क्या अंधविश्वासी होना अच्छा है या लोगों को विज्ञान में ही विश्वास करना चाहिए? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं ऐसे नहीं कहूंगी कि हम सिर्फ साइंटिफिक होना चाहिए और ना ही कहूंगी कि सिर्फ अंधविश्वासी होना चाहिए कुछ अंधविश्वासों को साइंटिफिक लिए प्रूफ क्या गया है और कुछ अंधविश्वास तुमको साइंटिफिक कारण ही नहीं ...
जवाब पढ़िये
मैं ऐसे नहीं कहूंगी कि हम सिर्फ साइंटिफिक होना चाहिए और ना ही कहूंगी कि सिर्फ अंधविश्वासी होना चाहिए कुछ अंधविश्वासों को साइंटिफिक लिए प्रूफ क्या गया है और कुछ अंधविश्वास तुमको साइंटिफिक कारण ही नहीं मिला हमारे बुजुर्गों तो टाइमपास के लिए कुछ बात नहीं बताया तो यह जरूरी है कि हम कुछ इंपॉर्टेंट अंधविश्वासों को फॉलो करें और हमें उसमें यकीन करना चाहिएMain Aise Nahi Kahungi Ki Hum Sirf Scientific Hona Chahiye Aur Na Hi Kahungi Ki Sirf Andhavishvasi Hona Chahiye Kuch Andhvishvaso Ko Scientific Liye Proof Kya Gaya Hai Aur Kuch Andhavishvas Tumko Scientific Kaaran Hi Nahi Mila Hamare Bujurgoan To Timepass Ke Liye Kuch Baat Nahi Bataya To Yeh Zaroori Hai Ki Hum Kuch Important Andhvishvaso Ko Follow Karen Aur Hume Usamen Yakin Karna Chahiye
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे लगता है अंधविश्वासी होना बिल्कुल गलत है और हमें विज्ञान जो बता उस पर ही विश्वास करना चाहिए और उसके हिसाब से ही जिंदगी में आगे बढ़ना चाहिए विश्वास अलग चीज होती है और अंधविश्वास अलग चीज होती है अगर...
जवाब पढ़िये
मुझे लगता है अंधविश्वासी होना बिल्कुल गलत है और हमें विज्ञान जो बता उस पर ही विश्वास करना चाहिए और उसके हिसाब से ही जिंदगी में आगे बढ़ना चाहिए विश्वास अलग चीज होती है और अंधविश्वास अलग चीज होती है अगर आप भगवान में विश्वास करते हैं तो इसका मतलब यह नहीं है कि आप काले जादू में या फिर जो भी गलत गलत चीजें हैं उसमें भी विश्वास करें क्योंकि वह फिर अंधविश्वास कहलाएगा और हमने ऐसा कई बार देखा है कि अंधविश्वास के चक्कर में लोग कैसे-कैसे काम कर जाते हैं और अपने बच्चों को अपने परिवार वालों तक की हत्या कर देते हैं इसी लालच में कि उन्हें ऐसा करने से कुछ धन दौलत की प्राप्ति हो जाएगी या कुछ प्रॉपर्टी मिल जाएगी या जो भी उनकी परेशानियां है वह दूर हो जाएगी तो इस तरह की चीजें अंधविश्वास कहलाती हैं और इससे हमें बिल्कुल बच के रहना चाहिए और इसी वजह से मुझे लगता है कि हमें विज्ञान जो भी बताता है उसके हिसाब से सारे काम करने चाहिए क्योंकि विज्ञान जो भी चीजें बताता है