क्या कारण है कि अमेरिका जैसा देश हमारे देश से ज़्यादा देवेल्पड हैं? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अब इससे समझाएं केदार कोई नई चीज बना रहे होते हैं तो आपके पास इतिहास सीखने को बहुत कुछ होता है आप जानते हैं कि कौन सी चीजें मेरे नए निर्माण को खराब कर सकती हैं कॉल कर आप जब मैं देश बना रहे होते हैं आपको पता है कौन सी चीज है देश के लिए अच्छी नहीं अमेरिका के आदेश से 500 600 सालों का इतिहास उनका वो अलग बात है कि उनकी इतिहास में जितने हत्याएं हैं शायद ही किसी देश की हत्या हुई हो पूरी की पूरी उनकी ट्राईबल कम्युनिटी को यूरोपियन स्नेह अपने बीमारियों से मार डाला सब कुछ अच्छा ही नहीं है कुछ काला अध्याय दिया इतिहास में उन के फूफा 10 थे उन्होंने किस देश का जो फाउंडेशन रखा जो वैल्यू सिस्टम रखा जो नए विचार ने सिद्धार्थ लाइव काफी अच्छे थे अगर अपने देश को बना रहे हैं और कुछ चीजों का ध्यान रखते हैं तो अमेरिका बनता है मुजफ्फरनगर से गलत हो जाए तो पाकिस्तान बनता है कोई बात भारत की भारत बहुत पुराना कंट्री है भारत की सभ्यता 5000 साल पुरानी है यह किताबों में है और हम इसे जानते हैं कि उसे यह कहीं ज्यादा पुरानी है भारत की सब हमारे यहां हर एक राज्य अपने में एक देश है इतनी ज्यादा डायवर्सिटी है तमिलनाडु के लोग बिहार के लोगों को नहीं समझ पाएंगे बिहार के लोग तमिलनाडु के लोग नहीं समझ पाएंगे अगर उनकी भाषा की बात की जाए तो इसकी बातों को समझ में बाधा आती है
Romanized Version
देखिए अब इससे समझाएं केदार कोई नई चीज बना रहे होते हैं तो आपके पास इतिहास सीखने को बहुत कुछ होता है आप जानते हैं कि कौन सी चीजें मेरे नए निर्माण को खराब कर सकती हैं कॉल कर आप जब मैं देश बना रहे होते हैं आपको पता है कौन सी चीज है देश के लिए अच्छी नहीं अमेरिका के आदेश से 500 600 सालों का इतिहास उनका वो अलग बात है कि उनकी इतिहास में जितने हत्याएं हैं शायद ही किसी देश की हत्या हुई हो पूरी की पूरी उनकी ट्राईबल कम्युनिटी को यूरोपियन स्नेह अपने बीमारियों से मार डाला सब कुछ अच्छा ही नहीं है कुछ काला अध्याय दिया इतिहास में उन के फूफा 10 थे उन्होंने किस देश का जो फाउंडेशन रखा जो वैल्यू सिस्टम रखा जो नए विचार ने सिद्धार्थ लाइव काफी अच्छे थे अगर अपने देश को बना रहे हैं और कुछ चीजों का ध्यान रखते हैं तो अमेरिका बनता है मुजफ्फरनगर से गलत हो जाए तो पाकिस्तान बनता है कोई बात भारत की भारत बहुत पुराना कंट्री है भारत की सभ्यता 5000 साल पुरानी है यह किताबों में है और हम इसे जानते हैं कि उसे यह कहीं ज्यादा पुरानी है भारत की सब हमारे यहां हर एक राज्य अपने में एक देश है इतनी ज्यादा डायवर्सिटी है तमिलनाडु के लोग बिहार के लोगों को नहीं समझ पाएंगे बिहार के लोग तमिलनाडु के लोग नहीं समझ पाएंगे अगर उनकी भाषा की बात की जाए तो इसकी बातों को समझ में बाधा आती हैDekhie Ab Isse Samjhayen Kedar Koi Nayi Cheez Bana Rahe Hote Hain To Aapke Paas Itihas Seekhne Ko Bahut Kuch Hota Hai Aap Jante Hain Ki Kaon Si Cheezen Mere Naye Nirmaan Ko Kharab Kar Sakti Hain Call Kar Aap Jab Main Desh Bana Rahe Hote Hain Aapko Pata Hai Kaon Si Cheez Hai Desh Ke Liye Acchi Nahi America Ke Aadesh Se 500 600 Salon Ka Itihas Unka Vo Alag Baat Hai Ki Unki Itihas Mein Jitne Hatyaain Hain Shayad Hi Kisi Desh Ki Hatya Hui Ho Puri Ki Puri Unki Traibal Community Ko European Sneh Apne Bimariyon Se Maar Dala Sab Kuch Accha Hi Nahi Hai Kuch Kala Adhyay Diya Itihas Mein Un Ke Fufa 10 The Unhone Kis Desh Ka Jo Foundation Rakha Jo Value System Rakha Jo Naye Vichar Ne Siddharth Live Kafi Acche The Agar Apne Desh Ko Bana Rahe Hain Aur Kuch Chijon Ka Dhyan Rakhate Hain To America Banta Hai Mujaffarnagar Se Galat Ho Jaye To Pakistan Banta Hai Koi Baat Bharat Ki Bharat Bahut Purana Country Hai Bharat Ki Sabhyata 5000 Saal Purani Hai Yeh Kitabon Mein Hai Aur Hum Ise Jante Hain Ki Use Yeh Kahin Zyada Purani Hai Bharat Ki Sab Hamare Yahan Har Ek Rajya Apne Mein Ek Desh Hai Itni Zyada Dayavarsiti Hai Tamil Nadu Ke Log Bihar Ke Logon Ko Nahi Samajh Payenge Bihar Ke Log Tamil Nadu Ke Log Nahi Samajh Payenge Agar Unki Bhasha Ki Baat Ki Jaye To Iski Baaton Ko Samajh Mein Badha Aati Hai
Likes  66  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

क्या हमारे देश के अलावा किसी दूसरे देश में इस तरह से जातिगत आरक्षण है ? ...

