एक अच्छा परिवार कैसा होना चाहिए ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक अच्छा और आदर्श परिवार वह कहलाता है जिसकी सभी सदस्य व स्नेह स्नेह और प्यार से रहते हो एक दूसरे की भावनाओं का ध्यान रखते हो एक देश एक दूसरे का सम्मान करते हो और सभी अपने-अपने हिस्से का जिम्मेदारी उठा...जवाब पढ़िये
एक अच्छा और आदर्श परिवार वह कहलाता है जिसकी सभी सदस्य व स्नेह स्नेह और प्यार से रहते हो एक दूसरे की भावनाओं का ध्यान रखते हो एक देश एक दूसरे का सम्मान करते हो और सभी अपने-अपने हिस्से का जिम्मेदारी उठा कर परिवार में सामने बनाए रखते हो जिस परिवार में सुख हो शांति हो एक दूसरे के लिए अच्छी भावनाएं हो वह परिवारिक अच्छा और आदर्श परिवार कहलाता है ऐसे परिवारों में बड़ों की बात को माना जाता है और बड़ों के निर्णय को सुना जाता है और बड़े भी चोटों की इच्छाओं का मान रखते हैं और छोटों की जो भी इच्छा पूरी करनी होती है उसे करते हो और जहां में समझाना होता है वहां सब जाते भी हैं इस तरह के परिवारों में एक सामंजस्य होता है एक दूसरे को समझने के लिए वह हमेशा तैयार रहते हैं और कभी भी एक दूसरे का विरोध नहीं करते हैं अगर उन्हें अपनी कोई बात कहनी होती है तो वह स्पष्ट रूप से बोल देते हैं कह देते हैं और अगर बड़े घर के चाहते हैं इस बात को मानना तो मानते हैं नहीं तो बच्चों को उसके लिए समझा दिया जाता है तो ऐसे आज भी कई परिवार है जो इस तरह की विकी पर चल रहे हैं और जहां बड़ों का सम्मान सर्वोपरि माना जाता है बड़ों की बातों का मान रखा जाता है और घर का एक मुखिया होता है जो पूरे घर का सही तरह से संचालन करता है और परिवार के प्रत्येक सदस्य का ध्यान रखा जाता है तो ऐसी ही परिवार आदर्श और अच्छे परिवार कहलाते हैंEk Accha Aur Adarsh Parivar Wah Kehalata Hai Jiskee Sabhi Sadasya Va Sneha Sneha Aur Pyaar Se Rahate Ho Ek Dusre Ki Bhavnao Ka Dhyan Rakhate Ho Ek Desh Ek Dusre Ka Samman Karte Ho Aur Sabhi Apne Apne Hisse Ka Jimmedari Utha Car Parivar Mein Samne Banae Rakhate Ho Jisha Parivar Mein Sukh Ho Shanti Ho Ek Dusre K Lie Achchhee Bhavanaen Ho Wah Parivarik Accha Aur Adarsh Parivar Kehalata Hai Aise Pareevaaron Mein Badon Ki Baat Co Mana Jaata Hai Aur Badon K Nirnay Co Suna Jaata Hai Aur Bade Bhi Choto Ki Ichchhaon Ka Maan Rakhate Hain Aur Chhoto Ki Joe Bhi Ichha Poori Karni Hoti Hai Usse Karte Ho Aur Jhan Mein Samajhaanaa Hota Hai Vahan Sub Jaate Bhi Hain Is Turha K Pareevaaron Mein Ek Samanjasya Hota Hai Ek Dusre Co Samajhne K Lie Wah Hamesha Taiyaar Rahate Hain Aur Kabhi Bhi Ek Dusre Ka Virodh Nahin Karte Hain Agar Unhein Apni Koi Baat Kahani Hoti Hai To Wah Spasht Roop Se Bowl Dete Hain Keh Dete Hain Aur Agar Bade Ghar K Chahte Hain Is Baat Co Manna To Maunte Hain Nahin To Bachcho Co Uske Lie Samjha Diya Jaata Hai To Aise Aj Bhi Kai Parivar Hai Joe Is Turha Ki Viki Per Chal Rahe Hain Aur Jhan Badon Ka Samman Sarvopari Mana Jaata Hai Badon Ki Baaton Ka Maan Rakhaa Jaata Hai Aur Ghar Ka Ek Mukhiya Hota Hai Joe Poore Ghar Ka Sahi Turha Se Sanchalan Karata Hai Aur Parivar K Pratiek Sadasya Ka Dhyan Rakhaa Jaata Hai To Aisi Hea Parivar Adarsh Aur Achchhe Parivar Kahalaate Hain
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Ek Accha Parivar Kaisa Hona Chahiye ?

vokalandroid