उसका कुछ ना कुछ प्रूफ जरूर होता है यानी कि उसे हम साबित करके देख सकते हैं कि क्या सही है और क्या नहीं लेकिन अगर अंधविश्वास पर हम भरोसा करेंगे तो हो सकता है यही अंधविश्वास के चक्कर में हम ऐसे दलदल में फंस जाए जहां से फिर वापस निकलना काफी मुश्किल होगा और अंधविश्वास के चक्कर में हम ऐसे काम भी कर सकते हैं जो हमें नहीं करना चाहिए और उस काम को करने से हमारा तो नुकसान है ही साथ ही साथ हमारे परिवार वाले हमारे जो चाहने वाले उनका भी नुकसान हो सकता हैMujhe Lagta Hai Andhavishvasi Hona Bilkul Galat Hai Aur Hume Vigyan Jo Bata Us Par Hi Vishwas Karna Chahiye Aur Uske Hisab Se Hi Zindagi Mein Aage Badhana Chahiye Vishwas Alag Cheez Hoti Hai Aur Andhavishvas Alag Cheez Hoti Hai Agar Aap Bhagwan Mein Vishwas Karte Hain To Iska Matlab Yeh Nahi Hai Ki Aap Kaale Jadu Mein Ya Phir Jo Bhi Galat Galat Cheezen Hain Usamen Bhi Vishwas Karen Kyonki Wah Phir Andhavishvas Kahalaega Aur Humne Aisa Kai Baar Dekha Hai Ki Andhavishvas Ke Chakkar Mein Log Kaise Kaise Kaam Kar Jaate Hain Aur Apne Bacchon Ko Apne Parivar Walon Tak Ki Hatya Kar Dete Hain Isi Lalach Mein Ki Unhen Aisa Karne Se Kuch Dhan Daulat Ki Prapti Ho Jayegi Ya Kuch Property Mil Jayegi Ya Jo Bhi Unki Pareshaniyan Hai Wah Dur Ho Jayegi To Is Tarah Ki Cheezen Andhavishvas Kahalati Hain Aur Isse Hume Bilkul Bach Ke Rehna Chahiye Aur Isi Wajah Se Mujhe Lagta Hai Ki Hume Vigyan Jo Bhi Batata Hai Uske Hisab Se Sare Kaam Karne Chahiye Kyonki Vigyan Jo Bhi Cheezen Batata Hai Uska Kuch Na Kuch Proof Jarur Hota Hai Yani Ki Use Hum Saabit Karke Dekh Sakte Hain Ki Kya Sahi Hai Aur Kya Nahi Lekin Agar Andhavishvas Par Hum Bharosa Karenge To Ho Sakta Hai Yahi Andhavishvas Ke Chakkar Mein Hum Aise Duldula Mein Phans Jaye Jahan Se Phir Wapas Nikalna Kafi Mushkil Hoga Aur Andhavishvas Ke Chakkar Mein Hum Aise Kaam Bhi Kar Sakte Hain Jo Hume Nahi Karna Chahiye Aur Us Kaam Ko Karne Se Hamara To Nuksan Hai Hi Saath Hi Saath Hamare Parivar Wale Hamare Jo Chahne Wale Unka Bhi Nuksan Ho Sakta Hai
Likes  13  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मुझे लगता है कि दोनों चीजों का बैलेंस होना चाहिए अब बहुत ज्यादा अंधविश्वासी भी नहीं हो सकते और बहुत ज्यादा साइंटिफिक लिए भी नहीं सोच सकते हो अगर आप दोनों चीजों का बैलेंस लेकर चल रहे हो तो मुझे ल...
