंट जरूर सेविंग करनी चाहिए हलाकि हमें अपनी जिंदगी के दो महत्वपूर्ण पल हैं जो खुशी के लम्हे हैं उसे भी जीना चाहिए और एक कंजूस व्यक्ति की तरह बिल्कुल नहीं बनना चाहिए क्योंकि कंजूस व्यक्ति वह होते हैं जो जरूरी चीजों पर भी पैसे खर्च नहीं करते हैं तो ऐसा बंदा भी मूर्खता है जो भी हमारे अच्छे पल हैं खुशी के पल है उसे भी सही तरीके से सेलिब्रेट करना चाहिए और उसमें कितने पैसे खर्च हो रहे हैं उस पर भी ध्यान देना चाहिएKisi Bhi Vyakti Ki Aay Kitni Bhi Ho Use Kuch N Kuch Saving Jarur Karni Chahiye Kyonki Jab Insaan Ke Paas Saving Hoti Hain Uske Paas Paise Rehte Hain To Wah Jyada Confident Mahsus Karta Hai Aur Yeh Baat Sabhi Log Jante Hain Agar Koi Aisi Situation Hamari Zindagi Mein Aa Jata Hai Jahan Par Hume Achanak Se Kuch Paison Ki Zaroorat Padhti Hai Aur Humne Pehle Se Typing Karke Rakhi Hai To Hume Kisi Ke Samane Hath Phailane Ki Avashyakta Nahi Padhti Hai Aur Hum Saree Chijon Ko Khud Hi Handle Kar Sakte Hain Lekin Agar Koi Vyakti Asha Hai Ki Wah Apni Zindagi Ko Bus Enjoy Karne Mein Sare Paise Uda De Raha Hai Sare Paise Kharch Kar De Raha Hai Aur Uske Paas Koi Bhi Saving Nahi Hai To Phir Kabhi Agar Bai Chance Aisi Situation Aati Hai Jahan Par Koi Emergency Ho Jati Hai Aur Use Paison Ki Zaroorat Padhti Hai To Us Sthiti Mein Wah Insaan Apne Aap Ko Yeh Kafi Mushkil Condition Mein Mahsus Karta Hai Aur Use Kai Logon Ke Samane Hath Faillana Padata Hai Madad Khaani Padhti Hai Kai Baar Madad To Mil Jati Hai Lekin Kai Baar Aisa Hume Bhi Dekhne Ko Milta Hai Ki Madad Nahi Mil Pati Hai Aur Us Samay Hume Aisa Mahsus Hota Hai Yeh Ehsaas Hota Hai Ki Kash Humne Kuch Paise Bacha Liye Hote To Aaj Aisi Situation Nahi Aati To Mujhe Lagta Hai Ki Is Tarah Ki Situation Se Bachane Ka Yahi Tarika Hai Ki Hume Apni Jo Bhi Salary Hai Jitni Income Hai Usamen Se Kuch Percent Jarur Saving Karni Chahiye Halaki Hume Apni Zindagi Ke Do Mahatvapurna Pal Hain Jo Khushi Ke Lamhe Hain Use Bhi Jeena Chahiye Aur Ek Kanjus Vyakti Ki Tarah Bilkul Nahi Banana Chahiye Kyonki Kanjus Vyakti Wah Hote Hain Jo Zaroori Chijon Par Bhi Paise Kharch Nahi Karte Hain To Aisa Banda Bhi Murkhta Hai Jo Bhi Hamare Acche Pal Hain Khushi Ke Pal Hai Use Bhi Sahi Tarike Se Celebrate Karna Chahiye Aur Usamen Kitne Paise Kharch Ho Rahe Hain Us Par Bhi Dhyan Dena Chahiye
Likes  12  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे लगता कि पैसे बचाना बहुत ही जरूरी चीज है और वह आगे चलकर आपको बहुत लाभ देता है परंतु उसी जगह पर आपको पैसे खर्च करना भी जरूरी होता है कहीं कहीं जगह पर इसके लिए पैसे बचाना और खर्च करने में जो मिडिल स...
