मुंबई सरकार पैदल चलने वालों के लिए पुश बटनों को इंस्टॉल करके ट्रैफिक सिग्नल बदलने की इजाजत दे रही है, क्या यह अच्छा कदम है ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं समझता हूं कि यह जो पुश बटन को इंस्टॉल करने की जो बात है ट्रैफिक सिग्नल पर यह जो है वेस्टर्न कंट्री से हैं उनको कॉपी करने का प्रयत्न है वेस्टर्न कंट्रीज में जो ड्राइवर सोते हैं वह मेरे ख्याल से कही...जवाब पढ़िये
मैं समझता हूं कि यह जो पुश बटन को इंस्टॉल करने की जो बात है ट्रैफिक सिग्नल पर यह जो है वेस्टर्न कंट्री से हैं उनको कॉपी करने का प्रयत्न है वेस्टर्न कंट्रीज में जो ड्राइवर सोते हैं वह मेरे ख्याल से कहीं ज्यादा शिवलाल चाहते हैं और वह अगर कोई पैदल आदमी जा रहा है तो उसके लिए अपनी गाड़ी रोक देते हैं यहां पर यह सिस्टम जो है यह लागू होना मुश्किल है क्योंकि अगर माली आपने वह जला दिया जो पुश बटन तो उसके बाद में क्या होगा कि रेड लाइट हो जाएगी और गाड़ियां रुक जाएंगे और उसके बाद में के बाद एक पैदल लोग उसमें जाते रहेंगे और फिर गाड़ियों के चलने का नंबर ही नहीं आएगा तो मैं समझता हूं कि यह उचित नहीं होगा इस सक्सेसफुल नहीं होगा क्योंकि यह इंडियन कंडिशंस पर सूट नहीं करेगा इसकी बजाय आपको किस टाइम का जो है वह रेड लाइट बनाने चाहिए ताकि आप इतनी देर के लिए ट्रैफिक को रोके और पैदल जाने वालों को जाने देMain Samajhata Hoon Ki Yeh Jo Push Button Ko Install Karne Ki Jo Baat Hai Traffic Signal Par Yeh Jo Hai Western Country Se Hain Unko Copy Karne Ka Prayatn Hai Western Countries Mein Jo Driver Sote Hain Wah Mere Khayal Se Kahin Jyada Shivlal Chahte Hain Aur Wah Agar Koi Paidal Aadmi Ja Raha Hai To Uske Liye Apni Gaadi Rok Dete Hain Yahan Par Yeh System Jo Hai Yeh Laagu Hona Mushkil Hai Kyonki Agar Mali Aapne Wah Jala Diya Jo Push Button To Uske Baad Mein Kya Hoga Ki Red Light Ho Jayegi Aur Gadiyan Ruk Jaenge Aur Uske Baad Mein Ke Baad Ek Paidal Log Usamen Jaate Rahenge Aur Phir Gadiyon Ke Chalne Ka Number Hi Nahi Aayega To Main Samajhata Hoon Ki Yeh Uchit Nahi Hoga Is Successful Nahi Hoga Kyonki Yeh Indian Kandishans Par Suit Nahi Karega Iski Bajay Aapko Kis Time Ka Jo Hai Wah Red Light Banane Chahiye Taki Aap Itni Der Ke Liye Traffic Ko Roke Aur Paidal Jaane Walon Ko Jaane De
Likes  21  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन जब भी कोई नई टेक्नोलॉजी नई तकनीकी आती तो मुझे लगता है देश में उसका स्वागत होना चाहिए चाहे वह कोई भी राज्य लेकर आया मुंबई लेकर आया है तो बिल्कुल स्वागत योग्य लेकिन अभी से कहना कि यह सही है या गलत...जवाब पढ़िये
