मुझे स्वतंत्र जीवन चाहिए, लेकिन माता-पिता के खराब स्वास्थ्य के कारण मैं उन्हें छोड़ नहीं सकता। मैं क्या करूँ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या आपको एक बात मालूम है जब हमारे पास कोई रिस्पांसिबिलिटी नहीं रहती तब हमें कुछ करने का मन ही नहीं करता हमें उतना एक्साइटमेंट रहता नहीं है लाइफ में लेकिन जब हमारे सर पर स्मार्ट ब्रिटिश होती है तभी हमें सब कुछ करने का मन करता है तभी हमें बाहर जाना है तभी हमें आउट ऑफ स्टेशन जाना है तभी हमें नए कोर्सेज करना है तभी हमें सब कुछ नया करना है सब कुछ तय आउट करना है सब कुछ बदलना है तो वह भजन भेजो जल्दी रहती है वह तभी रहती है आप नोटिस कीजिए हमारे सर पर फोन क्वालिटी होती है और हमारे पास फ्रीडम नहीं होता जो आपके पास उस वक्त नहीं है इसको आप कहते हैं कि मैं कल आपके जो मां बाप है उनकी तबीयत ठीक नहीं है जिसकी वजह से आप जो चाहे जितना आपका सत्य उतना अपने लिए अपनी लाइफ के लिए आप कुछ कर नहीं पा रहे हैं यह बहुत ही कॉमन इश्यू है हमारे भारतीय समाज में जहां पर मां बाप की तबीयत ठीक नहीं होती तो सीधा अपने बच्चों पर गिरती है अगर आप अकेले बैठे अकेली बैठी है तो डेफिनटली अनुसार आभार आप पर गिरता है क्योंकि बहुत फ्रस्ट्रेटिंग है उससे बहुत तकलीफ होती है तो आपको चाहिए कि आप थोड़ा वक्त आप मेरे निकालें गिल्ट महसूस ना करें आपको भी खुश रहने का अधिकार है तो आपको एक बैलेंस लेके आना चाहिए जहां पर थोड़ा वक्त आप उनके लिए करेंगे और बाकी वर्क अपने लिए आप रखेंगे बिकॉज़ अगर आप मेंटली डिस्टर्ब हो जाते हैं तो पूरा फैमिली खराब हो जाता है तो आपको चाहिए कि आप अपने लिए टाइम रखें ताकि आपको जो इंपॉर्टेंट चीज है वह आपका सारा चीज तो अब नहीं कर पाएंगे लेकिन जो आपके लिए क्रुशल इंपॉर्टेंट चीज है वह जरूर कीजिएगा वरना यह पछतावा आपको अंदर से जीने नहीं देगा तो आप उनके लिए इमरजेंसी में रहिए जरूरी नहीं कि उनका हाथ पकड़कर आप बैठे उनको समझाइए यह बात इमरजेंसी में उनके साथ रहिए तकलीफ मन के साथ रही है पूरा दिन हर वक्त बताने की आपको जरूरत नहीं है अपनी लाइफ को भी देखिए दोनों के बीच में खेलती बैलेंस है क्या कर देखिए फिर सब कुछ थोड़ा सा बैटल लगेगा आपको
क्या आपको एक बात मालूम है जब हमारे पास कोई रिस्पांसिबिलिटी नहीं रहती तब हमें कुछ करने का मन ही नहीं करता हमें उतना एक्साइटमेंट रहता नहीं है लाइफ में लेकिन जब हमारे सर पर स्मार्ट ब्रिटिश होती है तभी हमें सब कुछ करने का मन करता है तभी हमें बाहर जाना है तभी हमें आउट ऑफ स्टेशन जाना है तभी हमें नए कोर्सेज करना है तभी हमें सब कुछ नया करना है सब कुछ तय आउट करना है सब कुछ बदलना है तो वह भजन भेजो जल्दी रहती है वह तभी रहती है आप नोटिस कीजिए हमारे सर पर फोन क्वालिटी होती है और हमारे पास फ्रीडम नहीं होता जो आपके पास उस वक्त नहीं है इसको आप कहते हैं कि मैं कल आपके जो मां बाप है उनकी तबीयत ठीक नहीं है जिसकी वजह से आप जो चाहे जितना आपका सत्य उतना अपने लिए अपनी लाइफ के लिए आप कुछ कर नहीं पा रहे हैं यह बहुत ही कॉमन इश्यू है हमारे भारतीय समाज में जहां पर मां बाप की तबीयत ठीक नहीं होती तो सीधा अपने बच्चों पर गिरती है अगर आप अकेले बैठे अकेली बैठी है तो डेफिनटली अनुसार आभार आप पर गिरता है क्योंकि बहुत फ्रस्ट्रेटिंग है उससे बहुत तकलीफ होती है तो आपको चाहिए कि आप थोड़ा वक्त आप मेरे निकालें गिल्ट महसूस ना करें आपको भी खुश रहने का अधिकार है तो आपको एक बैलेंस लेके आना चाहिए जहां पर थोड़ा वक्त आप उनके लिए करेंगे और बाकी वर्क अपने लिए आप रखेंगे बिकॉज़ अगर आप मेंटली डिस्टर्ब हो जाते हैं तो पूरा फैमिली खराब हो जाता है तो आपको चाहिए कि आप अपने लिए टाइम रखें ताकि आपको जो इंपॉर्टेंट चीज है वह आपका सारा चीज तो अब नहीं कर पाएंगे लेकिन जो आपके लिए क्रुशल इंपॉर्टेंट चीज है वह जरूर कीजिएगा वरना यह पछतावा आपको अंदर से जीने नहीं देगा तो आप उनके लिए इमरजेंसी में रहिए जरूरी नहीं कि उनका हाथ पकड़कर आप बैठे उनको समझाइए यह बात इमरजेंसी में उनके साथ रहिए तकलीफ मन के साथ रही है पूरा दिन हर वक्त बताने की आपको जरूरत नहीं है अपनी लाइफ को भी देखिए दोनों के बीच में खेलती बैलेंस है क्या कर देखिए फिर सब कुछ थोड़ा सा बैटल लगेगा आपको
Likes  72  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

मैं अपने माता-पिता को अपने बॉयफ्रेंड के घर मुझे जाने देने के लिए कैसे मनाऊं? ...

आप अपने माता पिता के सामने बड़े रिकॉर्डेड शब्दों में अपनी मन की इच्छा को रखें इस लड़की से विवाह करना चाहती हूं यदि उचित समझते होंगे यदि वह उनकी प्रतिष्ठा के अनुकूल होगा यदि वह परिवार की मापदंडों के अनजवाब पढ़िये
ques_icon

मुझे OCD है जो हर रोज खराब होता जा रहा है लेकिन मेरे पास ऐसा कोई नहीं है जो इसे समझता हो, मैं इसे समझा भी नहीं सकता। मुझे क्या करना चाहिए?

अक्षरधाम मंदिर नौकरी करते हैं कि जी हिंदुस्तान में मुस्लिम और नेट नहीं है क्या ग्रुप का नहीं है मेंटल है तो लेते हैं इंतहा की तकलीफों को लेकर तो परिवार को तुम्हारा बहन ने तुम को पाला बंद है क्या करेंजवाब पढ़िये
ques_icon

मैं IAS बनना चाहता हूँ लेकिन घर की आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण छोड़ रहा हु क्या ये सही है ? ...

देखिए आप के घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है और आप आईएएस बनना चाहते हैं तो देखिए मेहनत हिम्मत मत हारिए मेहनत कीजिए रास्ते निकाल लिए रास्ता खोजिए हो क्या आप अपनी लाइफ में सक्सेस हो जाएंगे जल के निकलो जवाब पढ़िये
ques_icon

मैं अपने जीवन मे क्या करूँ कुछ समझ मे नहीं आ रहा है तो मुझे क्या करना चाहिए? ...

यह मेरे मित्र केवल आपकी समस्या नहीं है अपितु आज की पीढ़ी जो इससे क्या पद्धति से पढ़ रही है तो समस्त विद्यार्थियों की पीजी करने के बाद एम ए करने के बाद में यही स्थिति होती है जो आपके क्योंकि यह जो हमारजवाब पढ़िये
ques_icon

मेरे परीक्षा के बाद 24 दिन बचे हैं मेरी लवर की तबीयत खराब है मैं क्या करूं ? ...