आज ही आपके क्वेश्चन है कि हमारे देश के अलावा किसी दूसरे देश में भी आ जातिगत आरक्षण है कि नहीं तो देखे बहुत सारी कंट्री है तो उसमें जो है जातिवाद के आरक्षण नहीं है बाकी जो आप जैसे की युवा ने आहूत किया जवाब पढ़िये
ques_icon

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अमेरिका जैसा देश या उससे और भी तेजी से विकसित है उनमें और हम में फर्क क्या है बहुत बुनियादी फर्क है वह सबसे पहले तो अपनों की कीमत अपनों का कदमों की पहचान उनमें है तो क्षमता 1 लोग हैं जो तेज दिमाग के लोग हैं जो सक्षम लोग हैं उनका वह कद्र करते हैं उनकी सबसे बेहतर उपयोगिता उनके देश के लिए कैसे हो सके उसका प्रबंध करते हैं इतना ही नहीं दुनिया के अन्य देश के तेज दिमाग के लोग सक्षम लोग गर्म थी लोग किस प्रकार से उनके देश में उनकी उनके संसद संसाधनों का प्रयोग करके बेहतर संभावनाएं उनके देश के लिए प्रस्तुत कर सके उस पर उनका ज्यादा फोकस रहता है यही कारण है कि भारत जैसे देश के सर्वाधिक डॉक्टर इन जीनी एयरोनॉटिक से जुड़े हुए इंजिनियर्स साइंटिस्ट अमेरिकन के लिए काम करते हैं या यूरोप के अन्य देशों के लिए काम करते हैं आज हमारे यहां से निकला हुआ ब्रेन उनके लिए विज्ञान की नई नई चुनौतियों को स्वीकार करता है उस पर विजय प्राप्त करता है नई-नई खोजें करता है इसलिए वह हमसे आगे जबकि हमारे यहां उसके विपरीत हमारे यहां क्षमता महान व्यक्तियों की क्षमता को दबाने का प्रयास किया जाता है हमारे यहां आरक्षण जैसी बीमारी है जिसके बल पर समाज में क्षमता 1 व्यक्तियों का अनादर होता है उन्हें पलायन पर मजबूर होना पड़ता है तो इस तरह की विसंगतियों के रहते हुए हमारा देश कभी भी उस श्रेणी में कभी नहीं खड़ा हो सकता जिस श्रेणी में विकसित देश आते हैं
Romanized Version
अमेरिका जैसा देश या उससे और भी तेजी से विकसित है उनमें और हम में फर्क क्या है बहुत बुनियादी फर्क है वह सबसे पहले तो अपनों की कीमत अपनों का कदमों की पहचान उनमें है तो क्षमता 1 लोग हैं जो तेज दिमाग के लोग हैं जो सक्षम लोग हैं उनका वह कद्र करते हैं उनकी सबसे बेहतर उपयोगिता उनके देश के लिए कैसे हो सके उसका प्रबंध करते हैं इतना ही नहीं दुनिया के अन्य देश के तेज दिमाग के लोग सक्षम लोग गर्म थी लोग किस प्रकार से उनके देश में उनकी उनके संसद संसाधनों का प्रयोग करके बेहतर संभावनाएं उनके देश के लिए प्रस्तुत कर सके उस पर उनका ज्यादा फोकस रहता है यही कारण है कि भारत जैसे देश के सर्वाधिक डॉक्टर इन जीनी एयरोनॉटिक से जुड़े हुए इंजिनियर्स साइंटिस्ट अमेरिकन के लिए काम करते हैं या यूरोप के अन्य देशों के लिए काम करते हैं आज हमारे यहां से निकला हुआ ब्रेन उनके लिए विज्ञान की नई नई चुनौतियों को स्वीकार करता है उस पर विजय प्राप्त करता है नई-नई खोजें करता है इसलिए वह हमसे आगे जबकि हमारे यहां उसके विपरीत हमारे यहां क्षमता महान व्यक्तियों की क्षमता को दबाने का प्रयास किया जाता है हमारे यहां आरक्षण जैसी बीमारी है जिसके बल पर समाज में क्षमता 1 व्यक्तियों का अनादर होता है उन्हें पलायन पर मजबूर होना पड़ता है तो इस तरह की विसंगतियों के रहते हुए हमारा देश कभी भी उस श्रेणी में कभी नहीं खड़ा हो सकता जिस श्रेणी में विकसित देश आते हैंAmerica Jaisa Desh Ya Usase Aur Bhi Teji Se Viksit Hai Unme Aur Hum Mein Fark Kya Hai Bahut Buniyadi Fark Hai Wah Sabse Pehle To Apanon Ki Kimat Apanon Ka Kadmon Ki Pehchan Unme Hai To Kshamta 1 Log Hain Joe Tej Dimag K Log Hain Joe Saksham Log Hain Unka Wah Kadra Karte Hain Unki Sabse Behtar Upyogita Unke Desh K Lie Kaise Ho Skye Uska Prabandh Karte Hain Itna Hea Nahin Duniya K