क्या किसानों की मांगों को पूरा करने की स्थिति में है सरकार? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी किसानों की अपनी कुछ मांगे हैं ए डेफिनिटी में यह बोला कि मांग जायज है कि कहीं ना कि मैं अभी जस्ट का न्यूज़ आर्टिकल पढ़ रहा था तो उसमें मैंने पढ़ा कि मोदी सरकार ने अभी बिजली के दाम बढ़ा दिए ताकि वह...
जवाब पढ़िये
विकी किसानों की अपनी कुछ मांगे हैं ए डेफिनिटी में यह बोला कि मांग जायज है कि कहीं ना कि मैं अभी जस्ट का न्यूज़ आर्टिकल पढ़ रहा था तो उसमें मैंने पढ़ा कि मोदी सरकार ने अभी बिजली के दाम बढ़ा दिए ताकि वहां पर अच्छी बिजली उपलब्ध हो सके तो स्टेशन अट स्कूल इसके लिए बोलना चाहूंगा कि सब्सिडी जो जो दी जाती सब्सिडाइज्ड इलेक्ट्रिसिटी प्रोजेक्ट सिटी की सब्सिडी अवेलेबल होनी चाहिए काफी हद तक एंड उन लोगों का अवेलेबल होनी चाहिए सब्सिडी जी ने जरूरत है तो 1 पॉइंट सकता किसानों की कुछ अपनी मांग है जो बेसिक अभी देखने के लिए जरूरी है उसके बिना आज किसान है तो यह देश है मुझे आज भी उन आरा याद है जय जवान जय किसान जय जवान है और किसान है तभी हमें सुरक्षित बैठ कर शायद आपके सामने हम यह बात रख पा रहे हैं तो इसलिए मैं बोला जब किसानों की कुछ मांगे तो डेफिनिटी पूरी होने चाहिए और कुछ मांगों पर सम्मिलित बैठक बंद बेड बैठक होने के बाद एक डिस्कशन होना चाहिए क्या इस पर हम हल निकाल सकते हैं क्योंकि आपस में जो अभी मुठभेड़ हो रही है सरकार और पुलिसकर्मियों की झांकी निकली एक्सेप्ट टेबल नहीं है उससे कितने पब्लिक प्रॉपर्टी का नुकसान हो रहा है कितने लोगों को हानि पहुंच रही है इसमें सरकार को भी दोनों तरफ के पहलू को समझना पड़ेगा और से निर्णय पर आना पड़ेगाVikee Kisano Ki Apni Kuch Mange Hain A Definiti Mein Yeh Bola Ki Maang Jayaj Hai Ki Kahin Na Ki Main Abhi Just Ka News Article Padh Raha Tha To Usamen Maine Padha Ki Modi Sarkar Ne Abhi Bijli Ke Dam Badha Diye Taki Wahan Par Acchi Bijli Uplabdh Ho Sake To Station At School Iske Liye Bolna Chahunga Ki Subsidy Jo Jo Di Jati Sabsidaijd Electricity Project City Ki Subsidy Available Honi Chahiye Kafi Had Tak End Un Logon Ka Available Honi Chahiye Subsidy G Ne Zaroorat Hai To 1 Point Sakta Kisano Ki Kuch Apni Maang Hai Jo Basic Abhi Dekhne Ke Liye Zaroori Hai Uske Bina Aaj Kisan Hai To Yeh Desh Hai Mujhe Aaj Bhi Un Aara Yaad Hai Jai Jawaan Jai Kisan Jai Jawaan Hai Aur Kisan Hai Tabhi Hume Surakshit Baith Kar Shayad Aapke Samane Hum Yeh Baat Rakh Pa Rahe Hain To Isliye Main Bola Jab Kisano Ki Kuch Mange To Definiti Puri Hone Chahiye Aur Kuch Maangon Par Smmilit Baithak Band Bed Baithak Hone Ke Baad Ek Discussion Hona Chahiye Kya Is Par Hum Hal Nikal Sakte Hain Kyonki Aapas Mein Jo Abhi Muthbhed Ho Rahi Hai Sarkar Aur Policekarmiyon Ki Jhanki Nikli Except Table Nahi Hai Usse Kitne Public Property Ka Nuksan Ho Raha Hai Kitne Logon Ko Hani Pahunch Rahi Hai Isme Sarkar Ko Bhi Dono Taraf Ke Pahaloo Ko Samajhna Padega Aur Se Nirnay Par Aana Padega
Likes  28  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन किसानों की जो मांग है उसको सरकार किसी भी कीमत पर पूरा नहीं कर सकती है इसका देखे कई सारे कारण है एक तो जैसे कि जो लोन वेइवर की जो किसानों की डिमांड है वह भी बिल्कुल भी नहीं है क्योंकि अगर आपने लो...