देखिए अगर किसी की तबीयत खराब है और आपकी परीक्षा को 24 दिन बचे हैं तो आपके लवर की जो जिससे पता रहे कि तब तो तबीयत खराब है तो उसके भी घर वाले तो होंगे तो उसके घर वाले उसका और ज्यादा अगर आपको उसकी चिंता जवाब पढ़िये
ques_icon

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं आपकी भावनाओं को समझ पा रही हूं कि आप एक स्वतंत्र जीवन नहीं जी पा रहे हैं इसमें बहुत सारी पॉसिबिलिटी है कि आप बहुत सारी चीजें नहीं कर पा रहे हैं जो अगर आपकी पिक आपकी माता पिता का स्वास्थ्य अच्छा होता तो आप कर पाते अब इसमें कुछ चीजें समझने वाली है कि अगर आपको अगर आपको वह फ्रीडम मिल जाती है अगर आपके पैरेंट्स ही कहते हैं कि कि आप चले जाओ ठीक है हम अपने अपने आप को संभाल लेंगे तो क्या और अगर उनकी पीछे से तबीयत बिगड़ती है तो क्या आप उस गेट के बाहर आ पाएंगे दूसरी चीज यह समझने वाली है कि कि आप अपने माता पिता को ही समझाइए कि उनका उनका जीवन और आपका जीवन जुड़ा हुआ है ठीक है आपकी अगर वह ठीक नहीं है तो आप खुश रह नहीं पाएंगे और आप खुश नहीं हो तो वह खुश नहीं रह पाएंगे तो यहां पर यह समझने की जरूरत है कि वह भी आप उनके स्वास्थ्य का ख्याल रखें वह भी अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखें अगर वह अपने स्वास्थ्य का ख्याल नहीं रखेंगे तो बीमारी से बाहर आना इतना आसान नहीं हो पाएगा दवाइयां टाइम पर लेना थोड़ी एक्सरसाइज करना खाना समय पर खाना और जैसे ही वह अपना ख्याल रखने लगेंगे कुछ ही टाइम बाद काफी रिकवर हो सकते हैं इसके अलावा पिक हेल्प भी रख सकते हैं जो आपकी जो उनकी मदद करेगा आप काफी सारी चीजे कर पाएंगे एक हद तक आपको काफी फ्रीडम मर जाएगी आपकी सारी चीजों से मैं आखिर में यही कहना चाहूंगी कि हिम्मत मत हारिए फैमिली में खुशियां और पॉसिबिलिटी हमेशा बट जाती हैं तो इसका हिम्मत से सामना कीजिए
Romanized Version
मैं आपकी भावनाओं को समझ पा रही हूं कि आप एक स्वतंत्र जीवन नहीं जी पा रहे हैं इसमें बहुत सारी पॉसिबिलिटी है कि आप बहुत सारी चीजें नहीं कर पा रहे हैं जो अगर आपकी पिक आपकी माता पिता का स्वास्थ्य अच्छा होता तो आप कर पाते अब इसमें कुछ चीजें समझने वाली है कि अगर आपको अगर आपको वह फ्रीडम मिल जाती है अगर आपके पैरेंट्स ही कहते हैं कि कि आप चले जाओ ठीक है हम अपने अपने आप को संभाल लेंगे तो क्या और अगर उनकी पीछे से तबीयत बिगड़ती है तो क्या आप उस गेट के बाहर आ पाएंगे दूसरी चीज यह समझने वाली है कि कि आप अपने माता पिता को ही समझाइए कि उनका उनका जीवन और आपका जीवन जुड़ा हुआ है ठीक है आपकी अगर वह ठीक नहीं है तो आप खुश रह नहीं पाएंगे और आप खुश नहीं हो तो वह खुश नहीं रह पाएंगे तो यहां पर यह समझने की जरूरत है कि वह भी आप उनके स्वास्थ्य का ख्याल रखें वह भी अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखें अगर वह अपने स्वास्थ्य का ख्याल नहीं रखेंगे तो बीमारी से बाहर आना इतना आसान नहीं हो पाएगा दवाइयां टाइम पर लेना थोड़ी एक्सरसाइज करना खाना समय पर खाना और जैसे ही वह अपना ख्याल रखने लगेंगे कुछ ही टाइम बाद काफी रिकवर हो सकते हैं इसके अलावा पिक हेल्प भी रख सकते हैं जो आपकी जो उनकी मदद करेगा आप काफी सारी चीजे कर पाएंगे एक हद तक आपको काफी फ्रीडम मर जाएगी आपकी सारी चीजों से मैं आखिर में यही कहना चाहूंगी कि हिम्मत मत हारिए फैमिली में खुशियां और पॉसिबिलिटी हमेशा बट जाती हैं तो इसका हिम्मत से सामना कीजिएMain Aapki Bhavnao Ko Samajh Pa Rahi Hoon Ki Aap Ek Swatantra Jeevan Nahi G Pa Rahe Hain Isme Bahut Saree Pasibiliti Hai Ki Aap Bahut Saree Cheezen Nahi Kar Pa Rahe Hain Jo Agar Aapki Pic Aapki Mata Pita Ka Swasthya Accha Hota To Aap Kar Paate Ab Isme Kuch Cheezen Samjhne Wali Hai Ki Agar Aapko Agar Aapko Wah Freedom Mil Jati Hai Agar Aapke Parents Hi Kehte Hain Ki Ki Aap Chale Jao Theek Hai Hum Apne Apne Aap Ko Sambhaal Lenge To Kya Aur Agar Unki Piche Se Tabiyat Bigadati Hai To Kya Aap Us Get Ke Bahar Aa Payenge Dusri Cheez Yeh Samjhne Wali Hai Ki Ki Aap Apne Mata Pita Ko Hi Samjhaiye Ki Unka Unka Jeevan Aur Aapka Jeevan Juda Hua Hai Theek Hai Aapki Agar Wah Theek Nahi Hai To Aap Khush Rah Nahi Payenge Aur Aap Khush Nahi Ho To Wah Khush Nahi Rah Payenge To Yahan Par Yeh Samjhne Ki Zaroorat Hai Ki Wah Bhi Aap Unke Swasthya Ka Khayal Rakhen Wah Bhi Apne Swasthya Ka Khayal Rakhen Agar Wah Apne Swasthya Ka Khayal Nahi Rakhenge To Bimari Se Bahar Aana Itna Aasan Nahi Ho Payega Davaaiyaan Time Par Lena Thodi Exercise Karna Khana Samay Par Khana Aur Jaise Hi Wah Apna Khayal Rakhne Lagenge Kuch Hi Time Baad Kafi Recover Ho Sakte Hain Iske Alava Pic Help Bhi Rakh Sakte Hain Jo Aapki Jo Unki Madad Karega Aap Kafi Saree Cheeje Kar Payenge Ek Had Tak Aapko Kafi Freedom Mar Jayegi Aapki Saree Chijon Se Main Aakhir Mein Yahi Kehna Chahungi Ki Himmat Mat Haareeye Family Mein Khushiyan Aur Pasibiliti Hamesha But Jati Hain To Iska Himmat Se Samana Kijiye
Likes  5  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

200 ग्राम ध्यान से सोचें तो हर एक चीज हम यूज करते हैं हम डिसाइड करते हैं और डिसिशन बनाते हैं कि भाई मुझे यह करना है या वह करना है छोटे से छोटा चीज हो या बहुत बड़े डिजिटल लाइफ के एग्जांपल आज सुबह मुझे देख उसमें क्या करना है मैं खुद डिसाइड कर सकता हूं क्या पहन के ऑफिस जाने मैं कुछ करता हूं किन के साथ बात करना है किस कंपनी में काम करना है मेरा प्रोफाइल कैसा होना चाहिए मेरे को यह बिजनेस सूट करता है यह इंसान मेरे लिए सही है मेरी ऐसी वाइफ होनी चाहिए सब चीज का चुनाव हम खुद करते हैं सोच कर देखिए राइट ओके यह बात आपको इसलिए बता रहा हूं कि आप जब बात आती है कि आपके घर में आपके माता-पिता स्वस्थ नहीं है उनका स्वास्थ्य खराब हो रहा है तो आप की क्या जिम्मेदारी बनती है आपको हर चीज छोड़कर उनके प्रति उनको देखना चाहिए उनको देखना ही आप की सबसे पहली प्रायरिटी है वह आपको करना चाहिए माना आप का गोल होगा विष्णु का सब कुछ होगा लेकिन माता-पिता सबसे पहले आते हैं उनका स्वाद सबसे पहले आते हैं अब यह छोड़कर आप कुछ और करें वह अभी जस्टिफाई नहीं है हो सकता है आपका प्रोजेक्ट या प्लांट थोड़ा सा ढीले हो जाए कोई बात नहीं अभी जरूरी क्या है अभी जरूरी है कि मैं अपने घर के माता-पिता जो कि मेरे अपने हैं उनकी सेवा करो और निस्वार्थ भाव से सेवा करूं इसका मतलब यह नहीं है कि आपको अपने गोल से हटा अलग हो जाने कट ऑफ कर देना जी नहीं बोला अपनी जगह आपके दिमाग में जहन में होना चाहिए लेकिन फिलहाल आपके लिए क्या जरूरी है आपके माता-पिता उनकी सेवा करना आपका कर्तव्य बनता है दायित्व है तो उसको आप अच्छे से निभाई है ज्यादा उसमें टेंशन लेने की है सोचने की जरूरत नहीं है दिल्ली में उनके ब्लेसिंग्स की तो जरूरत पड़ेगी ना जब आप अपनी गोल के लिए जाएंगे उनसे आशीर्वाद लेने तो वह इंपॉर्टेंट फिलहाल आज पर फोकस कि आज पर फोकस करेंगे तो आपका कल डेफिनटली अच्छा बन जाएगा गोल को मत हटाइए दहशत
