राम नवमी का क्या महत्व है? ...

Likes  0  Dislikes

4 Answers


जवाब पढ़िये
रामनवमी का त्यौहार भगवान श्री राम के जन्म दिवस के रुप में मनाया जाता है आज के दिन श्री राम जी का जन्म हुआ था और नवरात्रि और रामनवमी दोनों ही हिंदुओं के प्रमुख त्यौहार हैं आज के दिन हर घर में मां दुर्गा और भगवान श्री राम की पूजा की जाती है रामनवमी का त्यौहार चैत्र शुक्ल की नवमी को मनाया जाता है हिंदू मान्यताओं के अनुसार इस दिन भगवान श्रीराम का जन्म हुआ था और इसी दिन श्रीराम ने रावण के अत्याचारों को खत्म करने के लिए धरती पर जन्म लिया था श्री राम विष्णु जी के अवतार हैं और वह भगवान विष्णु के साथ में अवतार हैं जो त्रेता युग में धर्म की स्थापना के लिए जन्मे थे नवरात्रि के दौरान मां नव दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है पूरे साल में 4 बार नवरात्रि आती है लेकिन इन चारों में से सिर्फ दो यानी कि चैत्र नवरात्रि और शरद नवरात्रि को ही धूमधाम से मनाया जाता है इसके अलावा जो दूर नवरात्रि और आती हैं वह है गुप्त नवरात्रि और माघ नवरात्रि तू जो भी हिंदू लोग हैं जो मां दुर्गा की और श्रीराम में आस्था रखते हैं वह यह दोनों पर काफी धूमधाम से मनाते हैं नवरात्रि के दौरान भक्त घरों में दुर्गा मां की अलग-अलग रूपों की पूजा करते हैं और नवमी दिन जिस दिन रामनवमी होती है उस दिन भगवान श्री राम की पूजा की जाती है उन्हें भोग लगाया जाता है और रामायण या फिर रामचरितमानस जो हमारी धार्मिक पुस्तकें हैं उनका पाठ भी किया जाता है तो इसलिए मुझे लगता है कि नवरात्रि का और रामनवमी का हमारी जिंदगी में बहुत ज्यादा तू है और भगवान श्रीराम ने जब अवतार लिया था तो उन्होंने एक साधारण मनुष्य के रूप में धरती पर अवतार लिया था ताकि जो भी आसुरी शक्तियां हैं बुरी शक्तियां हैं उन्हें खत्म किया जा सके तो श्रीराम के चरित्र से हम बहुत सारी चीजे सीख सकते हैं और अगर उसका थोड़ा सा भी अपनी जिंदगी में पालन करें तो एक बेहतर इंसान बन सकते हैंRamnavami Ka Tyohar Bhagwan Shri Ram Ke Janm Divas Ke Roop Mein Manaya Jata Hai Aaj Ke Din Shri Ram Ji Ka Janm Hua Tha Aur Navaratri Aur Ramnavami Dono Hi Hinduon Ke Pramukh Tyohar Hain Aaj Ke Din Har Ghar Mein Maa Durga Aur Bhagwan Shri Ram Ki Puja Ki Jati Hai Ramnavami Ka Tyohar Chaitra Shukla Ki Navami Ko Manaya Jata Hai Hindu Manyataon Ke Anusar Is Din Bhagwan Shriram Ka Janm Hua Tha Aur Isi Din Shriram Ne Ravan Ke Atyacharo Ko Khatam Karne Ke Liye Dharti Par Janm Liya Tha Shri Ram Vishnu Ji Ke Avatar Hain Aur Wah Bhagwan Vishnu Ke Saath Mein Avatar Hain Jo Treta Yug Mein Dharm Ki Sthapana Ke Liye Janme The Navaratri Ke Dauran Maa Nav Durga Ke Nau Roopon Ki Puja Ki Jati Hai Poore Saal Mein 4 Baar Navaratri Aati Hai Lekin In Charo Mein Se Sirf Do Yani Ki Chaitra Navaratri Aur Sharad Navaratri Ko Hi Dhumadham Se Manaya Jata Hai Iske Alava Jo Dur Navaratri Aur Aati Hain Wah Hai Gupt Navaratri Aur Magh Navaratri Tu Jo Bhi Hindu Log Hain Jo Maa Durga Ki Aur Shriram Mein Aastha Rakhate Hain Wah Yeh Dono Par Kafi Dhumadham Se Manate Hain Navaratri Ke Dauran Bhakt Gharon Mein Durga Maa Ki Alag Alag Roopon Ki Puja Karte Hain Aur Navami Din Jis Din Ramnavami Hoti Hai Us Din Bhagwan Shri Ram Ki Puja Ki Jati Hai Unhen Bhog Lagaya Jata Hai Aur Ramayana Ya Phir Ramacharitamanas Jo Hamari Dharmik Pustakein Hain Unka Path Bhi Kiya Jata Hai To Isliye Mujhe Lagta Hai Ki Navaratri Ka Aur Ramnavami Ka Hamari Zindagi Mein Bahut Jyada Tu Hai Aur Bhagwan Shriram Ne Jab Avatar Liya Tha To Unhone Ek Sadhaaran Manushya Ke Roop Mein Dharti Par Avatar Liya Tha Taki Jo Bhi Aasuri Shaktiya Hain Buri Shaktiya Hain Unhen Khatam Kiya Ja Sake To Shriram Ke Charitra Se Hum Bahut Saree Cheeje Seekh Sakte Hain Aur Agar Uska Thoda Sa Bhi Apni Zindagi Mein Palan Karen To Ek Behtar Insaan Ban Sakte Hain
Likes  15  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए

