PDP सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताब लाएगी क्या एक चुनी सरकार के खिलाफ क्या ऐसा उचित है ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दूल्हे को चुनी गई सरकार होती तो उन्हीं के खिलाफ जो है इस टाइप का नो कॉन्फिडेंस मोशन लाया जाता है तो तो वहां मतलब हमारे संविधान में यह प्रोसीजर है कि यह किया जा सकता अब यह इस सिचुएशन में उचित है या नही...जवाब पढ़िये
दूल्हे को चुनी गई सरकार होती तो उन्हीं के खिलाफ जो है इस टाइप का नो कॉन्फिडेंस मोशन लाया जाता है तो तो वहां मतलब हमारे संविधान में यह प्रोसीजर है कि यह किया जा सकता अब यह इस सिचुएशन में उचित है या नहीं यह तो कहना मुश्किल हैDuulhe Ko Chuni Gayi Sarkar Hoti To Unhin Ke Khilaf Jo Hai Is Type Ka No Confidence Motion Laya Jata Hai To To Wahan Matlab Hamare Samvidhan Mein Yeh Procedure Hai Ki Yeh Kiya Ja Sakta Ab Yeh Is Situation Mein Uchit Hai Ya Nahi Yeh To Kehna Mushkil Hai
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तेलुगू देशम पार्टी एनडीए से अलग हो गई है हालांकि अभी इसका औपचारिक ऐलान तो नहीं किया गया है लेकिन अब टीडीपी आंध्र प्रदेश की वाईएसआर कांग्रेस के साथ मिलकर मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का म...जवाब पढ़िये
तेलुगू देशम पार्टी एनडीए से अलग हो गई है हालांकि अभी इसका औपचारिक ऐलान तो नहीं किया गया है लेकिन अब टीडीपी आंध्र प्रदेश की वाईएसआर कांग्रेस के साथ मिलकर मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का मन बना चुकी है और वाईएसआर के 6 सांसदों ने लोकसभा महासचिव को प्रस्ताव का नोटिस दिया था सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए सबसे पहले लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन वाईएसआर कांग्रेस के किसी सांसद को अविश्वास प्रस्ताव पेश करने के लिए कहेंगे इसके बाद नियम के हिसाब से 50 सांसदों को इसका समर्थन करना होगा इससे कम सांसदों में अविश्वास प्रस्ताव पास नहीं किया जा सकता है तो मुझे लगता है अगर कोई भी सरकार चुनी गई है जनता के द्वारा लेकिन वह अगर बहुमत में नहीं है तो बिलकुल उसके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया जा सकता है क्योंकि जब कोई भी सत्ता में आती है और उसके पास बहुमत होTelugu Desham Party Nda Se Alag Ho Gayi Hai Halanki Abhi Iska Aupcharik Elan To Nahi Kiya Gaya Hai Lekin Ab Tdp Andhra Pradesh Ki YSR Congress Ke Saath Milkar Modi Sarkar Ke Khilaf Avishvaas Prastaav Lane Ka Man Bana Chuki Hai Aur YSR Ke 6 Sansadon Ne Lok Sabha Mahasachiv Ko Prastaav Ka Notice Diya Tha Sarkar Ke Khilaf Avishvaas Prastaav Lane Ke Liye Sabse Pehle Lok Sabha Speaker Sumitra Mahaajan YSR Congress Ke Kisi Saansad Ko Avishvaas Prastaav Pesh Karne Ke Liye Kahenge Iske Baad Niyam Ke Hisab Se 50 Sansadon Ko Iska Samarthan Karna Hoga Isse Kum Sansadon Mein Avishvaas Prastaav Paas Nahi Kiya Ja Sakta Hai To Mujhe Lagta Hai Agar Koi Bhi Sarkar Chuni Gayi Hai Janta Ke Dwara Lekin Wah Agar Bahumat Mein Nahi Hai To Bilkul Uske Khilaf Avishvaas Prastaav Laya Ja Sakta Hai Kyonki Jab Koi Bhi Satta Mein Aati Hai Aur Uske Paas Bahumat Ho
Likes  13  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: PDP Sarkar Ke Khilaf Avishvaas Prastab Layegi Kya Ek Chuni Sarkar Ke Khilaf Kya Aisa Uchit Hai ?, Will The PDP Bring Against The Government The Confidence Motion Against The Elected Government?

vokalandroid