जिंदगी क्यों बनी है ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिंदगी बनी है कि जो हमें रोल मिला है मां का बहन का आया भाई का पिता का रोल रोल में अटके बिना सिर्फ हम फुल रोल करना है किसी से आशा नहीं रखनी है किसी की जिंदगी में दखल नहीं देना है वह भी तरह की सिर्फ देना है अगर प्यार देना है तो सिर्फ प्यार देना है देना है किसी से लेने की तो जो रत्ती भर भी आशा है वह हमारे दुख का कारण है तो जिंदगी है जो हमें कर्म मिले हैं जो हमारे आसपास में घर में है वह हमारे करम प्राणी है हम करम जब हमने किसी समय किए हैं वह प्राण धारण करके आते हैं इसलिए वह करम खिलाने कहलाते हैं उनके साथ में अपने कर्म काटने के लिए जिंदगी बनी है और मन में यह याद रखने के लिए कि मेरा मकसद से भगवान है और उस तरह से जैसे कीचड़ में कमल खिला है तो वह किचन उसमें नहीं लगता है वैसे ही जिंदगी जब मनुष्य जन्म मिलता है तो कहां पर भी माया मोह में फसने के लिए नहीं मिलती है उसको सिर्फ याद रहना चाहिए कि मेरा मकसद से भगवान है तो लोग लालच पाप पुण्य उन सब से बचते हुए उससे दुष्कर्म करता जाए और किसी भी चीज में अटके नहीं क्योंकि जहां जाएगा वहीं वह अपनी जिंदगी का मकसद भूल जाते है सहन करना सहनशक्ति करना सुख दुख से धीरे-धीरे परे हो ना जिंदगी यही
Romanized Version
जिंदगी बनी है कि जो हमें रोल मिला है मां का बहन का आया भाई का पिता का रोल रोल में अटके बिना सिर्फ हम फुल रोल करना है किसी से आशा नहीं रखनी है किसी की जिंदगी में दखल नहीं देना है वह भी तरह की सिर्फ देना है अगर प्यार देना है तो सिर्फ प्यार देना है देना है किसी से लेने की तो जो रत्ती भर भी आशा है वह हमारे दुख का कारण है तो जिंदगी है जो हमें कर्म मिले हैं जो हमारे आसपास में घर में है वह हमारे करम प्राणी है हम करम जब हमने किसी समय किए हैं वह प्राण धारण करके आते हैं इसलिए वह करम खिलाने कहलाते हैं उनके साथ में अपने कर्म काटने के लिए जिंदगी बनी है और मन में यह याद रखने के लिए कि मेरा मकसद से भगवान है और उस तरह से जैसे कीचड़ में कमल खिला है तो वह किचन उसमें नहीं लगता है वैसे ही जिंदगी जब मनुष्य जन्म मिलता है तो कहां पर भी माया मोह में फसने के लिए नहीं मिलती है उसको सिर्फ याद रहना चाहिए कि मेरा मकसद से भगवान है तो लोग लालच पाप पुण्य उन सब से बचते हुए उससे दुष्कर्म करता जाए और किसी भी चीज में अटके नहीं क्योंकि जहां जाएगा वहीं वह अपनी जिंदगी का मकसद भूल जाते है सहन करना सहनशक्ति करना सुख दुख से धीरे-धीरे परे हो ना जिंदगी यहीJindagi Bani Hai Qi Joe Human Roll Milaa Hai Man Ka Behan Ka Yaya Bhai Ka Pita Ka Roll Roll Mein Atake Binaa Sirf Hum Full Roll Krna Hai Kisi Se Asha Nahin Rakhni Hai Kisi Ki Jindagi Mein Dakhal Nahin Dena Hai Wah Bhi Turha Ki Sirf Dena Hai Agar Pyaar Dena Hai To Sirf Pyaar Dena Hai Dena Hai Kisi Se Lene Ki To Joe Rattey Bhora Bhi Asha Hai Wah Hamare Dukh Ka Karan Hai To Jindagi Hai Joe Human Karma Mile Hain Joe Hamare Aaspass Mein Ghar Mein Hai Wah Hamare Karam Prani Hai Hum Karam Jab Humne Kisi Samay Kiye Hain Wah Prana Dharan Karake Aate Hain Eeslie Wah Karam Khilaane Kahalaate Hain Unke Sathe Mein Apne Karma Katne K Lie Jindagi Bani Hai Aur Mana Mein Yeh Youth Rakhne K Lie Qi Mera Maksad Se Bhagwan Hai Aur Oosh Turha Se Jaise Kichad Mein Kamal Khila Hai To Wah Kitchen Usme Nahin Lagta Hai Vaise Hea Jindagi Jab Manusya Janm Milta Hai To Kahan Per Bhi Maya Moh Mein Fasane K Lie Nahin Milti Hai Usko Sirf Youth Rahna Chahie Qi Mera Maksad Se Bhagwan Hai To Log Laalach Pap Punya Un Sub Se Bachte Huye Usase Dushkarma Karata Jae Aur Kisi Bhi Chij Mein Atake Nahin Kyonki Jhan Jaaegaa Vahin Wah Apni Jindagi Ka Maksad Bhool Jaate Hai Shahan Krna Sahanshakti Krna Sukh Dukh Se Dheere Dheere Pare Ho Na Jindagi Yahi
Likes  7  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

जिंदगी में सक्सेस पाना है जिंदगी में कुछ करना है जिंदगी को बेटर बनाना है कैसे करें ? ...

मैं क्या का जिंदगी में सबसे अमीर बनना है तो परेशान बहुत ही जरूरी है मेहनत कीजिए अपने लक्ष्य निर्धारित कीजिए क्या बनना है क्या चाहते हो यह जगह देखी क्या आप किस काम को बैठाते खींच कर सकते जो खा गया बच्चजवाब पढ़िये
ques_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Zindagi Kyon Bani Hai ?,


vokalandroid