200 ग्राम ध्यान से सोचें तो हर एक चीज हम यूज करते हैं हम डिसाइड करते हैं और डिसिशन बनाते हैं कि भाई मुझे यह करना है या वह करना है छोटे से छोटा चीज हो या बहुत बड़े डिजिटल लाइफ के एग्जांपल आज सुबह मुझे देख उसमें क्या करना है मैं खुद डिसाइड कर सकता हूं क्या पहन के ऑफिस जाने मैं कुछ करता हूं किन के साथ बात करना है किस कंपनी में काम करना है मेरा प्रोफाइल कैसा होना चाहिए मेरे को यह बिजनेस सूट करता है यह इंसान मेरे लिए सही है मेरी ऐसी वाइफ होनी चाहिए सब चीज का चुनाव हम खुद करते हैं सोच कर देखिए राइट ओके यह बात आपको इसलिए बता रहा हूं कि आप जब बात आती है कि आपके घर में आपके माता-पिता स्वस्थ नहीं है उनका स्वास्थ्य खराब हो रहा है तो आप की क्या जिम्मेदारी बनती है आपको हर चीज छोड़कर उनके प्रति उनको देखना चाहिए उनको देखना ही आप की सबसे पहली प्रायरिटी है वह आपको करना चाहिए माना आप का गोल होगा विष्णु का सब कुछ होगा लेकिन माता-पिता सबसे पहले आते हैं उनका स्वाद सबसे पहले आते हैं अब यह छोड़कर आप कुछ और करें वह अभी जस्टिफाई नहीं है हो सकता है आपका प्रोजेक्ट या प्लांट थोड़ा सा ढीले हो जाए कोई बात नहीं अभी जरूरी क्या है अभी जरूरी है कि मैं अपने घर के माता-पिता जो कि मेरे अपने हैं उनकी सेवा करो और निस्वार्थ भाव से सेवा करूं इसका मतलब यह नहीं है कि आपको अपने गोल से हटा अलग हो जाने कट ऑफ कर देना जी नहीं बोला अपनी जगह आपके दिमाग में जहन में होना चाहिए लेकिन फिलहाल आपके लिए क्या जरूरी है आपके माता-पिता उनकी सेवा करना आपका कर्तव्य बनता है दायित्व है तो उसको आप अच्छे से निभाई है ज्यादा उसमें टेंशन लेने की है सोचने की जरूरत नहीं है दिल्ली में उनके ब्लेसिंग्स की तो जरूरत पड़ेगी ना जब आप अपनी गोल के लिए जाएंगे उनसे आशीर्वाद लेने तो वह इंपॉर्टेंट फिलहाल आज पर फोकस कि आज पर फोकस करेंगे तो आपका कल डेफिनटली अच्छा बन जाएगा गोल को मत हटाइए दहशत
Likes  62  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे स्वतंत्र जीवन चाहिए लेकिन माता-पिता का स्वास्थ्य खराब होने के कारण मैं उन्हें छोड़ नहीं सकता मैं उन्हें छोड़ नहीं सकता मैं उन्हें छोड़ नहीं सकता तब तक कार्ल रोजर्स ऐसा बोलते हैं कि हर समस्या का हल व्यक्ति के खुद के अंदर ही होता है आप स्वतंत्र जीवन जीना चाहते हैं यह आप कॉन्शियसली ऐसा सोचते हैं और सोचना कोई गलत भी नहीं है परंतु आपका सबकॉन्शियस आपके व्यक्तित्व की झलक में कितने जनरल प्रसन्न हैं और आप अपने पर्सनल लोगों का कितना केयर करते हैं और यही हर चीज है जो साइकोलॉजिस्ट में आपके सवाल के अंदर ही देख पा रहा हूं कि जो उसका सही उत्तर है वह आपके सवाल के अंदर ही है आप ने शब्दों का चयन किया है कि मैं उन्हें छोड़ नहीं सकता छोड़ नहीं सकता का मतलब ही होता है कि आप सबकॉन्शियसली अनकॉन्शियसली आप छोड़ना नहीं चाहते हैं तो यह आपके जीवन की वास्तविकता है और यह आपका व्यक्तित्व है जो आप एक जनरल प्रश्न है तो जब हम हम हमारे वास्तविकता और हमारी नीड हमारी डिजाइन के बीच में जब क्राइसिस करते हैं जब संघर्ष होता है तब ऐसी सिचुएशन लाइफ में जरूर आती है तो आप दोनों तरफ से सही हैं पर वास्तविकता वास्तविकता है अगर आप उसको जब हंड्रेड परसेंट स्वीकार लेंगे तो आपको स्वतंत्र जीवन जीने के भी बहुत सारे रास्ते इसका सही उत्तर आपके प्रश्न के अंदर ही है और यह सही है आप उन्हें छोड़ नहीं सकते तो नहीं सकते तो यह वास्तविकता है और उसको हंड्रेड परसेंट स्वीकार लीजिए और स्वतंत्र जीवन के लिए आप आपको बहुत सारे रास्ते मिल सकते हैं मां-बाप के साथ में रहकर भी आप छोटी-छोटी खुशियों के माध्यम से बहुत सारी चीजें स्वतंत्र कर सक
मुझे स्वतंत्र जीवन चाहिए लेकिन माता-पिता का स्वास्थ्य खराब होने के कारण मैं उन्हें छोड़ नहीं सकता मैं उन्हें छोड़ नहीं सकता मैं उन्हें छोड़ नहीं सकता तब तक कार्ल रोजर्स ऐसा बोलते हैं कि हर समस्या का हल व्यक्ति के खुद के अंदर ही होता है आप स्वतंत्र जीवन जीना चाहते हैं यह आप कॉन्शियसली ऐसा सोचते हैं और सोचना कोई गलत भी नहीं है परंतु आपका सबकॉन्शियस आपके व्यक्तित्व की झलक में कितने जनरल प्रसन्न हैं और आप अपने पर्सनल लोगों का कितना केयर करते हैं और यही हर चीज है जो साइकोलॉजिस्ट में आपके सवाल के अंदर ही देख पा रहा हूं कि जो उसका सही उत्तर है वह आपके सवाल के अंदर ही है आप ने शब्दों का चयन किया है कि मैं उन्हें छोड़ नहीं सकता छोड़ नहीं सकता का मतलब ही होता है कि आप सबकॉन्शियसली अनकॉन्शियसली आप छोड़ना नहीं चाहते हैं तो यह आपके जीवन की वास्तविकता है और यह आपका व्यक्तित्व है जो आप एक जनरल प्रश्न है तो जब हम हम हमारे वास्तविकता और हमारी नीड हमारी डिजाइन के बीच में जब क्राइसिस करते हैं जब संघर्ष होता है तब ऐसी सिचुएशन लाइफ में जरूर आती है तो आप दोनों तरफ से सही हैं पर वास्तविकता वास्तविकता है अगर आप उसको जब हंड्रेड परसेंट स्वीकार लेंगे तो आपको स्वतंत्र जीवन जीने के भी बहुत सारे रास्ते इसका सही उत्तर आपके प्रश्न के अंदर ही है और यह सही है आप उन्हें छोड़ नहीं सकते तो नहीं सकते तो यह वास्तविकता है और उसको हंड्रेड परसेंट स्वीकार लीजिए और स्वतंत्र जीवन के लिए आप आपको बहुत सारे रास्ते मिल सकते हैं मां-बाप के साथ में रहकर भी आप छोटी-छोटी खुशियों के माध्यम से बहुत सारी चीजें स्वतंत्र कर सक
Likes  15  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह क्वेश्चन बहुत ही अच्छा और बहुत ही महत्वपूर्ण क्वेश्चन है और इसके लिए मैं सबसे पहले वह कल को थैंक यू बोलना चाहूंगा इस क्वेश्चन राइट यहां पर रखने के लिए स्वतंत्र जीवन चाहिए लेकिन माता-पिता की तबीयत के कारण में स्वतंत्र जीवन जी नहीं पा रहा हूं अगर ऐसा जो यूथ जो हमारे समाज का ऐसा यूज़ होता है तो मुझे ऐसा लगता है कि यह सोच बहुत ही अलग है क्योंकि हमारे लिए सबसे पहले हमारी लाइफ में हमारे माता-पिता है और जाहिर सी बात है उसके साथ साथ हमारा करियर भी है हमारे हमारा वह करेगा जिसके लिए हम रात-दिन सपने देखते हैं बड़ी बड़ी चीज अपनी जिंदगी की फ्यूचर की प्लानिंग करते हैं बहुत बड़े-बड़े पैशन रखते हैं लेकिन माता-पिता का हमारी जिंदगी में होना बहुत जरूरी है अगर आपके माता-पिता की तबीयत खराब है और आप सोचते हैं कि यह एक एक वादा है आप की स्वतंत्रता में तो आप बिल्कुल गलत सोचते हैं क्योंकि माता पिता की ब्लेसिंग्स के बगैर आप स्वतंत्र हो भी नहीं सकते हैं क्योंकि आपकी असली स्वतंत्रता आपकी असली सक्सेस से मां-बाप की ब्लेसिंग सुन के आशीर्वाद पर ही टिकी हुई है और जब अगर आपके मां-बाप सही है उनका स्वास्थ्य सही है उसके बाद अब दुनिया की कोई भी जंग कोई भी करियर से रिलेटेड कंपटीशन को जीत सकते हैं अचीव कर सकते हैं तो हमेशा अपने मां बाप को प्राइटी दीजिए अपने माता पिता को प्राइटी दीजिए और कोशिश करिए ज्यादा से ज्यादा ज्यादा से ज्यादा अपने दिमाग में ऐसे आइडिया क्रिएट करिए जो अपने मां बाप की आप तबीयत का ध्यान रखते हुए उसको ड्राइव कर सकें धन्यवाद