Anya Desh K Tej Dimag K Log Saksham Log Germa Thi Log Kiss Prakar Se Unke Desh Mein Unki Unke Sansad Sansadhanon Ka Prayog Karake Behtar Sambhavanaen Unke Desh K Lie Prastut Car Skye Oosh Per Unka Jyada Focus Rehta Hai Yahi Karan Hai Qi Bharat Jaise Desh K Sarvadhik Doctor In Jini Eyaronatik Se Jude Huye Engineers Saintist American K Lie Kama Karte Hain Ya Europe K Anya Deshon K Lie Kama Karte Hain Aj Hamare Yahaan Se Nikla Hua Brain Unke Lie Vigyan Ki Nai Nai Chunautiyo Co Sweekar Karata Hai Oosh Per Vijay Prapt Karata Hai Nai Nai Khojein Karata Hai Eeslie Wah Humse Aage Jbki Hamare Yahaan Uske Viprit Hamare Yahaan Kshamta Mahan Vyaktiyo Ki Kshamta Co Dubaane Ka Prayas Kiya Jaata Hai Hamare Yahaan Aarkshan Jaisi Bimari Hai Jiske Bal Per Samaj Mein Kshamta 1 Vyaktiyo Ka Anadar Hota Hai Unhein Palayan Per Majboor Hona Padata Hai To Is Turha Ki Visangatiyon K Rahate Huye Hamara Desh Kabhi Bhi Oosh Shrenee Mein Kabhi Nahin Khada Ho Sakta Jisha Shrenee Mein Viksit Desh Aate Hain
Likes  51  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मेरा नाम अभिषेक है और यहां पर सवाल पूछा गया है कि अमेरिका भारत से जड़ा डेवलपर क्यों है इसका सीधा सीधा कारण यही है कि वहां कल रोहन मोटर्स लिमिटेड और हमारे यहां का लॉयन ऑर्डर आप सब जानते हैं मुझे बताने की जरूरत नहीं है क्योंकि यहां पर तो कोई केस जाता है अगर सुप्रीम कोर्ट में केस 20 साल पीछे का केस का फैसला है तो सो सकते हैं कि यहां का अब के किसका का फैसला आएगा तो यहां का लॉयन और इतना स्लो है तो हम लोग लोहे की मैडल अब तो हो नहीं सकते हम लोग समझ सकते हैं क्यों पीछे 20 साल केस का फैसला अभी आ रहा है तो अब तक इसका फैसला कब आएगा आप सो सकते हैं यहां तो ऐसा होता कि जिस पर केस चल रहा है वह बंदा मर जाता है बाहर घूमते घूमते हो कभी जेल भी नहीं होती है मुकेश बंद हो जाता है और यहां पर कोई टेक्नोलॉजी आती है तो लोग कोई ऐसा लगता है कि पता नहीं भूकंप आ गया और कोई भी नया बदलाव होता है मलेशिया को भी बदलाव होगा तो कुछ उसमें एडवांटेज डिसएडवांटेज सब चीज होती है तो लोगों को डिसएडवांटेज नहीं चाहिए सिर्फ एडवांटेज चाहिए और तो ऐसा तो होगा नहीं भाई कोई बदलाव होगा तो कुछ तो कुछ डिसएडवांटेज होगा कुछ तो घाटा सहना पड़ेगा आपको और हर चीज को समझते नहीं हम लोग हम लोग की आदत यह बनी हुई है कि किसी भी चीज पर याद करना है बस तुम कहां जमा कर दो उस टाइप कर दो तोड़फोड़ कर दो समझ ना कुछ नहीं करना है खाली मतलब क्या कर लेंगे तुमको समझने की जरूरत है और हर काम को बारीकी से समझ समझ करने की जरूरत है और बड़े ध्यान के साथ करने की जरूरत है तो हम आगे बढ़ेंगे और हर एक नए चेंज व्हाट्सएप करने की जरूरत है तो बस इतना कहना चाहूंगा जय हिंद जय भारत
Romanized Version
नमस्कार मेरा नाम अभिषेक है और यहां पर सवाल पूछा गया है कि अमेरिका भारत से जड़ा डेवलपर क्यों है इसका सीधा सीधा कारण यही है कि वहां कल रोहन मोटर्स लिमिटेड और हमारे यहां का लॉयन ऑर्डर आप सब जानते हैं मुझे बताने की जरूरत नहीं है क्योंकि यहां पर तो कोई केस जाता है अगर सुप्रीम कोर्ट में केस 20 साल पीछे का केस का फैसला है तो सो सकते हैं कि यहां का अब के किसका का फैसला आएगा तो यहां का लॉयन और इतना स्लो है तो हम लोग लोहे की मैडल अब तो हो नहीं सकते हम लोग समझ सकते हैं क्यों पीछे 20 साल केस का फैसला अभी आ रहा है तो अब तक इसका फैसला कब आएगा आप सो सकते हैं यहां तो ऐसा होता कि जिस पर केस चल रहा है वह बंदा मर जाता है बाहर घूमते घूमते हो कभी