जवाब पढ़िये
लेकिन किसानों की जो मांग है उसको सरकार किसी भी कीमत पर पूरा नहीं कर सकती है इसका देखे कई सारे कारण है एक तो जैसे कि जो लोन वेइवर की जो किसानों की डिमांड है वह भी बिल्कुल भी नहीं है क्योंकि अगर आपने लोन लिया हुआ है तो आप लोग क्यों नहीं पाएंगे अगर इस तरीके से हमारे देश का सिस्टम चलने लगा कि एक सोसाइटी का तबका ऐसा हो कि जो लोन ले लिया और उसके बाद चुकाने से मना कर दे तो मैं समझता हूं कि बैंकों की हालत खस्ताहाल हो जाएगी और देश की हालत भी खस्ता हो जाएगी क्योंकि इसके बाद में फिर बाकी ग्रुप भी जो है साथ में आएंगे और वह कहेंगे सा हमारा लोन माफ कर दीजिए दूसरी जी किसानों की बात है क्योंकि जो वक्त फसलों की कीमत है उसको बढ़ा दी जाए वह भी एक मुश्किल काम है क्योंकि किसान के साथ साथ में कंज्यूमर्स कंट्रीज भी जो है वह गवर्नमेंट को देखना पड़ता है और अगर किसानों की जो खेलते हैं वह बढ़ाओ दी जाएंगी जो उनके खाने-पीने की जो सब्जियां है या फिर जो उनके जो भी सीरियल सर्विस करते हैं शादी के बाद ही आएंगे तो उसका खामियाजा जो है वह आम जनता को भुगतना पड़ेगा इस वजह से डिमांड मुझे नहीं लगता कि पूरा करने की राशि बनती है तो किसानों का जो है वह एक ही तरीका है कि वह ज्यादा ही फैशन टेक्नोलॉजी का यूज करें और ज्यादा अच्छे तरीके से आप जो है वह भाड़ खेती-बाड़ी करें वही उसी से जहां किसानों का भला हो सकता हैLekin Kisano Ki Jo Maang Hai Usko Sarkar Kisi Bhi Kimat Par Pura Nahi Kar Sakti Hai Iska Dekhe Kai Sare Kaaran Hai Ek To Jaise Ki Jo Loan Veivar Ki Jo Kisano Ki Demand Hai Wah Bhi Bilkul Bhi Nahi Hai Kyonki Agar Aapne Loan Liya Hua Hai To Aap Log Kyon Nahi Payenge Agar Is Tarike Se Hamare Desh Ka System Chalne Laga Ki Ek Society Ka Tabaka Aisa Ho Ki Jo Loan Le Liya Aur Uske Baad Chukaane Se Mana Kar De To Main Samajhata Hoon Ki Bankon Ki Halat Khastahal Ho Jayegi Aur Desh Ki Halat Bhi Khasta Ho Jayegi Kyonki Iske Baad Mein Phir Baki Group Bhi Jo Hai Saath Mein Aayenge Aur Wah Kahenge Sa Hamara Loan Maaf Kar Dijiye Dusri G Kisano Ki Baat Hai Kyonki Jo Waqt Fasalon Ki Kimat Hai Usko Badha Di Jaye Wah Bhi Ek Mushkil Kaam Hai Kyonki Kisan Ke Saath Saath Mein Kanjyumars Countries Bhi Jo Hai Wah Government Ko Dekhna Padata Hai Aur Agar Kisano Ki Jo Khelte Hain Wah Badhao Di Jaengi Jo Unke Khane Peene Ki Jo Sabjiyan Hai Ya Phir Jo Unke Jo Bhi Serial Service Karte Hain Shadi Ke Baad Hi Aayenge To Uska Khamiyaja Jo Hai Wah Aam Janta Ko Bhugatana Padega Is Wajah Se Demand Mujhe Nahi Lagta Ki Pura Karne Ki Rashi Banti Hai To Kisano Ka Jo Hai Wah Ek Hi Tarika Hai Ki Wah Zyada Hi Fashion Technology Ka Use Karen Aur Zyada Acche Tarike Se Aap Jo Hai Wah Bhad Kheti Badi Karen Wahi Ussi Se Jahan Kisano Ka Bhala Ho Sakta Hai
Likes  9  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी बिल्कुल नहीं सरकार इस स्थिति में नहीं है कि वह किसानों का पूरे राज्य के किसानों का पूरे देश के किसानों का लोन माफ कर दे लो नवंबर का जो रिक्वेस्ट है किसानों का लोन की मांग है कि जो मैंने लोन लिया है...