0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


जवाब पढ़िये
देखिए जो रामनवमी होता है कि पूरे भारत में बहुत ही हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है यह हिंदू त्यौहार है यह मेहंदी मनाया जाता है जो अयोध्या के राजा दशरथ और रानी कौशल्या के पुत्र श्री राम थे उनके जन्मदिवस को सेलिब्रेट करने के लिए उसकी खुशी के रुप में मनाया जाता है जो भगवान नाम है उन्हें विष्णु जी के दस अवतार में से सातवां अवतार माना गया है और यह जो त्यौहार है यह 9 महीने 9 दिन तक चलता है जो नवरात्रि होती है और उसके बाद 9 दिन ही मनाई जाती है ऐसे लोग अपने घरों में भगवान श्री राम की मूर्ति बनाते हैं उनके सामने बैठकर परिवार और जीवन के सुख शांति की कामना करते हैं लड़कियों को कंजकों को खाना खिलाया जाता है और हलवा पूरी के लिए सब चीजें बनाई जाती हैं पूरे 9 दिन तक बहुत धूमधाम से के भजन कीर्तन भक्ति गीत यह सब क्या चाहते आर्थिक नीति क्या यही है किस्सा राजा दशरथ और कौशल्या के पुत्र श्री राम का जन्म हुआ था तो उसकी खुशी में दिन मनाया जाता हैDekhie Jo Ramnavami Hota Hai Ki Poore Bharat Mein Bahut Hi Harsh Aur Ullas Ke Saath Manaya Jata Hai Yeh Hindu Tyohar Hai Yeh Mehendi Manaya Jata Hai Jo Ayodhya Ke Raja Dashrath Aur Rani Kaushalya Ke Putra Shri Ram The Unke Janmadivas Ko Celebrate Karne Ke Liye Uski Khushi Ke Roop Mein Manaya Jata Hai Jo Bhagwan Naam Hai Unhen Vishnu Ji Ke Das Avatar Mein Se Satvaan Avatar Mana Gaya Hai Aur Yeh Jo Tyohar Hai Yeh 9 Mahine 9 Din Tak Chalta Hai Jo Navaratri Hoti Hai Aur Uske Baad 9 Din Hi Manai Jati Hai Aise Log Apne Gharon Mein Bhagwan Shri Ram Ki Murti Banate Hain Unke Samane Baithkar Parivar Aur Jeevan Ke Sukh Shanti Ki Kaamna Karte Hain Ladkiyon Ko Kanjakon Ko Khana Khilaya Jata Hai Aur Halwa Puri Ke Liye Sab Cheezen Banai Jati Hain Poore 9 Din Tak Bahut Dhumadham Se Ke Bhajan Kirtan Bhakti Geet Yeh Sab Kya Chahte Aarthik Niti Kya Yahi Hai Kissa Raja Dashrath Aur Kaushalya Ke Putra Shri Ram Ka Janm Hua Tha To Uski Khushi Mein Din Manaya Jata Hai
Likes  10  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

