सच्चाई और विश्वास में अंतर क्या है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं ज्यादा टाइम नहीं लूंगा बस इतना कहूंगा सच्चाई और विश्वास सिक्के के दो पहलू हैं अगर एक खो देते हैं तो दूसरे आटोमेटिक गायब हो जाएगा...जवाब पढ़िये
मैं ज्यादा टाइम नहीं लूंगा बस इतना कहूंगा सच्चाई और विश्वास सिक्के के दो पहलू हैं अगर एक खो देते हैं तो दूसरे आटोमेटिक गायब हो जाएगाMain Jyada Time Nahin Lunga Bus Itna Kahunga Sachchai Aur Vishwas Sikke K Though Pahaloo Hain Agar Ek Kho Dete Hain To Dusre Atometik Gayab Ho Jaaegaa
Likes  8  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सच्चाई और विश्वास दोनों ही एक दूसरे के पूरक है जहां सच होता है वही विश्वास भी होता है लेकिन जहां हमें सच्चाई दिखाई और सुनाई नहीं देती है वही हमारा विश्वास भी खत्म हो जाता है उसको हम समझते हैं उसी पर ह...जवाब पढ़िये
सच्चाई और विश्वास दोनों ही एक दूसरे के पूरक है जहां सच होता है वही विश्वास भी होता है लेकिन जहां हमें सच्चाई दिखाई और सुनाई नहीं देती है वही हमारा विश्वास भी खत्म हो जाता है उसको हम समझते हैं उसी पर हम विश्वास भी करते हैं लेकिन जब हमें पता चल जाता है कि नहीं यहां झूठ भी हो सकता है तो वही हमारा विश्वास खत्म होने लगता हैSachchai Aur Vishwas Donon Hea Ek Dusre K Purak Hai Jhan Such Hota Hai Whey Vishwas Bhi Hota Hai Lekin Jhan Human Sachchai Dikhaai Aur Sunai Nahin Deti Hai Whey Hamara Vishwas Bhi Khatma Ho Jaata Hai Usko Hum Samjhte Hain Ussi Per Hum Vishwas Bhi Karte Hain Lekin Jab Human Patta Chal Jaata Hai Qi Nahin Yahaan Jhuth Bhi Ho Sakta Hai To Whey Hamara Vishwas Khatma Hone Lagta Hai
Likes  16  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मेरे हिसाब से सच्चाई और विश्वास में यह फर्क है कि हम हमारे विश्वास हो कोई हमारे ब्लिट्ज कोई जो है वह सच मान लेते आना कि ऐसा जरूरी नहीं है क्योंकि जिस प्रकार से हमारी बचपन से कंडीशन इन हुई है जिस...जवाब पढ़िये
लेकिन मेरे हिसाब से सच्चाई और विश्वास में यह फर्क है कि हम हमारे विश्वास हो कोई हमारे ब्लिट्ज कोई जो है वह सच मान लेते आना कि ऐसा जरूरी नहीं है क्योंकि जिस प्रकार से हमारी बचपन से कंडीशन इन हुई है जिस प्रकार से हमें चीजें बताई गई उसी को जो है हम सच मान लेते हैं लेकिन ऐसा जरूरी नहीं है हर कंट्री में हर देश में अलग-अलग कल्चरस होते हैं अलग-अलग उनके जॉय आफ ड्रिंकिंग की मेथड होते तो वहां पर आप बोल नहीं सकते की कौन सी बात सही है या फिर कौन सी बात गलत है तो मुझे लगता है कि हमें जो है किसी भी चीज को जो पूरे न्यूट्रल तरीके से देखना चाहिए यानी कि वहां पर किसी प्रकार का कोई बहस नहीं रखना चाहिए तभी जाकर आप जो है उसकी गहराई तक पहुंच सकती और उसके साथ तक पहुंचा दोगे तो सच्चाई और विश्वास में ही फर्क होता है की विश्वास जो हमारे विश्वास हो तो उसे जो है सच मान लेते कि हालांकि ऐसा कोई भी जरूरी नहीं हैLekin Mere Hisaab Se Sachchai Aur Vishwas Mein Yeh Fark Hai Qi Hum Hamare Vishwas Ho Koi Hamare Blitz Koi Joe Hai Wah Such Maan Lete Aana Qi Aisa Zaroori Nahin Hai Kyonki Jisha Prakar Se Hamari Bachpan Se Kandishan In Hue Hai Jisha Prakar Se Human Chijen Batai Gi Ussi Co Joe Hai Hum Such Maan Lete Hain Lekin Aisa Zaroori Nahin Hai Her Country Mein Her Desh Mein Eluga Eluga Kalcharas Hote Hain Eluga Eluga Unke Joy Af DRINKING Ki Method Hote To Vahan Per Aap Bowl Nahin Sakte Ki Kaun C Baat Sahi Hai Ya Phir Kaun C Baat Galat Hai To Mujhe Lagta Hai Qi Human Joe Hai Kisi Bhi Chij Co Joe Poore Neutral Tarike Se Dekhna Chahie Yaanee Qi Vahan Per Kisi Prakar Ka Koi Bahes Nahin Rakhna Chahie Tabhi Jaakar Aap Joe Hai Uski Gaharai Tak Pahunch Sakti Aur Uske Sathe Tak Pahuncha Doge To Sachchai Aur Vishwas Mein Hea Fark Hota Hai Ki Vishwas Joe Hamare Vishwas Ho To Usse Joe Hai Such Maan Lete Qi Halanki Aisa Koi Bhi Zaroori Nahin Hai
Likes  16  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बीके सच्चाई और विश्वास में क्या अंतर है तो सच्चाई का मतलब जैसे कि आप कुछ भी बोलते हैं तो उसमें आप सच बोलते हैं आप झूठ कभी नहीं बोलते और विश्वास मतलब कि हम किसी पर विश्वास करते हमसे भी तो तुमको हम कुछ ...जवाब पढ़िये
बीके सच्चाई और विश्वास में क्या अंतर है तो सच्चाई का मतलब जैसे कि आप कुछ भी बोलते हैं तो उसमें आप सच बोलते हैं आप झूठ कभी नहीं बोलते और विश्वास मतलब कि हम किसी पर विश्वास करते हमसे भी तो तुमको हम कुछ बताता है तुमने मान लेते हैं बहुत ही अच्छा बोलते हैं आपBike Sachchai Aur Vishwas Mein Kya Antar Hai To Sachchai Ka Matlab Jaise Qi Aap Kuch Bhi Bolte Hain To Usme Aap Such Bolte Hain Aap Jhuth Kabhi Nahin Bolte Aur Vishwas Matlab Qi Hum Kisi Per Vishwas Karte Humse Bhi To Tumko Hum Kuch Batata Hai Tumne Maan Lete Hain Bahut Hea Accha Bolte Hain Aap
Likes  15  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Sacchai Aur Vishwas Mein Antar Kya Hai

vokalandroid