जवाब पढ़िये
लेकिन मुझे लगता है कि दोनों चीजों का बैलेंस होना चाहिए अब बहुत ज्यादा अंधविश्वासी भी नहीं हो सकते और बहुत ज्यादा साइंटिफिक लिए भी नहीं सोच सकते हो अगर आप दोनों चीजों का बैलेंस लेकर चल रहे हो तो मुझे लगता है कि आप सब से सुनो अब ज्यादा ग्रुप करोगे लेकिन अगर आप केवल सेंड वीकली सोच रहे हो आप क्यों सेंड इसीलिए सोच रहे हो तो मुझे लगता है कि एक दम करेक्ट नहीं है अब दोनों चीजों में बैलेंस बनाकर चली तो मुझे लगता है आप ज्यादा सक्सेसफुल होंगे क्योंकि एकदम आप अंधविश्वास में चले जाते हो तो फिर क्या है कि आपकी जो सोचने की थिंकिंग है वह कन फाइंड हो जाती है तो ऐसा नहीं करना है दोनों पर बैलेंस बनाकर रखोगे तो ज्यादा ठीक है ना बहुत ज्यादा अंधविश्वासी होना ना बहुत ज्यादा साइंटिफिक सोचना हैLekin Mujhe Lagta Hai Ki Dono Chijon Ka Balance Hona Chahiye Ab Bahut Jyada Andhavishvasi Bhi Nahi Ho Sakte Aur Bahut Jyada Scientific Liye Bhi Nahi Soch Sakte Ho Agar Aap Dono Chijon Ka Balance Lekar Chal Rahe Ho To Mujhe Lagta Hai Ki Aap Sab Se Suno Ab Jyada Group Karoge Lekin Agar Aap Kewal Send Vikli Soch Rahe Ho Aap Kyun Send Isliye Soch Rahe Ho To Mujhe Lagta Hai Ki Ek Dum Correct Nahi Hai Ab Dono Chijon Mein Balance Banakar Chali To Mujhe Lagta Hai Aap Jyada Successful Honge Kyonki Ekdam Aap Andhavishvas Mein Chale Jaate Ho To Phir Kya Hai Ki Aapki Jo Sochne Ki Thinking Hai Wah Kan Find Ho Jati Hai To Aisa Nahi Karna Hai Dono Par Balance Banakar Rakhoge To Jyada Theek Hai Na Bahut Jyada Andhavishvasi Hona Na Bahut Jyada Scientific Sochna Hai
Likes  4  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अंशु अंधविश्वासी हो ना बिल्कुल भी अच्छा नहीं है मुझे लगता कि आपको विश्वास होना चाहिए यार मैं भरोसा रखें बिल्कुल रखिए लेकिन उसमें ही भरोसा रखिए भी जरूरी नहीं है आप कुछ चीजों में अपना दिमाग भी लगा सकते ...
जवाब पढ़िये
अंशु अंधविश्वासी हो ना बिल्कुल भी अच्छा नहीं है मुझे लगता कि आपको विश्वास होना चाहिए यार मैं भरोसा रखें बिल्कुल रखिए लेकिन उसमें ही भरोसा रखिए भी जरूरी नहीं है आप कुछ चीजों में अपना दिमाग भी लगा सकते हैं थैंक यू बट अंधविश्वासी तो करना कि नहीं होना चाहिए कि जो इंसान कह रहा है उसे मारने जा रहे हैं नहाने जा रहे हैं यह नहीं अपना दिमाग लगाईए अगर आपको लगता है कि ऐसा नहीं ऐसा है जैसा आपको लगता है वह सही है उसको सही मानने के लिए अगर आप को डाउट है तो आप ऑफिस लिए विज्ञान की तरफ उठा कर देख सकते हैं बट कोई सुन अगर आप अपनी सुन रहा है तो अपनी चीजों को लेकर क्या पसंद नहीं हैAnshu Andhavishvasi Ho Na Bilkul Bhi Accha Nahi Hai Mujhe Lagta Ki Aapko Vishwas Hona Chahiye Yaar Main Bharosa Rakhen Bilkul Rakhiye Lekin Usamen Hi Bharosa Rakhiye Bhi Zaroori Nahi Hai Aap Kuch Chijon Mein Apna Dimag Bhi Laga Sakte Hain Thank You But Andhavishvasi To Karna Ki Nahi Hona Chahiye Ki Jo Insaan Keh Raha Hai Use Maarne Ja Rahe Hain Nahane Ja Rahe Hain Yeh Nahi Apna Dimag Lagaiye Agar Aapko Lagta Hai Ki Aisa Nahi Aisa Hai Jaisa Aapko Lagta Hai Wah Sahi Hai Usko Sahi Manane Ke Liye Agar Aap Ko Doubt Hai To Aap Office Liye Vigyan Ki Taraf Utha Kar Dekh Sakte Hain But Koi Sun Agar Aap Apni Sun Raha Hai To Apni Chijon Ko Lekar Kya Pasand Nahi Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां देखिए हम लोग 21 वीं शताब्दी में जी रहे हैं तो अगर आज के जमाने में हम अंधविश्वास को फॉलो करेंगे तो एक आप ही हंसने वाली बात होगी क्योंकि युवाओं से हम लोग अंधविश्वास के कारण में कितना गलत तो इस अपने ...
