गणतंत्र दिवस समारोह 2019 में डोनाल्ड ट्रंप ने भारत आने से क्यूँ मना किया? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डोनाल्ड ट्रंप ने गणतंत्र दिवस पर भारत का मुख्य अतिथि बनने से इसलिए मना किया क्योंकि एक और उनको भारत और रसिया के बीच जो अभी एयरक्राफ्ट डील हुई है 400 ईयर कार खरीदने की उससे अमेरिका कॉम जंक्शन है और दूस ...जवाब पढ़िये

डोनाल्ड ट्रंप ने गणतंत्र दिवस पर भारत का मुख्य अतिथि बनने से इसलिए मना किया क्योंकि एक और उनको भारत और रसिया के बीच जो अभी एयरक्राफ्ट डील हुई है 400 ईयर कार खरीदने की उससे अमेरिका कॉम जंक्शन है और दूसरा अभी भी भारत इरान से चावल खरीदना है क्रूड ऑल खरीद रहा है जबकि अमेरिका ईरान पेंशन लगाना चाहता है तो ईरान से जाता है कि सभी देश कट ऑफ हो जाए तो अमेरिका को भारत और इरान के रिश्ते से और भारत और रसिया के रिश्ते अब दक्षिण है उनको वह बहुत पसंद नहीं करता है कि अमेरिका चाहता है कि भारत उसके इशारों के हिसाब से काम करें तो यह इंडिकेशन है डोनाल्ड ट्रंप का कि हम आपकी हर बात से बहुत खुश नहीं है और इकनोमिक मेट्रिक्स पर भी कई बार भारत के लिए वह बोल चुके हैं कि भारत को अपने जो बारिश है वह कम करने चाहिए अमेरिका सिलेबस ने मारा था बैटरी कम करना चाहिए किन कारणों से डोनाल्ड ट्रंप इतनी खुश नहीं है भारत से तो उन्होंने भारत में गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि बनने से मना कियाDonald Tramp Ne Gantantra DIVAS Per Bharat Ka Mukhya Atithi Banane Se Eeslie Mana Kiya Kyonki Ek Aur Unko Bharat Aur Russia K Beach Joe Abhi Aircraft Deal Hue Hai 400 Year Car Kharidane Ki Usase America Com Junction Hai Aur Doosra Abhi Bhi Bharat Iran Se Chawal Kharidana Hai Crude All Kharid Raha Hai Jbki America Iran Pension Lagaana Chahta Hai To Iran Se Jaata Hai Qi Sabhi Desh Cut Of Ho Jae To America Co Bharat Aur Iran K Rishte Se Aur Bharat Aur Russia K Rishte Aba Dakshin Hai Unko Wah Bahut Pasad Nahin Karata Hai Qi America Chahta Hai Qi Bharat Uske Ishaaro K Hisaab Se Kama Karein To Yeh Indication Hai Donald Tramp Ka Qi Hum Aapki Her Baat Se Bahut Khush Nahin Hai Aur Ikanomik Matrix Per Bhi Kai Bar Bharat K Lie Wah Bowl Chuke Hain Qi Bharat Co Apne Joe Baarish Hai Wah Come Karne Chahie America Silebas Ne Mara Thaa Battery Come Krna Chahie Kine Karanon Se Donald Tramp Itni Khush Nahin Hai Bharat Se To Unhonne Bharat Mein Gantantra DIVAS Per Mukhya Atithi Banane Se Mana Kiya
Likes  34  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


Likes  7  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं मानता हूं कि डोनाल्ड ट्रम को गणतंत्र दिवस पर भारत आमंत्रित करना है मुक्त है हम उनको ज्यादा तकलीफ क्यों दे उत्पादक टाइम उनके उपभोक्ता ही मानते हैं तुम हमारे पीछे भागे ना कि हम उनके पीछे भागे ऐसा हो ...जवाब पढ़िये