जेल भी नहीं होती है मुकेश बंद हो जाता है और यहां पर कोई टेक्नोलॉजी आती है तो लोग कोई ऐसा लगता है कि पता नहीं भूकंप आ गया और कोई भी नया बदलाव होता है मलेशिया को भी बदलाव होगा तो कुछ उसमें एडवांटेज डिसएडवांटेज सब चीज होती है तो लोगों को डिसएडवांटेज नहीं चाहिए सिर्फ एडवांटेज चाहिए और तो ऐसा तो होगा नहीं भाई कोई बदलाव होगा तो कुछ तो कुछ डिसएडवांटेज होगा कुछ तो घाटा सहना पड़ेगा आपको और हर चीज को समझते नहीं हम लोग हम लोग की आदत यह बनी हुई है कि किसी भी चीज पर याद करना है बस तुम कहां जमा कर दो उस टाइप कर दो तोड़फोड़ कर दो समझ ना कुछ नहीं करना है खाली मतलब क्या कर लेंगे तुमको समझने की जरूरत है और हर काम को बारीकी से समझ समझ करने की जरूरत है और बड़े ध्यान के साथ करने की जरूरत है तो हम आगे बढ़ेंगे और हर एक नए चेंज व्हाट्सएप करने की जरूरत है तो बस इतना कहना चाहूंगा जय हिंद जय भारतNamaskar Mera Naam Abhishek Hai Aur Yahaan Per Sawal Pucha Gaya Hai Qi America Bharat Se Jada Devalapar Kio Hai Iska Seedha Seedha Karan Yahi Hai Qi Vahan Kal Rohan Motors LTD Aur Hamare Yahaan Ka Layan Order Aap Sub Jante Hain Mujhe Batane Ki Jarurat Nahin Hai Kyonki Yahaan Per To Koi Case Jaata Hai Agar SUPREME Court Mein Case 20 Saul Pichhe Ka Case Ka Faisla Hai To So Sakte Hain Qi Yahaan Ka Aba K Kiska Ka Faisla Aega To Yahaan Ka Layan Aur Itna Slow Hai To Hum Log Lohe Ki Maidal Aba To Ho Nahin Sakte Hum Log Samajh Sakte Hain Kio Pichhe 20 Saul Case Ka Faisla Abhi Aa Raha Hai To Aba Tak Iska Faisla Kab Aega Aap So Sakte Hain Yahaan To Aisa Hota Qi Jisha Per Case Chal Raha Hai Wah Banda Mar Jaata Hai Baahar Ghoomte Ghoomte Ho Kabhi Gel Bhi Nahin Hoti Hai Mukesh Band Ho Jaata Hai Aur Yahaan Per Koi Teknolaji Auti Hai To Log Koi Aisa Lagta Hai Qi Patta Nahin Bhukamp Aa Gaya Aur Koi Bhi Naya Badlav Hota Hai Mlesiya Co Bhi Badlav Hoga To Kuch Usme Edavantej Disaedavantej Sub Chij Hoti Hai To Logon Co Disaedavantej Nahin Chahie Sirf Edavantej Chahie Aur To Aisa To Hoga Nahin Bhai Koi Badlav Hoga To Kuch To Kuch Disaedavantej Hoga Kuch To Ghata Sahana Padega Aapko Aur Her Chij Co Samjhte Nahin Hum Log Hum Log Ki Adata Yeh Bani Hue Hai Qi Kisi Bhi Chij Per Youth Krna Hai Bus Tum Kahan Juma Car Though Oosh Type Car Though Todfod Car Though Samajh Na Kuch Nahin Krna Hai Khaali Matlab Kya Car Lengey Tumko Samajhne Ki Jarurat Hai Aur Her Kama Co Baareekee Se Samajh Samajh Karne Ki Jarurat Hai Aur Bade Dhyan K Sathe Karne Ki Jarurat Hai To Hum Aage Badhenge Aur Her Ek Neay Change Vatsaep Karne Ki Jarurat Hai To Bus Itna Kahuna Chahunga Jai Hind Jai Bharat
Likes  10  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नीचे कर बात की जाएगी ऐसा क्या है कि जिस वजह से अमेरिका ज्यादा डेवलप्ड भारत से भी काफी सारी बातें कही जाती हैं काफी लोग बोलते हैं कि अमेरिका को जरा समय लगा आपने कंट्री को देने में और उसको डेवलप बनाने में और इंडिया में तो कुछ ही साल लिए अभी इंडिया तो कुछ समय पहले इंडिपेंडेंट हुआ है आजाद हुआ है बेटी से तो बहुत सारी बातें लेकिन मुझे लगता है इससे काफी ज्यादा है सोचने को कि क्या यह वाकई में रीजन है कि अमेरिका अमेरिका एक ऐसा कंट्री है जहां पर रूल्स एंड रेगुलेशंस सही तरीके से फॉलो किए जाते हैं जो कि बहुत जरूरी है दूसरी चीज वहां पर सेंटेंस इन सब चीजों को ही नहीं किया जाता है यह एक बहुत बड़ा रीजन है अमेरिका की तरक्की का वहां पर इंटरनल भारत में तेरे धर्म में उनकी बहुत सी चीज है वहां पर वहां पर जो स्कूल से वह बच्चों प्रैक्टिकल नॉलेज देते हैं बच्चों के टैलेंट को समझते हैं और बच्चों को एक जॉब लेने की वजह जॉब क्रिएटर कैसे बना है वह समझाते हैं उनकी टैलेंट की कदर होती है जो भारत में नहीं कर पाते हैं सब जॉब लेने की होड़ में लगे हुए सभी धर्मों के बीच में लड़ाई हो रही है आज भी खराब है
