आरक्षण जाती के हिसाब से होने की वजह से हमारा देश गर्त में जा रहा है ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कृष्ण को मैं दो हिस्सों में तोड़ना चाहूंगा पहली बात तो यह कहना चाहूंगा कि हमारा देश गर्त में नहीं जा रहा है तो यह स्टेटमेंट ठीक नहीं है किस कारण से हमारा देश गर्त में जा रहा है दूसरी बात मैं यह कहना च...जवाब पढ़िये
कृष्ण को मैं दो हिस्सों में तोड़ना चाहूंगा पहली बात तो यह कहना चाहूंगा कि हमारा देश गर्त में नहीं जा रहा है तो यह स्टेटमेंट ठीक नहीं है किस कारण से हमारा देश गर्त में जा रहा है दूसरी बात मैं यह कहना चाहूंगा यह बात एकदम सही है कि जाति के आधार पर आरक्षण नहीं होना चाहिए और उससे नुकसान होता है उसे बहुत प्रकार के नुकसान हैं जिनको शायद आप समझ पा रहे हैं क्योंकि आपने उसी तरीके से प्रश्न पूछा है तो जाति के आधार पर आरक्षण गलत है लेकिन हमारा देश गर्त में नहीं जा रहा है हमारा देश तरक्की कर रहा हैKrishan Ko Main Do Hisso Mein Todana Chahunga Pehli Baat To Yeh Kehna Chahunga Ki Hamara Desh Gart Mein Nahi Ja Raha Hai To Yeh Statement Theek Nahi Hai Kis Kaaran Se Hamara Desh Gart Mein Ja Raha Hai Dusri Baat Main Yeh Kehna Chahunga Yeh Baat Ekdam Sahi Hai Ki Jati Ke Aadhar Par Aarakshan Nahi Hona Chahiye Aur Usse Nuksan Hota Hai Use Bahut Prakar Ke Nuksan Hain Jinako Shayad Aap Samajh Pa Rahe Hain Kyonki Aapne Ussi Tarike Se Prashna Poocha Hai To Jati Ke Aadhar Par Aarakshan Galat Hai Lekin Hamara Desh Gart Mein Nahi Ja Raha Hai Hamara Desh Tarakki Kar Raha Hai
Likes  11  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां जी बिल्कुल सही देश तो पीछे हो ही रहा है इसमें कोई दो राय नहीं है इसलिए मैं हमेशा से यही मानती हूं कि जो आरक्षण है उसको हटाना नहीं चाहिए बल्कि आरक्षण जिस हिसाब से जरूरी है जिस हिसाब से लोगों को फाय...जवाब पढ़िये
हां जी बिल्कुल सही देश तो पीछे हो ही रहा है इसमें कोई दो राय नहीं है इसलिए मैं हमेशा से यही मानती हूं कि जो आरक्षण है उसको हटाना नहीं चाहिए बल्कि आरक्षण जिस हिसाब से जरूरी है जिस हिसाब से लोगों को फायदा पहुंचा सकती है उस हिसाब से आरक्षण को रखना चाहिए मैं कभी भी इसके खिलाफ नहीं हूं कि आरक्षण नहीं होना चाहिए आरक्षण मुक्त अपना देश होना चाहिए जी बिल्कुल नहीं बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो फॉरवर्ड कास्ट के हैं ऊंची जाति के हैं लेकिन उन्हें आरक्षण की सख्त जरूरत है पर उन्हें प्राप्त नहीं हो पा रही सिर्फ इसका कारण यही है क्योंकि जो उनकी जाती है और वह जो इंसान है वह स्कूल के हैं लेकिन बहुत सारे ऐसे जो बैकवर्ड लोग हैं या CST के लोग हैं जिनको बिल्कुल भी आरक्षण की जरूरत नहीं है बहुत पैसे वाले हैंHaan Ji Bilkul Sahi Desh To Piche Ho Hi Raha Hai Isme Koi Do Rai Nahi Hai Isliye Main Hamesha Se Yahi Maanati Hoon Ki Jo Aarakshan Hai Usko Hatana Nahi Chahiye Balki Aarakshan Jis Hisab Se Zaroori Hai Jis Hisab Se