मैं मानता हूं कि डोनाल्ड ट्रम को गणतंत्र दिवस पर भारत आमंत्रित करना है मुक्त है हम उनको ज्यादा तकलीफ क्यों दे उत्पादक टाइम उनके उपभोक्ता ही मानते हैं तुम हमारे पीछे भागे ना कि हम उनके पीछे भागे ऐसा होना चाहिए अमेरिका को यह कभी सोचा ही नहीं दिए भाई सरकारी कभी सोचना ही नहीं दिया उसको जब पूरा भारत और गूगल न्यूज़ नहीं करेगा तो मेरा क्या होगा यदि बताते हैं यदि पूरा भारत गूगल अमेरिका को कोई भी चीज यूज नहीं करें तो अमेरिका की अर्थव्यवस्था इतनी ही रहेगी को जबरदस्ती भारत को मना नहीं पड़ेगा इसलिए हम उनको अब यह सवाल है कि डोनाल्ड ट्रंप आए क्यों नहीं डोनाल्ड ट्रंप ऐसा व्यक्तित्व जो मेरी का अमेरिका फर्स्ट विश्वास एक तरफ तो ईरान पर प्रतिबंध लगा दिया भारत अभी वीरान तक रोड वाली खरीदा या कारण होता तलाक देने का मतलब यह नहीं है कि वह भाड़ से खुश हो गए लगातार उनको क्रूड आयल खरीदने की अनुमति दे दिया लो समालो रो प्रतिबंध भी लगाते हैं यह भी दूसरा कारण हो सकता है कि भारत का झुकाव रसिया की होरी अमेरिका की ओर नहीं इस मसले पर डोनाल्ड ट्रंप भारत क्यों नहीं आए तो भारत तुमको बुलाना ही मुक्ता था सबसे पहले आती है और इतना अच्छा ओके जनतंत्र दिवस पर अच्छे अच्छे व्यक्तित्व का दिवस पर आने के लिए इसे फ्रांस के राष्ट्रपति अच्छे व्यक्तित्व व्यक्तित्व की सबसे अच्छा
Likes  7  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी इंडिया और रसिया के संबंध और इंडिया और अमेरिका के संबंध अभी तक यह होता है ताकि एक टाइम पर हम एक ही देश के क्लोज रहते थे या तो भारत और रूस के संबंध अच्छे होते थे या तो भारत और अमेरिका की अमेरिका सम ...जवाब पढ़िये

देखी इंडिया और रसिया के संबंध और इंडिया और अमेरिका के संबंध अभी तक यह होता है ताकि एक टाइम पर हम एक ही देश के क्लोज रहते थे या तो भारत और रूस के संबंध अच्छे होते थे या तो भारत और अमेरिका की अमेरिका समय समय पर हमें धोखा देता रहा है मतलब कि पाकिस्तान की मदद करना यह सब वगैरा चलता रहा लेकिन रूस हमेशा हमारा अच्छा साथी रहा है अच्छा दोस्त रहा है तो मोदी जी का रूस को भी अपने नजदीक रखना और फिर अमेरिका को भी अमेरिकी राष्ट्रपति को भी अपने आप बुलाना शायद यह बात दौरान हमको पसंद नहीं आई होगी क्योंकि वह चाहते हो कि कि भारत उनका दूसरा है ना कि रूस का क्योंकि रूस और अमेरिका में दुश्मनी जगजाहिर है ठीक है सब जानते हैं एक तो यह कारण हो सकता है जो आमतौर पर मीडिया में फैलाया गया यह कहा गया कि लेकिन दूसरा मुझे रात लगता हो सकता है उनकी कोई बताए रही हो क्योंकि अमेरिकी राष्ट्रपति को हम जानते हैं कि वह कितना व्यस्त रहते हैं उनका कार्यकाल होता वह सिर्फ 4 सालों का ही होता है और 4 साल में ही उनको बहुत सारे काम करने पड़ते हैं अमेरिका देश मतलब दुनिया की सबसे बड़ी ताकत है तो निश्चित रूप से बहुत सारे काम रहते होंगे तो इसका दूसरा कारण यह भी हो सकता कि वह बहुत ज्यादा व्यस्त होंगे और उस समय उनका कोई कार्यक्रम होगा जो शायद भारत आने से ज्यादा इंपोर्टेंट हो तो यह भी हो सकता है