Romanized Version
नीचे कर बात की जाएगी ऐसा क्या है कि जिस वजह से अमेरिका ज्यादा डेवलप्ड भारत से भी काफी सारी बातें कही जाती हैं काफी लोग बोलते हैं कि अमेरिका को जरा समय लगा आपने कंट्री को देने में और उसको डेवलप बनाने में और इंडिया में तो कुछ ही साल लिए अभी इंडिया तो कुछ समय पहले इंडिपेंडेंट हुआ है आजाद हुआ है बेटी से तो बहुत सारी बातें लेकिन मुझे लगता है इससे काफी ज्यादा है सोचने को कि क्या यह वाकई में रीजन है कि अमेरिका अमेरिका एक ऐसा कंट्री है जहां पर रूल्स एंड रेगुलेशंस सही तरीके से फॉलो किए जाते हैं जो कि बहुत जरूरी है दूसरी चीज वहां पर सेंटेंस इन सब चीजों को ही नहीं किया जाता है यह एक बहुत बड़ा रीजन है अमेरिका की तरक्की का वहां पर इंटरनल भारत में तेरे धर्म में उनकी बहुत सी चीज है वहां पर वहां पर जो स्कूल से वह बच्चों प्रैक्टिकल नॉलेज देते हैं बच्चों के टैलेंट को समझते हैं और बच्चों को एक जॉब लेने की वजह जॉब क्रिएटर कैसे बना है वह समझाते हैं उनकी टैलेंट की कदर होती है जो भारत में नहीं कर पाते हैं सब जॉब लेने की होड़ में लगे हुए सभी धर्मों के बीच में लड़ाई हो रही है आज भी खराब हैNeeche Car Baat Ki Jaaegi Aisa Kya Hai Qi Jisha Vajaha Se America Jyada Devalapd Bharat Se Bhi Kaafi Sari Batein Kahii Jaati Hain Kaafi Log Bolte Hain Qi America Co Zara Samay Laga Aapne Country Co Dane Mein Aur Usko Devalap Banaane Mein Aur India Mein To Kuch Hea Saul Lie Abhi India To Kuch Samay Pehle Indipendent Hua Hai Ajad Hua Hai Beti Se To Bahut Sari Batein Lekin Mujhe Lagta Hai Issase Kaafi Jyada Hai Sochne Co Qi Kya Yeh Vakai Mein Reason Hai Qi America America Ek Aisa Country Hai Jhan Per Ruls End Reguleshans Sahi Tarike Se Follow Kiye Jaate Hain Joe Qi Bahut Zaroori Hai Dusri Chij Vahan Per Sentence In Sub Chijon Co Hea Nahin Kiya Jaata Hai Yeh Ek Bahut Bada Reason Hai America Ki Tarkkee Ka Vahan Per Internal Bharat Mein Tere Dharm Mein Unki Bahut C Chij Hai Vahan Per Vahan Per Joe School Se Wah Bachcho Practical Knowledge Dete Hain Bachcho K Talent Co Samjhte Hain Aur Bachcho Co Ek Job Lene Ki Vajaha Job Creator Kaise Banna Hai Wah Samajhaate Hain Unki Talent Ki Kadar Hoti Hai Joe Bharat Mein Nahin Car Paate Hain Sub Job Lene Ki Hod Mein Lage Huye Sabhi Dharmon K Beach Mein Ladai Ho Rahi Hai Aj Bhi Kharab Hai
Likes  7  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मी की सबसे पहली बात तो मैं कहना चाहूंगी कि अमेरिका जैसे देश में एडमिनिस्ट्रेशन जो है वह टू द पॉइंट होता है हमारे यहां की तरह नहीं होता कि पचास हजार लोगों के थ्रू पासबुक एक फाइल पहुंचेगी और आखिर तक उसमें कुछ भी नहीं पचता इसके अलावा हमारे देश में पॉलिटिक्स बहुत खराब है एक तो इतनी पॉलीटिकल पार्टी है इतनी ज्यादा कि किसकी क्या इलाज है वह समझ नहीं आती और उस चक्कर में हम गलत पॉलीटिशियंस को इलेक्ट करवा देते हैं इसके अलावा धर्म के नाम पर जो हमारे देश में गंदी राजनीति होती है लोगों को वैसे ही बांट देती है और वह एक डेवलपमेंट में