जवाब पढ़िये
जी बिल्कुल नहीं सरकार इस स्थिति में नहीं है कि वह किसानों का पूरे राज्य के किसानों का पूरे देश के किसानों का लोन माफ कर दे लो नवंबर का जो रिक्वेस्ट है किसानों का लोन की मांग है कि जो मैंने लोन लिया है उसे सरकार माफ कर दे हम खुश हो जाएंगे अब देखे बड़ी सोचने की बात है कि एक्सएक्सर कहां चल दी कैसे एक होता है शहर गांव में एक होता है स्टेट गवर्मेंट यह जो के सामने यह किसी प्रदेश का किसान है प्रदेश के पास अपना बजट होता है किसान बहुत सारे उत्तर प्रदेश में इस बजट में से वह वहां से वह किसान लोन लेता है और जब किसान लोन लेता है तो उसका दायित्व बनता है कि वह मेरे को जब लोन मिल गया है तो जब टाइम आते हो जिस तरीके से मेरे को भुगतान करने में को भुगतान करना चाहिए नहीं करेगा तो कितना पड़ेगा उसके लिए बड़ा मुश्किल हो जाता है और यह सरकार सोचे कि हम बे बे बे ऑफ कर दे तो सोचा इतने सारे स्टेज से विवाह कैसे होगा देखा जाए तो यह न्याय उचित भी नहीं है कि भाई आप ने लोन लिया और हम उसको बेवफ कर दे तो फिर लॉन्च सिस्टम ही नहीं होना चाहिए ना तो हम सब को पैसे देते रहे और वह अपनी खेती बाड़ी करते रहें सरकार को तो यह देखना होता है कि जो लोन लेने का प्रोसेस है क्या वह सिंपल इंटरेस्ट रेट क्या ठीक ठाक है या नहीं है जो हम यूरिया प्रोवाइड करें वह ठीक-ठाक है या नहीं बिजली पानी जो है क्या वह सब्सिडाइज्ड रेट पर है वह है किसानों के लिए वह है या नहीं है सरकार इन सब तरीकों से उसकी मदद कर सकती है बट लोन वेवर के लिए आज हम उस स्थिति में नहीं है और ना ही यह सही होगा ऐसा करना भी नहीं चाहिए यह किसानों को भी समझ थे स्टेट गवर्नमेंट को भी समझना चाहिए और उनको हेल्प करना चाहिए किसानों की भी हम उनको कैसे फैसिलिटेट कर सके ताकि वह अपना काम ठीक से कर सके और यह नौबत ना आए बसG Bilkul Nahi Sarkar Is Sthiti Mein Nahi Hai Ki Wah Kisano Ka Poore Rajya Ke Kisano Ka Poore Desh Ke Kisano Ka Loan Maaf Kar De Lo November Ka Jo Request Hai Kisano Ka Loan Ki Maang Hai Ki Jo Maine Loan Liya Hai Use Sarkar Maaf Kar De Hum Khush Ho Jaenge Ab Dekhe Badi Sochne Ki Baat Hai Ki Eksaeksar Kahaan Chal Di Kaise Ek Hota Hai Sheher Gav Mein Ek Hota Hai State Goverment Yeh Jo Ke Samane Yeh Kisi Pradesh Ka Kisan Hai Pradesh Ke Paas Apna Budget Hota Hai Kisan Bahut Sare Uttar Pradesh Mein Is Budget Mein Se Wah Wahan Se Wah Kisan Loan Leta Hai Aur Jab Kisan Loan Leta Hai To Uska Dayitva Banta Hai Ki Wah Mere Ko Jab Loan Mil Gaya Hai To Jab Time Aate Ho Jis Tarike Se Mere Ko Bhugtan Karne Mein Ko Bhugtan Karna Chahiye Nahi Karega To Kitna Padega Uske Liye Bada Mushkil Ho Jata Hai Aur Yeh Sarkar Soche Ki Hum Be Be Be Of Kar De To Socha Itne Sare Stage Se Vivah Kaise Hoga Dekha Jaye To Yeh Nyay Uchit Bhi Nahi Hai Ki Bhai Aap Ne Loan Liya Aur Hum Usko Bevaf Kar De To Phir Launch System Hi Nahi Hona Chahiye Na To Hum Sab Ko Paise Dete Rahe Aur Wah Apni Kheti Badi Karte Rahen Sarkar Ko To Yeh Dekhna Hota Hai Ki Jo Loan Lene Ka Process Hai Kya Wah Simple Interest Rate Kya Theek Thak Hai Ya Nahi Hai Jo Hum Urea Provide Karen Wah Theek Thak Hai Ya Nahi Bijli Pani Jo Hai Kya Wah Sabsidaijd Rate Par Hai Wah Hai Kisano Ke Liye Wah Hai Ya Nahi Hai Sarkar In Sab Trikon Se Uski Madad Kar Sakti Hai But Loan Vevar Ke Liye Aaj Hum Us Sthiti Mein Nahi Hai Aur Na Hi Yeh Sahi Hoga Aisa Karna Bhi Nahi Chahiye Yeh Kisano Ko Bhi Samajh The State Government Ko Bhi Samajhna Chahiye Aur Unko Help Karna Chahiye Kisano Ki Bhi Hum Unko Kaise Faisilitet Kar Sake Taki Wah Apna Kaam Theek Se Kar Sake Aur Yeh Naubat Na Aaye Bus
Likes  76  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसानों की मांगे पूरी करने का वक्त आ गया है अभी किसानों की पूरी मांग होने वाली ही कही कुची कुछ ही महीनों में किसानों की हर एक मांग पर विचार विचार करने की कोशिश करने वाली है सरकार अभी अभी जो 2019 में ह...
