मेक इन इंडिया से इम्पोर्ट और एक्सपोर्ट पर क्या असर पड़ा है ? भारत में इसके लागु से क्या फायदा हुआ है ? ...

Likes  0  Dislikes

2 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
मेक इन इंडिया योजना या मिशन का मकसद देश को मैन्युफैक्चरिंग का केंद्र बनाना है यह प्रधानमंत्री मोदी जी का एक ड्रीम प्रोजेक्ट है घरेलू और विदेशी दोनों ही निवेशकों को अनुकूल माहौल मिले और रोजगार के अवसर पैदा हो मेक इन इंडिया को आर्थिक विवेक व प्रशासनिक सुधार के न्याय संगत मिश्रण के रूप में भी देखा जा सकता है मेक इन इंडिया के तहत कम ही समय में सरकार ने पुराने ढांचे को नए ढांचे में बदल दिया है ताकि नवाचार व कौशल विकास बढ़ाया जा सके इसके तहत सरकार विभिन्न देशों की कंपनी को भारत में टेस्ट की छूट देकर उद्योग अपने भारत में लगाने को प्रोत्साहित करेगी जिससे भारत का आयात बिल कम होगा तथा नए रोजगार पैदा होंगे भारत के बने उत्पाद भी दुनिया के किसी भी कोने में बेची जा सकेंगे इस योजना मेंMake In India Yojana Ya Mission Ka Maksad Desh Ko Manufacturing Ka Kendra Banana Hai Yeh Pradhanmantri Modi Ji Ka Ek Dream Project Hai Gharelu Aur Videshi Dono Hi Niveshako Ko Anukul Maahaul Mile Aur Rojgar Ke Avsar Paida Ho Make In India Ko Aarthik Vivek V Prashasnik Sudhaar Ke Nyay Sangat Mishran Ke Roop Mein Bhi Dekha Ja Sakta Hai Make In India Ke Tahat Kum Hi Samay Mein Sarkar Ne Purane Dhanche Ko Naye Dhanche Mein Badal Diya Hai Taki Navachar V Kaushal Vikash Badhaya Ja Sake Iske Tahat Sarkar Vibhinn Deshon Ki Company Ko Bharat Mein Test Ki Chhut Dekar Udyog Apne Bharat Mein Lagane Ko Protsahit Karegi Jisse Bharat Ka Aayaat Bill Kum Hoga Tatha Naye Rojgar Paida Honge Bharat Ke Bane Utpaad Bhi Duniya Ke Kisi Bhi Kone Mein Bechi Ja Sakenge Is Yojana Mein
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
इंडिया से इंपोर्ट एक्सपोर्ट पर क्या असर प्राइस को समझाने के लिए 90 सिक्सर इकोनॉमिक्स है वह बताना चाहूंगा आपको इसकी कोई भी एक्सपोर्ट इंपोर्ट वर्ल्ड में कैसे सरवाइव होता है ऐसी कोई भी चीज एक्सपोर्ट करें हमारी कंट्री का दूसरे कंट्री को तो उसके बदले में आपको उसका NCC के डॉलर है यूरो है उसका साथ आपको पैसा मिलता है तो वह सब ठीक तो है डाउनलोड नहीं होता और डॉलर रेट ज्यादा है तो आप के पास कितना डॉलर होगा अब इतनी ज्यादा चीज से अप इंडिया के लिए कर सकते हैं इससे मेक इन इंडिया की बात करें तो उसी हिसाब होता है अगर कोई इंडिया में फैक्चर होगा कि हम उस चीज को एक्सपोर्ट करते हैं दूसरे गट कंट्री में तो हम उस चीज के ज्यादा रेट ले सकते हैं $50000 होगा तो उस चीज को ज्यादा यूज़ कर सकते हैं और इससे बिल्कुल फायदा बिल्कुल बहुत होगा एंप्लॉयमेंट है बेहतर मिलेगी उससे जुड़े लोगों का स्टैंड ऑफ लिविंग जो है वह बेहतर होगा तो इस वजहIndia Se Import Export Par Kya Asar Price Ko Samjhaane Ke Liye 90 Sizer Economics Hai Wah Batana Chahunga Aapko Iski Koi Bhi Export Import World Mein Kaise Survive Hota Hai Aisi Koi Bhi Cheez Export Karen Hamari Country Ka Dusre Country Ko To Uske Badle Mein Aapko Uska NCC Ke Dollar Hai Euro Hai Uska Saath Aapko Paisa Milta Hai To Wah Sab Theek To Hai Download Nahi Hota Aur Dollar Rate Jyada Hai To Aap Ke Paas Kitna Dollar Hoga Ab Itni Jyada Cheez Se Up India Ke Liye Kar Sakte Hain Isse Make In India Ki Baat Karen To Ussi Hisab Hota Hai Agar Koi India Mein Faikchar Hoga Ki Hum Us Cheez Ko Export Karte Hain Dusre Gitte Country Mein To Hum Us Cheez Ke Jyada Rate Le Sakte Hain $50000 Hoga To Us Cheez Ko Jyada Use Kar Sakte Hain Aur Isse Bilkul Fayda Bilkul Bahut Hoga Employment Hai Behtar Milegi Usse Jude Logon Ka Stand Of Living Jo Hai Wah Behtar Hoga To Is Wajah
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Make In India Se Import Aur Export Par Kya Asar Pada Hai ? Bharat Mein Iske Lagu Se Kya Fayda Hua Hai ?, What Is The Impact On Import And Export From Make In India? What Has Benefited From Its Application In India?





मन में है सवाल?