क्या भावनात्मक स्थिति में होने पर निर्णय लेना चाहिए? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आपको ही भावनात्मक स्थिति में है तो आपको कुछ भी निर्णय नहीं लेना चाहिए क्योंकि आप जो डिसिशन ले रहे हैं वह अलग से अच्छा हो सकता है लेकिन सच में वह कभी करेक्ट नहीं हो सकता है क्योंकि आप जो डिसिशन लेत...
जवाब पढ़िये
अगर आपको ही भावनात्मक स्थिति में है तो आपको कुछ भी निर्णय नहीं लेना चाहिए क्योंकि आप जो डिसिशन ले रहे हैं वह अलग से अच्छा हो सकता है लेकिन सच में वह कभी करेक्ट नहीं हो सकता है क्योंकि आप जो डिसिशन लेते हैं वह बहुत ही बेस्ट में लेते हैं और आप ज्यादा सोचेंगे नहीं क्योंकि आपके जो इमोशनल पेट है तब उस समय में वह आपसे उस पर कंसंट्रेट करेंगे तो आप जब शांत शांत है और आपको कुछ मन में कुछ नहीं है और आप बहुत इमोशनल लाइन नहीं है तो आप को धीरे से सोच सोचने के बाद आपको निर्णय लेना बहुत ही जरूरी हैAgar Aapko Hi Bhavnatmak Sthiti Mein Hai To Aapko Kuch Bhi Nirnay Nahi Lena Chahiye Kyonki Aap Jo Decision Le Rahe Hain Wah Alag Se Accha Ho Sakta Hai Lekin Sach Mein Wah Kabhi Correct Nahi Ho Sakta Hai Kyonki Aap Jo Decision Lete Hain Wah Bahut Hi Best Mein Lete Hain Aur Aap Jyada Sochenge Nahi Kyonki Aapke Jo Emotional Pet Hai Tab Us Samay Mein Wah Aapse Us Par Concentrate Karenge To Aap Jab Shaant Shaant Hai Aur Aapko Kuch Man Mein Kuch Nahi Hai Aur Aap Bahut Emotional Line Nahi Hai To Aap Ko Dhire Se Soch Sochne Ke Baad Aapko Nirnay Lena Bahut Hi Zaroori Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरा मानना है कि जब इंसान बहुत इमोशनल होता है सेंटीमेंटल होता है भावनात्मक होता है तो उस वक्त वह सिर्फ और सिर्फ एक ही पहलू देख रहा होता है किसी भी चीज का क्योंकि वह बेसिकली इमोशन से सराबोर होता है तो ...
जवाब पढ़िये
मेरा मानना है कि जब इंसान बहुत इमोशनल होता है सेंटीमेंटल होता है भावनात्मक होता है तो उस वक्त वह सिर्फ और सिर्फ एक ही पहलू देख रहा होता है किसी भी चीज का क्योंकि वह बेसिकली इमोशन से सराबोर होता है तो उसको सिर्फ और सिर्फ अपना इमोशनल क्वेश्चन जो होता है वही समझ में आ रहा होता है और उसी के पैसे से वह डिसीजन लेता है जो कि मेरे हिसाब से चेंज सही नहीं होती है दिमाग और दिल दोनों का ही किसी डिसीजन मेकिंग में साथ होना जरूरी होता है सिर्फ दिल से सोचा भी सही नहीं हो सिर्फ दिमाग से सोचना भी जरूरी है सनम तेरी इंपॉर्टेंट और जवाब बहुत ज्यादा भावनात्मक होते हो तो उस वक्त आपने को बैलेंस नहीं होता है आप बहुत इमोशनल हो जाते हो और हो सकता है कि उसे मोशन में आपका कोई ऐसा डिसीजन ले लो कोई ऐसा निर्णय ले लो जो आगे जवाब को सारी चीजें बैलेंस तरीके से समझ आने लगे आपको लगे कि यह सही नहीं है तो बेहतर है अगर आप बहुत ज्यादा इमोशनल है भावनात्मक है तो उस वक्त कोई डिसीजन लेने से बच्चे हमेशा और यही कोशिश करें कि जब आप बैलेंस हो जाए जब आप उन इमोशन से भर जाए और जब आप का दिमाग क्या पता दे रहा जवाब प्रेक्टिकली अरे मोड़ चली दोनों किसी चीज पर सोच पाए उस वक्त आप कोई डिसीजन लेना कभी वेरी गुड अंदर भी बताइएMera Manana Hai Ki Jab Insaan Bahut Emotional Hota Hai Sentimental Hota Hai Bhavnatmak Hota Hai To Us Waqt Wah Sirf Aur Sirf Ek Hi Pahaloo Dekh Raha Hota Hai Kisi Bhi Cheez Ka Kyonki Wah Basically Emotion Se Sarabor Hota Hai To Usko Sirf Aur Sirf Apna Emotional Question Jo Hota Hai Wahi Samajh Mein Aa Raha Hota Hai Aur Ussi Ke Paise Se Wah Decision Leta Hai Jo Ki Mere Hisab Se Change Sahi Nahi Hoti Hai Dimag Aur Dil Dono Ka Hi Kisi Decision Making