जवाब पढ़िये
किसानों की मांगे पूरी करने का वक्त आ गया है अभी किसानों की पूरी मांग होने वाली ही कही कुची कुछ ही महीनों में किसानों की हर एक मांग पर विचार विचार करने की कोशिश करने वाली है सरकार अभी अभी जो 2019 में होने वाले चुनाव में चुनाव को ध्यान में रखते हुए सरकार हर एक नए नए तकलीफ अजमा के वोटिंग ऑटो ऑटो के लिए तकलीफ अजमा के कुछ सरकार किसानों को वर्क कम बनाना चाहती है उनको मालूम है कि सारे देश की रीड की हड्डी है मेंस जो हड्डी उसके ऊपर ही देश चलता है इसलिए उसको खुश करेंगे तो वह अपने आप अपने पास आएंगे यह सोच रखते ही रखने वाली है किसानों को एक सेक्टर का किसानों की मांगे कुछ 50 से 50% पूरा करने की कोशिश करने वाली है यही सोच ध्यान में रखते हुए सरकार आगे बढ़ने की कोशिश कर रही हैKisano Ki Mange Puri Karne Ka Waqt Aa Gaya Hai Abhi Kisano Ki Puri Maang Hone Wali Hi Kahi Kuchi Kuch Hi Mahinon Mein Kisano Ki Har Ek Maang Par Vichar Vichar Karne Ki Koshish Karne Wali Hai Sarkar Abhi Abhi Jo 2019 Mein Hone Wali Chunav Mein Chunav Ko Dhyan Mein Rakhate Huye Sarkar Har Ek Naye Naye Takleef Azma Ke Voting Auto Auto Ke Liye Takleef Azma Ke Kuch Sarkar Kisano Ko Work Kam Banana Chahti Hai Unko Maloom Hai Ki Sare Desh Ki Read Ki Haddi Hai Mains Jo Haddi Uske Upar Hi Desh Chalta Hai Isliye Usko Khush Karenge To Wah Apne Aap Apne Paas Aayenge Yeh Soch Rakhate Hi Rakhne Wali Hai Kisano Ko Ek Sector Ka Kisano Ki Mange Kuch 50 Se 50% Pura Karne Ki Koshish Karne Wali Hai Yahi Soch Dhyan Mein Rakhate Huye Sarkar Aage Badhne Ki Koshish Kar Rahi Hai
Likes  3  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए भारत में जो है किसानों की स्थिति गंभीर है और सरकार इस स्थिति में नहीं है मुझे लगता है कि वह किसानों की मांगों को पूरा कर पा रही है कोई जब हमें खाना खिलाता है तो हम पहते अन्नदाता सुखी भव भव अर्था...
जवाब पढ़िये
देखिए भारत में जो है किसानों की स्थिति गंभीर है और सरकार इस स्थिति में नहीं है मुझे लगता है कि वह किसानों की मांगों को पूरा कर पा रही है कोई जब हमें खाना खिलाता है तो हम पहते अन्नदाता सुखी भव भव अर्थात जो हमें अंधेरा है उसकी हमें अन्य कौन देता है हमें अन्य किसान देता अब माल्या नीरव मोदी जैसे लोग जो है ढूंढ ले कर भाग जाते हैं और यह हमारे भारतीय किसान जो है जब लोन लेते हैं ना तो इनके घर रिकवरी वाले पहुंच जाते हैं अगर टाइम टाइम लोन नहीं जाता एक घटनास्थल मैं बताऊं मैं जानता हूं कि सामने लोन लिया लोन वाले आए उसका ट्रैक्टर खींच कर ले गए और वह किसान या देखकर जो है उसको हार्ट अटैक आया और वह मर गया इस समय किसान कि वह हालत है लोग किसानों के बारे में जो है सूचना ही बंद कर दिए सरकार जो है सिर्फ नीति बनाती है ना कि उनको रुपया जो है मुहैया कराती है के लिए जो है विचार बहुत ही आवश्यक है अगर हमारे देश का किसान अगर बंद कर दें खेती करना तो हम खाएंगे क्या जो आज लोग शहरों की तरफ उन्मुख हो रहे हैं अच्छा लगा हो तो लाइक करके शेयर करिए कमेंट करके मुझको बताइए अन्य कोई कुछ ऐसा प्रोसेस जय जवान जय किसान वंदे मातरमDekhie Bharat Mein Jo Hai Kisano Ki Sthiti Gambhir Hai Aur Sarkar Is Sthiti Mein Nahi Hai Mujhe Lagta Hai Ki Wah Kisano Ki Maangon Ko Pura Kar Pa Rahi Hai Koi Jab Hume Khana Khilata Hai To Hum Pahate Annadata Sukhi Bhav Bhav Arthat Jo Hume Andhera Hai Uski Hume Anya Kaon Deta Hai Hume Anya Kisan Deta Ab Malya Neerav Modi Jaise Log Jo Hai Dhundh Le Kar Bhag Jaate Hain Aur Yeh Hamare Bharatiya Kisan Jo Hai Jab Loan Lete Hain Na To Inke Ghar Recovery Wali Pahunch Jaate Hain Agar Time Time Loan Nahi Jata Ek Ghatanasthal Main Bataun Main Jaanta Hoon Ki Samane Loan Liya Loan Wali Aaye Uska Traktor Khinch Kar Le Gaye Aur Wah Kisan Ya Dekhkar Jo Hai Usko Heart Attack Aaya Aur Wah Mar Gaya Is Samay Kisan Ki Wah Halat Hai Log Kisano Ke Bare Mein Jo Hai Soochna Hi Band Kar Diye Sarkar Jo Hai Sirf Niti Banati Hai Na Ki Unko Rupya Jo Hai Muhaiya Krati Hai Ke Liye Jo Hai Vichar Bahut Hi Aavashyak Hai Agar Hamare Desh Ka Kisan Agar Band Kar Dein Kheti Karna To Hum Khayenge Kya Jo Aaj Log Shaharon Ki Taraf Unmukh Ho Rahe Hain Accha Laga Ho To Like Karke Share Kariye Comment Karke Mujhko Bataiye Anya Koi Kuch Aisa Process Jai Jawaan Jai Kisan Vande Mataram
Likes  18  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विभिन्न संस्थाओं को सुधारकर एकीकृत करके किसानों को राहत दी जा सकती है मैं उसके लिए पूरी तरह से आर्थिक व्यवस्था में बदलाव लाना पड़ेगा ताकि किसान आत्मनिर्भर होने के साथ सरकार के प्रति जिम्मेदार भी...