लेकिन जब भी कोई नई टेक्नोलॉजी नई तकनीकी आती तो मुझे लगता है देश में उसका स्वागत होना चाहिए चाहे वह कोई भी राज्य लेकर आया मुंबई लेकर आया है तो बिल्कुल स्वागत योग्य लेकिन अभी से कहना कि यह सही है या गलत है मुझे लगता है कि शायद जल्दीबाजी होगा तो कुछ दिन आप वेट कीजिए जब तक वाली बुरी तरीके से आ जाती है उसके बाद कुछ रिजल्ट्स भी आएंगे तब पता चलेगा क्योंकि मुझे मिस टेक्नोलॉजी के बारे में कोई ज्यादा जानकारी है नहीं तो अभी से कह देना कि सही है गलत है तो ठीक नहीं होगाLekin Jab Bhi Koi Nayi Technology Nayi Takniki Aati To Mujhe Lagta Hai Desh Mein Uska Swaagat Hona Chahiye Chahe Wah Koi Bhi Rajya Lekar Aaya Mumbai Lekar Aaya Hai To Bilkul Swaagat Yogya Lekin Abhi Se Kehna Ki Yeh Sahi Hai Ya Galat Hai Mujhe Lagta Hai Ki Shayad Jaldibaji Hoga To Kuch Din Aap Wait Kijiye Jab Tak Wali Buri Tarike Se Aa Jati Hai Uske Baad Kuch Results Bhi Aayenge Tab Pata Chalega Kyonki Mujhe Miss Technology Ke Baare Mein Koi Jyada Jankari Hai Nahi To Abhi Se Keh Dena Ki Sahi Hai Galat Hai To Theek Nahi Hoga
Likes  4  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे जो पुश बटन टेक्नोलॉजी है यह मुंबई में इंस्टॉल हो चुकी है एक दो जगह पर और यह काफी अच्छा सिस्टम मुझे लगता है और कुछ लोगों की गलतफहमी है कि बोलोगी समझते कि अगर आप पुश बटन को दबा देंगे तो इंस्टेंट ली...जवाब पढ़िये
लिखे जो पुश बटन टेक्नोलॉजी है यह मुंबई में इंस्टॉल हो चुकी है एक दो जगह पर और यह काफी अच्छा सिस्टम मुझे लगता है और कुछ लोगों की गलतफहमी है कि बोलोगी समझते कि अगर आप पुश बटन को दबा देंगे तो इंस्टेंट ली वह जो ट्रैफिक लाइट होती है वह लेट हो जाएगी भाई कल के लिए और आप भी जा सकते हैं कि ऐसा नहीं होता है एक पटोला टाइम होता है उसका भी आप जमाने के कुछ सेकंड ईयर मिनट के बाद ही वह रेड लाइट होता है और अगर आप कंट्रोल की दवाई है तो ऐसा नहीं है कि गाड़ी रुक जाएंगे कंटिन्यू असली बार-बार रुकेंगे ऐसा नहीं होता तो यह जो टेक्नोलॉजी इंस्टॉल कर गई है मुंबई में एक जगह तू काफी अच्छा है और हमें वेलकम करना चाहिए इस नई टेक्नोलॉजी का और अगर कोई लिमिटेशंस भी है तो वह सामने आ जाएंगे कुछ दिनों में कुछ महीनों में क्योंकि यदि कुछ ही जगह पर लगाया गया है और अगर होता है तो मुझे लगता है कि इसमें भी लगा देना चाहिएLikhe Jo Push Button Technology Hai Yeh Mumbai Mein Install Ho Chuki Hai Ek Do Jagah Par Aur Yeh Kafi Accha System Mujhe Lagta Hai Aur Kuch Logon Ki Galatfahamee Hai Ki Bologi Samajhte Ki Agar Aap Push Button Ko Daba Denge To Instant Lee Wah Jo Traffic Light Hoti Hai Wah Let Ho Jayegi Bhai Kal Ke Liye Aur Aap Bhi Ja Sakte Hain Ki Aisa Nahi Hota Hai Ek Patola Time Hota Hai Uska Bhi Aap Jamaane Ke Kuch Second Year Minute