जवाब पढ़िये
मुझे लगता कि पैसे बचाना बहुत ही जरूरी चीज है और वह आगे चलकर आपको बहुत लाभ देता है परंतु उसी जगह पर आपको पैसे खर्च करना भी जरूरी होता है कहीं कहीं जगह पर इसके लिए पैसे बचाना और खर्च करने में जो मिडिल सलूशन जो बीच का सलूशन निकलता है वह यह है कि आप अपना पैसा खर्च वहां करें जिसमें आपको बहुत ज्यादा जरूरत है या फिर जो चीज आपके लिए बहुत इंपोर्टेंट है और उससे आपको कुछ ना कुछ फायदा लॉन्ग टाइम के लिए मिलेगा और उसी उसी खर्चे के साथ-साथ आप पैसे बचाने का भी सोचे क्योंकि आप जब भी किसी इंसान के पास उसकी मंथली सैलरी आती है तो कोशिश करें कि आप शुरुआत में ही जो सेविंग का पैसा है उसको निकालकर अलग रख दें और खर्चे के लिए अपनी लिमिट बनाने कि आपको इतने ही पैसे में खर्चा करना है और इतने में जब आपकी एज लिमिट पहले ही बंध जाएगी तो आप ज्यादा खर्चा नहीं करेंगे फालतू चीजों में खर्चा नहीं करेंगे क्योंकि आम आम आम टाइम में लोग अलग जूलियस चीजों में या फिर वेस्ट की चीजों में खर्चा कर देते हैं जो कि उनके काम की नहीं होती और बाद में उनको इस चीज पर ग्रेट होता है कि उन्होंने इतना खर्चा क्यों कर दिया क्योंकि यह चीज है तो बेस्ट है उनके लिए और जो पैसे बचाने की बात है वह इस तरह के अगर आप ऐसा धीरे-धीरे करके अभी से बचाएंगे तो आपके ओल्ड एज के टाइम में आपको पैसा बहुत ज्यादा मदद करेगा और आप तो उस पैसे को बचाकर इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं अच्छी या फिर उसकी FD करा सकते हैं या फिर कुछ और भी कर सकते हैं उससे आपकी अगर लोग जो भी लाइफ के प्लान शो और जो लोग बिजनेस स्टार्ट करने की कोशिश करते हैं कुछ करना चाहते हैं उनके लिए भी पैसा बचाना बहुत जरूरी है और किसी भी आम लालू इंसान के लिए भी पैसा बचाना बहुत जरूरी है क्योंकि पैसे बचाने से आपके अंदर कहीं ना कहीं मैनेजमेंट स्किल्स आती है कि आप कैसे खर्चे भी चला सकते हैं और पैसा भी बचा सकते तो यह दोनों ही चीजें = इंपोर्टेंस रखती है बराबर महत्व रखती हैं आप यह कंपनी कर सकते कि पैसा बचाना ही चाहिए या पैसा खर्च करना चाहिएMujhe Lagta Ki Paise Bachaana Bahut Hi Zaroori Cheez Hai Aur Wah Aage Chalkar Aapko Bahut Labh Deta Hai Parantu Ussi Jagah Par Aapko Paise Kharch Karna Bhi Zaroori Hota Hai Kahin Kahin Jagah Par Iske Liye Paise Bachaana Aur Kharch Karne Mein Jo Middle Salution Jo Beech Ka Salution Nikalta Hai Wah Yeh Hai Ki Aap Apna Paisa Kharch Wahan Karen Jisme Aapko Bahut Jyada Zaroorat Hai Ya Phir Jo Cheez Aapke Liye Bahut Important Hai Aur Usse Aapko Kuch Na Kuch Fayda Long Time Ke Liye Milega Aur Ussi Ussi Kharche Ke Saath Saath Aap Paise Bachane Ka Bhi Soche Kyonki Aap Jab Bhi Kisi Insaan Ke Paas Uski Monthly Salary Aati Hai To Koshish Karen Ki Aap Shuruvat Mein Hi Jo Saving Ka Paisa Hai Usko Nikalakar Alag Rakh Dein Aur Kharche Ke Liye Apni Limit Banane Ki Aapko Itne Hi Paise Mein Kharcha Karna Hai Aur Itne Mein Jab Aapki Age Limit Pehle Hi Bandh Jayegi To Aap Jyada Kharcha Nahi Karenge Faltu Chijon Mein Kharcha Nahi Karenge Kyonki Aam Aam Aam Time Mein Log Alag Julius Chijon Mein Ya Phir West Ki Chijon Mein Kharcha Kar Dete Hain Jo Ki Unke Kaam Ki Nahi Hoti Aur Baad Mein Unko Is Cheez Par Great Hota Hai Ki Unhone Itna Kharcha Kyun Kar Diya Kyonki Yeh Cheez Hai To Best Hai Unke Liye Aur Jo Paise Bachane Ki Baat Hai Wah Is Tarah Ke Agar Aap Aisa Dhire Dhire Karke Abhi Se Bachaenge To Aapke Old Age Ke Time Mein Aapko Paisa Bahut Jyada Madad Karega Aur Aap To Us Paise Ko Bachakar Investment Kar Sakte Hain Acchi Ya Phir Uski FD Kra Sakte Hain Ya Phir Kuch Aur Bhi Kar Sakte Hain Usse Aapki Agar Log Jo Bhi Life Ke Plan Show Aur Jo Log Business Start Karne Ki Koshish Karte Hain Kuch Karna Chahte Hain Unke Liye Bhi Paisa Bachaana Bahut Zaroori Hai Aur Kisi Bhi Aam Lalu Insaan Ke Liye Bhi Paisa Bachaana Bahut Zaroori Hai Kyonki Paise Bachane Se Aapke Andar Kahin Na Kahin Management Skills Aati Hai Ki Aap Kaise Kharche Bhi Chala Sakte Hain Aur Paisa Bhi Bacha Sakte To Yeh Dono Hi Cheezen = Importance Rakhti Hai Barabar Mahatva Rakhti Hain Aap Yeh Company Kar Sakte Ki Paisa Bachaana Hi Chahiye Ya Paisa Kharch Karna Chahiye
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिग्गी पैसा कमाना है पैसा खर्च करना दोनों अलग-अलग चीज है सबसे पहली चीज तो यह हर एक इंसान ने आज के टाइम में पैसे को अपनी पार्टी बना लिया है या नहीं पैसे की सबसे बड़ी जिसके लिए अपने कुल मिलाकर पहले तो ए...