जवाब पढ़िये
विभिन्न संस्थाओं को सुधारकर एकीकृत करके किसानों को राहत दी जा सकती है मैं उसके लिए पूरी तरह से आर्थिक व्यवस्था में बदलाव लाना पड़ेगा ताकि किसान आत्मनिर्भर होने के साथ सरकार के प्रति जिम्मेदार भीVibhinn Sasthaon Ko Sudhaarkar Ekikrit Karke Kisano Ko Raahat Di Ja Sakti Hai Main Uske Liye Puri Tarah Se Aarthik Vyavastha Mein Badlav Lana Padega Taki Kisan Aatmanirbhar Hone Ke Saath Sarkar Ke Prati Zimmedar Bhi
Likes  4  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ठीक है बीते कुछ दो दिनों में जिस तरीके से हमारे देश में हंगामा हुआ वह काफी शर्मनाक हमारे देश के लिए जो किसानों की मांग है जो उनके द्वारा पद यात्रा निकाली गई क्या उसका कोई नतीजा निकला किसानों की हालत क...
जवाब पढ़िये
ठीक है बीते कुछ दो दिनों में जिस तरीके से हमारे देश में हंगामा हुआ वह काफी शर्मनाक हमारे देश के लिए जो किसानों की मांग है जो उनके द्वारा पद यात्रा निकाली गई क्या उसका कोई नतीजा निकला किसानों की हालत काफी खराब है और मैं आपको बताना चाहता हूं कि बीते 15 से 20 साल में लगभग 200000 किसानों ने आत्महत्या की एक शादी आंकड़ा और भी लगा तो हालत गंभीर ही हम सब जानते हैं और हमारी सरकार उनके लिए कुछ नहीं कर रही आप सभी योजनाएं लाती है लेकिन उन योजनाओं में भी घोटाला कर देती है और सहारा बेनिफिट कुदरत लेते हैं पॉलीटिशियंस और घोटाले वाले बात करते हैं क्या क्या मांग रहे थे कि कुछ मांग है जिसमें मुझे लगता है कि पूरी हो सकती है और कुछ में थोड़ा टाइम लगेगा जैसे एक डिमांड है कि किसानों को जितना भी करता है वह सब माफ किया जाए तो यह सरकार अभी उस स्थिति में नहीं है कि सब का पूरा कर्ज माफ कर सकें पूरा तो नहीं कर सकते थोड़ा समय चाहिए उसके बाद चीनी मिल कर जो पैसा है जो देना है वह बिल्कुल उनको देना चाहिए और क्या कहते हैं जो चीनी मिल के मालिक आ कर पैसा नहीं देते किसानों का उनकी फसल का तो उनके खिलाफ कंप्लेंट होनी चाहिए यह सरकार कर सकती है तू है कि बिजली के दाम कम कर सकती है सरकारी कर सकती है उसके बाद डिमांड है कि उनकी फसल के उनको सही दाम नहीं मिल पा रहे हैं तो देखते हुई थी वह नहीं हो पा रहा तो सरकार कर सकती है स्वामीनाथन की रिपोर्ट जो थी उनके कॉमेडी चाहिए उसको लागू करने की बात की जा रही है वह उस पर विचार करना चाहिए और उसके बाद डीजल के दाम कम करने से किसान को बहुत नुकसान हो रहा है कुछ चीजें बिल्कुल सरकार कर सकती है क्या करना चाहिए भ्रष्टाचार के और कुछ में सोचना पड़ेगा कुछ को थोड़ा समय लगेगाTheek Hai Bitte Kuch Do Dinon Mein Jis Tarike Se Hamare Desh Mein Hungama Hua Wah Kafi Sharmnaak Hamare Desh Ke Liye Jo Kisano Ki Maang Hai Jo Unke Dwara Pad Yatra Nikali Gayi Kya Uska Koi Natija Nikla Kisano Ki Halat Kafi Kharab Hai Aur Main Aapko Batana Chahta Hoon Ki Bitte 15 Se 20 Saal Mein Lagbhag 200000 Kisano Ne Aatmahatya Ki Ek Shadi Akanda Aur Bhi Laga To Halat Gambhir Hi Hum Sab Jante Hain Aur Hamari Sarkar Unke Liye Kuch Nahi Kar Rahi Aap Sabhi Yojanaye Lati Hai Lekin Un Yojanaon Mein Bhi Ghotala Kar Deti Hai Aur Sahara Benefit Kudrat Lete Hain Palitishiyans Aur Ghotale Wali Baat Karte Hain Kya Kya Maang Rahe The Ki Kuch Maang Hai Jisme Mujhe Lagta Hai Ki Puri Ho Sakti Hai Aur Kuch Mein Thoda Time Lagega Jaise Ek Demand Hai Ki Kisano Ko Jitna Bhi Karta Hai Wah Sab Maaf Kiya Jaye To Yeh Sarkar Abhi Us Sthiti Mein Nahi Hai Ki Sab