सरकार नई करेंसी छप्प कर राजस्व घाटा पूरा करती है तो महंगाई क्यों बढ़ जाती है ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस प्रोसेस को इन्फ्लेशन कहते हैं तो यह जो है मतलब यह पति का फर्ज़ होता है कि अगर नहीं करना चाहते हैं तो उसे महंगाई बढ़ जाती है क्यों बढ़ती है दुनिया में जो भी कमी है जो भी इस तरीके से करेंसी का रेट जो चेंज होता है वह सब कुछ है डिमांड और सप्लाई पर होता है ठीक है तो अगर आपके पास अगर पैसा शॉप शॉप शॉप मतलब ₹60 के दो नोट अगर मान लीजिए पुरे पुरे भारत में है और और जिलों की वैल्यू है कुछ कुछ है और कल को जो है सरकार बोलती है कि हमारे पास नोट कम है तो हम 500 नोट छाप देंगे और तो वह 500 नोट और छाप देते हैं तो उससे क्या होता है कि लोगों के पास मतलब मार्केट में लॉन्च पास थोड़ी मार्केट में जो है पैसा ज्यादा हो गया और मार्केट में अगर पैसा ज्यादा आ गया तो उसका यह मत हो जाता कि मैं पैसे की सप्लाई ज्यादा है और डिमांड शायद उतनी नहीं होती ज्यादा हो गई और फिर खाने पीने के क्या चीज है तो उनका जो है उनकी जो डिमांड बढ़ गई है क्योंकि उनके पास ज्यादा पैसा भी है तो लोग उसे लिए ज्यादा पैसा दे सकते हैं मुझे तो ऑटोमेटिकली चीजों का प्राइस बढ़ जाता है इस डिमांड और सप्लाई के कानों में चलता है तो इसलिए होता है कि मतलब ज्यादा अगर करेंसी कोई देश हमें देता है तो उस देश में चीजों के दाम बढ़े बढ़ जाते हैं
Romanized Version
इस प्रोसेस को इन्फ्लेशन कहते हैं तो यह जो है मतलब यह पति का फर्ज़ होता है कि अगर नहीं करना चाहते हैं तो उसे महंगाई बढ़ जाती है क्यों बढ़ती है दुनिया में जो भी कमी है जो भी इस तरीके से करेंसी का रेट जो चेंज होता है वह सब कुछ है डिमांड और सप्लाई पर होता है ठीक है तो अगर आपके पास अगर पैसा शॉप शॉप शॉप मतलब ₹60 के दो नोट अगर मान लीजिए पुरे पुरे भारत में है और और जिलों की वैल्यू है कुछ कुछ है और कल को जो है सरकार बोलती है कि हमारे पास नोट कम है तो हम 500 नोट छाप देंगे और तो वह 500 नोट और छाप देते हैं तो उससे क्या होता है कि लोगों के पास मतलब मार्केट में लॉन्च पास थोड़ी मार्केट में जो है पैसा ज्यादा हो गया और मार्केट में अगर पैसा ज्यादा आ गया तो उसका यह मत हो जाता कि मैं पैसे की सप्लाई ज्यादा है और डिमांड शायद उतनी नहीं होती ज्यादा हो गई और फिर खाने पीने के क्या चीज है तो उनका जो है उनकी जो डिमांड बढ़ गई है क्योंकि उनके पास ज्यादा पैसा भी है तो लोग उसे लिए ज्यादा पैसा दे सकते हैं मुझे तो ऑटोमेटिकली चीजों का प्राइस बढ़ जाता है इस डिमांड और सप्लाई के कानों में चलता है तो इसलिए होता है कि मतलब ज्यादा अगर करेंसी कोई देश हमें देता है तो उस देश में चीजों के दाम बढ़े बढ़ जाते हैंIs Process Ko Inflation Kehte Hain To Yeh Jo Hai Matlab Yeh Pati Ka Farz Hota Hai Ki Agar Nahi Karna Chahte Hain To Use Mahangai Badh Jati Hai Kyun Badhti Hai Duniya Mein Jo Bhi Kami Hai Jo Bhi Is Tarike Se Currency Ka Rate Jo Change Hota Hai Wah Sab Kuch Hai Demand Aur Supply Par Hota Hai Theek Hai To Agar Aapke Paas Agar Paisa Shop Shop Shop Matlab ₹60 Ke Do Note Agar Maan Lijiye Poore Poore Bharat Mein Hai Aur Aur Jilon Ki Value Hai Kuch Kuch Hai Aur Kal Ko Jo Hai Sarkar Bolti Hai Ki Hamare Paas Note Kum Hai To Hum 500 Note Chhaap Denge Aur To Wah 500 Note Aur Chhaap Dete Hain To Usse Kya Hota Hai Ki Logon Ke Paas Matlab Market Mein Launch Paas Thodi Market Mein Jo Hai Paisa Jyada Ho Gaya Aur Market Mein Agar Paisa Jyada Aa Gaya To Uska Yeh Mat Ho Jata Ki Main Paise Ki Supply Jyada Hai Aur Demand Shayad Utani Nahi Hoti Jyada Ho Gayi Aur Phir Khane Peene Ke Kya Cheez Hai To Unka Jo Hai Unki Jo Demand Badh Gayi Hai Kyonki Unke Paas Jyada Paisa Bhi Hai To Log Use Liye Jyada Paisa De Sakte Hain Mujhe To Atometikli Chijon Ka Price Badh Jata Hai Is Demand Aur Supply Ke Kando Mein Chalta Hai To Isliye Hota Hai Ki Matlab Jyada Agar Currency Koi Desh Hume Deta Hai To Us Desh Mein Chijon Ke Dam Badhe Badh Jaate Hain
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