Likes  6  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गणतंत्र दिवस ने 26 जनवरी को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत आने से मना कर दिया है इसकी कई सारे कारण हो सकते हैं जो ट्रंप ने बताया कि उनका व्यक्तिगत कारण है उनके घरेलू रीजन है लेकिन अगर मैं ...जवाब पढ़िये

गणतंत्र दिवस ने 26 जनवरी को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत आने से मना कर दिया है इसकी कई सारे कारण हो सकते हैं जो ट्रंप ने बताया कि उनका व्यक्तिगत कारण है उनके घरेलू रीजन है लेकिन अगर मैं आपको बताऊं तो इसके पीछे की जो कहानी है वह बहुत सीधी और सरल सी है कि भारत के जो रूस के साथ रिश्ते बन रहे हैं उससे अमेरिका नाराज है आपको पता है कि तू भी 3 दिन की जमाने से रूस और अमेरिका में एक वर्चस्व की लड़ाई चलती देखी थी वह अमेरिका प्रकार रखना चाहता है और भारत ने ईरान के साथ तीन जो है उस से खरीदा जाए जारी रखा है जबकि अमेरिका ईरान की पर प्रतिबंध लगाना चाहता है और तो और अब दोनों कंपनी जब वह अमेरिका के राष्ट्रपति बने थे तो उन्होंने कहा था कि मैं अमेरिका को जो सम्मान उसका था वह वापस आऊंगा और अमेरिका के किस समान क्यों बात करी थी वह इस सम्मान की बात कर रहे थे कि पूरी दुनिया में जो आएगा का दबदबा था एक समय पर और जो बीच में नरम पड़ गया था बराक ओबामा के समय पर वह उसे हुआ चलाना चाहती थी दुनिया हमारे कैसे डर रही इसलिए जो है जो है सभी देशों से लड़ते हैं और जहां तक विदेश नीति की बात है तो प्रधानमंत्री मोदी जब देश के प्रधानमंत्री बने तो मैं बताते चंदू की भारत की जो अमेरिका के साथ दोस्ती की विदेश नीति थी वो कभी रही ही नहीं है बल्कि भारत अमेरिका से दूर रहा है जब प्रधानमंत्री मोदी जी देश के प्रधानमंत्री बने भारत के प्रधानमंत्री बने तो वह अमेरिका के दौरे पर कहते हैं ना कि अमेरिका जो है भारत दौरे पर आया था तो भारत ने अमेरिकी तरफ जाने का पैसा गया था पीएम मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद और डॉनल्ड ट्रंप को न्योता देना ऐसी ब्रिज निधि के बकरे के कारण था और डोंकी नाराजगी है जिससे आपको बता कि इन दो डील्स के साथियों भारत में याद और एशिया के साथ की थी तो कहीं ना कहीं उसने मिलने की चाहत को झटका दिया कि यह देश हमारा नहीं आ रहा है और डॉक्टर ने इस बात को समझ लिया और इस दीवाने भारत आने से मना कर दिया
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डीजे राजनीति की 2 भाषा होती है जलवा जलवा सलमान का विवाह है जो लिटल सबसे कॉमन सेंस जटिल मंतव्य वह है जो रेडी बिटवीन द लाइंस होता है डॉनल्ड ट्रंप ने भारत में आने का एक सीधा सा दर्द दिया कि मेरे घरेलू ...जवाब पढ़िये