Romanized Version
यह क्वेश्चन बहुत ही अच्छा और बहुत ही महत्वपूर्ण क्वेश्चन है और इसके लिए मैं सबसे पहले वह कल को थैंक यू बोलना चाहूंगा इस क्वेश्चन राइट यहां पर रखने के लिए स्वतंत्र जीवन चाहिए लेकिन माता-पिता की तबीयत के कारण में स्वतंत्र जीवन जी नहीं पा रहा हूं अगर ऐसा जो यूथ जो हमारे समाज का ऐसा यूज़ होता है तो मुझे ऐसा लगता है कि यह सोच बहुत ही अलग है क्योंकि हमारे लिए सबसे पहले हमारी लाइफ में हमारे माता-पिता है और जाहिर सी बात है उसके साथ साथ हमारा करियर भी है हमारे हमारा वह करेगा जिसके लिए हम रात-दिन सपने देखते हैं बड़ी बड़ी चीज अपनी जिंदगी की फ्यूचर की प्लानिंग करते हैं बहुत बड़े-बड़े पैशन रखते हैं लेकिन माता-पिता का हमारी जिंदगी में होना बहुत जरूरी है अगर आपके माता-पिता की तबीयत खराब है और आप सोचते हैं कि यह एक एक वादा है आप की स्वतंत्रता में तो आप बिल्कुल गलत सोचते हैं क्योंकि माता पिता की ब्लेसिंग्स के बगैर आप स्वतंत्र हो भी नहीं सकते हैं क्योंकि आपकी असली स्वतंत्रता आपकी असली सक्सेस से मां-बाप की ब्लेसिंग सुन के आशीर्वाद पर ही टिकी हुई है और जब अगर आपके मां-बाप सही है उनका स्वास्थ्य सही है उसके बाद अब दुनिया की कोई भी जंग कोई भी करियर से रिलेटेड कंपटीशन को जीत सकते हैं अचीव कर सकते हैं तो हमेशा अपने मां बाप को प्राइटी दीजिए अपने माता पिता को प्राइटी दीजिए और कोशिश करिए ज्यादा से ज्यादा ज्यादा से ज्यादा अपने दिमाग में ऐसे आइडिया क्रिएट करिए जो अपने मां बाप की आप तबीयत का ध्यान रखते हुए उसको ड्राइव कर सकें धन्यवादYeh Question Bahut Hi Accha Aur Bahut Hi Mahatvapurna Question Hai Aur Iske Liye Main Sabse Pehle Wah Kal Ko Thank You Bolna Chahunga Is Question Right Yahan Par Rakhne Ke Liye Swatantra Jeevan Chahiye Lekin Mata Pita Ki Tabiyat Ke Kaaran Mein Swatantra Jeevan G Nahi Pa Raha Hoon Agar Aisa Jo Youth Jo Hamare Samaaj Ka Aisa Use Hota Hai To Mujhe Aisa Lagta Hai Ki Yeh Soch Bahut Hi Alag Hai Kyonki Hamare Liye Sabse Pehle Hamari Life Mein Hamare Mata Pita Hai Aur Jaahir Si Baat Hai Uske Saath Saath Hamara Career Bhi Hai Hamare Hamara Wah Karega Jiske Liye Hum Raat Din Sapne Dekhte Hain Badi Badi Cheez Apni Zindagi Ki Future Ki Planning Karte Hain Bahut Bade Bade Passion Rakhate Hain Lekin Mata Pita Ka Hamari Zindagi Mein Hona Bahut Zaroori Hai Agar Aapke Mata Pita Ki Tabiyat Kharab Hai Aur Aap Sochte Hain Ki Yeh Ek Ek Vada Hai Aap Ki Svatantrata Mein To Aap Bilkul Galat Sochte Hain Kyonki Mata Pita Ki Blessings Ke Bagair Aap Swatantra Ho Bhi Nahi Sakte Hain Kyonki Aapki Asli Svatantrata Aapki Asli Success Se Maa Baap Ki Blessing Sun Ke Ashirvaad Par Hi Tiki Hui Hai Aur Jab Agar Aapke Maa Baap Sahi Hai Unka Swasthya Sahi Hai Uske Baad Ab Duniya Ki Koi Bhi Jung Koi Bhi Career Se Related Competition Ko Jeet Sakte Hain Achieve Kar Sakte Hain To Hamesha Apne Maa Baap Ko Praiti Dijiye Apne Mata Pita Ko Praiti Dijiye Aur Koshish Kariye Zyada Se Zyada Zyada Se Zyada Apne Dimag Mein Aise Idea Create Kariye Jo Apne Maa Baap Ki Aap Tabiyat Ka Dhyan Rakhate Huye Usko Drive Kar Saken Dhanyavad
Likes  10  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दादुर आता हूं मैं हमेशा सबको यह बोलता हूं कि आपके घर में चली मिशन ₹200000 का स्विच सॉकेट ना चलो जिंदगी होगी अपने कर्तव्य अपने मां-बाप के प्रति जो कर्तव्य को छोड़कर इंडिपेंडेंट हमारे मां-बाप के साथ संबंधित तो मुझे यह लगता कि मामा का जो भी सेवा कर में मां बाप के लिए जो भी कुछ तो करना ही चाहिए
दादुर आता हूं मैं हमेशा सबको यह बोलता हूं कि आपके घर में चली मिशन ₹200000 का स्विच सॉकेट ना चलो जिंदगी होगी अपने कर्तव्य अपने मां-बाप के प्रति जो कर्तव्य को छोड़कर इंडिपेंडेंट हमारे मां-बाप के साथ संबंधित तो मुझे यह लगता कि मामा का जो भी सेवा कर में मां बाप के लिए जो भी कुछ तो करना ही चाहिए
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस तरह के सवाल किए हो सकते हैं सवाल क्वेश्चन चाहिए दूसरा कि मेरी मां बाप की खराब तबीयत के कारण होने छोड़ना नहीं चाहता कि बात करते हैं तो स्वतंत्रता का मतलब हम समझे तो एक जिम्मेदारी के साथ आता है स्वतंत्रता का ना होना नहीं है स्वतंत्रता का मतलब है कि अपनी जिम्मेदारियों को साथ में होते हैं अपना जीवन व्यतीत कहना चाह रहे हैं सब चलता है कि मुझे कोई बंधन नहीं चाहिए मुझे चाहिए जिसमें अपने हिसाब से अपनी तो अगर हम स्वतंत्रता की बात करते हैं हम उस रखी इंडिपेंडेंस की बात करते हैं तो मेरे हिसाब से इसमें उस इंसान के लिए अपने माता पिता की तरह किसी भी तरह का कोई प्रेम या लगाव नहीं है क्योंकि अगर प्रेम यह लगा हो तो वह माता-पिता की का ध्यान नहीं लगता है वह हमें लगता है कि मैं अपनी जिंदगी अपनी तरह से नहीं जी पा रहा हूं कि मेरे पास इस तरह के अपने पेरेंट्स पारिवारिक जिम्मेदारियां हैं नहीं अगर हम अपनी जिम्मेदारियों को अच्छे से नहीं खाते हुए अपनी जिंदगी को अपने ढंग से चीन की मां बाप को भी उससे कोई तकलीफ नहीं होती है कि आपके पास वक्त नहीं है हो सकता है कि आप अपने काम में अपनी जिंदगी में कुछ ज्यादा ही व्यस्त हैं मां-बाप की जिम्मेदारी निभाने के लिए किसी को किसी और को हाय कर सकते हैं इस और संबंधित से मदद ले सकते हैं कि मैं अपनी लाइफ जीना चाहता हूं या जाती हूं हम सोचे कि मैं कर नहीं पा रहा क्योंकि मेरे पास करके जिम्मेदारी है तो मुझे लगता है कि वहां पर प्रेम सद्भाव लगा उस रिश्ते में अगर वह होता तो इस तरह के सवाल हमारे मन में नहीं
इस तरह के सवाल किए हो सकते हैं सवाल क्वेश्चन चाहिए दूसरा कि मेरी मां बाप की खराब तबीयत के कारण होने छोड़ना नहीं चाहता कि बात करते हैं तो स्वतंत्रता का मतलब हम समझे तो एक जिम्मेदारी के साथ आता है स्वतंत्रता का ना होना नहीं है स्वतंत्रता का मतलब है कि अपनी जिम्मेदारियों को साथ में होते हैं अपना जीवन व्यतीत कहना चाह रहे हैं सब चलता है कि मुझे कोई बंधन नहीं चाहिए मुझे चाहिए जिसमें अपने हिसाब से अपनी तो अगर हम स्वतंत्रता की बात करते हैं हम उस रखी इंडिपेंडेंस की बात करते हैं तो मेरे हिसाब से इसमें उस इंसान के लिए अपने माता पिता की तरह किसी भी तरह का कोई प्रेम या लगाव नहीं है क्योंकि अगर प्रेम यह लगा हो तो वह माता-पिता की का ध्यान नहीं लगता है वह हमें लगता है कि मैं अपनी जिंदगी अपनी तरह से नहीं जी पा रहा हूं कि मेरे पास इस तरह के अपने पेरेंट्स पारिवारिक जिम्मेदारियां हैं नहीं अगर हम अपनी जिम्मेदारियों को अच्छे से नहीं खाते हुए अपनी जिंदगी को अपने ढंग से चीन की मां बाप को भी उससे कोई तकलीफ नहीं होती है कि आपके पास वक्त नहीं है हो सकता है कि आप अपने काम में अपनी जिंदगी में कुछ ज्यादा ही व्यस्त हैं मां-बाप की जिम्मेदारी निभाने के लिए किसी को किसी और को हाय कर सकते हैं इस और संबंधित से मदद ले सकते हैं कि मैं अपनी लाइफ जीना चाहता हूं या जाती हूं हम सोचे कि मैं कर नहीं पा रहा क्योंकि मेरे पास करके जिम्मेदारी है तो मुझे लगता है कि वहां पर प्रेम सद्भाव लगा उस रिश्ते में अगर वह होता तो इस तरह के सवाल हमारे मन में नहीं