जवाब पढ़िये
हां देखिए हम लोग 21 वीं शताब्दी में जी रहे हैं तो अगर आज के जमाने में हम अंधविश्वास को फॉलो करेंगे तो एक आप ही हंसने वाली बात होगी क्योंकि युवाओं से हम लोग अंधविश्वास के कारण में कितना गलत तो इस अपने आप पर समाज में जो बहुत तरह के अंधविश्वास फैले हुए जो आज तक कैरी फॉरवर्ड आर हो रहे हैं तो हमें उन चीजों पर रोक लगानी होगी क्योंकि अगर हम साइंस को फॉलो करते हैं तो उस साइंस हमें हर चीज का एक लॉजिकल ग्रोथ और लॉजिकल रीजन दे देता है ब्लीच करने के लिए उस चीज को हम लॉजिकल कंपेयर करके एनालाइज कर सकते हो और उसके रिजल्ट भी देख सकते हैं और जहां तक अंधविश्वास क्या बात है तो वह लॉजिक से परे होता है उसका कोई लॉजिकल प्रूफ नहीं होता वह बस कही सुनी बातें होती है और अंधविश्वास का सबसे बड़ा गलत इंपैक्ट यह होता है कि अगर आप एक अंधविश्वास को फॉलो करेंगे और किसी कारणवश कोई कॉन्फिडेंस हो गया और वह अगर सही हो गया तो फिर आप बार-बार अंधविश्वास के चपेट में आ जाएंगे हर चीज में आप अंधविश्वास हो जाएंगे क्योंकि आज के जमाने में यह बिल्ली रास्ता काट देने से काला जादू इस तरह के बहुत सारे जो पिछड़े वर्ग के लोग हैं जो इतने पढ़े लिखे नहीं हैं वह का शिकार होते हैं वह बाबा आया इस तरह के जो लोग जो खुद को बोलते हैं कि महेंद्र स्वास्थ्य ही चीज को दूर कर सकता हूं ऐसे तो यह सारे चीज कहीं ना कहीं गलत डालते हैं हमारे समाज में इसलिए साइंस को फॉलो करें और लॉजिकल रहे साईं समय लॉजिकल पुरुष के साथ हर चीज़ देता है तो यह एक वाली पॉइंट है लेकिन अंधविश्वास का जहां कोई लॉजिक नहीं है तो आप उसके पीछे कितना भी जाएंगे तो आपको कोई रिजल्ट नहीं मिलेगा क्योंकि उसका कोई फार्मूला नहीं होता इसीलिए और क्या यह हमारे समाज में कब काफी गलत चीजों को अंजाम देता है तो इससे बचना ही भलाई हैHaan Dekhie Hum Log 21 Vi Shatabdi Mein Ji Rahe Hain To Agar Aaj Ke Jamaane Mein Hum Andhavishvas Ko Follow Karenge To Ek Aap Hi Hansane Wali Baat Hogi Kyonki Yuvaon Se Hum Log Andhavishvas Ke Kaaran Mein Kitna Galat To Is Apne Aap Par Samaaj Mein Jo Bahut Tarah Ke Andhavishvas Faile Hue Jo Aaj Tak Carry Forward R Ho Rahe Hain To Hume Un Chijon Par Rok Lagaani Hogi Kyonki Agar Hum Science Ko Follow Karte Hain To Us Science Hume Har Cheez Ka Ek Logical Growth Aur Logical Reason De Deta Hai Bleach Karne Ke Liye Us Cheez Ko Hum Logical Kampeyar Karke Analyse Kar Sakte Ho Aur Uske Result Bhi Dekh Sakte Hain Aur Jahan Tak Andhavishvas Kya Baat Hai To Wah Logic Se Pare Hota Hai Uska Koi Logical Proof Nahi Hota Wah Bus Kahi Suni Batein Hoti Hai Aur Andhavishvas Ka Sabse Bada Galat Inspect Yeh Hota Hai Ki Agar Aap Ek Andhavishvas Ko Follow Karenge Aur Kisi Karanvash Koi Confidence Ho Gaya Aur Wah Agar Sahi Ho Gaya To Phir Aap Baar Baar Andhavishvas Ke