Ka Pura Karj Maaf Kar Saken Pura To Nahi Kar Sakte Thoda Samay Chahiye Uske Baad Chini Mil Kar Jo Paisa Hai Jo Dena Hai Wah Bilkul Unko Dena Chahiye Aur Kya Kehte Hain Jo Chini Mil Ke Malik Aa Kar Paisa Nahi Dete Kisano Ka Unki Phasal Ka To Unke Khilaf Complaint Honi Chahiye Yeh Sarkar Kar Sakti Hai Tu Hai Ki Bijli Ke Dam Kam Kar Sakti Hai Sarkari Kar Sakti Hai Uske Baad Demand Hai Ki Unki Phasal Ke Unko Sahi Dam Nahi Mil Pa Rahe Hain To Dekhte Hui Thi Wah Nahi Ho Pa Raha To Sarkar Kar Sakti Hai Swaminathan Ki Report Jo Thi Unke Comedy Chahiye Usko Laagu Karne Ki Baat Ki Ja Rahi Hai Wah Us Par Vichar Karna Chahiye Aur Uske Baad Diesel Ke Dam Kam Karne Se Kisan Ko Bahut Nuksan Ho Raha Hai Kuch Cheezen Bilkul Sarkar Kar Sakti Hai Kya Karna Chahiye Bhrashtachar Ke Aur Kuch Mein Sochna Padega Kuch Ko Thoda Samay Lagega
Likes  13  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे लगता है कि यह जो भी किसानों की मांगे हैं अगर सरकार चाहे तो उन्हें पूरा कर सकती हो और इस स्थिति में भी है कि उन्हें पूरा करा जा सकता है क्योंकि नहीं कि हमारी कॉल मी हम काफी अधिक स्ट्रांग होती जा र...
जवाब पढ़िये
मुझे लगता है कि यह जो भी किसानों की मांगे हैं अगर सरकार चाहे तो उन्हें पूरा कर सकती हो और इस स्थिति में भी है कि उन्हें पूरा करा जा सकता है क्योंकि नहीं कि हमारी कॉल मी हम काफी अधिक स्ट्रांग होती जा रही है और वर्ल्ड कार वर्ल्ड कॉम बीच में आकर हम देखें तुम्हारा ह्यूमन डेवलपमेंट इंडेक्स ऊपर आता जा रहा है तो कहीं ना कहीं सरकार इस स्थिति में है कि वह किसानों की मांगे पूरी कर सकती है लेकिन जो सरकार की योजनाएं बनाती है यह जो भी चीजें सोचती है करने के लिए उनको पूरी तरह से क्रियान्वित नहीं कर पाती है और ग्राउंड लेवल तक जाकर वह चीजें पूरी तरह से नहीं हो पा रही है क्योंकि सरकार ने कहा था कि जितनी भी किसान है उनका जो जो भी उनकी फसल होगी उसका क्रॉप इंश्योरेंस कराया जाएगा वह पूरी तरह से खत्म नहीं हो पाई है पूरे लोगों सब लोगों की कृपा सर का क्रॉप इंश्योरेंस नहीं हो पाया उसके अलावा जो किसान थे उनका लोन माफ करने का भी सरकार ने वादा किया था जो वह नहीं कर पाई है और मुझे लगता है कि अगर चाहे सरकार तो उनका लोन माफ कर के सारे किसानों को एक तरह से आदि शक्ति है और तीसरा कहीं ना कहीं जितने किसान हैं उनका जो भी फसल होती है तो उसका जो हुआ सामान उनको लगाना होता जो लागत उनकी लगती है उसका घर में भी कहीं ना कहीं मदद कर सकती है सरकार उनकी और जो चीजों की प्राइस है चाहे वह बीज हो या ड्यूटी हो या खादो उन सब चीजों की भी और जो उनका नाम है वह भी कम कर सकती है किसानों के लिए ताकि उनको थोड़ी मदद हो सके और इस स्थिति में बिल्कुल है सरकार क्यों यह सब दुआ मांगी किसानों की पूरी कर सकती है लेकिन फिर भी सरकार नहीं कर रही है क्योंकि अब सरकार का कहना कि जो पैसा है वह विकास की तरफ जा रहा है लेकिन अब वो किसानों की मांगे पूरी तरह नहीं पूरी कर रही है और ही चीज कहीं ना कहीं दुखद भी है कि किसानों की वजह से हमारे देश में सभी लोगों का नाश प्राप्त हो रहा है सब लोग खा पी रहे हैं और उन्हीं के लिए सरकार नहीं कुछ कर रहीMujhe Lagta Hai Ki Yeh Jo Bhi Kisano Ki Mange Hain Agar Sarkar Chahe To Unhen Pura Kar Sakti Ho Aur Is Sthiti Mein Bhi Hai Ki Unhen Pura Kra Ja Sakta Hai Kyonki Nahi Ki Hamari Call Me Hum Kafi Adhik Strong Hoti Ja Rahi Hai Aur World Car