Logon Ko Fayda Pahuncha Sakti Hai Us Hisab Se Aarakshan Ko Rakhna Chahiye Main Kabhi Bhi Iske Khilaf Nahi Hoon Ki Aarakshan Nahi Hona Chahiye Aarakshan Mukt Apna Desh Hona Chahiye Ji Bilkul Nahi Bahut Sare Aise Log Hain Jo Forward Caste Ke Hain Unchi Jati Ke Hain Lekin Unhen Aarakshan Ki Sakht Zaroorat Hai Par Unhen Prapt Nahi Ho Pa Rahi Sirf Iska Kaaran Yahi Hai Kyonki Jo Unki Jati Hai Aur Wah Jo Insaan Hai Wah School Ke Hain Lekin Bahut Sare Aise Jo Backward Log Hain Ya CST Ke Log Hain Jinako Bilkul Bhi Aarakshan Ki Zaroorat Nahi Hai Bahut Paise Wale Hain
Likes  16  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां आरक्षण जातियों की वजह से होने के कारण ही आज देश में आरक्षण के प्रति इतना विद्रोह है और जनता इतनी आक्रोशित है कि आरक्षण बंद होना चाहिए चिट्ठी मुझे लगता है आरक्षण आप हमारे देश की जरूरत है उसे हम ...जवाब पढ़िये
जी हां आरक्षण जातियों की वजह से होने के कारण ही आज देश में आरक्षण के प्रति इतना विद्रोह है और जनता इतनी आक्रोशित है कि आरक्षण बंद होना चाहिए चिट्ठी मुझे लगता है आरक्षण आप हमारे देश की जरूरत है उसे हम बंद नहीं कर सकते हैं क्योंकि जिस वजह से आरक्षण शुरु किया गया था वह अभी तक भारत में है वह बजे खत्म नहीं हुई है जब आरक्षण संविधान में लागू किया गया तब यह सोचकर किया गया था कि जो निम्न जाति के लोग हैं इस का जीवन स्तर बहुत ही नीचा है उन्हें एक समानांतर मिलाया था और उन्हें स्वावलंबी बनाकर उनके जीवन स्तर को ऊंचा उठाया जाए लेकिन ऐसा हुआ नहीं क्योंकि एक ही परिवार के लोगों ने आरक्षण का लाभ उठाया और लाभ उठाकर वह करोड़पति बन गए लेकिन वह आरक्षण को थोड़ी नहीं उन्होंने उस का लाभ उठाना जारी रखा और क्यों भाग गई में आरक्षण के लिएJi Haan Aarakshan Jaatiyo Ki Wajah Se Hone Ke Kaaran Hi Aaj Desh Mein Aarakshan Ke Prati Itna Vidroh Hai Aur Janta Itni Aakroshit Hai Ki Aarakshan Band Hona Chahiye Chitthi Mujhe Lagta Hai Aarakshan Aap Hamare Desh Ki Zaroorat Hai Use Hum Band Nahi Kar Sakte Hain Kyonki Jis Wajah Se Aarakshan Shuru Kiya Gaya Tha Wah Abhi Tak Bharat Mein Hai Wah Baje Khatam Nahi Hui Hai Jab Aarakshan Samvidhan Mein Laagu Kiya Gaya Tab Yeh Sochkar Kiya Gaya Tha Ki Jo Nimn Jati Ke Log Hain Is Ka Jeevan Sthar Bahut Hi Nicha Hai Unhen Ek Samanantar Milaya Tha Aur Unhen Svaavlambi Banakar Unke Jeevan Sthar Ko Uncha Uthaya Jaye Lekin Aisa Hua Nahi Kyonki Ek Hi Parivar Ke Logon Ne Aarakshan Ka Labh Uthaya Aur Labh Uthaakar Wah Crorepati Ban Gaye Lekin Wah Aarakshan Ko Thodi Nahi Unhone Us Ka Labh Uthaana Jaari Rakha Aur Kyun Bhag Gayi Mein Aarakshan Ke Liye
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Aarakshan Jati Ke Hisab Se Hone Ki Wajah Se Hamara Desh Gart Mein Ja Raha Hai ?, Our Country Is Going To The Trough Due To Reservation According To The Caste?