Likes  14  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राधा ने हमेशा सबको यह बोलता हूं कि आपके घर में चली मिशन ₹200000 का स्विच सॉकेट ना चलो जिंदगी अपने कर्तव्य अपने मां-बाप के प्रति जो कर्तव्य को छोड़कर इंडिपेंडेंट महाभारत के संबंधित तो मुझे यह लगता कि मां-बाप का जो भी सेवा करना है मां बाप के लिए जो भी कुछ तो करना ही चाहिए
राधा ने हमेशा सबको यह बोलता हूं कि आपके घर में चली मिशन ₹200000 का स्विच सॉकेट ना चलो जिंदगी अपने कर्तव्य अपने मां-बाप के प्रति जो कर्तव्य को छोड़कर इंडिपेंडेंट महाभारत के संबंधित तो मुझे यह लगता कि मां-बाप का जो भी सेवा करना है मां बाप के लिए जो भी कुछ तो करना ही चाहिए
Likes  19  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुछ नहीं करना आप की स्वतंत्रता आपके ऊपर है और उनका अर्थ यह है कि उनको प्यार और बाल पोषण किया गया उनके पेरेंट्स की राई उनके लिए तैयार कर सकते हैं और कभी अपने लिए समय निकाल सकते हैं तुमको भी बुरा नहीं लगेगा वह आपसे इतनी बड़ी चीज देते हैं वह आपका चरित्र आपका रूप आपका आर यू रिस्पांसिबिलिटी है रिस्पांसिबिलिटी के साथ ही पावर की होती
कुछ नहीं करना आप की स्वतंत्रता आपके ऊपर है और उनका अर्थ यह है कि उनको प्यार और बाल पोषण किया गया उनके पेरेंट्स की राई उनके लिए तैयार कर सकते हैं और कभी अपने लिए समय निकाल सकते हैं तुमको भी बुरा नहीं लगेगा वह आपसे इतनी बड़ी चीज देते हैं वह आपका चरित्र आपका रूप आपका आर यू रिस्पांसिबिलिटी है रिस्पांसिबिलिटी के साथ ही पावर की होती
Likes  63  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए स्वतंत्र जीवन का मतलब यह कतई नहीं होता कि आप अपने माता-पिता अपने सगे संबंधियों अपने ऊपर निर्भर लोगों के दुख दर्द को ना समझे या फिर समाज को छोड़ दें या फिर आप आवारागर्दी पर उतर रहा है यह बिल्कुल भी सही नहीं है स्वतंत्र का मतलब यह होता है कि आप किसी पर निर्भर ना रहें स्वावलंबी रहे और हर मामले में अपना सर्वोच्च निर्णय आप खुद ले
देखिए स्वतंत्र जीवन का मतलब यह कतई नहीं होता कि आप अपने माता-पिता अपने सगे संबंधियों अपने ऊपर निर्भर लोगों के दुख दर्द को ना समझे या फिर समाज को छोड़ दें या फिर आप आवारागर्दी पर उतर रहा है यह बिल्कुल भी सही नहीं है स्वतंत्र का मतलब यह होता है कि आप किसी पर निर्भर ना रहें स्वावलंबी रहे और हर मामले में अपना सर्वोच्च निर्णय आप खुद ले
Likes  12  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्वतंत्रता बहुत ही अच्छा होता है माता पिता हमारे साथ खराब खराब पास उनका स्वास्थ्य स्वतंत्रता का मतलब होता है कि हम अच्छा करते हुए स्वतंत्र में हम कुछ अच्छा करने की कोशिश करें हम किसी का भला करने की कोशिश करें समाज समाज में समाज
स्वतंत्रता बहुत ही अच्छा होता है माता पिता हमारे साथ खराब खराब पास उनका स्वास्थ्य स्वतंत्रता का मतलब होता है कि हम अच्छा करते हुए स्वतंत्र में हम कुछ अच्छा करने की कोशिश करें हम किसी का भला करने की कोशिश करें समाज समाज में समाज
Likes  14  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अब तो तंत्र जीवन जीना चाहते हैं बट मदर फादर के खराब स्वास्थ्य कहानियां उनके खेल के कारण आप उन्हें छोड़ नहीं सकते बहुत अच्छी बात आपने नहीं छोड़ सकते क्योंकि माता और पिता जी हैं वह अपने सब कुछ है क्योंकि अपने जो आज हम यहां हैं उन्हीं की वजह से हैं उन्हीं की वजह से हम पृथ्वी पर हैं और उन्हीं की वजह से यह सब कुछ करना है तो मत अपना एक पल हर बंदा अपने की ड्यूटी होती है कि हमेशा मम्मी पापा को जो सपोर्ट करें या मम्मी पापा के साथ रहे हैं दूसरी बात अपने दिल की बात आती है तो एनी टाइम कोई माता पिता यह नहीं चाहता कि मेरा बेटा मेरे पास रहेगा और माता-पिता मेरे यह चाहते हैं कि मेरा बेटा मेरा नाम ऊंचा करेगा मेरा नाम बनाएगा मेरा गौरव करेगा एम प्राउड होता है सबको अपने अपने बच्चों पर कि मेरे बच्चे यह काम करेगा वह करेगा और उनको बहुत खुशी मिलती है तो एक्चुली मैं आप पर 0 4 हाउ डू दे 1 दिन में तो 24 आवर यह तो है नहीं कि आप माता मम्मी पापा का फोन आ रहा है टोन 4 हाउ मेनी पापा की कैद करते हो स्कूल में आपको इतना झूठ टाइम होता है वह जो अभी टाइम वेस्ट करते हो उसको अपने कैरियर पर ध्यान देकर उसको मनाने की कोशिश कीजिए तो जो टाइम स्पेंड करते हो आप रेस्ट टाइम निकाल दो उसमें आप उसको यूज कीजिए मिस यूज मत कीजिए टाइम का तो यूज़ करके उसका में कैसे पर ध्यान दीजिए जी धन्यवाद
Romanized Version
अब तो तंत्र जीवन जीना चाहते हैं बट मदर फादर के खराब स्वास्थ्य कहानियां उनके खेल के कारण आप उन्हें छोड़ नहीं सकते बहुत अच्छी बात आपने नहीं छोड़ सकते क्योंकि माता और पिता जी हैं वह अपने सब कुछ है क्योंकि अपने जो आज हम यहां हैं उन्हीं की वजह से हैं उन्हीं की वजह से हम पृथ्वी पर हैं और उन्हीं की वजह से यह सब कुछ करना है तो मत अपना एक पल हर बंदा अपने की ड्यूटी होती है कि हमेशा मम्मी पापा को जो सपोर्ट करें या मम्मी पापा के साथ रहे हैं दूसरी बात अपने दिल की बात आती है तो एनी टाइम कोई माता पिता यह नहीं चाहता कि मेरा बेटा मेरे पास रहेगा और माता-पिता मेरे यह चाहते हैं कि मेरा बेटा मेरा नाम ऊंचा करेगा मेरा नाम बनाएगा मेरा गौरव करेगा एम प्राउड होता है सबको अपने अपने बच्चों पर कि मेरे बच्चे यह काम करेगा वह करेगा और उनको बहुत खुशी मिलती है तो एक्चुली मैं आप पर 0 4 हाउ डू दे 1 दिन में तो 24 आवर यह तो है नहीं कि आप माता मम्मी पापा का फोन आ रहा है टोन 4 हाउ मेनी पापा की कैद करते हो स्कूल में आपको इतना झूठ टाइम होता है वह जो अभी टाइम वेस्ट करते हो उसको अपने कैरियर पर ध्यान देकर उसको मनाने की कोशिश कीजिए तो जो टाइम स्पेंड करते हो आप रेस्ट टाइम निकाल दो उसमें आप उसको यूज कीजिए मिस यूज मत कीजिए टाइम का तो यूज़ करके उसका में कैसे पर ध्यान दीजिए जी धन्यवादAb To Tantra Jeevan Jeena Chahte Hain But Mother Father Ke Kharab Swasthya Kahaniya Unke Khel Ke Kaaran Aap Unhen Chod Nahi Sakte Bahut Acchi Baat Aapne Nahi Chod Sakte Kyonki Mata Aur Pita G Hain Wah Apne Sab Kuch Hai Kyonki Apne Jo Aaj Hum Yahan Hain Unhin Ki Wajah Se Hain Unhin Ki Wajah Se Hum Prithvi Par Hain Aur Unhin Ki Wajah Se Yeh Sab Kuch Karna Hai To Mat Apna Ek Pal Har Banda Apne Ki Duty Hoti Hai Ki Hamesha Mummy Papa Ko Jo Support Karen Ya Mummy Papa Ke Saath Rahe Hain Dusri Baat Apne Dil Ki Baat Aati Hai To Any Time Koi Mata Pita Yeh Nahi Chahta Ki Mera Beta Mere Paas Rahega Aur Mata Pita Mere Yeh Chahte Hain Ki Mera Beta Mera Naam Uncha Karega Mera Naam Bnayega Mera Gaurav Karega Mein Proud Hota Hai Sabko Apne Apne Bacchon Par Ki Mere Bacche Yeh Kaam Karega Wah Karega Aur Unko Bahut Khushi Milti Hai To Atual Main Aap Par 0 4 How Do De 1 Din Mein To 24 Hour Yeh To Hai Nahi Ki Aap Mata Mummy Papa Ka Phone Aa Raha Hai Ton 4 How Many Papa Ki Kaid Karte Ho School Mein Aapko Itna Jhuth Time Hota Hai Wah Jo Abhi Time West Karte Ho Usko Apne Carrier Par Dhyan Dekar Usko Manane Ki Koshish Kijiye To Jo Time Spend Karte Ho Aap Rest Time Nikal Do Usamen Aap Usko Use Kijiye Miss Use Mat Kijiye Time Ka To Use Karke Uska Mein Kaise Par Dhyan Dijiye G Dhanyavad
