इंडियन महात्मा गांधी के जीवनी के बारे में बताएं ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सत्याग्रह साउथ अफ्रीका में भारतीयों को शुद्ध समझा जाता था तथा हिंसा से देखा जाता था उन्हें बुलाया जाता था जल्दी गांधी जी को भी अनुभव सहना पड़ा गांधीजी रेलवे के प्रथम श्रेणी से दिया जा रहे थे बीच में य...जवाब पढ़िये
सत्याग्रह साउथ अफ्रीका में भारतीयों को शुद्ध समझा जाता था तथा हिंसा से देखा जाता था उन्हें बुलाया जाता था जल्दी गांधी जी को भी अनुभव सहना पड़ा गांधीजी रेलवे के प्रथम श्रेणी से दिया जा रहे थे बीच में यूरोपियन यात्री महात्मा गांधी जी को देखा क्या कर रहे हो यहां पर मेरे पास यहां का टिकट है मैं यहां बैठ सकता हूं वयस्कों के लिए हम आपसे शिकायत करनी पड़ेगी मेरे पास किसी शिर्डी का टिकट है और मुझे यहां बैठने का पूरा हक है तुम ऐसा नहीं कर सकते मेरे पास प्रथम श्रेणी का टिकट है गांधी जी ने उस से बहस करने की कोशिश की पर उनकी बात किसी ने नहीं सुनी तुमने सुना नहीं हमने क्या कहाSatyagrah South Africa Mein Bharatiyon Ko Shudh Samjha Jata Tha Tatha Hinsa Se Dekha Jata Tha Unhen Bulaya Jata Tha Jaldi Gandhi Ji Ko Bhi Anubhav Sahana Pada Gandhiji Railway Ke Pratham Shrenee Se Diya Ja Rahe The Beech Mein European Yatri Mahatma Gandhi Ji Ko Dekha Kya Kar Rahe Ho Yahan Par Mere Paas Yahan Ka Ticket Hai Main Yahan Baith Sakta Hoon Vayaskon Ke Liye Hum Aapse Shikayat Karni Padegi Mere Paas Kisi Shirdi Ka Ticket Hai Aur Mujhe Yahan Baithne Ka Pura Haq Hai Tum Aisa Nahi Kar Sakte Mere Paas Pratham Shrenee Ka Ticket Hai Gandhi Ji Ne Us Se Bahas Karne Ki Koshish Ki Par Unki Baat Kisi Ne Nahi Suni Tumne Suna Nahi Humne Kya Kaha
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को पोरबंदर गुजरात में हुआ था यह शुरुआत में शिक्षा अपने घर पर ही ग्रहण किया फिर उसके बाद बैरिस्टर की बिक्री के लिए इंग्लैंड चले गए वहां से भारत वापस से फिर एक केस क...जवाब पढ़िये
महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को पोरबंदर गुजरात में हुआ था यह शुरुआत में शिक्षा अपने घर पर ही ग्रहण किया फिर उसके बाद बैरिस्टर की बिक्री के लिए इंग्लैंड चले गए वहां से भारत वापस से फिर एक केस के सिलसिले में 18 से 93 महीने दक्षिण अफ्रीका जाना पड़ा जहां के प्रवास के दौरान 19 से 15 तक रहे और वहां तकरीर रूप से वहां की जनता के अधिकारों की लड़की का जेल की का 1915 में भारत में का आगमन होता है सबसे पहले उन्होंने भारत को जाना है यहां की परेशानियों को समझा और छोटे-मोटे आंदोलन किए जाते चंपारण आंदोलन अहमदाबाद खेड़ा आंदोलन में बहुत अच्छी तरह से इनको डिजाइन मिली जिससे लोगों कान में विश्वास बढ़ाओ रही 1920 में असहयोग आंदोलन चालू कर सके कोई भी आंदोलन के द्वारा करना चाहते थे ऐसा बिल्कुल नहीं चाहते थे जिससे असहयोग आंदोलन को त्यागना पड़ा क्योंकि इसने चोरी चोरा में हिंसा हुई थी जिसकी बहुत क्रांतिकारी बिरहा करते थेMahatma Gandhi Ka Janm 2 October 1869 Ko Porbandar Gujarat Mein Hua Tha Yeh Shuruvat Mein Shiksha Apne Ghar Par Hi Grahan Kiya Phir Uske Baad Barrister Ki Bikri Ke Liye England Chale Gaye Wahan Se Bharat Wapas Se Phir Ek Case Ke Silsile Mein 18 Se 93 Mahine Dakshin Africa Jana Pada Jahan Ke Pravas Ke Dauran 19 Se 15 Tak Rahe Aur Wahan Taqarir Roop Se Wahan Ki Janta Ke Adhikaaro Ki Ladki Ka Jail Ki Ka 1915 Mein Bharat Mein Ka Aagaman Hota Hai Sabse Pehle Unhone Bharat Ko Jana Hai Yahan Ki Pareshaaniyon Ko Samjha Aur Chote Mote Aandolan Kiye Jaate Champaran Aandolan Ahmedabad Kheda Aandolan Mein Bahut Acchi Tarah Se Inko Design Mili Jisse Logon Kaan Mein Vishwas Badhao Rahi 1920 Mein Asahayog Aandolan Chalu Kar Sake Koi Bhi Aandolan Ke Dwara Karna Chahte The Aisa Bilkul Nahi Chahte The Jisse Asahayog Aandolan Ko Tyaagna Pada Kyonki Isane Chori Chora Mein Hinsa Hui Thi Jiski Bahut Krantikari Birha Karte The
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Indian Mahatma Gandhi Ke Jeevni Ke Bare Mein Bataye, Tell Us About The Biography Of Indian Mahatma Gandhi , महात्मा गांधी की जीवनी

vokalandroid