Mein Saath Hona Zaroori Hota Hai Sirf Dil Se Socha Bhi Sahi Nahi Ho Sirf Dimag Se Sochna Bhi Zaroori Hai Sanam Teri Important Aur Jawab Bahut Jyada Bhavnatmak Hote Ho To Us Waqt Aapne Ko Balance Nahi Hota Hai Aap Bahut Emotional Ho Jaate Ho Aur Ho Sakta Hai Ki Use Motion Mein Aapka Koi Aisa Decision Le Lo Koi Aisa Nirnay Le Lo Jo Aage Jawab Ko Saree Cheezen Balance Tarike Se Samajh Aane Lage Aapko Lage Ki Yeh Sahi Nahi Hai To Behtar Hai Agar Aap Bahut Jyada Emotional Hai Bhavnatmak Hai To Us Waqt Koi Decision Lene Se Bacche Hamesha Aur Yahi Koshish Karen Ki Jab Aap Balance Ho Jaye Jab Aap Un Emotion Se Bhar Jaye Aur Jab Aap Ka Dimag Kya Pata De Raha Jawab Prektikali Arre Mod Chali Dono Kisi Cheez Par Soch Paye Us Waqt Aap Koi Decision Lena Kabhi Very Good Andar Bhi Bataiye
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब हम भावनात्मक स्थिति में होते हैं यानी कि जब हम इमोशनल होते हैं तो उस समय हमारा जो दिमाग है वह सही तरीके से काम नहीं करता है और हम सही डिसीजन लेने में सक्षम नहीं होते हैं इसलिए मुझे लगता है कि जब हम...
जवाब पढ़िये
जब हम भावनात्मक स्थिति में होते हैं यानी कि जब हम इमोशनल होते हैं तो उस समय हमारा जो दिमाग है वह सही तरीके से काम नहीं करता है और हम सही डिसीजन लेने में सक्षम नहीं होते हैं इसलिए मुझे लगता है कि जब हमारा मन शांत रहे और हम इस तरह की किसी भी भावना से ग्रसित ना हो तभी हमें किसी भी बात पर सही डिसीजन लेना चाहिए मान लीजिए कि हम काफी इमोशनल हो गए हैं किसी बात को लेकर तो हो सकता है उस वक्त हम अगर कोई डिसीजन ले तो वह सही साबित ना हो हमारे लिए आगे चलकर इसलिए हमें कोशिश करनी चाहिए कि सबसे पहले हम अपने मन को शांत करें और सभी भावनाओं से मुक्त होकर अकेले में बैठकर सारी चीजों को एनालाइज करें सभी चीजों के बारे में सोचें उसके फायदे के बारे में नुकसान के बारे में उसके बाद ही अपना डिसीजन ले तो इसीलिए मुझे लगता है कि जब भी कोई भी व्यक्ति भावनात्मक स्थिति में हो तो उसे कोई डिसीजन नहीं लेना चाहिए क्योंकि ज्यादातर मामलों में ऐसे लिए गए डिसीजन गलत ही साबित होते हैंJab Hum Bhavnatmak Sthiti Mein Hote Hain Yani Ki Jab Hum Emotional Hote Hain To Us Samay Hamara Jo Dimag Hai Wah Sahi Tarike Se Kaam Nahi Karta Hai Aur Hum Sahi Decision Lene Mein Saksham Nahi Hote Hain Isliye Mujhe Lagta Hai Ki Jab Hamara Man Shaant Rahe Aur Hum Is Tarah Ki Kisi Bhi Bhavna Se Grasit Na Ho Tabhi Hume Kisi Bhi Baat Par Sahi Decision Lena Chahiye Maan Lijiye Ki Hum Kafi Emotional Ho Gaye Hain Kisi Baat Ko Lekar To Ho Sakta Hai Us Waqt Hum Agar Koi Decision Le To Wah Sahi Saabit Na Ho Hamare Liye Aage Chalkar Isliye Hume Koshish Karni Chahiye Ki Sabse Pehle Hum Apne Man Ko Shaant Karen Aur Sabhi Bhavnao Se Mukt Hokar Akele Mein Baithkar Saree Chijon Ko Analyse Karen Sabhi Chijon Ke Baare Mein Sochen Uske Fayde Ke Baare Mein Nuksan Ke Baare Mein Uske Baad Hi Apna Decision Le To Isliye Mujhe Lagta Hai Ki Jab Bhi Koi Bhi Vyakti Bhavnatmak Sthiti Mein Ho To Use Koi Decision Nahi Lena Chahiye Kyonki Jyadatar Mamlon Mein Aise Liye Gaye Decision Galat Hi Saabit Hote Hain
Likes  15  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज नहीं देखे हैं जब भी आप भावनात्मक कि आप भावुक हो जाते हैं तो आपको उस स्थिति में कोई भी डिसीजन नहीं लेना चाहिए क्योंकि जब भी हम सोते हैं तो हम जो हैं और कोई ना कोई एक गलत डिसीजन आक्रोश में आकर या दुख...
