रामनवमी जुलूस में पश्चिमी बंगाल में फिर दंगा हुआ?ऐसा बार बार क्यों होता?पुलिस की लापरवाही? ...

Likes  0  Dislikes

3 Answers


जवाब पढ़िये
रामनवमी पर जुलूस को लेकर पश्चिम बंगाल में दूसरे दिन भी हिंसा की कई घटनाएं सामने आई और हर वर्ष ऐसा देखने को मिलता है कि रामनवमी पर कुछ ना कुछ हिंसा की घटनाएं हो जाती हैं खासतौर पर मुर्शिदाबाद और वर्तमान जिलों में संगठनों के सदस्यों और पुलिस के बीच झड़प हुई है पुलिस के अनुसार ऐसे ही एक झड़प में पुलिस टीम के ऊपर बम भी फेंका गया इस घटना में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी गंभीर रूप से घायल हो गए और रविवार के दिन भी पुरुलिया में जुलूस के दौरान दो समूहों के बीच झड़प में दो लोगों की मौत हो गई थी और पांच पुलिसकर्मी घायल हो गए थे राज्य में हो रही हिंसा के मद्देनजर पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि भाजपा समर्थकों ने पश्चिम बंगाल में रविवार को कई स्थानों पर सरकारी प्रतिबंध की अनदेखी करते हुए सशस्त्र रैलियां निकाली यानी कि वह हथियार लेकर रैली निकाल रहे थे इस रैली के बाद ही हालात बिगड़े और जुलूस के दौरान ऐसी ही हिंसा की खबरें मुर्शिदाबाद के कंडी इलाज किसी के सामने आई तो यहां पर रामनवमी जुलूस में हिस्सा लेने वाले लोगों ने तलवार और त्रिशूल से लैस होकर थाने में घुसने का प्रयास किया तो इससे साफ जाहिर होता है कि bjp जो है वह बंगाल में जो कानून व्यवस्था है उसे बिगाड़ने की कोशिश कर रही है और बीजेपी के जो समर्थित लोग हैं वहां के समर्थक हैं वह ससस्त्र रैलियां निकाल रहे हैं तो इससे BJP की मंशा पर संदेश बिल्कुल उत्पन्न होता है कि वह आखिर क्या चाहते हैं तो ममता बनर्जी ने साफ किया है कि इस तरह की कोई भी घटना को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और अगर पुलिस सही तरीके से काम नहीं करती है तो उन पर भी कार्रवाई की जाएगी और ममता बनर्जी ने कहा है कि हम पूरी कोशिश कर रहे हैं कि पश्चिम बंगाल के सभी जिलों में जहां पर हिंसक वारदात हो रही है वहां पर कानून व्यवस्था लागू की जाए तो यहां पर पुलिस की लापरवाही तो है ही उन्हें पहले से ही प्रयास करने चाहिए ताकि ताकि कोई भी जुलूस में तत्वों का इस्तेमाल ना कर पाए कोई भी हथियार लेकर लेकर ना जाए तो ऐसा होता तो बिल्कुल यह हिंसक वारदात नहीं होRamnavami Par Julus Ko Lekar Paschim Bengal Mein Dusre Din Bhi Hinsa Ki Kai Ghatnaye Samane Eye Aur Har Varsh Aisa Dekhne Ko Milta Hai Ki Ramnavami Par Kuch Na Kuch Hinsa Ki Ghatnaye Ho Jati Hain Khaastaur Par Murshidabad Aur Vartaman Jilon Mein Sangathano Ke Sadasyon Aur Police Ke Beech Jhadap Hui Hai Police Ke Anusar Aise Hi Ek Jhadap Mein Police Team Ke Upar Bomb Bhi Fainkaa Gaya Is Ghatna Mein Ek Varishtha Police Adhikari Gambhir Roop Se Ghaayal Ho Gaye Aur Raviwar Ke Din Bhi Purulia Mein Julus Ke Dauran Do Samuho Ke Beech Jhadap Mein Do Logon Ki Maut Ho Gayi Thi Aur Paanch Policekarmi Ghaayal Ho Gaye The Rajya Mein Ho Rahi Hinsa Ke Maddenajar Police Ke Varishtha Adhikari Ne Bataya Ki Bhajpa Samarthakon Ne Paschim Bengal Mein Raviwar Ko Kai Sthanon Par Sarkari Pratibandh Ki Andekha Karte Hue Sashastra Railiyan Nikali Yani Ki Wah Hathiyar Lekar Rally Nikal Rahe The Is Rally Ke Baad Hi Halaat Bigde Aur Julus Ke Dauran Aisi Hi Hinsa Ki Khabren Murshidabad Ke Kandi Ilaj Kisi Ke Samane Eye To Yahan Par Ramnavami Julus Mein Hissa Lene Wale Logon Ne Talwar Aur Trishul Se Lase Hokar Thane Mein Ghusane Ka Prayas Kiya To Isse Saaf Jaahir Hota Hai Ki Bjp Jo Hai Wah Bengal Mein Jo Kanoon Vyavastha Hai Use Bigadne Ki Koshish Kar Rahi Hai Aur Bjp Ke Jo Samarthit Log Hain Wahan Ke Samarthak Hain Wah Sasastra Railiyan Nikal Rahe Hain To Isse BJP Ki Mansha Par Sandesh Bilkul Utpann Hota Hai Ki Wah Aakhir Kya Chahte Hain To Mamata Banerjee Ne Saaf Kiya Hai Ki Is Tarah Ki Koi Bhi Ghatna Ko Bardaasht Nahi Kiya Jayega Aur Agar Police Sahi Tarike Se Kaam Nahi Karti Hai To Un Par Bhi Karyawahi Ki Jayegi Aur Mamata Banerjee Ne Kaha Hai Ki Hum Puri Koshish Kar Rahe Hain Ki Paschim Bengal Ke Sabhi Jilon Mein Jahan Par Hinsak Vaardaat Ho Rahi Hai Wahan Par Kanoon Vyavastha Laagu Ki Jaye To Yahan Par Police Ki Laparwahi To Hai Hi Unhen Pehle Se Hi Prayas Karne Chahiye Taki Taki Koi Bhi Julus Mein Tatwon Ka Istemal Na Kar Paye Koi Bhi Hathiyar Lekar Lekar Na Jaye To Aisa Hota To Bilkul Yeh Hinsak Vaardaat Nahi Ho
Likes  12  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए

0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


जवाब पढ़िये
रामनवमी जुलूस में जो पश्चिम बंगाल में फिर से दंगा हुआ है तो ऐसा जो हमेशा होता है यह बंदा रामनवमी जुलूस पश्चिम बंगाल स्टेट में देखा गया तो इसका मुख्य कारण होता है यह पुलिस की लापरवाही बरती के दरमियान जिंदाबाद और वर्धमान जिले में संगठनों के सदस्य और पुलिस के बीच झड़प हुई है पुलिस के ऊपर गए हैं आराम से खत्म नहीं होता लोग शांत रहते मुख्यमंत्री ममता बनर्जी मतलब बयान अब तक जगी हो चुके हैं तू कल भाई करना चाहते हैं इससे पहले अगर वह दंगे से पहले जब धूप निकली थी तब पुलिस प्रशासन को यह सख्त सजा देते कि आप को हल्के में लेना है तू जब कोई भी दंगे हो जाते हैं तो वहां की जगह गारमेंट होती हो आगे आती है कुछ ना कुछ बोलने के लिए या कुछ कुछ करने के लिए लेकिन अगर यह दंगे होने से पहले अपना कोई अच्छा तो होता ही नहीं पाते तो बिल्कुल जो है इसमें जो है पुलिस की लापरवाही की कहानियां दंगे हुए हैंRamnavami Julus Mein Jo Paschim Bengal Mein Phir Se Danga Hua Hai To Aisa Jo Hamesha Hota Hai Yeh Banda Ramnavami Julus Paschim Bengal State Mein Dekha Gaya To Iska Mukhya Kaaran Hota Hai Yeh Police Ki Laparwahi Barti Ke Darmiyaan Jindabad Aur Vardhman Jile Mein Sangathano Ke Sadasya Aur Police Ke Beech Jhadap Hui Hai Police Ke Upar Gaye Hain Aaram Se Khatam Nahi Hota Log Shaant Rehte Mukhyamantri Mamata Banerjee Matlab Bayan Ab Tak Gagi Ho Chuke Hain Tu Kal Bhai Karna Chahte Hain Isse Pehle Agar Wah Denge Se Pehle Jab Dhoop Nikli Thi Tab Police Prashasan Ko Yeh Sakht Saja Dete Ki Aap Ko Halke Mein Lena Hai Tu Jab Koi Bhi Denge Ho Jaate Hain To Wahan Ki Jagah Garment Hoti Ho Aage Aati Hai Kuch Na Kuch Bolne Ke Liye Ya Kuch Kuch Karne Ke Liye Lekin Agar Yeh Denge Hone Se Pehle Apna Koi Accha To Hota Hi Nahi Paate To Bilkul Jo Hai Isme Jo Hai Police Ki Laparwahi Ki Kahaniya Denge Hue Hain
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

जवाब पढ़िये
आज क्या कर सकता है तो यह पक्का है उसका जो लीडर हो गया को पढ़कर कल का जो रहता है वहीं खाते हैं और उनको जो है मेरे को लगता है लोगों का टॉप करना चाहिए और दंगे भड़कने से कुछ नहीं होता है खाली पब्लिक प्रॉपर्टी और इंसानों का जो कोई भी वापस रिप्लाई नहीं कर सकता है तो मुझे लगता है कि दंगे भड़काने से अच्छा है कि हम पुलिस की लापरवाही मैं यह समझता हूं कि अगर पुलिस चाहे तो वह रोकती थी और उस को कंट्रोल करने का पूरा पावर होता है पुलिस के पास तो अगर समय रहते रोटी तो यह जो दंगा है वह भड़क नहीं पाताAaj Kya Kar Sakta Hai To Yeh Pakka Hai Uska Jo Leader Ho Gaya Ko Padhakar Kal Ka Jo Rehta Hai Wahin Khate Hain Aur Unko Jo Hai Mere Ko Lagta Hai Logon Ka Top Karna Chahiye Aur Denge Bhadkane Se Kuch Nahi Hota Hai Khaali Public Property Aur Insanon Ka Jo Koi Bhi Wapas Reply Nahi Kar Sakta Hai To Mujhe Lagta Hai Ki Denge Bhadkaane Se Accha Hai Ki Hum Police Ki Laparwahi Main Yeh Samajhata Hoon Ki Agar Police Chahe To Wah Rokati Thi Aur Us Ko Control Karne Ka Pura Power Hota Hai Police Ke Paas To Agar Samay Rehte Roti To Yeh Jo Danga Hai Wah Bhadak Nahi Pata
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Ramnavami Julus Mein Pashchimi Bengal Mein Phir Danga Hua Aisa Baar Baar Kyun Hota Police Ki Laparwahi, In The Ramnavami Procession There Was A Riot In West Bengal? Why Did This Happen Again And Again? Police Negligence?