यदि हम ₹4500000 की अपनी कोई जमीन बेचते हैं तो उसमें भी क्या सरकार को tax चुकाना होगा या नहीं चुकाना होगा ? ...

अगर एग्रीकल्चर लैंड की बात हम करते हैं तो अगर गांव की जमीन है तो उस पर कोई भी टैक्स नहीं लगने वाला है और अगर वह नगर निगम के अंदर आती है नहीं अर्बन एरिया पर आती है तो उसको अंदर देखें टर्म कैपिटल गैंस मजवाब पढ़िये
ques_icon

हमेंं कोई भी सरकारी योजनाएं नहीं मिल रही है सरकारी योजनाओं के लिए हमेंं क्या करना होगा? ...

कोई भी सर के सरकारी योजना नहीं मिल रहा है तो आप किस गांव तक नहीं पहुंच रहा है तो सबसे पहले बात है कि अगर आपको जाना है तो आप अपने पंचायत या फिर ब्लॉक ऑफिस के पास जा सकते हैं इन योजनाओं का फायदा उठाने कजवाब पढ़िये
ques_icon

मेरी वर्ष 2018-19 में इनकम 500000 से कम है और उसके बाद नौकरी भी छोड़ दी है, पहले के वर्षों में मैं इनकम टैक्स रिटर्न भरते आया हूँ क्या इस बार भी मुझे इनकम टैक्स रिटर्न भरना होगा?

2018 से 2019 में आपकी इनकम 500000 से कम है और उसके बाद में भी अपनी नौकरी छोड़ दी और पहले वर्ष में वर्षों में आपके इनकम टैक्स रिटर्न भरते भरते हैं तो देखिए अब आपको इनकम टैक्स करने की कोई आवश्यकता नहीं जवाब पढ़िये
ques_icon

जब हम पहले से ही इसके लिए आयकर का भुगतान करते हैं तो हम राजमार्गों की लागत को वसूलने के लिए टोल टैक्स का भुगतान क्यों करते हैं ? ...

आयकर अपन जमा कराते हैं तथा रोड पर टोल टैक्स देते हैं दोनों से पेट ठीक है सब चीजें हैं इनकम टैक्स आयकर जो है आपकी आय पर टैक्स लगता है भारत में यह व्यवस्था अलग है कि टोल टैक्स टोल उनको देते हैं जो प्राइजवाब पढ़िये
ques_icon

पंजाब सरकार चाहती है की MLA अपनी आयकर का भुगतान ख़ुद करें,क्या सभी राज्यों को यह शुरू करना चाहिए? ...

पंजाब सरकार के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने यह कहा है कि जो भी MLA हैं वह अपना आयकर भुगतान खुद ही करें क्योंकि अभी तक पंजाब सरकार ही उनका टैक्स पर कर रही थी जिसकी वजह से लगभग 11 करोड रुपए अतिरिकजवाब पढ़िये
ques_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Sarkar Nayi Currency Chapp Kar Rajaswa Ghata Pura Karti Hai Toh Mahangai Kyon Badh Jati Hai ?,Why Does Inflation Increase If The Government Completes A New Currency And Completes The Revenue Deficit?,


vokalandroid