जवाब पढ़िये
डिग्गी पैसा कमाना है पैसा खर्च करना दोनों अलग-अलग चीज है सबसे पहली चीज तो यह हर एक इंसान ने आज के टाइम में पैसे को अपनी पार्टी बना लिया है या नहीं पैसे की सबसे बड़ी जिसके लिए अपने कुल मिलाकर पहले तो एक स्वस्थ व्यक्ति पैसे कमाने की लालसा में अपना स्वास्थ्य खराब करता है और स्वास्थ्य खराब स्वास्थ्य को सही करने के लिए फिर पैसा करती है तू पैसे को बना लिया गया है खुशी भी सब कुछ नहीं है खाना पीना सब कुछ पहली चीज तो यह निश्चित तौर पर कमाना पैसा हम आ रहे हैं यदि आप इतनी मेहनत से कमा रहे हैं तो उसको उड़ा देना फिजूल खर्चे करना बहुत गलत चीज क्योंकि आपको अपनी मेहनत पर जो है आप को समझना चाहिए जो हमेशा सबसे पहली चीज है आप बहुत अच्छे खानदान से वामीरो गरीबों को पैसा कमा रहे हैं वह मेरा सर आपके नहीं तो किसी आपके पिताजी की या किसी और ने की मेहनत तो पैसा हमेशा कायदे से खर्च करना चाहिए या नहीं फिजूलखर्ची जहां ₹10 में काम हो सकता है वह ₹20 खर्च नहीं करने चाहिए और जहां आपको खुशी ₹20 खर्च करने में मिल सकती थी वहां ₹10 खर्च करके पैसा नहीं बचाना चाहिए तो कुल मिलाकर आप ही खुशियां पर इंपॉर्टेंट हो जाती है अगर आपको खुशी ₹20 खर्च करने में हो रही है तो आप ₹20 खर्च कीजिए और अगर आपकी खुशी रुपए खर्च करने में ₹10 खर्च पैसा नहीं खर्च करना है केवल जॉब करने के लिएDiggi Paisa Kamana Hai Paisa Kharch Karna Dono Alag Alag Cheez Hai Sabse Pehli Cheez To Yeh Har Ek Insaan Ne Aaj Ke Time Mein Paise Ko Apni Party Bana Liya Hai Ya Nahi Paise Ki Sabse Badi Jiske Liye Apne Kul Milakar Pehle To Ek Swasth Vyakti Paise Kamane Ki Lalasa Mein Apna Swasthya Kharab Karta Hai Aur Swasthya Kharab Swasthya Ko Sahi Karne Ke Liye Phir Paisa Karti Hai Tu Paise Ko Bana Liya Gaya Hai Khushi Bhi Sab Kuch Nahi Hai Khana Peena Sab Kuch Pehli Cheez To Yeh Nishchit Taur Par Kamana Paisa Hum Aa Rahe Hain Yadi Aap Itni Mehnat Se Kama Rahe Hain To Usko Uda Dena Fizool Kharche Karna Bahut Galat Cheez Kyonki Aapko Apni Mehnat Par Jo Hai Aap Ko Samajhna Chahiye Jo Hamesha Sabse Pehli Cheez Hai Aap Bahut Acche Khandan Se Vamiro Garibon Ko Paisa Kama Rahe Hain Wah Mera Sar Aapke Nahi To Kisi Aapke Pitaji Ki Ya Kisi Aur Ne Ki Mehnat To Paisa Hamesha Kayade Se Kharch Karna Chahiye Ya Nahi Fijulakharchi Jahan ₹10 Mein Kaam Ho Sakta Hai Wah ₹20 Kharch Nahi Karne Chahiye Aur Jahan Aapko Khushi ₹20 Kharch Karne Mein Mil Sakti Thi Wahan ₹10 Kharch Karke Paisa Nahi Bachaana Chahiye To Kul Milakar Aap Hi Khushiyan Par Important Ho Jati Hai Agar Aapko Khushi ₹20 Kharch Karne Mein Ho Rahi Hai To Aap ₹20 Kharch Kijiye Aur Agar Aapki Khushi Rupaiye Kharch Karne Mein ₹10 Kharch Paisa Nahi Kharch Karna Hai Kewal Job Karne Ke Liye
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kya Behtar Hai Paise Bachaana Ya Sahi Tarike Se Paise Kharch Karna Kisi Pal Ko Jeene Ke Liye ?, What Is Better? Save Money Or Spend Money Right Away To Live A Moment?

vokalandroid