बहुत बड़ा रूकावट बन जाती है वह चीज इसके अलावा बहुत सारी ऐसी चीज दिखी रे से कंट्री में बच्चे के जुकेशन पेरेंट्स को उसके लिए कुछ नहीं करना पड़ता मैं सब देखती है और उसके बाद भी फिर बच्चे अपने आप अंगना शुरू करते ऐसा नहीं होता कि 7 साल का बेटा है अर्थ साल के बाद की पेंशन पर गुजारा हो रहा है उसका हमारे यहां पर एजुकेशन है लिमिट एजुकेशन पर क्लास तक फ्री है लेकिन बस अब तक नहीं पहुंच पाती है सबको नहीं मिल पाती है और मिड डे मील एसिडिटी के बावजूद भी उतरेगा डेवलपमेंट नहीं हो पाती है तो यह सच है कि हम उस ड ब्लॉक नहीं जितना हमारे का है
Romanized Version
मी की सबसे पहली बात तो मैं कहना चाहूंगी कि अमेरिका जैसे देश में एडमिनिस्ट्रेशन जो है वह टू द पॉइंट होता है हमारे यहां की तरह नहीं होता कि पचास हजार लोगों के थ्रू पासबुक एक फाइल पहुंचेगी और आखिर तक उसमें कुछ भी नहीं पचता इसके अलावा हमारे देश में पॉलिटिक्स बहुत खराब है एक तो इतनी पॉलीटिकल पार्टी है इतनी ज्यादा कि किसकी क्या इलाज है वह समझ नहीं आती और उस चक्कर में हम गलत पॉलीटिशियंस को इलेक्ट करवा देते हैं इसके अलावा धर्म के नाम पर जो हमारे देश में गंदी राजनीति होती है लोगों को वैसे ही बांट देती है और वह एक डेवलपमेंट में बहुत बड़ा रूकावट बन जाती है वह चीज इसके अलावा बहुत सारी ऐसी चीज दिखी रे से कंट्री में बच्चे के जुकेशन पेरेंट्स को उसके लिए कुछ नहीं करना पड़ता मैं सब देखती है और उसके बाद भी फिर बच्चे अपने आप अंगना शुरू करते ऐसा नहीं होता कि 7 साल का बेटा है अर्थ साल के बाद की पेंशन पर गुजारा हो रहा है उसका हमारे यहां पर एजुकेशन है लिमिट एजुकेशन पर क्लास तक फ्री है लेकिन बस अब तक नहीं पहुंच पाती है सबको नहीं मिल पाती है और मिड डे मील एसिडिटी के बावजूद भी उतरेगा डेवलपमेंट नहीं हो पाती है तो यह सच है कि हम उस ड ब्लॉक नहीं जितना हमारे का हैMi Ki Sabse Pehli Baat To Main Kahuna Chahungi Qi America Jaise Desh Mein Edaministreshan Joe Hai Wah Two The Point Hota Hai Hamare Yahaan Ki Turha Nahin Hota Qi Pachaas Hagare Logon K Through Passbook Ek File Pahunchegi Aur Aakhir Tak Usme Kuch Bhi Nahin Pachataa Iske Alaava Hamare Desh Mein Politics Bahut Kharab Hai Ek To Itni Palitikal Party Hai Itni Jyada Qi Kiski Kya Ilaj Hai Wah Samajh Nahin Auti Aur Oosh Chakkar Mein Hum Galat Palitishiyans Co Elect Karava Dete Hain Iske Alaava Dharm K Naam Per Joe Hamare Desh Mein Gandey Rajniti Hoti Hai Logon Co Vaise Hea Bant Deti Hai Aur Wah Ek Devlopment Mein Bahut Bada Rukavat Bun Jaati Hai Wah Chij Iske Alaava Bahut Sari Aisi Chij Dikhi Ray Se Country Mein Bacche K Jukeshan Perents Co Uske Lie Kuch Nahin Krna Padata Main Sub Dekhti Hai Aur Uske Baad Bhi Phir Bacche Apne Aap Angana Shuru Karte Aisa Nahin Hota Qi 7 Saul Ka Beta Hai Earth Saul K Baad Ki Pension Per Gujara Ho Raha Hai Uska Hamare Yahaan Per Education Hai Limit Education Per Class Tak Free Hai Lekin Bus Aba Tak Nahin Pahunch Paati Hai Sabako Nahin Mill Paati Hai Aur Mid Day Mill ACDT K Bawjood Bhi Utrega Devlopment Nahin Ho Paati Hai To Yeh Such Hai Qi Hum Oosh D Block Nahin Jitna Hamare Ka Hai