Chapet Mein Aa Jaenge Har Cheez Mein Aap Andhavishvas Ho Jaenge Kyonki Aaj Ke Jamaane Mein Yeh Billi Rasta Kaat Dene Se Kala Jadu Is Tarah Ke Bahut Sare Jo Pichade Varg Ke Log Hain Jo Itne Padhe Likhe Nahi Hain Wah Ka Shikar Hote Hain Wah Baba Aaya Is Tarah Ke Jo Log Jo Khud Ko Bolte Hain Ki Mahendra Swasthya Hi Cheez Ko Dur Kar Sakta Hoon Aise To Yeh Sare Cheez Kahin Na Kahin Galat Daalte Hain Hamare Samaaj Mein Isliye Science Ko Follow Karen Aur Logical Rahe Saayee Samay Logical Purush Ke Saath Har Cheese Deta Hai To Yeh Ek Wali Point Hai Lekin Andhavishvas Ka Jahan Koi Logic Nahi Hai To Aap Uske Piche Kitna Bhi Jaenge To Aapko Koi Result Nahi Milega Kyonki Uska Koi Formula Nahi Hota Isliye Aur Kya Yeh Hamare Samaaj Mein Kab Kafi Galat Chijon Ko Anjaam Deta Hai To Isse Bachana Hi Bhalai Hai
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी अंधविश्वास तो मुझे बिल्कुल ही नहीं पसंद है इंसान भारतीयों की सबसे बड़ी कमजोरी ही मुझे अंधविश्वास लगती है कि हम अंधविश्वास में ज्यादा विश्वास करते हैं ऐसा नहीं है कि यह दूसरी कंट्री में नहीं होता ...
जवाब पढ़िये
विकी अंधविश्वास तो मुझे बिल्कुल ही नहीं पसंद है इंसान भारतीयों की सबसे बड़ी कमजोरी ही मुझे अंधविश्वास लगती है कि हम अंधविश्वास में ज्यादा विश्वास करते हैं ऐसा नहीं है कि यह दूसरी कंट्री में नहीं होता है सुपरस्टिशन सोशल कल्चर में है लेकिन अब मैं भारतीय हूं तुम्हें भारत के बारे में सोच कर बोल रही हूं कि मुझे हमारा अंधविश्वास करने का जो नेचर है वह नहीं पसंद है हर रिलिजन हर कल्चर में यह सब बहुत सारी ऐसी चीजें हम मानते हैं चाहे वह काली बिल्ली हो या मंडे ट्यूसडे को नॉनवेज खाना हो कुछ भी हम लोग इतना अंधाधुन इन चीजों पर विश्वास कर लेते हैं कि हम हमें फिर विज्ञान वाली बात अच्छे से समझ नहीं आती इतने पढ़े लिखे होने के बाद भी सब कुछ समझने के बाद भी कॉल फ्री एक्शन एक्शन हर एक्शन का एक रिएक्शन होता है कॉल करके फैक्ट होता है साइंस को अच्छे से समझने के बाद भी हम लोग ऐसी बातें कर देते हैं कभी-कभी कि किसी ने छींक दिया तो बाहर मत जाओ तो यह सब सोच कर मुझे अपने आप पर भी कभी ऐसा लगता है कि हम लोग कितना कितनी बेवकूफी वाली बातें कर रहे हैं तो मुझे बिल्कुल अच्छा लगता है क्या मैं विश्व विज्ञान में विश्वास करना चाहिए रूप होना चाहिए चीजों का तभी उन पर विश्वास करना चाहिए अंधविश्वासी नहीं होना चाहिएVikee Andhavishvas To Mujhe Bilkul Hi Nahi Pasand Hai Insaan Bharatiyon Ki Sabse Badi Kamjori Hi Mujhe Andhavishvas Lagti Hai Ki Hum Andhavishvas Mein Jyada Vishwas Karte Hain Aisa Nahi Hai Ki Yeh Dusri Country Mein Nahi Hota Hai Superstition Social Culture Mein Hai Lekin Ab Main Bhartiya Hoon Tumhein Bharat Ke Baare Mein Soch Kar Bol Rahi Hoon Ki Mujhe