जवाब पढ़िये
आज नहीं देखे हैं जब भी आप भावनात्मक कि आप भावुक हो जाते हैं तो आपको उस स्थिति में कोई भी डिसीजन नहीं लेना चाहिए क्योंकि जब भी हम सोते हैं तो हम जो हैं और कोई ना कोई एक गलत डिसीजन आक्रोश में आकर या दुख में आकर ले लेते हैं जो उसको हमको बाद में पछतावा होता है तो हमें कभी भी जो डिसीजन है वह भावुक होकर नहीं लेना चाहिएAaj Nahi Dekhe Hain Jab Bhi Aap Bhavnatmak Ki Aap Bhavuk Ho Jaate Hain To Aapko Us Sthiti Mein Koi Bhi Decision Nahi Lena Chahiye Kyonki Jab Bhi Hum Sote Hain To Hum Jo Hain Aur Koi Na Koi Ek Galat Decision Aakrosh Mein Aakar Ya Dukh Mein Aakar Le Lete Hain Jo Usko Hamko Baad Mein Pachtava Hota Hai To Hume Kabhi Bhi Jo Decision Hai Wah Bhavuk Hokar Nahi Lena Chahiye
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक भावनात्मक स्थिति होने के समय निर्णय लेना मुझे नहीं लगता कि किसी भी हद तक ठीक हो सकता है क्योंकि भावनाओं में बहकर कोई भी निर्णय आप लोगे तो कहीं ना कहीं उसके नकारात्मक परिणाम ज्यादा हूं अगर आप ठंडे द...
जवाब पढ़िये
एक भावनात्मक स्थिति होने के समय निर्णय लेना मुझे नहीं लगता कि किसी भी हद तक ठीक हो सकता है क्योंकि भावनाओं में बहकर कोई भी निर्णय आप लोगे तो कहीं ना कहीं उसके नकारात्मक परिणाम ज्यादा हूं अगर आप ठंडे दिमाग से कोई सोचते हो उसके बाद कोई निर्णय लेते हो तो मुझे लगता है वह बहुत ज्यादा इफ़ेक्ट होता है और एग्जाम पर आप बहुत ज्यादा गुस्से में हो और किसी भी चीज का निर्णय ले लेते हो जब आपको गुस्सा स्थान शांत होता है तब को रिलीज होता है कि हां वह मैंने गलत किया हुआ ऐसे निर्णय नहीं लेना चाहिए था उसका यह उसकी वजह से यह गलत हुआ तो बिल्कुल भावनाओं में बहकर भावनाओं में के साथ कोई भी बड़ा डिसीजन नहीं लेना चाहिए कहीं ना कहीं उस दिन से आपको ही प्रॉब्लम होने वाली हैEk Bhavnatmak Sthiti Hone Ke Samay Nirnay Lena Mujhe Nahi Lagta Ki Kisi Bhi Had Tak Theek Ho Sakta Hai Kyonki Bhavnao Mein Behkar Koi Bhi Nirnay Aap Loge To Kahin Na Kahin Uske Nakaratmak Parinam Jyada Hoon Agar Aap Thande Dimag Se Koi Sochte Ho Uske Baad Koi Nirnay Lete Ho To Mujhe Lagta Hai Wah Bahut Jyada Effect Hota Hai Aur Exam Par Aap Bahut Jyada Gusse Mein Ho Aur Kisi Bhi Cheez Ka Nirnay Le Lete Ho Jab Aapko Gussa Sthan Shaant Hota Hai Tab Ko Release Hota Hai Ki Haan Wah Maine Galat Kiya Hua Aise Nirnay Nahi Lena Chahiye Tha Uska Yeh Uski Wajah Se Yeh Galat Hua To Bilkul Bhavnao Mein Behkar Bhavnao Mein Ke Saath Koi Bhi Bada Decision Nahi Lena Chahiye Kahin Na Kahin Us Din Se Aapko Hi Problem Hone Wali Hai
Likes  4  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सर मेरी सबसे इमोशनल होना या इमोशंस याद दिल से सोचना बिल्कुल भी गलत नहीं है इमोशन सोना दिल सोचना ही दिखाता है कि आप आज मतलब लॉजिकल चीज है जो आप सोचते हैं लेकिन एक मशीन की तरह नहीं सिर्फ आज उसके पीछे लौ...