जवाब पढ़िये
रामनवमी त्योहार हिंदू धर्म से जुड़े लोगों के लिए काफी महत्वपूर्ण है इस त्यौहार के साथ ही मां दुर्गा की नवरात्रि महत्व का समापन भी जुड़ा हुआ है पुराने कथाओं की बात करें तो भगवान राम ने भी मां दुर्गा की पूजा की थी जिसके हिस्से की उन्हें युद्ध के समय विजय दिलाई थी इन दोनों पर्व का एक साथ मनाई जाने इन त्योहारों के महत्व को और बढ़ावा देता है इसी के साथ यह भी कहा जाता है कि इसी दिन गोस्वामी तुलसीदास जी ने रामचरितमानस की रचना का आरंभ किया रामनवमी का व्रत जो भी करता है वह व्यक्ति पापों से मुक्त होता है और साथ ही उसे शुभ फल प्रदान होता हैRamnavami Tyohaar Hindu Dharm Se Jude Logon Ke Liye Kafi Mahatvapurna Hai Is Tyohar Ke Saath Hi Maa Durga Ki Navaratri Mahatva Ka Samapan Bhi Juda Hua Hai Purane Kathao Ki Baat Karen To Bhagwan Ram Ne Bhi Maa Durga Ki Puja Ki Thi Jiske Hisse Ki Unhen Yudh Ke Samay Vijay Dilai Thi In Dono Parv Ka Ek Saath Manai Jaane In Tyoharon Ke Mahatva Ko Aur Badhawa Deta Hai Isi Ke Saath Yeh Bhi Kaha Jata Hai Ki Isi Din Goswami Tulsidas Ji Ne Ramacharitamanas Ki Rachna Ka Aarambh Kiya Ramnavami Ka Vrat Jo Bhi Karta Hai Wah Vyakti Papon Se Mukt Hota Hai Aur Saath Hi Use Shubha Fal Pradan Hota Hai
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions


More Answers


जवाब पढ़िये
आज रामनवमी के दिन जो है रामनवमी जो है वह नवरात्रि के नव दिन नवरात्र में जो है वह दुर्गा माता और नवमी के दिन जो है वह राम जी और दुर्गा माता की पूजा की जाती है और ऐसा माना जाता है कि राम जी का जन्म है वह रामनवमी के दिन हुआ था इसलिए इस दिन का नाम जो है वह नौवां दिन था और उस दिन राम जी का जन्म होता है इसलिए उस दिन का नाम राम नवमी पड़ी है और ऐसा कहा जाता है कि राम जी ने जो है उसी दिन रावण की हत्या करने के लिए उनका जन्म हुआ था जो रावण के दुश्मन बा पास है इसलिए उसको हत्या करना जरूरी था और राम भगवान जीते थे वह विष्णु जी के रूप थे इसलिए इस दिन का जो है हिंदी मान्यता के अनुसार बहुत ही महत्वAaj Ramnavami Ke Din Jo Hai Ramnavami Jo Hai Wah Navaratri Ke Nav Din Navaraatr Mein Jo Hai Wah Durga Mata Aur Navami Ke Din Jo Hai Wah Ram Ji Aur Durga Mata Ki Puja Ki Jati Hai Aur Aisa Mana Jata Hai Ki Ram Ji Ka Janm Hai Wah Ramnavami Ke Din Hua Tha Isliye Is Din Ka Naam Jo Hai Wah Nauvaan Din Tha Aur Us Din Ram Ji Ka Janm Hota Hai Isliye Us Din Ka Naam Ram Navami Padi Hai Aur Aisa Kaha Jata Hai Ki Ram Ji Ne Jo Hai Ussi Din Ravan Ki Hatya Karne Ke Liye Unka Janm Hua Tha Jo Ravan Ke Dushman Ba Paas Hai Isliye Usko Hatya Karna Zaroori Tha Aur Ram Bhagwan Jeete The Wah Vishnu Ji Ke Roop The Isliye Is Din Ka Jo Hai Hindi Manyata Ke Anusar Bahut Hi Mahatva
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Ram Navami Ka Kya Mahatva Hai, What Is The Significance Of Ram Navami?