Ke Baad Hi Wah Red Light Hota Hai Aur Agar Aap Control Ki Dawai Hai To Aisa Nahi Hai Ki Gaadi Ruk Jaenge Continue Asli Baar Baar Rukenge Aisa Nahi Hota To Yeh Jo Technology Install Kar Gayi Hai Mumbai Mein Ek Jagah Tu Kafi Accha Hai Aur Hume Welcome Karna Chahiye Is Nayi Technology Ka Aur Agar Koi Limiteshans Bhi Hai To Wah Samane Aa Jaenge Kuch Dinon Mein Kuch Mahinon Mein Kyonki Yadi Kuch Hi Jagah Par Lagaya Gaya Hai Aur Agar Hota Hai To Mujhe Lagta Hai Ki Isme Bhi Laga Dena Chahiye
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे लगता है कि एक अच्छा कदम है कि यह मुंबई है और जो सरकार है वह पैदल चलने वालों के लिए पुस्तकों को इंस्टॉल कर रही है इसे कहीं ना कहीं जो पैदल चलने वाले लोग हैं उनको बहुत आराम मिल जाएगा बहुत आसानी हो ...जवाब पढ़िये
मुझे लगता है कि एक अच्छा कदम है कि यह मुंबई है और जो सरकार है वह पैदल चलने वालों के लिए पुस्तकों को इंस्टॉल कर रही है इसे कहीं ना कहीं जो पैदल चलने वाले लोग हैं उनको बहुत आराम मिल जाएगा बहुत आसानी हो जाएगी रोड क्रॉस करते हुए क्योंकि हमारे देश में हम देखते हैं कि इतना वक्त ट्राफिक है जहां पर रेड लाइट होने पर भी लोग नहीं रुकना पसंद करते हैं और अगर कोई सामने से नहीं जा रहा है तो वह अपनी गाड़ी किसी भी लेकर चले जाते हैं रेड लाइट पर रुकना भी नहीं सही समझते हैं तो वही तो पूछ पाटन है वह कहीं ना कहीं थोड़ा सा तो मुश्किल साबित होंगे उनको चलाना उनको यूज़ करना कि जो लोग रेड लाइट पर नहीं रुकते तो वह हम पुष्पा ठंड की वजह से क्यों रोकेंगे तो शुरुआत में तो हो सकता है बहुत दिक्कत है लेकिन कहीं ना कहीं मुंबई सरकार को इनके लिए कोई और ऐसी चीज बनानी चाहिए कोई ऐसा स्पीक कानून का नियम बनाना चाहिए कि पुश बटन पर अगर आप नहीं रुकेंगे तो आपको किसी सलाह या कुछ और देना पड़ेगा और तू कहीं ना कहीं हम लोगों को सिविल ID बना सकते हैं दवाई बनारस ट्राफिक हमारे देश में जिसमें और रेड लाइट पर लोग नहीं रुकते तो पुश बटन पर कैसे रुकेंगे लेकिन फिर भी अगर देखा जाए तो यह मुंह बहुत अच्छा है और जोकि वेस्टर्न कल्चर से लिया गया है वहां पर लोग इतने अच्छे होते हैं कि अगर कोई सामने से जा रहा है पैदल चलने वाला तो उसके लिए रुक जाते हैं तो अगर यह मुंह बच्चे चला और ढंग से लोगों ने इसका पालन किया तो यह एक बहुत अच्छा इनिशिएटिव हो सकता हमारे देश में अब बाकी राज्य सरकार भी इस को फॉलो कर सकती है अपने-अपने राज्यों में और इससे कहीं ना कहीं हमारे जो देश का ट्राफिक है वह भी हम लोग लेट कर पाएंगे और सही से हो पाएगा और जो आते जाते चलते लोग हैं उनको भी आसानी और सावधानियां बरतने की जरूरत नहीं पड़ेगी और वह भी बहुत ही आसानी से बहुत ही तसल्ली से रोड क्रॉस कर पाएंगे इसलिएMujhe Lagta Hai Ki Ek Accha