सबरीमाला मंदिर में जब नॉन हिन्दू महिला जा सकती है तो मस्जिद में क्यों नहीं? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबरीमाला मंदिर में जब नॉन हिंदू महिला जा सकती है मतलब जो हिंदू धर्म से बिलॉन्ग करते चाहे वह मुस्लिम धर्म सिक्ख धर्म ईसाई धर्म किस धर्म से बिलॉन्ग करती है तो मस्जिद में क्यों इतना की पहली मस्जिद में जो...जवाब पढ़िये
सबरीमाला मंदिर में जब नॉन हिंदू महिला जा सकती है मतलब जो हिंदू धर्म से बिलॉन्ग करते चाहे वह मुस्लिम धर्म सिक्ख धर्म ईसाई धर्म किस धर्म से बिलॉन्ग करती है तो मस्जिद में क्यों इतना की पहली मस्जिद में जो है बिल्कुल किसी को भी जाना है ना ही कोई महिला को कितना चेंज जाते हैं पहले से चला जाए इस्लाम धर्म नहीं कर सकतेSabarimala Mandir Mein Jab Non Hindu Mahila Ja Sakti Hai Matlab Joe Hindu Dharm Se Bilang Karte Chahe Wah Muslim Dharm Sikkh Dharm Isai Dharm Kiss Dharm Se Bilang Karti Hai To Masjid Mein Kio Itna Ki Pehli Masjid Mein Joe Hai Bilkool Kisi Co Bhi Jaana Hai Na Hea Koi Mahila Co Kitna Change Jaate Hain Pehle Se Challa Jae Islam Dharm Nahin Car Sakte
Likes  9  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Sabarimala Mandir Mein Jab Non Hindu Mahila Ja Sakti Hai Toh Masjid Mein Kyon Nahi

vokalandroid