जवाब पढ़िये
सर मेरी सबसे इमोशनल होना या इमोशंस याद दिल से सोचना बिल्कुल भी गलत नहीं है इमोशन सोना दिल सोचना ही दिखाता है कि आप आज मतलब लॉजिकल चीज है जो आप सोचते हैं लेकिन एक मशीन की तरह नहीं सिर्फ आज उसके पीछे लौटने ढूंढते दिल से भी काम लेते हैं तो भावनात्मक करने वाला तक स्थिति में लाना गलत नहीं है लेकिन अगर बहुत था अगर इमोशनल है बहुत ज्यादा इमोशंस है तो उस टाइम पर ऐसे कोई डिसीजन मत लीजिए जो आपकी लाइफ डिसाइड करें या किसी और की जिंदगी डिसाइड करें तो बेहतर रहेगा की ऐसी कोई सिचुएशन है तो दिमाग से थोड़ा थोड़ा सा सोच लीजिए क्योंकि गलत नहीं है थोड़ा सा दिमाग यूज करना उस टाइम पर मतलब सा डिसिशन दिल से लेने में कुछ प्रॉब्लम नहीं है लेकिन ऐसे कैसे झाले कि आपको लगे हाथ में सिगरेट होगी आपको लगे कि आपने थोड़ा डिफरेंट सो जाओ बताइए आपने उस टाइम पर दिमाग थोड़ा यूज़ किया होता है दिल की बजाए तो इमोशनल इमोशनल होकर डिसीजन लीजिए गलत नहीं है लेकिन ऐसा कुछ मत डिसाइड कीजिए जो ऑपरेशन के घर पर बात कर सकेSar Meri Sabse Emotional Hona Ya Emotional Yaad Dil Se Sochna Bilkul Bhi Galat Nahi Hai Emotion Sona Dil Sochna Hi Dikhaata Hai Ki Aap Aaj Matlab Logical Cheez Hai Jo Aap Sochte Hain Lekin Ek Machine Ki Tarah Nahi Sirf Aaj Uske Piche Lautane Dhundhate Dil Se Bhi Kaam Lete Hain To Bhavnatmak Karne Wala Tak Sthiti Mein Lana Galat Nahi Hai Lekin Agar Bahut Tha Agar Emotional Hai Bahut Jyada Emotional Hai To Us Time Par Aise Koi Decision Mat Lijiye Jo Aapki Life Decide Karen Ya Kisi Aur Ki Zindagi Decide Karen To Behtar Rahega Ki Aisi Koi Situation Hai To Dimag Se Thoda Thoda Sa Soch Lijiye Kyonki Galat Nahi Hai Thoda Sa Dimag Use Karna Us Time Par Matlab Sa Decision Dil Se Lene Mein Kuch Problem Nahi Hai Lekin Aise Kaise Jhaale Ki Aapko Lage Hath Mein Cigarette Hogi Aapko Lage Ki Aapne Thoda Different So Jao Bataiye Aapne Us Time Par Dimag Thoda Use Kiya Hota Hai Dil Ki Bajae To Emotional Emotional Hokar Decision Lijiye Galat Nahi Hai Lekin Aisa Kuch Mat Decide Kijiye Jo Operation Ke Ghar Par Baat Kar Sake
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज मौसमों से हो तो मेरे हिसाब से जो कुछ भी इंपोर्टेंट चीज़ इंच होते हैं या जो भी लाइफ चेंजिंग डिसीजन सोते हैं तो उस स्टेट ऑफ माइंड में नहीं लेना चाहिए कि उसका बाप का स्टेटमेंट नहीं रहते आप बहुत इमोशनल...