Kadam Hai Ki Yeh Mumbai Hai Aur Jo Sarkar Hai Wah Paidal Chalne Walon Ke Liye Pustakon Ko Install Kar Rahi Hai Ise Kahin Na Kahin Jo Paidal Chalne Wale Log Hain Unko Bahut Aaram Mil Jayega Bahut Aasani Ho Jayegi Road Cross Karte Hue Kyonki Hamare Desh Mein Hum Dekhte Hain Ki Itna Waqt Traffic Hai Jahan Par Red Light Hone Par Bhi Log Nahi Rukna Pasand Karte Hain Aur Agar Koi Samane Se Nahi Ja Raha Hai To Wah Apni Gaadi Kisi Bhi Lekar Chale Jaate Hain Red Light Par Rukna Bhi Nahi Sahi Samajhte Hain To Wahi To Pooch Patan Hai Wah Kahin Na Kahin Thoda Sa To Mushkil Saabit Honge Unko Chalana Unko Use Karna Ki Jo Log Red Light Par Nahi Rukte To Wah Hum Pushpa Thand Ki Wajah Se Kyun Rokenge To Shuruvat Mein To Ho Sakta Hai Bahut Dikkat Hai Lekin Kahin Na Kahin Mumbai Sarkar Ko Inke Liye Koi Aur Aisi Cheez Banani Chahiye Koi Aisa Speak Kanoon Ka Niyam Banana Chahiye Ki Push Button Par Agar Aap Nahi Rukenge To Aapko Kisi Salah Ya Kuch Aur Dena Padega Aur Tu Kahin Na Kahin Hum Logon Ko Civil ID Bana Sakte Hain Dawai Banaras Traffic Hamare Desh Mein Jisme Aur Red Light Par Log Nahi Rukte To Push Button Par Kaise Rukenge Lekin Phir Bhi Agar Dekha Jaye To Yeh Mooh Bahut Accha Hai Aur Joki Western Culture Se Liya Gaya Hai Wahan Par Log Itne Acche Hote Hain Ki Agar Koi Samane Se Ja Raha Hai Paidal Chalne Wala To Uske Liye Ruk Jaate Hain To Agar Yeh Mooh Bacche Chala Aur Dhang Se Logon Ne Iska Palan Kiya To Yeh Ek Bahut Accha Inishietiv Ho Sakta Hamare Desh Mein Ab Baki Rajya Sarkar Bhi Is Ko Follow Kar Sakti Hai Apne Apne Rajyo Mein Aur Isse Kahin Na Kahin Hamare Jo Desh Ka Traffic Hai Wah Bhi Hum Log Let Kar Paenge Aur Sahi Se Ho Payega Aur Jo Aate Jaate Chalte Log Hain Unko Bhi Aasani Aur Savdhaniya Bartane Ki Zaroorat Nahi Padegi Aur Wah Bhi Bahut Hi Aasani Se Bahut Hi Tasalli Se Road Cross Kar Paenge Isliye
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यूरोपियन कंट्री में तो यह सिस्टम है और वहां पर बहुत अच्छे से चलता भी है ट्राफिक रुकता भी है लोग आराम से जाते भी हैं कोई चीज का फायदा भी नहीं उठाता है मुंबई में यह इंप्लीमेंट करना मुझे लगता है का...जवाब पढ़िये