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिखी कभी कभी ऐसा हो जाता है कि हमें अपने फर्ज और खुशियों में से कुछ एक चुनना पड़ जाता है जैसे कि अभी आपका फर्ज है कि आप अपने माता-पिता के साथ रहे जबकि आपकी खुशी आप को कहते क्या पसंद जीवन तो मुझे लगता कि अभी आपको आपका फर्ज निभाना चाहिए क्योंकि आपके माता पिता ने आपको छोटे से जवाब तो उन्होंने भी अपने कितनी खुशियां गीत अपने कितना कुछ आपके लिए छोड़ दिया होगा सिर्फ आपको पहले पूछने के लिए मैंने आज तक आपको बड़ा कि आपको पैरों पर खड़ा किया है और अगर आप इस टाइम आप आपका फर्ज है अब आपकी बारी आई है कि अपना फर्ज निभाएं अगर आप ऐसे छोड़कर चले जाएंगे तो यह बिल्कुल भी गलत होगा बिल्कुल ही गलत होगा तो मुझे लगता है कि आपके पास बहुत सारा टाइम है कि आप अपनी खुशियां में पूरी कर लेंगे आपको यह जीवन जीने का भी मौका मिलेगा पर जो कि आपके मां-बाप जो बूढ़े हो रहे हैं जिनके पास समय कम है तो अभी आपको उनकी तरफ ध्यान देना चाहिए आप भी आपको अपना फर्ज निभाना चाहिए शुक्रिया
Romanized Version
दिखी कभी कभी ऐसा हो जाता है कि हमें अपने फर्ज और खुशियों में से कुछ एक चुनना पड़ जाता है जैसे कि अभी आपका फर्ज है कि आप अपने माता-पिता के साथ रहे जबकि आपकी खुशी आप को कहते क्या पसंद जीवन तो मुझे लगता कि अभी आपको आपका फर्ज निभाना चाहिए क्योंकि आपके माता पिता ने आपको छोटे से जवाब तो उन्होंने भी अपने कितनी खुशियां गीत अपने कितना कुछ आपके लिए छोड़ दिया होगा सिर्फ आपको पहले पूछने के लिए मैंने आज तक आपको बड़ा कि आपको पैरों पर खड़ा किया है और अगर आप इस टाइम आप आपका फर्ज है अब आपकी बारी आई है कि अपना फर्ज निभाएं अगर आप ऐसे छोड़कर चले जाएंगे तो यह बिल्कुल भी गलत होगा बिल्कुल ही गलत होगा तो मुझे लगता है कि आपके पास बहुत सारा टाइम है कि आप अपनी खुशियां में पूरी कर लेंगे आपको यह जीवन जीने का भी मौका मिलेगा पर जो कि आपके मां-बाप जो बूढ़े हो रहे हैं जिनके पास समय कम है तो अभी आपको उनकी तरफ ध्यान देना चाहिए आप भी आपको अपना फर्ज निभाना चाहिए शुक्रियाDikhi Kabhi Kabhi Aisa Ho Jata Hai Ki Hume Apne Farj Aur Khushiyon Mein Se Kuch Ek Chunana Padh Jata Hai Jaise Ki Abhi Aapka Farj Hai Ki Aap Apne Mata Pita Ke Saath Rahe Jabki Aapki Khushi Aap Ko Kehte Kya Pasand Jeevan To Mujhe Lagta Ki Abhi Aapko Aapka Farj Nibhana Chahiye Kyonki Aapke Mata Pita Ne Aapko Chote Se Jawab To Unhone Bhi Apne Kitni Khushiyan Geet Apne Kitna Kuch Aapke Liye Chod Diya Hoga Sirf Aapko Pehle Poochne Ke Liye Maine Aaj Tak Aapko Bada Ki Aapko Pairon Par Khada Kiya Hai Aur Agar Aap Is Time Aap Aapka Farj Hai Ab Aapki Baari I Hai Ki Apna Farj Nibhaaein Agar Aap Aise Chodkar Chale Jaenge To Yeh Bilkul Bhi Galat Hoga Bilkul Hi Galat Hoga To Mujhe Lagta Hai Ki Aapke Paas Bahut Saara Time Hai Ki Aap Apni Khushiyan Mein Puri Kar Lenge Aapko Yeh Jeevan Jeene Ka Bhi Mauka Milega Par Jo Ki Aapke Maa Baap Jo Budhe Ho Rahe Hain Jinke Paas Samay Kam Hai To Abhi Aapko Unki Taraf Dhyan Dena Chahiye Aap Bhi Aapko Apna Farj Nibhana Chahiye Shukriya
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बात बिल्कुल सही है कि आज के समय में लोग अपने करियर को लेकर और अपनी फ्यूचर को लेकर काफी सजग रहते हैं और यही चाहते हैं कि वह अकेले रहें स्वतंत्र रहे उन पर कोई भी रोक टोक या फिर कोई भी बंदी से ना लगी हो लेकिन अगर आपके माता-पिता आ पर डिपेंडेंट है और उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं है तो मुझे लगता है कि आप को उनके साथ रहना चाहिए और यही कोशिश करनी चाहिए कि आप अपने जॉब में इस तरह की फ्लेक्सिबिलिटी रखें अगर पॉसिबल हो तो कि आप अपने माता-पिता को भी प्रॉपर टेंशन दे सके यानी कि उनका भी ध्यान रख सके तो इसके लिए आप ऐसा कर सकते हैं कि जहां पर आप की जॉब हो उस जगह पर अपने माता पिता को भी लेकर जा सकते हैं ताकि आप अपने जॉब के साथ-साथ अपने माता-पिता का भी ध्यान रखें लेकिन कई बार हम देखते हैं कि जो हमारे माता-पिता होते हैं वह अपने नेटिव प्लेस को मतलब जहां पर वह शुरू से रहते आए हैं उस जगह को छोड़ना नहीं चाहते हैं और यही उनकी कोशिश रहती है कि वह अपनी आखिरी सांसें भी उसी जगह पर ले जहां पर उनका पूरा जीवन कटा है तो इस स्थिति में हमें उन्हें मनाने की कोशिश करनी चाहिए कि आपका जैसे जॉब अगर दूसरी जगह पर है तो आपके लिए पॉसिबल नहीं हो पाएगा कि वह वहां पर चले जाएं जहां पर उनके माता-पिता रहते हैं तो आपकी अगर माता-पिता इस चीज के लिए राजी हो जाते हैं कि जिस शहर में जिस जगह पर आपकी जॉब है वहां पर आपके साथ रहने लगे तो फिर जो भी प्रॉब्लम है वह हल हो सकती है और इसके अलावा तो ज्यादा कोई ऑप्शन नहीं है क्योंकि अगर आप अपनी जॉब को छोड़कर अपने माता-पिता का ध्यान रखने लगेंगे तो फिर आप का खर्चा आपके माता-पिता का गुजारा कैसे चलेगा अगर आपकी शादी हो गई है और आपकी पत्नी अगर इतनी समझदार है तो ऐसा कर सकते हैं कि वह आपके माता-पिता का ध्यान रखें उनके साथ रहे
Romanized Version
यह बात बिल्कुल सही है कि आज के समय में लोग अपने करियर को लेकर और अपनी फ्यूचर को लेकर काफी सजग रहते हैं और यही चाहते हैं कि वह अकेले रहें स्वतंत्र रहे उन पर कोई भी रोक टोक या फिर कोई भी बंदी से ना लगी हो लेकिन अगर आपके माता-पिता आ पर डिपेंडेंट है और उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं है तो मुझे लगता है कि आप को उनके साथ रहना चाहिए और यही कोशिश करनी चाहिए कि आप अपने जॉब में इस तरह की फ्लेक्सिबिलिटी रखें अगर पॉसिबल हो तो कि आप अपने माता-पिता को भी प्रॉपर टेंशन दे सके यानी कि उनका भी ध्यान रख सके तो इसके लिए आप ऐसा कर सकते हैं कि जहां पर आप की जॉब हो उस जगह पर अपने माता पिता को भी लेकर जा सकते हैं ताकि आप अपने जॉब के साथ-साथ अपने माता-पिता का भी ध्यान रखें लेकिन कई बार हम देखते हैं कि जो हमारे माता-पिता होते हैं वह अपने नेटिव प्लेस को मतलब जहां पर वह शुरू से रहते आए हैं उस जगह को छोड़ना नहीं चाहते हैं और यही उनकी कोशिश रहती है कि वह अपनी आखिरी सांसें भी उसी जगह पर ले जहां पर उनका पूरा जीवन कटा