आज कल सिर्फ भाषणों में देश के प्रगति हो रहा है। क्या बिना भाषण देश के प्रगति का कोई विश्वसनीय संकेत मिलेगा? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

त्रिभाषा जो है ना या भाषा से जो है लोग प्रभावित होते हैं अगर कोई भी इंसान को भाषा नहीं देंगे उसे बात नहीं करेंगे आपसे प्रभावित क्यों हुई है इसकी वजह से कम्युनिकेट करना यह काफी होता है और कम्युनिकेट जि...जवाब पढ़िये
त्रिभाषा जो है ना या भाषा से जो है लोग प्रभावित होते हैं अगर कोई भी इंसान को भाषा नहीं देंगे उसे बात नहीं करेंगे आपसे प्रभावित क्यों हुई है इसकी वजह से कम्युनिकेट करना यह काफी होता है और कम्युनिकेट जिसे करना बहुत ही अच्छा भी होता है किसी इंसान से अपनी जगह करते हैं एक दूसरे से तो आप भारत देश को विकसित करना गलत नहीं करते हैं और बस झूठे वादे करते हैं मैसेज में मुझे नहीं लगता आप को वोट देंगे बहुत सारे वादे जो है इलेक्शन के टाइम होता है पर कोई भी इंसान जो है उसमें पानी पाता है यह कितना गम देख सकते हैं इंसान झूठ बोल कर सकता को प्राप्त करना हैTribhasha Joe Hai Na Ya Bhasha Se Joe Hai Log Prabhaavit Hote Hain Agar Koi Bhi Insaan Co Bhasha Nahin Denge Usse Baat Nahin Karenge Aapse Prabhaavit Kio Hue Hai Essaki Vajaha Se Kamyuniket Krna Yeh Kaafi Hota Hai Aur Kamyuniket Jise Krna Bahut Hea Accha Bhi Hota Hai Kisi Insaan Se Apni Jagah Karte Hain Ek Dusre Se To Aap Bharat Desh Co Viksit Krna Galat Nahin Karte Hain Aur Bus Jhuthe Vade Karte Hain Maisej Mein Mujhe Nahin Lagta Aap Co Voot Denge Bahut Saare Vade Joe Hai Election K Time Hota Hai Per Koi Bhi Insaan Joe Hai Usme Pani Pauta Hai Yeh Kitna Gum Dekh Sakte Hain Insaan Jhuth Bowl Car Sakta Co Prapt Krna Hai
Likes  9  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Aaj Kal Sirf Bhashano Mein Desh Ke Pragati Ho Raha Hai Kya Bina Bhashan Desh Ke Pragati Ka Koi Viswasniya Sanket Milega

vokalandroid