देखिए यूरोपियन कंट्री में तो यह सिस्टम है और वहां पर बहुत अच्छे से चलता भी है ट्राफिक रुकता भी है लोग आराम से जाते भी हैं कोई चीज का फायदा भी नहीं उठाता है मुंबई में यह इंप्लीमेंट करना मुझे लगता है काफी डिफिकल्ट होगा हमारे तो हर सिग्नल पर ट्रैफिक पुलिस में रहते हैं ऑनलाइन रहती ट्रैफिक लाइट्स रहती है तो भी हम लोग ज्यादातर लोग Google फॉलो नहीं करते हैं स्पेशली ट्रैफिक रूल्स तो बहुत कम लोग फॉलो करते हैं तो यह एक्सपेक्ट करना कि पुश बटन लग जाएंगे और लोग इडली क्रॉस कर पाएंगे और बाकी जो कार वाले और जो साइकिल वाले लोग हैं वह रुक में जाएंगे उनके लिए यह मुझे थोड़ा सोचने में ही थोड़ा डर लग रहा है अभी के टाइम में क्योंकि पहले मुझे ऐसा लगता नहीं कि लोग इसे अच्छे से समझ पाएंगे जो कि चलने वाले लोग हैं मुझे लगता है किसका बहुत मिस यूज़ हो स्पेशल इसलिए कि क्यों मारी पॉपुलेशन में काफी ज्यादा है तो हम लोग इतने लोग हैं कि क्रॉस करने के लिए हमेशा कोई ना कोई होता है और यूरोपियन कंट्रीज में ऐसा नहीं होता है इसलिए वहां पर इंप्लीमेंट करना ही था पर हमारे यहां पॉपुलेशन भी बहुत है और अभी तक ट्राफिक से हम लोगों में है नहीं हम अच्छे से ट्रैफिक रूल्स फॉलो नहीं करते हैं तो मुझे लगता है कि इसे फिलहाल इस टाइम पर पेमेंट करना थोड़ा डिफिकल्ट हैDekhie European Country Mein To Yeh System Hai Aur Wahan Par Bahut Acche Se Chalta Bhi Hai Traffic Rukata Bhi Hai Log Aaram Se Jaate Bhi Hain Koi Cheez Ka Fayda Bhi Nahi Uthaata Hai Mumbai Mein Yeh Implement Karna Mujhe Lagta Hai Kafi Difficult Hoga Hamare To Har Signal Par Traffic Police Mein Rehte Hain Online Rehti Traffic Lights Rehti Hai To Bhi Hum Log Jyadatar Log Google Follow Nahi Karte Hain Speshli Traffic Rules To Bahut Kum Log Follow Karte Hain To Yeh Expect Karna Ki Push Button Lag Jaenge Aur Log Idli Cross Kar Paenge Aur Baki Jo Car Wale Aur Jo Cycle Wale Log Hain Wah Ruk Mein Jaenge Unke Liye Yeh Mujhe Thoda Sochne Mein Hi Thoda Dar Lag Raha Hai Abhi Ke Time Mein Kyonki Pehle Mujhe Aisa Lagta Nahi Ki Log Ise Acche Se Samajh Paenge Jo Ki Chalne Wale Log Hain Mujhe Lagta Hai Kiska Bahut Miss Use Ho Special Isliye Ki Kyun Mari Population Mein Kafi Jyada Hai To Hum Log Itne Log Hain Ki Cross Karne Ke Liye Hamesha Koi Na Koi Hota Hai Aur European Countries Mein Aisa Nahi Hota Hai Isliye Wahan Par Implement Karna Hi Tha Par Hamare Yahan Population Bhi Bahut Hai Aur Abhi Tak Traffic Se Hum Logon Mein Hai Nahi Hum Acche Se Traffic Rules Follow Nahi Karte Hain To Mujhe Lagta Hai Ki Ise Filhal Is Time Par Payment Karna Thoda Difficult Hai
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Mumbai Sarkar Paidal Chalne Walon Ke Liye Push Batano Ko Install Karke Traffic Signal Badalne Ki Ijajat De Rahi Hai Kya Yeh Accha Kadam Hai ?, The Government Of Mumbai Is Allowing Pedestrians To Change The Traffic Signal By Installing Push Buttons, Is This A Good Step?

vokalandroid