मुझे छोटी छोटी बातों में बहुत डर लगता है, जब भी किसी के साथ बुरा होते हुए देखता हूँ तो लगता है ऐसा मेरे साथ न हो जाए, मैं क्या करूँ? ...

Romanized Version
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

मुझे बहुत डर लगता हैं कोई काम करने में की अगर वो काम गलत हो गया तो मुझे वो कुछ कहे न और मैं छोटी छोटी बातों में डर जाता हूँ कोई तेज़ से बोल दे मैं मैं सोचता कही कुछ न कुछ उपाय बताइये ? ...

ऐसी क्या कोई काम करते हो आप को डर लगता है तो आप वह काम... Read More
ques_icon

मैं अपने दिमाग संतुलन नहीं कर पा रहा।भावनाओं पर नियंत्रण नहीं है।छोटी छोटी बात बुरी लगती हैं कोई दोस्त फ़ोन न करें तो बुरा लगता हैं किसीके कहने से करे तो बुरा लगता है।मै क्या करूँ?? ...

लिखित का सबसे सही तरीका होता है जो एक उम्र आती है और इंसान सब... Read More
ques_icon

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके मन में बहुत छोटी-छोटी बातों में डर लगता है और किसी के साथ बुरा होता है तो आपको ऐसा लगता है मेरी भी अंदेशा ना हो जाए मैं समझ सकता हूं कि आपको ऐसी फिलिंग्स में कितनी तकलीफ होती होगी इसके लिए आपकी उ...जवाब पढ़िये
आपके मन में बहुत छोटी-छोटी बातों में डर लगता है और किसी के साथ बुरा होता है तो आपको ऐसा लगता है मेरी भी अंदेशा ना हो जाए मैं समझ सकता हूं कि आपको ऐसी फिलिंग्स में कितनी तकलीफ होती होगी इसके लिए आपकी उम्र क्या है मुझे पता नहीं है लेकिन अगर 20 साल के ऊपर की गई आपकी है तो एक विपश्यना मेडिटेशन करके मेडिटेशन होता है जो देश के लिए रिफ्रेशर कोर्स होता है इंडिया में करीबन हंड्रेड सेंटर से आउट ऑफ इंडिया में हंड्रेड सेंटर से 10 दिन रहने का पूजन करने का कोई चार्ज नहीं है जाता है और किस हद तक करने से जो डर है वह रूप में से निकल जाता है और जब तक आप भी पसंद आता नहीं कर सकते तब तक अपना सास रेगुलर नॉरमल सज्जनों से हमारे साथ है आते-जाते श्वास का निरीक्षण करना बहुत ज्यादा नहीं करना है कसरत नहीं करनी है केवल सहज स्वाभाविक नेचुरल नार्मल प्रेत है उसको ऑफ सेव करना है जब भी आपको डर लगे तो सांस बढ़ जाता है उसकी इंटेंसिटी उसके फ्रिकवेंसी बढ़ जाती है तो उसको केवल जो करना है वह करने से आपका जो डोर के संस्कार उसने रूट में से फर्क पड़ेगा और आकर द्विवेदी ने कब हो जाए मुझे डर लगता है मुझे बार-बार डर लगता है उसका केवल स्वीकार करने से ही इसे आपको फायदा होगा जितना रेजिस्ट करो कि मुझे डर क्यों लगता है मैं क्या करूं इतना छेदAapke Man Mein Bahut Choti Choti Baaton Mein Dar Lagta Hai Aur Kisi Ke Saath Bura Hota Hai To Aapko Aisa Lagta Hai Meri Bhi Andesha Na Ho Jaye Main Samajh Sakta Hoon Ki Aapko Aisi Filings Mein Kitni Takleef Hoti Hogi Iske Liye Aapki Umar Kya Hai Mujhe Pata Nahi Hai Lekin Agar 20 Saal Ke Upar Ki Gayi Aapki Hai To Ek Vipashyana Meditation Karke Meditation Hota Hai Jo Desh Ke Liye Refresher Course Hota Hai India Mein Kariban Hundred Center Se Out Of India Mein Hundred Center Se 10 Din Rehne Ka Pujan Karne Ka Koi Charge Nahi Hai Jata Hai Aur Kis Had Tak Karne Se Jo Dar Hai Wah Roop Mein Se Nikal Jata Hai Aur Jab Tak Aap Bhi Pasand Aata Nahi Kar Sakte Tab Tak Apna Saas Regular Naramal Sajjanon Se Hamare Saath Hai Aate Jaate Swas Ka Nirikshan Karna Bahut Zyada Nahi Karna Hai Kasrat Nahi Karni Hai Kewal Sehaz Svabhavik Natural Normal Pret Hai Usko Of Save Karna Hai Jab Bhi Aapko Dar Lage To Saans Badh Jata Hai Uski Intensity Uske Frikavensi Badh Jati Hai To Usko Kewal Jo Karna Hai Wah Karne Se Aapka Jo Dor Ke Sanskar Usne Root Mein Se Fark Padega Aur Aakar Drivedi Ne Kab Ho Jaye Mujhe Dar Lagta Hai Mujhe Baar Baar Dar Lagta Hai Uska Kewal Sweekar Karne Se Hi Ise Aapko Fayda Hoga Jitna Rejist Karo Ki Mujhe Dar Kyon Lagta Hai Main Kya Karun Itna Chhed
