राजगीरी क्या है ? ...

पत्थर या ईंट की चिनाई करनेवालों को राज कहते हैं। और उनका काम व्यापक अर्थ में राजगीरी कहलाता है, किंतु व्यवहार में राजगीरी शब्द का प्रयोग प्राय: पत्थर की चिनाई के लिए ही हुआ करता है। ईंट का काम ईंट चिनाई ही कहा जाता है। आदि मानव द्वारा निर्मित अनगढ़ी रचनाएँ तो शायद आदि कल से ही बनती रही होगी, किंतु पत्थर का ऐसा कामजिसे राजगीरि कहा जा सकता है, अवश्य ही सभ्यता के विकास के साथ आया। राजगीरी के सबसे पुराने नमूने भारत और मिस्र के मंदिरों में मिलते हैं। इन प्राचीन संरचनाओं में से अनेक में बहुत बड़े बड़े पत्थर लगे हैं, जिन्हें देखकर आज आश्चर्य होता है कि हमारे पूर्वज उस युग में भी सात-सात, आठ-आठ सौ टन वजन के पत्थर न केवल खानों से निकालते थे, अपितु उन्हें बहुत ऊँचे उठाकर इमारतों में भी लगा लेते थे। यह सब कैसे किया जाता था, इसका भेद अभी तक नहीं मिल पाया।
Romanized Version
पत्थर या ईंट की चिनाई करनेवालों को राज कहते हैं। और उनका काम व्यापक अर्थ में राजगीरी कहलाता है, किंतु व्यवहार में राजगीरी शब्द का प्रयोग प्राय: पत्थर की चिनाई के लिए ही हुआ करता है। ईंट का काम ईंट चिनाई ही कहा जाता है। आदि मानव द्वारा निर्मित अनगढ़ी रचनाएँ तो शायद आदि कल से ही बनती रही होगी, किंतु पत्थर का ऐसा कामजिसे राजगीरि कहा जा सकता है, अवश्य ही सभ्यता के विकास के साथ आया। राजगीरी के सबसे पुराने नमूने भारत और मिस्र के मंदिरों में मिलते हैं। इन प्राचीन संरचनाओं में से अनेक में बहुत बड़े बड़े पत्थर लगे हैं, जिन्हें देखकर आज आश्चर्य होता है कि हमारे पूर्वज उस युग में भी सात-सात, आठ-आठ सौ टन वजन के पत्थर न केवल खानों से निकालते थे, अपितु उन्हें बहुत ऊँचे उठाकर इमारतों में भी लगा लेते थे। यह सब कैसे किया जाता था, इसका भेद अभी तक नहीं मिल पाया।Patthar Ya Int Ki Chinai Karanevalon Co Raj Kehte Hain Aur Unka Kama Vyapak Earth Mein Rajgarhi Kehalata Hai Kitu Vyavahar Mein Rajgarhi Shabd Ka Prayog Praya Patthar Ki Chinai K Lie Hea Hua Karata Hai Int Ka Kama Int Chinai Hea Kaha Jaata Hai Aadi Manav Dwara Nirmit Anagadhi Rachnaaen To Shayad Aadi Kal Se Hea Banati Rahi Hogi Kitu Patthar Ka Aisa Kamjise Rajgiri Kaha Ja Sakta Hai Awashya Hea Sabhyata K Vikas K Sathe Yaya Rajgarhi K Sabse Purane Namuney Bharat Aur Micra K Mandiron Mein Milte Hain In Prachin Sanrachnaaon Mein Se Aneka Mein Bahut Bade Bade Patthar Lage Hain Jinhein Dekhakar Aj Aashcharya Hota Hai Qi Hamare Purvaja Oosh Yuga Mein Bhi Saat Saat Auth Auth Show Ton Wazan K Patthar Na Keval Khanon Se Nikalate The Apitu Unhein Bahut Unche Uthaakar Imaraton Mein Bhi Laga Lete The Yeh Sub Kaise Kiya Jaata Thaa Iska Bhed Abhi Tak Nahin Mill PAYA
Likes  3  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Rajgiri Kya Hai ?

vokalandroid