Hamara Andhavishvas Karne Ka Jo Nature Hai Wah Nahi Pasand Hai Har Religion Har Culture Mein Yeh Sab Bahut Saree Aisi Cheezen Hum Manate Hain Chahe Wah Kali Billi Ho Ya Monday Tyusade Ko Nonveg Khana Ho Kuch Bhi Hum Log Itna Andhadhun In Chijon Par Vishwas Kar Lete Hain Ki Hum Hume Phir Vigyan Wali Baat Acche Se Samajh Nahi Aati Itne Padhe Likhe Hone Ke Baad Bhi Sab Kuch Samjhne Ke Baad Bhi Call Free Action Action Har Action Ka Ek Reaction Hota Hai Call Karke Fact Hota Hai Science Ko Acche Se Samjhne Ke Baad Bhi Hum Log Aisi Batein Kar Dete Hain Kabhi Kabhi Ki Kisi Ne Chink Diya To Bahar Mat Jao To Yeh Sab Soch Kar Mujhe Apne Aap Par Bhi Kabhi Aisa Lagta Hai Ki Hum Log Kitna Kitni Bewakoofi Wali Batein Kar Rahe Hain To Mujhe Bilkul Accha Lagta Hai Kya Main Vishwa Vigyan Mein Vishwas Karna Chahiye Roop Hona Chahiye Chijon Ka Tabhi Un Par Vishwas Karna Chahiye Andhavishvasi Nahi Hona Chahiye
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन किसी भी चीज में विश्वास रखना चाहे वह धर्म हो भगवान हो रिलीजन हो जाए ऐसी कोई भी चीज है वह गलत नहीं है जब तक तब तक वह आपके सर के ऊपर से ना निकल जाए यानि कि इतना एक्सट्रीम ना हो जाएगी उसके चार तरह ...
जवाब पढ़िये
लेकिन किसी भी चीज में विश्वास रखना चाहे वह धर्म हो भगवान हो रिलीजन हो जाए ऐसी कोई भी चीज है वह गलत नहीं है जब तक तब तक वह आपके सर के ऊपर से ना निकल जाए यानि कि इतना एक्सट्रीम ना हो जाएगी उसके चार तरह से आपकी ज़िंदगी घूमने शुरू हो जाए कई बार कई लोग सच में बिलीव रखते हैं अगर वह आपका बिलीव किसी और को नुकसान नहीं पहुंचा रहा है आपको नुकसान नहीं पहुंचाया किसी भी तरीके से तुषार इसमें कोई गलती नहीं है पर साइंस का फायदा ही होता है कि हर एक चीज के पीछे जवाब होता है कि यह चीज क्यों हो रही है इसीलिए आज के समय में साइंस को सादर फॉलो किया जा रहा है एक्स्ट्रीमली साइंस को कॉल करना सारी रीति-रिवाजों को छोड़ देना सारी परंपराओं को भूल जाना वह भी गलत है क्योंकि अपनी मिट्टी से जुड़े रहना अपने जो संस्कृतियों से जुड़े हैं ना वह भी इंपोर्टेंट है तो अंधविश्वास से तो बिल्कुल नहीं होना चाहिए उसे सब लोगLekin Kisi Bhi Cheez Mein Vishwas Rakhna Chahe Wah Dharm Ho Bhagwan Ho Rilijan Ho Jaye Aisi Koi Bhi Cheez Hai Wah Galat Nahi Hai Jab Tak Tab Tak Wah Aapke Sar Ke Upar Se Na Nikal Jaye Yani Ki Itna Xtreme Na Ho Jayegi Uske Char Tarah Se Aapki Zindagi Ghoomne Shuru Ho Jaye Kai Baar Kai Log Sach Mein Believe Rakhate Hain Agar Wah Aapka Believe Kisi Aur Ko Nuksan Nahi Pahuncha Raha Hai Aapko Nuksan Nahi Pahunchaya Kisi Bhi Tarike Se Tushar Isme Koi Galti Nahi Hai Par Science Ka Fayda Hi Hota Hai Ki Har Ek Cheez Ke Piche Jawab Hota Hai Ki Yeh Cheez Kyun Ho Rahi Hai Isliye Aaj Ke Samay Mein Science Ko Sadar Follow Kiya Ja Raha Hai Ekstrimali Science Ko Call Karna Saree Riti Rivajon Ko Chod Dena Saree Paramparaon Ko Bhul Jana Wah Bhi Galat Hai Kyonki Apni Mitti Se Jude Rehna Apne Jo Sanskritiyo Se Jude Hain Na Wah Bhi Important Hai To Andhavishvas Se To Bilkul Nahi Hona Chahiye Use Sab Log