World Com Bich Mein Aakar Hum Dekhen Tumhara Human Development Index Upar Aata Ja Raha Hai To Kahin Na Kahin Sarkar Is Sthiti Mein Hai Ki Wah Kisano Ki Mange Puri Kar Sakti Hai Lekin Jo Sarkar Ki Yojanaye Banati Hai Yeh Jo Bhi Cheezen Sochti Hai Karne Ke Liye Unko Puri Tarah Se Kriyanwit Nahi Kar Pati Hai Aur Ground Level Tak Jaakar Wah Cheezen Puri Tarah Se Nahi Ho Pa Rahi Hai Kyonki Sarkar Ne Kaha Tha Ki Jitni Bhi Kisan Hai Unka Jo Jo Bhi Unki Phasal Hogi Uska Crop Insurance Karaya Jayega Wah Puri Tarah Se Khatam Nahi Ho Payi Hai Poore Logon Sab Logon Ki Kripa Sar Ka Crop Insurance Nahi Ho Paya Uske Alava Jo Kisan The Unka Loan Maaf Karne Ka Bhi Sarkar Ne Vada Kiya Tha Jo Wah Nahi Kar Payi Hai Aur Mujhe Lagta Hai Ki Agar Chahe Sarkar To Unka Loan Maaf Kar Ke Sare Kisano Ko Ek Tarah Se Aadi Shakti Hai Aur Teesra Kahin Na Kahin Jitne Kisan Hain Unka Jo Bhi Phasal Hoti Hai To Uska Jo Hua Saamaan Unko Lagana Hota Jo Laagat Unki Lagti Hai Uska Ghar Mein Bhi Kahin Na Kahin Madad Kar Sakti Hai Sarkar Unki Aur Jo Chijon Ki Price Hai Chahe Wah Beej Ho Ya Duty Ho Ya Khado Un Sab Chijon Ki Bhi Aur Jo Unka Naam Hai Wah Bhi Kam Kar Sakti Hai Kisano Ke Liye Taki Unko Thodi Madad Ho Sake Aur Is Sthiti Mein Bilkul Hai Sarkar Kyon Yeh Sab Dua Maangi Kisano Ki Puri Kar Sakti Hai Lekin Phir Bhi Sarkar Nahi Kar Rahi Hai Kyonki Ab Sarkar Ka Kehna Ki Jo Paisa Hai Wah Vikash Ki Taraf Ja Raha Hai Lekin Ab Vo Kisano Ki Mange Puri Tarah Nahi Puri Kar Rahi Hai Aur Hi Cheez Kahin Na Kahin Dukhad Bhi Hai Ki Kisano Ki Wajah Se Hamare Desh Mein Sabhi Logon Ka Nash Prapt Ho Raha Hai Sab Log Kha P Rahe Hain Aur Unhin Ke Liye Sarkar Nahi Kuch Kar Rahi
Likes  14  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी कल गांधी जयंती के दिन जो हिंसक व्यवहार हुआ जो भिड़ंत हुई किसानों को के बीच में और सरकार या फिर पुलिस के बीच में बहुत ही भयानक थी जो किसान है उनकी कड़ी बंजारा डांस है और सरकार अभी शक्तिमान मारने क...
जवाब पढ़िये
विकी कल गांधी जयंती के दिन जो हिंसक व्यवहार हुआ जो भिड़ंत हुई किसानों को के बीच में और सरकार या फिर पुलिस के बीच में बहुत ही भयानक थी जो किसान है उनकी कड़ी बंजारा डांस है और सरकार अभी शक्तिमान मारने को रेडी और वह कह रहे हैं कि बाकी की जो 45 दिमाग से उनके पेपर भी सोचेंगे और मुझे कुछ ऐसे जैसे कि मनरेगा को अटैच करना फॉर्मिंग से या फिर जो डीजल व्हीकल एक्ट सजा दो पुराने तो फिर भी इस्तेमाल कर सकते हैं दिल्ली-एनसीआर में या फिर जीएसटी क्या है वह फॉर्म इन इक्विपमेंट्स से 5% तक लगाना तो यह सब चीजें हैं जिनके बारे में बात की जा सकती है काम करा सकता है बट कुछ ऐसी है जो नहीं पूरी किया क्योंकि सरकार अभी इतनी सक्षम नहीं है कर्ज माफी पॉसिबल नहीं है अभी के लिए क्योंकि बहुत ज्यादा इंडिया अभी वे शब्द ₹1 जो है वह नीचे गिर गया है सरकार के हक हाथ में है जिन्हें वह पूरा कर सकते हैं और किसान ज्यादा इंपॉर्टेंट पार्ट हमारी सोसाइटी के किसानों ने की बफ कर दिया तो हम सब भूखे मर जाएंगे तो जो भी चीज लॉजिकल है और लायक है वह करना चाहिए सरकार को क्योंकि सरकार को यह समझना होगा कि किसानों से ज्यादा इंपॉर्टेंट साइट का कोई सेक्टर नहीं होता खाने को नहीं मिलेगा तो सारी जिंदगी खत्म हो जाएगी तो जो चीज़ें कर सकते मुझे तूने करनी