जवाब पढ़िये
आज मौसमों से हो तो मेरे हिसाब से जो कुछ भी इंपोर्टेंट चीज़ इंच होते हैं या जो भी लाइफ चेंजिंग डिसीजन सोते हैं तो उस स्टेट ऑफ माइंड में नहीं लेना चाहिए कि उसका बाप का स्टेटमेंट नहीं रहते आप बहुत इमोशनल रहते हो तो आपका जो डिसीजन होता है वह बहुत ही व्यस्त हो जाता है बच्चों का स्कूल स्टेट ऑफ माइंड में और फिर एक फोटो स्टेट ऑफ माइंड में ऐसा कुछ डिसीजन लेते हो सारे फंक्शन पर गर्ल्स के साथ वीडियो अप्सरा फ्रोजन कौन देखकर करते हो बट इमोशनल में ऐसा कुछ नहीं होता वह बस सारे भावनाएं की वजह से आप डिसीजन ले पाते होAaj Mausamon Se Ho To Mere Hisab Se Jo Kuch Bhi Important Cheese Inch Hote Hain Ya Jo Bhi Life Changing Decision Sote Hain To Us State Of Mind Mein Nahi Lena Chahiye Ki Uska Baap Ka Statement Nahi Rehte Aap Bahut Emotional Rehte Ho To Aapka Jo Decision Hota Hai Wah Bahut Hi Vyasta Ho Jata Hai Bacchon Ka School State Of Mind Mein Aur Phir Ek Photo State Of Mind Mein Aisa Kuch Decision Lete Ho Sare Function Par Girls Ke Saath Video Apsara Frozen Kaun Dekhkar Karte Ho But Emotional Mein Aisa Kuch Nahi Hota Wah Bus Sare Bhavanae Ki Wajah Se Aap Decision Le Paate Ho
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी बिल्कुल भी नहीं अगर आप भावनात्मक है या फिर थोड़े बहुत बहु की किसी चीज को लेकर हैप्पी है या फिर दुखी है अपने किसी प्रकार की अनुशंसा रहे तो आप कुछ भी कोई भी बड़ा डिसीजन लेने लायक ऐसे समय पर बड़ा डिसी...
जवाब पढ़िये
जी बिल्कुल भी नहीं अगर आप भावनात्मक है या फिर थोड़े बहुत बहु की किसी चीज को लेकर हैप्पी है या फिर दुखी है अपने किसी प्रकार की अनुशंसा रहे तो आप कुछ भी कोई भी बड़ा डिसीजन लेने लायक ऐसे समय पर बड़ा डिसीजन अगर आप लोगों की तो एक चीज जो जो है वह 42 जनों पर एक चीज से ही डिपेंड टेबल द डिसीजन ऑफ करो पूरी तरह से गलत होगा मुझे लगता है कि आपको डिसीजन तभी देना चाहिए जवाब तो काम में उसे कैसे जानते हो और खुद को समझ सके अगर आप किसी इमोशन को लेकर डिसीजन लेते हैं फिर मुस्लिम क्रिस्चियन लेती तो वहां पर जो है ना उसकी सीजन के जो है गलत असर हो सकता और उसके परिणाम से आप को भुगतने पड़ सकते भविष्य में तो मुझे लगता है कि ऐसे समय पर कभी भी आपको डिस्टर्ब नहीं लेना चाहिए अगर आप इमोशनल हो फिर भी आपका डिसीजन लेना है ऐसी सिचुएशन आज अतिथि जाती है तो मुझे क्या में जो है फौरन लैंग्वेज में थिंग्स प्रैक्टिकल फैक्ट्री अगर आप फौरन लैंग्वेज में चैटिंग करते तो आप किन किन चैनलों जाति और लॉजिकल हो जाती है कि आप जो इमोशनल फिर भी आपको डिसीजन लेना पड़े तो आप जुड़े उसे फौरन लैंग्वेज में अपने दिमाग में ऐसे इंग्लिश में अपने दिमाग में उसके बारे में सोच कर डिसीजन ले सकते हैंJi Bilkul Bhi Nahi Agar Aap Bhavnatmak Hai Ya Phir Thode Bahut Bahu Ki Kisi Cheez Ko Lekar Happy Hai Ya Phir Dukhi Hai Apne Kisi Prakar Ki Anushansha Rahe To Aap Kuch Bhi Koi Bhi Bada Decision Lene Layak Aise Samay Par Bada Decision Agar Aap Logon Ki