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अंधविश्वासी हो ना तो बिल्कुल भी अच्छी बात नहीं है लेकिन अंधविश्वास से अगर आप हो गए तो आप के झरोखों खड़े हो जाते हैं आपका अपना कोई कांटेक्ट नहीं बचता कोई मॉडल कौन से बनी हुई सेंड कौन सा क्रीम बताओ आपका...
जवाब पढ़िये
अंधविश्वासी हो ना तो बिल्कुल भी अच्छी बात नहीं है लेकिन अंधविश्वास से अगर आप हो गए तो आप के झरोखों खड़े हो जाते हैं आपका अपना कोई कांटेक्ट नहीं बचता कोई मॉडल कौन से बनी हुई सेंड कौन सा क्रीम बताओ आपका और आप केवल उन बातों पर यकीन करते जो आपने सुनी होगी जिनका आपने कभी कोई प्रूफ नहीं है पर यह कहना कि आप कंप्लीटली साइंस में बिलीव करते हैं और आप हर चीज को सिरे से खारिज कर देते यह भी गलत है इसका साइंटिफिक हो जाता उसके बाद इमोशन से मिलने की संभावना में बिलीव नहीं करते उन्हें पता होता है कि लाइफ में प्राप्त करना जरूरी है समझ आ जाती है जो हमारे छोटी-छोटी चीजें हैं हमारी छोटे-छोटे संस्कार है उसे भूल जाते हैं और किसी चीज पर इतना भी इतना भरोसा नहीं करना चाहिए कि मुझे समझ जिंदगी से कॉल कर सकती तो हमें लगता है कि हां वह सही हो सकती है कभी-कभी अपने घर जाना चाहिएAndhavishvasi Ho Na To Bilkul Bhi Acchi Baat Nahi Hai Lekin Andhavishvas Se Agar Aap Ho Gaye To Aap Ke Jharokho Khade Ho Jaate Hain Aapka Apna Koi Contact Nahi Bachta Koi Model Kaun Se Bani Hui Send Kaun Sa Cream Batao Aapka Aur Aap Kewal Un Baaton Par Yakin Karte Jo Aapne Suni Hogi Jinka Aapne Kabhi Koi Proof Nahi Hai Par Yeh Kehna Ki Aap Completely Science Mein Believe Karte Hain Aur Aap Har Cheez Ko Sire Se Khareej Kar Dete Yeh Bhi Galat Hai Iska Scientific Ho Jata Uske Baad Emotion Se Milne Ki Sambhavna Mein Believe Nahi Karte Unhen Pata Hota Hai Ki Life Mein Prapt Karna Zaroori Hai Samajh Aa Jati Hai Jo Hamare Choti Choti Cheezen Hain Hamari Chote Chote Sanskar Hai Use Bhul Jaate Hain Aur Kisi Cheez Par Itna Bhi Itna Bharosa Nahi Karna Chahiye Ki Mujhe Samajh Zindagi Se Call Kar Sakti To Hume Lagta Hai Ki Haan Wah Sahi Ho Sakti Hai Kabhi Kabhi Apne Ghar Jana Chahiye
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज का युग तकनीकी युग विज्ञान का युग है और 21वी सदी में भी अगर आप अंधविश्वास में विश्वास करते हैं और उसके अनुसार चलते हैं तो मुझे लगता है यह कहीं ना कहीं बहुत गलत है मैं यह नहीं कहती कि हमारी सभ्यता और...