Likes  15  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सब ऐसा सोचते जब भी कोई बुरा हुआ किसी की शादी के तो सब सोचते हैं भगवान से प्रार्थना करती कि ऐसा जो चीज है वह मेरे साथ है मेरी फैमिली के साथ ना हो यह सब के साथ होता है और छोटी-छोटी बातों से डर लगता है आ...जवाब पढ़िये
सब ऐसा सोचते जब भी कोई बुरा हुआ किसी की शादी के तो सब सोचते हैं भगवान से प्रार्थना करती कि ऐसा जो चीज है वह मेरे साथ है मेरी फैमिली के साथ ना हो यह सब के साथ होता है और छोटी-छोटी बातों से डर लगता है आपको भी कि जब तक आप अपने कंफर्ट जोन में रहेंगे तो आपको बाहर वाली हर चीज से डर लगेगा जिस चीज से डर लगता है अगर आपको वही करना चालू कर देंगे तो आप उसके आदमी हो जाएंगे और एक समय ऐसा आएगा धीरे-धीरे कि आपको उन सब चीजों से डर लगना है वह बंद हो जाएगा तो कंफर्ट जोन से बाहर निकले जो भी चीज आपको डराती है वह आप करने की याद कर कर नहीं पाए तो अलग बात है प्लीज करने की कोशिश जरूर करेंSub Aisa Sochte Jab Bhi Koi Bura Hua Kisi Ki Shadi K To Sub Sochte Hain Bhagwan Se Prarthana Karti Qi Aisa Joe Chij Hai Wah Mere Sathe Hai Meri Family K Sathe Na Ho Yeh Sub K Sathe Hota Hai Aur Choti Choti Baaton Se Dar Lagta Hai Aapko Bhi Qi Jab Tak Aap Apne Kamfart Zon Mein Rahenge To Aapko Baahar Wali Her Chij Se Dar Lagega Jisha Chij Se Dar Lagta Hai Agar Aapko Whey Krna Chalu Car Denge To Aap Uske Aadmi Ho Jaenge Aur Ek Samay Aisa Aega Dheere Dheere Qi Aapko Un Sub Chijon Se Dar Lagunaa Hai Wah Band Ho Jaaegaa To Kamfart Zon Se Baahar Nikale Joe Bhi Chij Aapko Daraatee Hai Wah Aap Karne Ki Youth Car Car Nahin Pae To Eluga Baat Hai Please Karne Ki Koshish Jarur Karein
Likes  11  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अति संवेदनशीलता हमारे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को कमजोर करती है थोड़ी दृढ़ता बहुत जरूरी है छोटी-छोटी बातों पर इरिटेट हो ना और कुछ भी सोचना यह ठीक नहीं है और इतना संवेदनशील होने से बेहतर है कि हम अप...जवाब पढ़िये
अति संवेदनशीलता हमारे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को कमजोर करती है थोड़ी दृढ़ता बहुत जरूरी है छोटी-छोटी बातों पर इरिटेट हो ना और कुछ भी सोचना यह ठीक नहीं है और इतना संवेदनशील होने से बेहतर है कि हम अपने आप को मजबूत बनाएं इसके लिए मैं आपसे भी वही अनुरोध करूंगा जो पूर्व में एक सवाल में किया कि आप योग साधना करें और बहुविकल्पी बने आपको मल्टीपल अपॉर्चुनिटी इसका ध्यान रखना होता है अगर किसी ने कुछ कहा है तो उसका विश्लेषण आपका मस्तिष्क तुरत कर ले ऐसी अपने बौद्धिक क्षमता होनी चाहिए इसके लिए आप योग का सहारा ले ध्यान का सहारा ले धन्यवादAti Samvedansheelta Hamare Shaaririk Aur Mansik Swasthya Co Kamjor Karti Hai Thodi Dridhta Bahut Zaroori Hai Choti Choti Baaton Per Irritate Ho Na Aur Kuch Bhi Sochna Yeh Thik Nahin Hai Aur Itna Sanvedansheel Hone Se Behtar Hai Qi Hum Apne Aap Co Majboot Banaen Iske Lie Main Aapse Bhi Whey Anurodh Karunga Joe Purva Mein Ek Sawal Mein Kiya Qi Aap Yog Sadhana Karein Aur Bahuvikalpi Bane Aapko Maltipal Aparchuniti Iska Dhyan Rakhna Hota Hai Agar Kisi Ne Kuch Kaha Hai To Uska Vishleshan Aapka Mastishk Turat Car Le Aisi Apne Baudhik Kshamta Honi Chahie Iske Lie Aap Yog Ka Sahara Le Dhyan Ka Sahara Le Dhanyvaad