To Ek Cheez Jo Jo Hai Wah 42 Jano Par Ek Cheez Se Hi Depend Table D Decision Of Karo Puri Tarah Se Galat Hoga Mujhe Lagta Hai Ki Aapko Decision Tabhi Dena Chahiye Jawab To Kaam Mein Use Kaise Jante Ho Aur Khud Ko Samajh Sake Agar Aap Kisi Emotion Ko Lekar Decision Lete Hain Phir Muslim Christian Leti To Wahan Par Jo Hai Na Uski Season Ke Jo Hai Galat Asar Ho Sakta Aur Uske Parinam Se Aap Ko Bhugatane Padh Sakte Bhavishya Mein To Mujhe Lagta Hai Ki Aise Samay Par Kabhi Bhi Aapko Disturb Nahi Lena Chahiye Agar Aap Emotional Ho Phir Bhi Aapka Decision Lena Hai Aisi Situation Aaj Atithi Jati Hai To Mujhe Kya Mein Jo Hai Phauran Language Mein Things Practical Factory Agar Aap Phauran Language Mein Chatting Karte To Aap Kin Kin Channelon Jati Aur Logical Ho Jati Hai Ki Aap Jo Emotional Phir Bhi Aapko Decision Lena Pade To Aap Jude Use Phauran Language Mein Apne Dimag Mein Aise English Mein Apne Dimag Mein Uske Baare Mein Soch Kar Decision Le Sakte Hain
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं देखी जब आप भावनाओं में होता है ना वह चाहे किसी भी तरह की भावना हो गुस्से की भावनाओं प्यार की बहुत भावना है किसी की भावना है उस समय आपको डिप्रेशन नहीं रहना चाहती 333 इंग्लिश में जो कि कहते हैं कि ...
जवाब पढ़िये
नहीं देखी जब आप भावनाओं में होता है ना वह चाहे किसी भी तरह की भावना हो गुस्से की भावनाओं प्यार की बहुत भावना है किसी की भावना है उस समय आपको डिप्रेशन नहीं रहना चाहती 333 इंग्लिश में जो कि कहते हैं कि नहीं प्रॉमिसेस 1 ईयर हैप्पी एनिवर्सरी शादी ना करो जिसमें बहुत खुश होते हैं और उस समय आप गुस्सा होता हैं लेकिन सब नॉर्मल पहलुओं के बारे में सोचता हूं कि वो खुशी और दुख को खामोश कैसे हो छोटा हो बढ़ाओ के सामान खरीदने का निर्णय क्यों नहीं छोटा से छोटा भावनाओं में बहकर बिल्कुल ना ले तब तक आपका दिमाग चैक पर निर्णय लेने के बाद पछताने से अच्छा है कि थोड़ा समय वेट करो उसके बाद बहते रुक जाना हैNahi Dekhi Jab Aap Bhavnao Mein Hota Hai Na Wah Chahe Kisi Bhi Tarah Ki Bhavna Ho Gusse Ki Bhavnao Pyar Ki Bahut Bhavna Hai Kisi Ki Bhavna Hai Us Samay Aapko Depression Nahi Rehna Chahti 333 English Mein Jo Ki Kehte Hain Ki Nahi Promises 1 Year Happy Anniversary Shadi Na Karo Jisme Bahut Khush Hote Hain Aur Us Samay Aap Gussa Hota Hain Lekin Sab Normal Pahaluon Ke Baare Mein Sochta Hoon Ki Vo Khushi Aur Dukh Ko Khamosh Kaise Ho Chota Ho Badhao Ke Saamaan Kharidne Ka Nirnay Kyun Nahi Chota Se Chota Bhavnao Mein Behkar Bilkul Na Le Tab Tak Aapka Dimag Chaik Par Nirnay Lene Ke Baad Pachhtaane Se Accha Hai Ki Thoda Samay Wait Karo Uske Baad Bahte Ruk Jana Hai
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kya Bhavnatmak Sthiti Mein Hone Par Nirnay Lena Chahiye, Should You Decide When In Emotional Situation?

vokalandroid