डीजे राजनीति की 2 भाषा होती है जलवा जलवा सलमान का विवाह है जो लिटल सबसे कॉमन सेंस जटिल मंतव्य वह है जो रेडी बिटवीन द लाइंस होता है डॉनल्ड ट्रंप ने भारत में आने का एक सीधा सा दर्द दिया कि मेरे घरेलू कश्मीर कमिटमेंट्स घरेलू कमिटमेंट को हमेशा रहेंगे ओबामा के समय भी था लेकिन अब आप आए थे तो ऐसा क्यों होता है तब से पूरे वर्ल्ड में जितने भी बड़े बड़े व्यापारिक संबंध है सबसे जाकर बिगाड़ कर लिया उनसे भी तू तो मैंने कर ली लेकिन भारत से करने से बचते हैं क्योंकि भारत आज के जमाने में बहुत बड़ी शक्ति है और दक्षिण एशिया में अमेरिका का प्रभुत्व बना रहे उसके लिए वह भारत को एग्जिट पोल न्यूज़ करना चाहता अमेरिका और इसलिए भारत से वाक्य संबंध रखना चाह रहा है क्योंकि पाकिस्तान से पाकिस्तान से हटके जो कम पाकिस्तान पहले कर रहा था अमेरिका चेहरा कभी इंडिया करें चाइना के विकास को रोकने में लेकिन इंडिया किसी का फोन कभी रहा ही नहीं है कभी भी इंडिया किसी का पिट्ठू नहीं रहा है इंडिया की अपनी विदेश नीति रही है और डोनल ट्रंप कोयत आप समझ में आ गया जब जब ईरान से हमने व्हाईल खरीदना जारी रखा और रसिया से भी अपने जो डिफेंस का जो एक्सचेंज है वह जारी रखा और यह बिल्कुल भी नहीं क्योंकि अब डॉनल्ड ट्रंप को यह जवाब देते नहीं बन रहा अमेरिका में भारत हमारे हाथ से कैसे छूट गया भाई ऐसा है कि भारत आपके हाथ में कभी था ही नहीं यह आपका भ्रम है अभी सांकृत करते हैं हमें आपकी हिस्ट्री गई है कि आप सभी को अपनी राशि पर क्या उसे अपने भारत को यह पता है जबकि उनके सच्चाई में के सामने आ गईDiza Rajniti Ki 2 Bhasha Hoti Hai Jolwa Jolwa Salman Ka Vivah Hai Joe Little Sabse Common Shamsh Jatil Mantavya Wah Hai Joe Ready Bitvin The Lains Hota Hai Danald Tramp Ne Bharat Mein Aane Ka Ek Seedha Sa Dard Diya Qi Mere Gharelu Kashmir Kamitments Gharelu Kamitment Co Hamesha Rahenge Obama K Samay Bhi Thaa Lekin Aba Aap Ae The To Aisa Kio Hota Hai Taba Se Poore World Mein Jitne Bhi Bade Bade Wyaparik Sambandh Hai Sabse Jaakar Bigad Car Liya Unse Bhi Tu To Maine Car Li Lekin Bharat Se Karne Se Bachte Hain Kyonki Bharat Aj K Jamane Mein Bahut Badi Shakti Hai Aur Dakshin Eshiya Mein America Ka Prabhutva Banna Rahe Uske Lie Wah Bharat Co Exit Pole Nyuz Krna Chahta America Aur Eeslie Bharat Se Vakya Sambandh Rakhna Chah Raha Hai Kyonki Pakistan Se Pakistan Se Hatke Joe Come Pakistan Pehle Car Raha Thaa America Chehra Kabhi India Karein China K Vikas Co Rokne Mein Lekin India Kisi Ka Phone Kabhi Raha Hea Nahin Hai Kabhi Bhi India Kisi Ka Pitthu Nahin Raha Hai India Ki Apni Videsh Neeti Rahi Hai Aur Donal Tramp Koyat Aap Samajh Mein Aa Gaya Jab Jab Iran Se Humne While Kharidana Zari Rakhaa Aur Russia Se Bhi Apne Joe Difens Ka Joe Exchange Hai Wah Zari Rakhaa Aur Yeh Bilkool Bhi Nahin Kyonki Aba Danald Tramp Co Yeh Jawab Dete Nahin Bun Raha America Mein Bharat Hamare Hatha Se Kaise Chut Gaya Bhai Aisa Hai Qi Bharat Aapke Hatha Mein Kabhi Thaa Hea Nahin Yeh Aapka Bhrama Hai Abhi Sankrit Karte Hain Human Aapki Histri Gi Hai Qi Aap Sabhi Co Apni Rashi Per Kya Usse Apne Bharat Co Yeh Patta Hai Jbki Unke Sachchai Mein K Samne Aa Gi
