क्या भारत में बैलेट पेपर से चुनाव कराना चाहिए ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दाता का पूछा क्या भारत में बैलेट पेपर की चुनाव करना चाहिए तो लेकिन मेरे हिसाब से इतनी जल्दी तो बैलेट पेपर से चुनाव नहीं होंगे क्योंकि इतनी जल्दी कोई भी आदमी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर भरोसा नहीं कर सकता न...जवाब पढ़िये
दाता का पूछा क्या भारत में बैलेट पेपर की चुनाव करना चाहिए तो लेकिन मेरे हिसाब से इतनी जल्दी तो बैलेट पेपर से चुनाव नहीं होंगे क्योंकि इतनी जल्दी कोई भी आदमी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर भरोसा नहीं कर सकता ना ही इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का जो नतीजा होता है वो इतना प्रॉपर होता हैDaata Ka Pucha Kya Bharat Mein Ballet Paper Ki Chunav Krna Chahie To Lekin Mere Hisaab Se Itni Jaldi To Ballet Paper Se Chunav Nahin Honge Kyonki Itni Jaldi Koi Bhi Aadmi ELECTRONIC Media Per Bharosa Nahin Car Sakta Na Hea ELECTRONIC Media Ka Joe Natijaa Hota Hai Vo Itna Propre Hota Hai
Likes  9  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बैलट पेपर के जरिए चुनाव कराना बहुत श्रम साध्य काम है आप क्योंकि इस प्रक्रिया का हिस्सा अगर नहीं है तो समझ नहीं पाएंगे बहुत सारी परेशानियां होती हैं सुरक्षित भी नहीं है बुलेट बैलेट पेपर पर हावी हो जाता...जवाब पढ़िये
बैलट पेपर के जरिए चुनाव कराना बहुत श्रम साध्य काम है आप क्योंकि इस प्रक्रिया का हिस्सा अगर नहीं है तो समझ नहीं पाएंगे बहुत सारी परेशानियां होती हैं सुरक्षित भी नहीं है बुलेट बैलेट पेपर पर हावी हो जाता है 8028 30 साल पहले हुए इलेक्शंस में और जब हमारे मीडिया में एक नया दौर आया था तब मुझे नलिनी सिंह का एक इंटरव्यू प्रोग्राम याद है जिसमें उन्होंने पर के जरिए बिहार में होने वाले चुनाव को उदाहरण बनाकर उस पर एक रिपोर्टिंग की थी वह बिल्कुल सटीक रिपोर्टिंग थी वैसा ही देखा भी जाता था ओ बलपूर्वक बैलट पेपर पर होने वाले मतदान को बाधित किया जाना बूथ कैपचरिंग करना अपने मन चाहा वो डालना यहां प्रजातांत्रिक विशेषता थी अब कम से कम ऐसा नहीं हो पाता मशीन अगर खराब हो गई है तो दूसरी बार इलेक्शन होना संभव है बैलेंस में तो बुलेट भी चलते थे और ब्लड भी करता थाBallet Paper K Jariye Chunav Karaana Bahut Shrma Sadhya Kama Hai Aap Kyonki Is Prakriya Ka Hissa Agar Nahin Hai To Samajh Nahin Paenge Bahut Sari Pareshaniyan Hoti Hain Surakshit Bhi Nahin Hai Bullet Ballet Paper Per Haavi Ho Jaata Hai 8028 30 Saul Pehle Huye Ilekshans Mein Aur Jab Hamare Media Mein Ek Naya Daur Yaya Thaa Taba Mujhe Nalini Singh Ka Ek Intaravyu Program Youth Hai Jisamein Unhonne Per K Jariye Bihar Mein Hone Wale Chunav Co Udaaharan Banakar Oosh Per Ek Reporting Ki Thi Wah Bilkool Steek Reporting Thi Waisa Hea Dekha Bhi Jaata Thaa O Balpoorvak Ballet Paper Per Hone Wale Matdan Co Baadhit Kiya Jaana Booth Kaipacharing Krna Apne Mana Chaha Vo Daalna Yahaan Prajatantrik Vishasta Thi Aba Come Se Come Aisa Nahin Ho Pauta Machine Agar Kharab Ho Gi Hai To Dusri Bar Election Hona Sabhav Hai Bailens Mein To Bullet Bhi Chalte The Aur Blood Bhi Karata Thaa
Likes  9  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी बैलेट पेपर से चुनाव करवाना हिंदुस्तान के लिए तो सूटेबल नहीं है उसका रीजन यह की 125 करोड़ से ऊपर हमारी आबादी है और इतनी आबादी अगर बैलेट पेपर से चुनाव करवाएगी तो मैं बहुत सारा पेपर चाहिए होगा और उस...जवाब पढ़िये
विकी बैलेट पेपर से चुनाव करवाना हिंदुस्तान के लिए तो सूटेबल नहीं है उसका रीजन यह की 125 करोड़ से ऊपर हमारी आबादी है और इतनी आबादी अगर बैलेट पेपर से चुनाव करवाएगी तो मैं बहुत सारा पेपर चाहिए होगा और उस पेपर को लाने के लिए हमें काफी एनवायरनमेंट को नुकसान पहुंचाना पड़ेगा और वैसे भी इतनी बड़ी आबादी है तो बैलेट पेपर से चुनाव कराने सूटेबल है ही नहीं है कि टाइम के अंदर से बहुत ज्यादा होगी और इंडिया में ऐसा बिल्कुल नहीं होताViki Ballet Paper Se Chunav Karwana HINDUSTAN K Lie To Suitable Nahin Hai Uska Reason Yeh Ki 125 Karod Se Upar Hamari Aabadi Hai Aur Itni Aabadi Agar Ballet Paper Se Chunav Karvaaegi To Main Bahut Saara Paper Chahie Hoga Aur Oosh Paper Co Lane K Lie Human Kaafi Enavayaranament Co Nuksaan Pahunchana Padega Aur Vaise Bhi Itni Badi Aabadi Hai To Ballet Paper Se Chunav Karane Suitable Hai Hea Nahin Hai Qi Time K Andorra Se Bahut Jyada Hogi Aur India Mein Aisa Bilkool Nahin Hota
Likes  8  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kya Bharat Mein Ballet Paper Se Chunav Karana Chahiye ?

vokalandroid