जवाब पढ़िये
आज का युग तकनीकी युग विज्ञान का युग है और 21वी सदी में भी अगर आप अंधविश्वास में विश्वास करते हैं और उसके अनुसार चलते हैं तो मुझे लगता है यह कहीं ना कहीं बहुत गलत है मैं यह नहीं कहती कि हमारी सभ्यता और संस्कृति को छोड़ दें यह हम अपने धर्म को अपने रीति रिवाजों को छोड़ दें लेकिन उन्हें उस सीमा तक नहीं पाए जहां तक वह हमें फायदा देती है हमें वहां तक नहीं पहुंचना चाहिए जहां वह हमें नुकसान देने लगती है अभी हाल ही में हमारे देश में भारत में इतने सारे बाबाओं के काले कारनामे उजागर हुए हैं यह बाबा लोग इतनी पहुंच तक कैसे पहुंचे इतनी ऊंचाई तक कैसे पहुंचे किस-किस तरह से उनके पास इतना पैसा आया कैसे उनको इतना मान सम्मान मिला क्यों लोग उन पर इतना विश्वास करते हैं क्योंकि यह सब अंधविश्वास है लोगों के अंधविश्वास ने उन बाबाओं को गलत राह पर चलने पर मजबूर कर दिया और उन्होंनेAaj Ka Yug Takniki Yug Vigyan Ka Yug Hai Aur V Sadi Mein Bhi Agar Aap Andhavishvas Mein Vishwas Karte Hain Aur Uske Anusar Chalte Hain To Mujhe Lagta Hai Yeh Kahin Na Kahin Bahut Galat Hai Main Yeh Nahi Kahti Ki Hamari Sabhyata Aur Sanskriti Ko Chod Dein Yeh Hum Apne Dharm Ko Apne Riti Rivajon Ko Chod Dein Lekin Unhen Us Seema Tak Nahi Paye Jahan Tak Wah Hume Fayda Deti Hai Hume Wahan Tak Nahi Pahunchana Chahiye Jahan Wah Hume Nuksan Dene Lagti Hai Abhi Haal Hi Mein Hamare Desh Mein Bharat Mein Itne Sare Babaon Ke Kaale Karname Ujagar Hue Hain Yeh Baba Log Itni Pahunch Tak Kaise Pahuche Itni Unchai Tak Kaise Pahuche Kis Kis Tarah Se Unke Paas Itna Paisa Aaya Kaise Unko Itna Maan Samman Mila Kyun Log Un Par Itna Vishwas Karte Hain Kyonki Yeh Sab Andhavishvas Hai Logon Ke Andhavishvas Ne Un Babaon Ko Galat Raah Par Chalne Par Majboor Kar Diya Aur Unhone
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kya Andhavishvasi Hona Accha Hai Ya Logon Ko Vigyan Mein Hi Vishwas Karna Chahiye, Is It Super Good To Be Superstitious Or Should People Believe In Science?

vokalandroid