Likes  9  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए जब वर्ल्ड वॉर टू खत्म हुई थी उस समय से ही अमेरिका काफी डेवलप्ड हो चुका था और उस समय हमारे देश में डेवलपमेंट बिल्कुल नहीं आया था और उस समय हमारा देश से कहीं ना कहीं स्ट्रगल कर रहा था अपने आप को आजाद कराने के लिए ब्रिटिशर्स के शासन से तोड़ के वर्ल्ड वर 2 कहीं ना कहीं और जब खत्म हुई थी वह 1945 में खत्म हुई थी और वही हमारा देश 1947 में जाके आजाद हुआ है और उसके बाद से हमारे देश में डेवलपमेंट शुरू हुआ है जबकि अमेरिका में जो डेवलपमेंट है उससे पहले से काफी पहले से शुरू हो गया था वर्ल्ड वॉर वन के खत्म होने के बाद बाद ही अमेरिका ने कोशिश करनी शुरू कर दी थी कि वह अपना आप देश को डेवलप करें और उस समय से कर देखा जाए तो हमारे देश में डेवलपमेंट काफी लेट जाकर शुरू हुआ और अमेरिका में हो पहले ही शुरू हो चुका था यही वजह है कि अमेरिका जैसा देश हमारे देश से ज्यादा डेवलप्ड है और ज्यादा इकोनॉमिकली और फाइनेंशली अच्छा है और हमारा देश अभी भी स्ट्रगल कर रहा है अपनी समस्याओं से जूझने के लिए ताकि हम भी और डेवलप्ड बन सके
Romanized Version
देखिए जब वर्ल्ड वॉर टू खत्म हुई थी उस समय से ही अमेरिका काफी डेवलप्ड हो चुका था और उस समय हमारे देश में डेवलपमेंट बिल्कुल नहीं आया था और उस समय हमारा देश से कहीं ना कहीं स्ट्रगल कर रहा था अपने आप को आजाद कराने के लिए ब्रिटिशर्स के शासन से तोड़ के वर्ल्ड वर 2 कहीं ना कहीं और जब खत्म हुई थी वह 1945 में खत्म हुई थी और वही हमारा देश 1947 में जाके आजाद हुआ है और उसके बाद से हमारे देश में डेवलपमेंट शुरू हुआ है जबकि अमेरिका में जो डेवलपमेंट है उससे पहले से काफी पहले से शुरू हो गया था वर्ल्ड वॉर वन के खत्म होने के बाद बाद ही अमेरिका ने कोशिश करनी शुरू कर दी थी कि वह अपना आप देश को डेवलप करें और उस समय से कर देखा जाए तो हमारे देश में डेवलपमेंट काफी लेट जाकर शुरू हुआ और अमेरिका में हो पहले ही शुरू हो चुका था यही वजह है कि अमेरिका जैसा देश हमारे देश से ज्यादा डेवलप्ड है और ज्यादा इकोनॉमिकली और फाइनेंशली अच्छा है और हमारा देश अभी भी स्ट्रगल कर रहा है अपनी समस्याओं से जूझने के लिए ताकि हम भी और डेवलप्ड बन सकेDekhiye Jab World War Two Khatma Hue Thi Oosh Samay Se Hea America Kaafi Devalapd Ho Chuka Thaa Aur Oosh Samay Hamare Desh Mein Devlopment Bilkool Nahin Yaya Thaa Aur Oosh Samay Hamara Desh Se Kahin Na Kahin Struggle Car Raha Thaa Apne Aap Co Ajad Karane K Lie Britishers K Shasan Se Tod K World Were 2 Kahin Na Kahin Aur Jab Khatma Hue Thi Wah 1945 Mein Khatma Hue Thi Aur Whey Hamara Desh 1947 Mein Jake Ajad Hua Hai Aur Uske Baad Se Hamare Desh Mein Devlopment Shuru Hua Hai Jbki America Mein Joe Devlopment Hai Usase Pehle Se Kaafi Pehle Se Shuru Ho Gaya Thaa World War One K Khatma Hone K Baad Baad Hea America Ne Koshish Karni Shuru Car They Thi Qi Wah Apna Aap Desh Co Devalap Karein Aur Oosh Samay Se Car Dekha Jae To Hamare Desh Mein Devlopment Kaafi Late Jaakar Shuru Hua Aur America Mein Ho Pehle Hea Shuru Ho Chuka Thaa Yahi Vajaha Hai Qi America Jaisa Desh Hamare Desh Se Jyada Devalapd Hai Aur Jyada Economically Aur Fainenshali Accha Hai Aur Hamara Desh Abhi Bhi Struggle Car Raha Hai Apni Samasyaoon Se Jujhne K Lie Taki Hum Bhi Aur Devalapd Bun Skye