चाहिएVikee Kal Gandhi Jayanti Ke Din Jo Hinsak Vyavhar Hua Jo Bhidant Hui Kisano Ko Ke Bich Mein Aur Sarkar Ya Phir Police Ke Bich Mein Bahut Hi Bhayaanak Thi Jo Kisan Hai Unki Kadi Banjara Dance Hai Aur Sarkar Abhi Shaktiman Maarne Ko Ready Aur Wah Keh Rahe Hain Ki Baki Ki Jo 45 Dimag Se Unke Paper Bhi Sochenge Aur Mujhe Kuch Aise Jaise Ki Mnrega Ko Attach Karna Forming Se Ya Phir Jo Diesel Vehicle Act Saja Do Purane To Phir Bhi Istemal Kar Sakte Hain Delhi NCR Mein Ya Phir Gst Kya Hai Wah Form In Ikwipaments Se 5% Tak Lagana To Yeh Sab Cheezen Hain Jinke Bare Mein Baat Ki Ja Sakti Hai Kaam Kra Sakta Hai But Kuch Aisi Hai Jo Nahi Puri Kiya Kyonki Sarkar Abhi Itni Saksham Nahi Hai Karj Maafi Possible Nahi Hai Abhi Ke Liye Kyonki Bahut Zyada India Abhi Ve Shabdh ₹ Jo Hai Wah Neeche Gir Gaya Hai Sarkar Ke Haq Hath Mein Hai Jinhen Wah Pura Kar Sakte Hain Aur Kisan Zyada Important Part Hamari Society Ke Kisano Ne Ki Baf Kar Diya To Hum Sab Bhukhe Mar Jaenge To Jo Bhi Cheez Logical Hai Aur Layak Hai Wah Karna Chahiye Sarkar Ko Kyonki Sarkar Ko Yeh Samajhna Hoga Ki Kisano Se Zyada Important Site Ka Koi Sector Nahi Hota Khane Ko Nahi Milega To Saree Zindagi Khatam Ho Jayegi To Jo Chizen Kar Sakte Mujhe Tune Karni Chahiye
Likes  14  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मुझे नहीं लगता कि सरकार किसानों की मांग को पूरा करने की स्थिति में है कि जिस पर जब सिचुएशन बिगड़ती है तो सरकार और जून किसान नेता हो तो उनके बीच में एक सहमति बनती है कुछ मुद्दों पर कुछ मतलब नहीं ...
जवाब पढ़िये
लेकिन मुझे नहीं लगता कि सरकार किसानों की मांग को पूरा करने की स्थिति में है कि जिस पर जब सिचुएशन बिगड़ती है तो सरकार और जून किसान नेता हो तो उनके बीच में एक सहमति बनती है कुछ मुद्दों पर कुछ मतलब नहीं बनती है मुझे लगता है कि सरकार को इस प्रकार की शिक्षण को ही नहीं आने देना चाहिए क्योंकि स्टेशन की आवश्यकता इस देश का अन्नदाता है और उस देश का रक्षक आमने-सामने लाठियों से खेल रहे हो आप भी कि जिस प्रकार के कल के हालात दिल्ली में हुए थे मुझे लगता है कहीं इस देश का सर शर्म से झुक जाता जब किस प्रकार की सिचुएशन आते किसानों का कहना है कि आई एम स्वामीनाथन का जो जो रिपोर्ट थी उसको आप लेकर आई है उसको पोस्ट कीजिए उसको लाइन के सरकारी स्कूल आना ही नहीं चाहती हैLekin Mujhe Nahi Lagta Ki Sarkar Kisano Ki Maang Ko Pura Karne Ki Sthiti Mein Hai Ki Jis Par Jab Situation Bigadati Hai To Sarkar Aur June Kisan Neta Ho To Unke Bich Mein Ek Sehmati Banti Hai Kuch Muddon Par Kuch Matlab Nahi Banti Hai Mujhe Lagta Hai Ki Sarkar Ko Is Prakar Ki Shikshan Ko Hi Nahi Aane Dena Chahiye Kyonki Station Ki Avashyakta Is Desh Ka Annadata Hai Aur Us Desh Ka Rakshak Aamane Samane Lathiyon Se Khel Rahe Ho Aap Bhi Ki Jis Prakar Ke Kal Ke Halaat Delhi Mein Huye The Mujhe Lagta Hai Kahin Is Desh Ka Sar Sharm Se Jhuk Jata Jab Kis Prakar Ki Situation Aate Kisano Ka Kehna Hai Ki I Mein Swaminathan Ka Jo Jo Report Thi Usko Aap Lekar I Hai Usko Post Kijiye Usko Line Ke Sarkari School Aana Hi Nahi Chahti Hai
Likes  24  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kya Kisano Ki Maangon Ko Pura Karne Ki Sthiti Mein Hai Sarkar

vokalandroid