है तो इस स्थिति में हमें उन्हें मनाने की कोशिश करनी चाहिए कि आपका जैसे जॉब अगर दूसरी जगह पर है तो आपके लिए पॉसिबल नहीं हो पाएगा कि वह वहां पर चले जाएं जहां पर उनके माता-पिता रहते हैं तो आपकी अगर माता-पिता इस चीज के लिए राजी हो जाते हैं कि जिस शहर में जिस जगह पर आपकी जॉब है वहां पर आपके साथ रहने लगे तो फिर जो भी प्रॉब्लम है वह हल हो सकती है और इसके अलावा तो ज्यादा कोई ऑप्शन नहीं है क्योंकि अगर आप अपनी जॉब को छोड़कर अपने माता-पिता का ध्यान रखने लगेंगे तो फिर आप का खर्चा आपके माता-पिता का गुजारा कैसे चलेगा अगर आपकी शादी हो गई है और आपकी पत्नी अगर इतनी समझदार है तो ऐसा कर सकते हैं कि वह आपके माता-पिता का ध्यान रखें उनके साथ रहेYeh Baat Bilkul Sahi Hai Ki Aaj Ke Samay Mein Log Apne Career Ko Lekar Aur Apni Future Ko Lekar Kafi Sajag Rehte Hain Aur Yahi Chahte Hain Ki Wah Akele Rahen Swatantra Rahe Un Par Koi Bhi Rok Tok Ya Phir Koi Bhi Bandi Se Na Lagi Ho Lekin Agar Aapke Mata Pita Aa Par Dependent Hai Aur Unka Swasthya Theek Nahi Hai To Mujhe Lagta Hai Ki Aap Ko Unke Saath Rehna Chahiye Aur Yahi Koshish Karni Chahiye Ki Aap Apne Job Mein Is Tarah Ki Flexibility Rakhen Agar Possible Ho To Ki Aap Apne Mata Pita Ko Bhi Proper Tension De Sake Yani Ki Unka Bhi Dhyan Rakh Sake To Iske Liye Aap Aisa Kar Sakte Hain Ki Jahan Par Aap Ki Job Ho Us Jagah Par Apne Mata Pita Ko Bhi Lekar Ja Sakte Hain Taki Aap Apne Job Ke Saath Saath Apne Mata Pita Ka Bhi Dhyan Rakhen Lekin Kai Baar Hum Dekhte Hain Ki Jo Hamare Mata Pita Hote Hain Wah Apne Native Place Ko Matlab Jahan Par Wah Shuru Se Rehte Aaye Hain Us Jagah Ko Chodna Nahi Chahte Hain Aur Yahi Unki Koshish Rehti Hai Ki Wah Apni Aakhiri Sansen Bhi Ussi Jagah Par Le Jahan Par Unka Pura Jeevan Kata Hai To Is Sthiti Mein Hume Unhen Manane Ki Koshish Karni Chahiye Ki Aapka Jaise Job Agar Dusri Jagah Par Hai To Aapke Liye Possible Nahi Ho Payega Ki Wah Wahan Par Chale Jayen Jahan Par Unke Mata Pita Rehte Hain To Aapki Agar Mata Pita Is Cheez Ke Liye Raji Ho Jaate Hain Ki Jis Sheher Mein Jis Jagah Par Aapki Job Hai Wahan Par Aapke Saath Rehne Lage To Phir Jo Bhi Problem Hai Wah Hal Ho Sakti Hai Aur Iske Alava To Zyada Koi Option Nahi Hai Kyonki Agar Aap Apni Job Ko Chodkar Apne Mata Pita Ka Dhyan Rakhne Lagenge To Phir Aap Ka Kharcha Aapke Mata Pita Ka Gujara Kaise Chalega Agar Aapki Shadi Ho Gayi Hai Aur Aapki Patni Agar Itni Samajhdar Hai To Aisa Kar Sakte Hain Ki Wah Aapke Mata Pita Ka Dhyan Rakhen Unke Saath Rahe
Likes  15  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप को एक स्वतंत्र जीवन चाहिए यह आपकी अपनी पसंद है लेकिन आपके सवाल में ही आपकी माता पिता के प्रति आपकी चिंता जाहिर हो रही है और जाहिर है कि आप उन्हें छोड़ नहीं सकते हैं और आप कंफ्यूज है कि आपको क्या करना चाहिए मैं सिर्फ इतना कहना चाहती हूं कि स्वतंत्रता अपने आप में एक बहुत बड़ी चीज है और आज की वह चाहते हैं कि वह स्वतंत्र रहे इसके लिए उनके पास कई सारे कारण है जो वाजिब भी माने जा सकते हैं लेकिन फिर भी मुझे लगता है बच्चों को एक बार अपने आप को उन माता पिता की जगह रख कर जरूर सोचना चाहिए कि उन माता पिता ने भी आपके लिए कितने से करूंगी जब कभी भी उनकी भी अकेले रहने की इच्छा हुई होगी तब वह आपको नहीं छोड़ पाए होंगे जो कभी भी जब ऐसा मौका आया होगा कि उन्हें आप में से और किसी और चीज़ में से किसी एक को चुनना पड़ा होगा तो हंड्रेड एंड 1% उन्होंने आप को चुना होगा और आप अपने बारे में भी सोचिए कि अगर कल आप के बच्चे भी यही सोचे कि उन्हें स्वतंत्र रहना है आप लोगों के साथ नहीं रहना है आप लोग जैसी चाहे परिस्थिति में रहे लेकिन उन्हें स्वतंत्रता चाहिए तब आपके मन पर क्या बीतेगी जरूरी नहीं है कि मां-बाप को सिर्फ आपका पैसा यह आपकी कह रही चाहिए उन्हें चाहिए सिर्फ आपका साथ जब आप उनकी आंखों के सामने रहते हैं तो वह स्वस्थ और खुश कहते हैं उन्हें एक सुकून मिलता है संतोष मिलता है इसलिए मुझे लगता है आपकी फैसला बहुत सोच समझकर करें क्योंकि यह भगवान की दी हुई ऐसी निजामत है जो और नहीं मिलती है वापस नहीं मिलती है और वक्त भी लौट कर वापस नहीं आता है ऐसा नहीं हो कि आप कोई गलत निर्णय ले ले
Romanized Version
आप को एक स्वतंत्र जीवन चाहिए यह आपकी अपनी पसंद है लेकिन आपके सवाल में ही आपकी माता पिता के प्रति आपकी चिंता जाहिर हो रही है और जाहिर है कि आप उन्हें छोड़ नहीं सकते हैं और आप कंफ्यूज है कि आपको क्या करना चाहिए मैं सिर्फ इतना कहना चाहती हूं कि स्वतंत्रता अपने आप में एक बहुत बड़ी चीज है और आज की वह चाहते हैं कि वह स्वतंत्र रहे इसके लिए उनके पास कई सारे कारण है जो वाजिब भी माने जा सकते हैं लेकिन फिर भी मुझे लगता है बच्चों को एक बार अपने आप को उन माता पिता की जगह रख कर जरूर सोचना चाहिए कि उन माता पिता ने भी आपके लिए कितने से करूंगी जब कभी भी उनकी भी अकेले रहने की इच्छा हुई होगी तब वह आपको नहीं छोड़ पाए होंगे जो कभी भी जब ऐसा मौका आया होगा कि उन्हें आप में से और किसी और चीज़ में से किसी एक को चुनना पड़ा होगा तो हंड्रेड एंड 1% उन्होंने आप को चुना होगा और आप अपने बारे में भी सोचिए कि अगर कल आप के बच्चे भी यही सोचे कि उन्हें स्वतंत्र रहना है आप लोगों के साथ नहीं रहना है आप लोग जैसी चाहे परिस्थिति में रहे लेकिन उन्हें स्वतंत्रता चाहिए तब आपके मन पर क्या बीतेगी जरूरी नहीं है कि मां-बाप को सिर्फ आपका पैसा यह आपकी कह रही चाहिए उन्हें चाहिए सिर्फ आपका साथ जब आप उनकी आंखों के सामने रहते हैं तो वह स्वस्थ और खुश कहते हैं उन्हें एक सुकून मिलता है संतोष मिलता है इसलिए मुझे लगता है आपकी फैसला बहुत सोच समझकर करें क्योंकि यह भगवान की दी हुई ऐसी निजामत है जो और नहीं मिलती है वापस नहीं मिलती है और वक्त भी लौट कर वापस नहीं आता है ऐसा नहीं हो कि आप कोई गलत निर्णय ले लेAap Ko Ek Swatantra Jeevan Chahiye Yeh Aapki Apni Pasand Hai Lekin Aapke Sawal Mein Hi Aapki Mata Pita Ke Prati Aapki Chinta Jaahir Ho Rahi Hai Aur Jaahir Hai Ki Aap Unhen Chod Nahi Sakte Hain Aur Aap Confuse Hai Ki Aapko Kya Karna Chahiye Main Sirf Itna Kehna Chahti Hoon Ki Svatantrata Apne Aap Mein Ek Bahut Badi Cheez Hai Aur Aaj Ki Wah Chahte Hain Ki Wah Swatantra Rahe Iske Liye Unke Paas Kai Sare Kaaran Hai Jo Wajib Bhi Mane Ja Sakte Hain Lekin Phir Bhi Mujhe Lagta Hai Bacchon Ko Ek Baar Apne Aap Ko Un Mata Pita Ki Jagah Rakh Kar Jarur Sochna Chahiye Ki Un Mata Pita Ne Bhi Aapke Liye Kitne Se Karungi Jab Kabhi Bhi Unki Bhi Akele Rehne Ki Icha Hui Hogi Tab Wah Aapko Nahi Chod Paye Honge Jo Kabhi Bhi Jab Aisa Mauka Aaya Hoga Ki Unhen Aap Mein Se Aur Kisi Aur Cheese Mein Se Kisi Ek Ko Chunana Pada Hoga To Hundred End 1% Unhone Aap Ko Chuna Hoga Aur Aap Apne Bare Mein Bhi Sochie Ki Agar Kal Aap Ke Bacche Bhi Yahi Soche Ki Unhen Swatantra Rehna Hai Aap Logon Ke Saath Nahi Rehna Hai Aap Log Jaisi Chahe Paristhiti Mein Rahe Lekin Unhen Svatantrata Chahiye Tab Aapke Man Par Kya Bitegi Zaroori Nahi Hai Ki Maa Baap Ko Sirf Aapka Paisa Yeh Aapki Keh Rahi Chahiye Unhen Chahiye Sirf Aapka Saath Jab Aap Unki Aakhon Ke Samane Rehte Hain To Wah Swasth Aur Khush Kehte Hain Unhen Ek Sukoon Milta Hai Santosh Milta Hai Isliye Mujhe Lagta Hai Aapki Faisla Bahut Soch Samajhkar Karen Kyonki Yeh Bhagwan Ki Di Hui Aisi Nizamat Hai Jo Aur Nahi Milti Hai Wapas Nahi Milti Hai Aur Waqt Bhi Lot Kar Wapas Nahi Aata Hai Aisa Nahi Ho Ki Aap Koi Galat Nirnay Le Le