Likes  9  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आंधी के जैसा आप सोचते हैं ऐसा लगभग सभी सोचते हैं किसी की बुरी बात के बारे में सुनते हैं या देखते हैं तो डर सबको लगता है टेंशन सभी को होती है लेकिन अगर आपको हर छोटी-छोटी बात पर डर लगता है कि टेंशन होती...जवाब पढ़िये
आंधी के जैसा आप सोचते हैं ऐसा लगभग सभी सोचते हैं किसी की बुरी बात के बारे में सुनते हैं या देखते हैं तो डर सबको लगता है टेंशन सभी को होती है लेकिन अगर आपको हर छोटी-छोटी बात पर डर लगता है कि टेंशन होती है तो उसका एक अच्छा विकल्प यह है कि आप तुरंत उस समय अपना ध्यान किसी और चीज में लगाए हैं जैसे आप पेपर पढ़ रहे हैं और आपने किसी बुरी बात पर आपका ध्यान जाता है तो तुरंत अपने पर बंद कर दीजिए आपको डर लगता है तो तुरंत पेपर बंद कर दीजिए और कोई ऐसा काम करें जो आपको बहुत अच्छा लगता है जैसे आप पर आपके पास कोई गमले हैं उसने पानी लगे हैं अच्छे फूल लगे हैं तो तुरंत उन पर अपना ध्यान देकर जाइए फोन उठाइए अपने किसी अच्छे मित्र को अपने दोस्त को या अपने किसी अच्छे रिश्तेदार से तुरंत बात करिए और किसी दूसरे टॉपिक पर बात करिए के यूं ही खिड़की के बाहर देखी या आपका ग्राउंड फ्लोर है तो गेट के बाद एक ही कुछ पशु पक्षी और जानवर या कोई ऐसी ऐसी चीज जिसको देखकर आपको अच्छे लगने लगे और तुरंत आप देते आप ऐसा जब करेंगे तो आपको ऐसा लगेगा कि आपका ध्यान अपने आप हट गया और उस टॉपिक पर अब दुबारा जाए ना उस जिसके बारे में आप सोचेंगे कि नहीं आपको तीसरी चीज के बारे में सोचेंगे तो आपको मुझे डर है आपके अंदर अपने आप चला जाएगा और आपको पता भी नहीं चलेगा इस प्रेक्टिस को आप जरूर अपने जीवन में शामिल करिए और इसे दोहराए तो एक न एक दिन आपको ही छोटी छोटी बातों से डर लगने बंद हो जाएगा थैंक यूAundhi K Jaisa Aap Sochte Hain Aisa Lagbhag Sabhi Sochte Hain Kisi Ki Burri Baat K Baare Mein Sunte Hain Ya Dekhte Hain To Dar Sabako Lagta Hai Tension Sabhi Co Hoti Hai Lekin Agar Aapko Her Choti Choti Baat Per Dar Lagta Hai Qi Tension Hoti Hai To Uska Ek Accha Vikalp Yeh Hai Qi Aap Turant Oosh Samay Apna Dhyan Kisi Aur Chij Mein Lagae Hain Jaise Aap Paper Padh Rahe Hain Aur Aapne Kisi Burri Baat Per Aapka Dhyan Jaata Hai To Turant Apne Per Band Car Dijiye Aapko Dar Lagta Hai To Turant Paper Band Car Dijiye Aur Koi Aisa Kama Karein Joe Aapko Bahut Accha Lagta Hai Jaise Aap Per Aapke Pass Koi Gamale Hain Usne Pani Lage Hain Achchhe Fool Lage Hain To Turant Un Per Apna Dhyan Dekar Jiye Phone Uthaiye Apne Kisi Achchhe Mitra Co Apne Dost Co Ya Apne Kisi Achchhe Rishtedaar Se Turant Baat Kariye Aur Kisi Dusre Topic Per Baat Kariye K Yun Hea Khidki K Baahar Dekhi Ya Aapka Ground Floor Hai To Gate K Baad Ek Hea Kuch Pashu Pakshi Aur Zanwar Ya Koi Aisi Aisi Chij Jisko Dekhakar Aapko Achchhe Lagane Lage Aur Turant Aap Dete Aap Aisa Jab Karenge To Aapko Aisa Lagega Qi Aapka Dhyan Apne Aap Hut Gaya Aur Oosh Topic Per Aba Dubara Jae Na Oosh Jiske Baare Mein Aap Sochenge Qi Nahin Aapko Tisri Chij K Baare Mein Sochenge To Aapko Mujhe Dar Hai Aapke Andorra Apne Aap Challa Jaaegaa Aur Aapko Patta Bhi Nahin Chalega Is Prektis Co Aap Jarur Apne Jeevan Mein Shamil Kariye Aur Isse Dohraye To Ek Na Ek Din Aapko Hea Choti Choti Baaton Se Dar Lagane Band Ho Jaaegaa Thank You
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Mujhe Choti Choti Baaton Mein Bahut Dar Lagta Hai Jab Bhi Kisi Ke Saath Bura Hote Hue Dekhta Hoon Toh Lagta Hai Aisa Mere Saath Na Ho Jaye Main Kya Karun

vokalandroid