रोटोमैक पेन के मालिक विक्रम ने 3695 करोड़ रुपय की धोखाधड़ी की।बैंकों पर क्या प्रभाव पड़ेगा? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रोटोमैक पर कि मालिक विक्रम में 800 करोड़ की जो धोखा धड़ी कर रही है उसके बारे में बैंक का कहना है कि वह लापता है और वह गायब है और उन्होंने कोई लोन की किस्त या ब्याज नहीं ब्याज भी नहीं छुपाया है जबकि स्...
जवाब पढ़िये
रोटोमैक पर कि मालिक विक्रम में 800 करोड़ की जो धोखा धड़ी कर रही है उसके बारे में बैंक का कहना है कि वह लापता है और वह गायब है और उन्होंने कोई लोन की किस्त या ब्याज नहीं ब्याज भी नहीं छुपाया है जबकि स्वयं विक्रम कोठारी का कहना है कि वह कहीं लोन लेकर भागते नहीं जा रहा है और वह कहीं बाहर विदेश में भी नहीं भागेगा वह भारत में रहेगा कानपुर में ही रहेगा और लोन वापस चुकाएगा लेकिन सूत्रों के अनुसार यह भी जानकारी मिली है कि बैंक में जब विक्रम कोठारी को लोन दिया तो उसमें पूरी ढिलाई बरती और लापरवाही बरती और फिर लोन दिया तो यह गलत है इसकी वजह से बैंक आजकल इतना लोगों के उसमें आ रहे हैं अविश्वास होता जा रहा है बैंक में पैसा रखने पर लोगों में और इतनी ज्यादा बैंक घोटाले हो रहे हैं कि जनता को समझ में नहीं आ रहा है कि वह ना पैसा रखे तो रखे कहां है तो सरकार को बैंक की जुनी किया है उनमें चेंज करना चाहिए और मुझे लगता है हर अपराध के लिए जो ढिलाई बरती जाती है जो धीरे से प्रोसेस चलता है सरकारी वह गलत है अगर अपराध हुआ है तो आप त्वरित कार्यवाही कीजिए तुरंत उस पर एक्शन लीजिए तो अपराध की रोकथाम हो सकती आप अपराधियों को पकड़ सकेंगे और उन्हें सजा मिल सकेगी हर अपराध में ऐसा ही होता है की प्रोसेस इतना धीरे चलता है कि अपराधी कब तक भाग चुका होता है देख छोड़ चुका होता है फिर आप कुछ नहीं कर सकते तू जो प्रणाली है जो बैंक में लोन देने कि उसको थोड़ा मजबूत करना चाहिए ऐसा नहीं है कि ऊपर से किसी ने कहा है लोन देने के लिए और लौंग बिना सोचे समझे बिना कार्य प्रणाली के पूरा की दे दिया गया है तो इन चीजों में बदलाव लाना बहुत जरूरी है जनता का पैसा है इसका ध्यान रखना चाहिएRotomac Par Ki Malik Vikram Mein 800 Crore Ki Jo Dhokha Dhadi Kar Rahi Hai Uske Baare Mein Bank Ka Kehna Hai Ki Wah Lapata Hai Aur Wah Gayab Hai Aur Unhone Koi Loan Ki Kist Ya Byaj Nahi Byaj Bhi Nahi Chupaya Hai Jabki Swayam Vikram Kothari Ka Kehna Hai Ki Wah Kahin Loan Lekar Bhagte Nahi Ja Raha Hai Aur Wah Kahin Bahar Videsh Mein Bhi Nahi Bhagega Wah Bharat Mein Rahega Kanpur Mein Hi Rahega Aur Loan Wapas Chukaega Lekin Sootro Ke Anusar Yeh Bhi Jankari Mili Hai Ki Bank Mein Jab Vikram Kothari Ko Loan Diya To Usamen Puri Dhilaii Barti Aur Laparwahi Barti Aur Phir Loan Diya To Yeh Galat Hai Iski Wajah Se Bank Aajkal Itna Logon Ke Usamen Aa Rahe Hain Avishvaas Hota Ja Raha Hai Bank Mein Paisa Rakhne Par Logon Mein Aur Itni Jyada Bank Ghotale Ho Rahe Hain Ki Janta Ko Samajh Mein Nahi Aa Raha Hai Ki Wah Na Paisa Rakhe To Rakhe Kahan Hai To Sarkar Ko Bank Ki Juni Kiya Hai Unmen Change Karna Chahiye Aur Mujhe Lagta Hai Har Apradh Ke Liye Jo Dhilaii Barti Jati Hai Jo Dhire Se Process Chalta Hai Sarkari Wah Galat Hai Agar Apradh Hua Hai To Aap Twarit Karyavahi Kijiye Turant Us Par Action Lijiye To Apradh Ki Roktham Ho Sakti Aap Apradhiyon Ko Pakad Sakenge Aur Unhen Saja Mil Sakegi Har Apradh Mein Aisa Hi Hota Hai Ki Process Itna Dhire Chalta Hai Ki Apradhi Kab Tak Bhag Chuka Hota Hai Dekh Chod Chuka Hota Hai Phir Aap Kuch Nahi Kar Sakte Tu Jo Pranali Hai Jo Bank Mein Loan Dene Ki Usko Thoda Mazboot Karna Chahiye Aisa Nahi Hai Ki Upar Se Kisi Ne Kaha Hai Loan Dene Ke Liye Aur Long Bina Soche Samjhe Bina Karya Pranali Ke Pura Ki De Diya Gaya Hai To In Chijon Mein Badlav Lana Bahut Zaroori Hai Janta Ka Paisa Hai Iska Dhyan Rakhna Chahiye
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Rotomac Pen Ke Malik Vikram Ne 3695 Crore Rupay Ki Dhokhadhari Ki Bankon Par Kya Prabhav Padega, Vikram, Owner Of Rotomac Penn, Fraudulently Pumped Rs 3695 Crores.What Will Be The Impact On Banks?

vokalandroid