Likes  12  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक बहुत अच्छे सवाल आपने पूछा कि अमेरिका क्यों हमसे ज्यादा डिवेलप की हकीकत क्या है भारत के पास अमेरिका से ज्यादा पैसा है भारत के पास अमेरिका से ज्यादा रिसोर्सेज है भारत के पास अमेरिकन अरबाज लोगे ज्यादा जनसंख्या है ज्यादा आबादी है आबादी हमेशा नेगेटिव सेंस में नहीं होती है ज्यादा आबादी ज्यादा टैलेंट है इस तरीके से बड़ी वजह है भारत की राजनीति भारत की हमेशा से जो खराब दर्जे की राजनीति रही है हमेशा एक लालच वाली राजनीतिक डालो वाली राजनीति उसने कभी देश को आगे बढ़ाने का सोचा ही नहीं कोई प्रयास ही नहीं गए ईमानदारी से केवल प्रयास किया तो वादा करके वोट हासिल कर लो 4 साल बेवकूफ बनाओ आखिरी साल में कुछ बोल कुछ वादे पूरे कर दो जिससे अच्छा सुनाते का सरकारी चल रही है कोई देश के प्रति किसी और से हानि नीली और गरीबी के बीच में जो देश का पैसा है वह एक परसेंट लोगों के पास है ऐसी व्यवस्था कैसे डिवेलप दूसरी तरफ तीसरा आरक्षण दे रहे हो भारत में कैसे आरक्षण आफ कंपलसरी करो जो गरीब तक का है उसके लिए कितनी एजुकेशन देंगे और आपको वाकई में एजुकेशन करनी पड़ेगी बलरामपुर सरकारी सुविधा नहीं मिलेगी हर कोई परी की सुविधा अपने किए हो जाती करो गरीब है जो गरीब हो उसको सुविधाएं दो
Romanized Version
एक बहुत अच्छे सवाल आपने पूछा कि अमेरिका क्यों हमसे ज्यादा डिवेलप की हकीकत क्या है भारत के पास अमेरिका से ज्यादा पैसा है भारत के पास अमेरिका से ज्यादा रिसोर्सेज है भारत के पास अमेरिकन अरबाज लोगे ज्यादा जनसंख्या है ज्यादा आबादी है आबादी हमेशा नेगेटिव सेंस में नहीं होती है ज्यादा आबादी ज्यादा टैलेंट है इस तरीके से बड़ी वजह है भारत की राजनीति भारत की हमेशा से जो खराब दर्जे की राजनीति रही है हमेशा एक लालच वाली राजनीतिक डालो वाली राजनीति उसने कभी देश को आगे बढ़ाने का सोचा ही नहीं कोई प्रयास ही नहीं गए ईमानदारी से केवल प्रयास किया तो वादा करके वोट हासिल कर लो 4 साल बेवकूफ बनाओ आखिरी साल में कुछ बोल कुछ वादे पूरे कर दो जिससे अच्छा सुनाते का सरकारी चल रही है कोई देश के प्रति किसी और से हानि नीली और गरीबी के बीच में जो देश का पैसा है वह एक परसेंट लोगों के पास है ऐसी व्यवस्था कैसे डिवेलप दूसरी तरफ तीसरा आरक्षण दे रहे हो भारत में कैसे आरक्षण आफ कंपलसरी करो जो गरीब तक का है उसके लिए कितनी एजुकेशन देंगे और आपको वाकई में एजुकेशन करनी पड़ेगी बलरामपुर सरकारी सुविधा नहीं मिलेगी हर कोई परी की सुविधा अपने किए हो जाती करो गरीब है जो गरीब हो उसको सुविधाएं दोEk Bahut Achchhe Sawal Aapne Pucha Qi America Kio Humse Jyada Develop Ki Hakikat Kya Hai Bharat K Pass America Se Jyada Paisa Hai Bharat K Pass America Se Jyada Resources Hai Bharat K Pass American Arbaaz Loge Jyada Jansankhya Hai Jyada Aabadi Hai Aabadi Hamesha Negetiv Shamsh Mein Nahin Hoti Hai Jyada Aabadi Jyada Talent Hai Is Tarike Se Badi Vajaha Hai Bharat Ki Rajniti Bharat Ki Hamesha Se Joe Kharab Darje Ki Rajniti Rahi Hai Hamesha Ek Laalach Wali Raajnetik Dalo Wali Rajniti Usne Kabhi Desh Co Aage Badhane Ka Soocha Hea Nahin Koi Prayas Hea Nahin Ge Imaandaari Se Keval Prayas Kiya To Vada Karake Voot Hashil Car Low 4 Saul Bewakoof Banao Akhiri Saul Mein Kuch Bowl Kuch Vade Poore Car Though Jisase Accha Sunaate Ka Sarkari Chal Rahi Hai Koi Desh K Prati Kisi Aur Se Hani Nili Aur Garibi K Beach Mein Joe Desh Ka Paisa Hai Wah Ek Parsent Logon K Pass Hai Aisi Vyavastha Kaise Develop Dusri Tarf Thisara Aarkshan They Rahe Ho Bharat Mein Kaise Aarkshan Af Kampalasari Karo Joe Garib Tak Ka Hai Uske Lie Kitni Education Denge Aur Aapko Vakai Mein Education Karni Padegi Balrampur Sarkari Suvidha Nahin Milegi Her Koi Pari Ki Suvidha Apne Kiye Ho Jaati Karo Garib Hai Joe Garib Ho Usko Suvidhaen Though
Likes  10  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Kya Kaaran Hai Ki America Jaisa Desh Hamare Desh Se Jyada Developed Hain,


vokalandroid