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तो आपका क्वेश्चन यह है कि गणतंत्र दिवस समारोह 2019 में डोनाल्ड ट्रंप ने भारत आने से मना क्यों कर दिया तो देखिए इस की बहुत सारी अटकलें लगाई जा रही थी कि हमारे जो रसिया से बढ़ते संबंध है जो हम उन से s-4 ...जवाब पढ़िये

तो आपका क्वेश्चन यह है कि गणतंत्र दिवस समारोह 2019 में डोनाल्ड ट्रंप ने भारत आने से मना क्यों कर दिया तो देखिए इस की बहुत सारी अटकलें लगाई जा रही थी कि हमारे जो रसिया से बढ़ते संबंध है जो हम उन से s-400 मान ले रहे हैं उसके अलावा बहुत सारे हम उनके साथ मिलट्री एक्सरसाइजेज कर रहे हैं तो 1 तरीके से कर रक्षा क्षेत्र में देखें तो हमारा रसिया के साथ में बहुत ज्यादा संबंध बढ़ते जा रहे हैं अमेरिका ने ईरान पर सैंक्शंस लगाए हैं लेकिन उसके बावजूद भी हम उनसे रूठ मंगा रहे हैं लगाता तो यह भी हो सकता था लेकिन अभी व्हाइट हाउस से जो आधिकारिक बयान जारी किया है उसमें लिखा है शेड्यूलिंग कंस्ट्रेंट यानी कि डोनाल्ड ट्रम का जो अभी शेडूल है राइट नाउ वह बिजी है बिजी क्यों है क्योंकि होता क्या है कि अमेरिका में जो जनवरी का लास्ट ओवर फरवरी का जो पहला वीक होता है इसमें स्टेट ऑफ द यूनियन ऐड्रेस हो एक होता है ठीक है उसमें क्या होता है कि कांग्रेस के दोनों सदनों आते हैं वहां पर और उसमें जो प्रेसिडेंट होता है उसको अपना एक स्टेटमेंट जारी करना पड़ता है उसको वहां पर बोलना पड़ता है उसको यह बताना पड़ता है कि उसके पिछले साल में क्या-क्या अचीवमेंट से क्या क्या उन्होंने काम की है और आने वाले साल में उनका क्या एजेंडा है और किस तरीके से वह काम करेंगे इसकी आउटलाइन है इसकी हाईलाइट उनको पेश करनी होती है ठीक है लेकिन इसके बावजूद भी हमने देखा था कि बराक ओबामा आए थे और उनका यह वाला जो कार्यक्रम करने का उसको आगे बढ़ा दिया गया था उसको पोस्टपोन कराया था लेकिन अब ऐसा नहीं हुआ है तो अब यह कहना गलत होगा कि वह इसलिए नहीं आ रहा है क्योंकि हमारी रसिया से अपनी जान से ज्यादा संबंध संबंध और नजदीकियां बढ़ रहे हैं ऐसा नहीं है आधिकारिक तौर पर बोला गया है और इस बार के जो 2019 का जो हमारा गणतंत्र दिवस होगा उसमें साउथ अफ्रीका के राष्ट्रपति सरल रामा फोर्स आएंगे उनका भी उतने ही जोर-शोर से स्वागत करना चाहिए जितना कि हमने बराक ओबामा का किया था थैंक यू सो मच
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Gantantra Divas Samaroh 2019 Mein Donald Tramp Ne Bharat Aane Se Kyun Mana Kiya , Why Did Donald Trump Refuse To Come To India In Republic Day Celebrations 2019?