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे पहले तो अगर आपको स्वस्थ जीवन चाहिए स्वतंत्र जीवन चाहिए तो इसमें कोई बुराई नहीं हर जने को स्वतंत्र जीवन जीने का अधिकार है कि जहां तक माता पिता के खराब स्वास्थ्य के कारण नहीं छोड़ सकते पहली अच्छी बात यह है कि आपको हमसे खराब स्वास्थ्य बेकार है कि आप हम को नहीं छोड़ पा रहे हैं अपने स्वतंत्र जीवन के जीने की इच्छा के बाप की बहुत ही अच्छी चीज है और ही समझने की चीजें जो माता पिता ने आपको बचपन से पालन पोषण किया है यानी बचपन से लेकर आज तक आपका तमाम बार स्वास्थ्य खराब हुआ है तो उन्होंने आप को अकेला नहीं छोड़ना छोड़ना तो दूर उन्होंने तमाम तरीके के प्लान कैंसिल करें और आपके भविष्य के लिए ध्यान दिया तो ऐसी स्थिति में जिम्मेदारों करना चाहिए और उनके साथ देना चाहिए और उनके स्वास्थ्य करनी चाहिए अपना ध्यान रखना अगर है भी तो उसके बावजूद जो है हम तो क्या देखते हैं तो हमें उनका ध्यान रखने की जरूरत है जो है माता-पिता से आग्रह है कि नहीं होता आज के टाइम में ही समझने की जरूरत है तमाम परिवार मेजर फैमिली में यही चीज है बच्चे बाहर पढ़ रहे हैं जॉब कर रहे हो माता पिता घर में अकेले पड़े हैं अकेलापन को खा जाता है इंसान की उम्र कम कर देता है तो यही है कि स्वतंत्र जीवन लोग समझते हैं कि माता पिता से दूर होकर मिलता है जहां कोई रोक-टोक नहीं है अपनी जीवनशैली हो अपने हिसाब से यह सब चीजें केवल गलत चीज है जो बाद में मेरा लाइट होता है जब हम माता-पिता की कुर्तियां घर में खाली हो जाती है और वह हमें छोड़ कर चले जाते हैं तो इसीलिए उनसे अलग रह कर स्वतंत्र जीवन नहीं होता है वतन जीवन का मतलब है कि आप अपने पैरों पर खड़े हो लेकिन साथ में रहे माता-पिता के परिवार के साथ में रहें और सब आपकी खुशी मेल मिलाप से एक दूसरे का ध्यान रखें
Romanized Version
सबसे पहले तो अगर आपको स्वस्थ जीवन चाहिए स्वतंत्र जीवन चाहिए तो इसमें कोई बुराई नहीं हर जने को स्वतंत्र जीवन जीने का अधिकार है कि जहां तक माता पिता के खराब स्वास्थ्य के कारण नहीं छोड़ सकते पहली अच्छी बात यह है कि आपको हमसे खराब स्वास्थ्य बेकार है कि आप हम को नहीं छोड़ पा रहे हैं अपने स्वतंत्र जीवन के जीने की इच्छा के बाप की बहुत ही अच्छी चीज है और ही समझने की चीजें जो माता पिता ने आपको बचपन से पालन पोषण किया है यानी बचपन से लेकर आज तक आपका तमाम बार स्वास्थ्य खराब हुआ है तो उन्होंने आप को अकेला नहीं छोड़ना छोड़ना तो दूर उन्होंने तमाम तरीके के प्लान कैंसिल करें और आपके भविष्य के लिए ध्यान दिया तो ऐसी स्थिति में जिम्मेदारों करना चाहिए और उनके साथ देना चाहिए और उनके स्वास्थ्य करनी चाहिए अपना ध्यान रखना अगर है भी तो उसके बावजूद जो है हम तो क्या देखते हैं तो हमें उनका ध्यान रखने की जरूरत है जो है माता-पिता से आग्रह है कि नहीं होता आज के टाइम में ही समझने की जरूरत है तमाम परिवार मेजर फैमिली में यही चीज है बच्चे बाहर पढ़ रहे हैं जॉब कर रहे हो माता पिता घर में अकेले पड़े हैं अकेलापन को खा जाता है इंसान की उम्र कम कर देता है तो यही है कि स्वतंत्र जीवन लोग समझते हैं कि माता पिता से दूर होकर मिलता है जहां कोई रोक-टोक नहीं है अपनी जीवनशैली हो अपने हिसाब से यह सब चीजें केवल गलत चीज है जो बाद में मेरा लाइट होता है जब हम माता-पिता की कुर्तियां घर में खाली हो जाती है और वह हमें छोड़ कर चले जाते हैं तो इसीलिए उनसे अलग रह कर स्वतंत्र जीवन नहीं होता है वतन जीवन का मतलब है कि आप अपने पैरों पर खड़े हो लेकिन साथ में रहे माता-पिता के परिवार के साथ में रहें और सब आपकी खुशी मेल मिलाप से एक दूसरे का ध्यान रखेंSabse Pehle To Agar Aapko Swasth Jeevan Chahiye Swatantra Jeevan Chahiye To Isme Koi Burayi Nahi Har Jane Ko Swatantra Jeevan Jeene Ka Adhikaar Hai Ki Jahan Tak Mata Pita Ke Kharab Swasthya Ke Kaaran Nahi Chod Sakte Pehli Acchi Baat Yeh Hai Ki Aapko Humse Kharab Swasthya Bekar Hai Ki Aap Hum Ko Nahi Chod Pa Rahe Hain Apne Swatantra Jeevan Ke Jeene Ki Icha Ke Baap Ki Bahut Hi Acchi Cheez Hai Aur Hi Samjhne Ki Cheezen Jo Mata Pita Ne Aapko Bachpan Se Palan Poshan Kiya Hai Yani Bachpan Se Lekar Aaj Tak Aapka Tamam Baar Swasthya Kharab Hua Hai To Unhone Aap Ko Akela Nahi Chodna Chodna To Dur Unhone Tamam Tarike Ke Plan Cancel Karen Aur Aapke Bhavishya Ke Liye Dhyan Diya To Aisi Sthiti Mein Jimmedaron Karna Chahiye Aur Unke Saath Dena Chahiye Aur Unke Swasthya Karni Chahiye Apna Dhyan Rakhna Agar Hai Bhi To Uske Bawajud Jo Hai Hum To Kya Dekhte Hain To Hume Unka Dhyan Rakhne Ki Zaroorat Hai Jo Hai Mata Pita Se Agrah Hai Ki Nahi Hota Aaj Ke Time Mein Hi Samjhne Ki Zaroorat Hai Tamam Parivar Major Family Mein Yahi Cheez Hai Bacche Bahar Padh Rahe Hain Job Kar Rahe Ho Mata Pita Ghar Mein Akele Pade Hain Akelapan Ko Kha Jata Hai Insaan Ki Umar Kam Kar Deta Hai To Yahi Hai Ki Swatantra Jeevan Log Samajhte Hain Ki Mata Pita Se Dur Hokar Milta Hai Jahan Koi Rok Tok Nahi Hai Apni Jiwanshailee Ho Apne Hisab Se Yeh Sab Cheezen Kewal Galat Cheez Hai Jo Baad Mein Mera Light Hota Hai Jab Hum Mata Pita Ki Kurtiyan Ghar Mein Khaali Ho Jati Hai Aur Wah Hume Chod Kar Chale Jaate Hain To Isliye Unse Alag Rah Kar Swatantra Jeevan Nahi Hota Hai Vatan Jeevan Ka Matlab Hai Ki Aap Apne Pairon Par Khade Ho Lekin Saath Mein Rahe Mata Pita Ke Parivar Ke Saath Mein Rahen Aur Sab Aapki Khushi Mail Milap Se Ek Dusre Ka Dhyan Rakhen
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Mujhe Swatantra Jeevan Chahiye Lekin Mata Pita Ke Kharaab Swasthya Ke Kaaran Main Unhein Chhod Nahi Sakta Main Kya Karun,I Want Free Life, But Due To Poor Health Of My Parents I Can Not Leave Them. What Should I Do?,


vokalandroid